विदेशी महिला मित्र के साथ सेक्स सम्बन्ध

(Videshi Mahila Dost Ke Sath Sex Sambandh)


दोस्तो, मेरी पहेली सेक्स स्टोरी
चंडीगढ़ में मेल एस्कॉर्ट जॉब
को पसंद करने के लिए आप लोगों का बहुत धन्यवाद.

मुझे आप सभी के बहुत सारे ईमेल मिले और इन सभी ईमेल में सबका एक ही सवाल था कि ‘मेल एस्कॉर्ट कैसे बना जाए.’

दोस्तो, मैं सेक्स एस्कॉर्ट नहीं हूँ, मैं टूर एस्कॉर्ट हूँ. मैं देसी और विदेशी पर्यटकों के लिए टूर ऑर्गेनाइज करता हूँ. मैं अपने ग्रुप को और मेरे टूर से ही जुड़े हुए लोगों को गाइड करता हूँ.

मेरी यह सेक्स स्टोरी भी ऐसे ही एक टूर को लेकर है. मैं अक्टूबर में अपने एक टूर ग्रुप के साथ चिचेन इट्जा (वर्ल्ड के 7 आश्चर्य में से एक) देखने के लिए मेक्सिको गया था.

वहां मुझे सहयोग करने के लिए हमारी मेक्सिकन कंपनी की एक कर्मचारी मिली. उसका नाम वेरोनिका रोडगएस था. मैं और वेरोनिका पहले कभी मिले तो नहीं थे, परन्तु उसके साथ व्हाट्सप्प और फेसबुक पर मेरी बहुत बार बात हो चुकी थी.

हम लोग नई दिल्ली एयरपोर्ट से तीन बजे के फ्लाइट से रवाना हुए और करीब करीब सत्ताइस घंटे के यात्रा के बाद मेक्सिको सिटी पहुंचे. वहां एयरपोर्ट पर हमारे स्वागत के लिए वेरोनिका आई थी. उसने मुझे एयरपोर्ट पर ऐसे गले लगाया कि जैसे वो मेरी बिछड़ी हुई प्रेमिका हो.

उसके इस व्यवहार से एक मिनट के लिए तो मैं भी हैरान हो गया था कि ये क्या हो गया. पर तभी मुझे याद आया कि अब मैं भारत में नहीं, बल्कि मेक्सिको में हूँ और इस देश के अपने अलग रीति रिवाज हैं. ये याद आते ही मुझे मेरे अन्दर पैदा हुई उत्तेजना को खोना पड़ा.

एयरपोर्ट से एक घंटे की यात्रा के बाद हम अपने होटल में पहुंचे. क्योंकि टूरिज्म इंडस्ट्री में एस्कॉर्ट को सभी सेवाएं मुफ्त मिलती हैं. इसीलिए मेरे लिए होटल का कमरा और खाना पीना सब फ्री था. परन्तु यहां मुझे अपनी सभी सेवाएं वेरोनिका के साथ बांटनी थीं क्योंकि वो भी यहां एक एस्कॉर्ट थी.

अब हम दोनों को ही रूम शेयर करना पड़ा. मैं तो मायूस सा अनुभव कर रहा था, परन्तु वेरोनिका बहुत खुश नजर आ रही थी.

खैर … हम दोनों अपने रूम में पहुंचे. मैंने अपना बैग खोला और अपने नाईट में पहनने के कपड़े निकाले और नहाने के लिए चला गया.

मैं नहा कर आया और डिनर करके मैं रजाई उठा कर सोफे की तरफ बढ़ गया.

वेरोनिका ने मुझे रोका और बोला- वेयर यू आर गोइंग? (तुम किधर जा रहे हो?)

हमारी सारी बातें अंग्रेजी में ही हो रही थीं. जिनका मैं यहाँ अनुवाद लिख रहा हूँ.

मैंने कहा- हम दोनों एक ही बिस्तर पर एक साथ कैसे सो सकते हैं?
वेरोनिका ने मुझे देखा और मुस्कुरा कर बोली- ओह डार्लिंग … ये कमरा और इसकी सारी सुविधाएं हम दोनों को एक साथ बांटने के लिए ही मिली हैं.

उसकी इस बात पर मैं हंस दिया और सोफे पर लेट गया.

परन्तु वो नहीं मानी और मुझे जबरदस्ती उठा कर बेड पर ले ही गई. उसके साथ सोने में मुझे असहजता हो रही थी. मैं एक अंजान देश में किसी गैर लड़की के साथ एक बिस्तर पर कैसे लेट सकता था. हालांकि मुझे उसको चोदने का बड़ा मन हो रहा था पर बिना उसकी मर्जी के सेक्स करने की कैसे सोच सकता था.

