चूत में करो, गाण्ड में करो, सब अच्छा लगता है!

(Chut Me Karo, Gaand Me Karo, Sab Achha Lagta Hai)

क्या खूब चुदाती हो, पूरा अंदर लेती हो!
फिर से करो, कस के करो, अच्छा लगता है!
लौड़े का हर झटका, बड़ा अच्छा लगता है!
क्या खूब चुदाती हो, पूरा अंदर लेती हो!

तुम मुझे चोदोगे कब तक, बोलो कब तक?
मेरे लौड़े से माल न निकले जब तक!
कब तक मैं चुदूँगी लण्ड से, हाँ लण्ड से?
तेरी चूत से पानी जब छूटे फ़च्च-फच्च से!

फिर से करो, कस के करो, अच्छा लगता है!
लौड़े का हर झटका, बड़ा अच्छा लगता है!

क्या खूब चुदाती हो, पूरा अंदर लेती हो!
तुम लण्ड की प्यासी हो, तुम माल हमारी हो!

खुश हो ना मेरी तुम लेकर, मेरी लेकर?
प्यासे लण्ड को चूत मिली है जम कर!
लण्ड में है कोई और तमन्ना?
चूत के बाद इसे गाण्ड है तेरी लेना!
चूत में करो, गाण्ड में करो, सब अच्छा लगता है!
लौड़े का हर झटका, बड़ा अच्छा लगता है!

क्या खूब चुदाती हो, पूरा अंदर लेती हो!
तुम लण्ड की प्यासी हो, तुम माल हमारी हो!!

***

शोले फिल्म के ये डायलॉग याद हैं आपको?

शोले फिल्म के ये डायलॉग याद हैं आपको?

बसंती:
यूँ कि हमें ज्यादा चुदाई करवाने की आदत तो है नहीं, लेकिन अब आप चोद ही रहे हैं तो हम बताये देते हैं कि हमें गाण्ड मरवाना भी बहुत पसन्द है…

जेलर असरानी:
हम अंग्रेजों के जमाने के चोदू हैं, आजकल के चोदुओं की तरह नहीं जो दो-तीन धक्कों में ही शीघ्रस्खलित हो जाते हैं!
हम जानते हैं कि आजकल हमारी चुदाई को पसंद नहीं किया जाता, इसीलिए हमारी हर शादी कुछ ही दिनो में टूट जाती है लेकिन हमारा लंड नहीं टूटा! हमारे इतने तलाकों के बावजूद भी हमारा चुदाई का स्टाइल नहीं बदला..हा..हा..!!

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! चूत में करो, गाण्ड में करो, सब अच्छा लगता है!