मैंने अपना ध्यान उसकी तरफ से हटा लिया. मेक्सिको और भारत का समय अलग अलग है, तो मुझे नींद नहीं आ रही थी. मैं कान में ईअर फोन लगा कर यूट्यूब देखने लगा.

कुछ देर बाद मेरी आंख लग गई और मैं गहरी नींद में सो गया. पर सोते समय मुझे अनुभव हुआ, जैसे किसी ने मेरे लंड को पकड़ रखा है.

मेरी आंख खुली, तो मैंने पाया कि वेरोनिका मेरे लंड के साथ खेल रही थी.
मैंने उससे कहा- वेरोनिका ये तुम क्या कर रही हो. प्लीज स्टॉप इट यार, ये सब ठीक नहीं है.

उसने मुझसे कहा- ओह डार्लिंग … इसमें क्या गलत है. हम दोनों जवान हैं और एक ही कमरे में एक ही बिस्तर पर हैं. आज तुम मेरे मेहमान बन कर भी आए हो. बल्कि ये तो मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी कि मैं तुम्हें खुश कर सकूँ.

उसने मेरे विरोध को दरकिनार करते हुए मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

मैं एक जवान मर्द कब तक किसी सुंदर और सेक्सी लड़की की इस हरकत से खुद पर काबू रख सकता था. मैं भी लंड चुसाई का मजा लेने लगा. मैं तो पहले से ही उसे चोदने की सोच रहा था.

करीब दस मिनट बाद मेरे और उसके कपड़े उतर ही गए और हम सिर्फ एक एक कपड़े में रह गए थे.
वो पेन्टी पहने हुई थी और मैं सिर्फ अपनी बनियान में था.

वेरोनिका का फिगर बड़ा मस्त था. उसके चूचों का साइज करीब करीब 34 इंच का था और उसके चूतड़ों का नाप करीब 36 इंच का था. वो देखने में थोड़ी मोटी जरूर दिखती थी, परन्तु कमर उसकी सिर्फ 30 इंच की थी.

हम दोनों ने अपने बचे हुए कपड़े भी निकाल दिए और मैं उसके चूचों को पीने लगा. वो भी मुझे अपने दूध मुँह में अन्दर तक देने की कोशिश करने लगी.

मैंने उसके गले पर काटना शुरू किया … इससे वो और ज्यादा उत्तेजित हो गई. वो मेरे लंड को अपने गले के अन्दर तक ले जाने लगी.

हम दोनों ने 69 की पोजीशन ले ली. मैं उसकी पैंटी साइड में करके उसकी चुत चाटना चाहता था, परन्तु उसकी चूत पर बड़ी बड़ी सुनहरी झांटें उगी थीं, जिस वजह से मैं ठीक से चूत नहीं चाट पाया और वापिस उसके चुचे चूसने लगा.

उसने मुझसे कहा- प्लीज़ अब मुझसे और नहीं रहा जाता … मुझे अब पेल दो … मेरी चूत में चींटियां रेंग रही हैं. दूसरी बार में ये सब मजा कर लेना.

ये सुनते ही मैंने उसे अपने नीचे लेटाया और उसकी चूत में लंड घुसाने का रास्ता ढूंढने लगा. उसने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा और लंड को अपनी चूत के छेद से लगाते हुए मुझे हेल्प की. मेरे लंड का सुपारा उसकी गीली चूत में फंस गया.

उसने भी हाथ हटाते हुए मुझे चूमा और कान में बोली- अब पूरा पेल दो … फक मी.
मैंने लंड डाल दिया. मेरे जोरदार 3 झटकों के बाद पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. वो लंड लीलते हुए एक बार कराही … फिर मजा लेने लगी. मैं भी उसकी चूत में झटके मारने लगा.

मैंने उसे चोदते हुए कहा- वेरोनिका डार्लिंग … ये चुदाई की इंडियन स्टाइल है.
वो मुस्कुराई और मुझे किस करने लगी.

पांच मिनट के बाद हम दोनों ने पोजीशन बदल ली. अब मैं नीचे लेट गया और वेरोनिका मेरे ऊपर आ गई. उसने अपने हाथ से पकड़ कर मेरे लंड और अपनी चूत में ले लिया और ऊपर बैठ कर कूदने लगी.
मैं कभी उसके चूचे दबा देता और कभी उसके निप्पलों को पीने लगता.

उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारता हुआ मैं उसकी चूत में नीचे से ठोकर देने लगा. कभी मैं उसकी कमर पकड़ कर खुद उछल उछल कर लंड अन्दर बाहर करने लगता.

करीब 15 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था.

मैंने वेरोनिका से कहा- प्लीज जल्दी बोलो … रस किधर लोगी.
उसने मुझसे भींचते हुए जवाब दिया- मैं तुमको महसूस करना चाहती हूँ … प्लीज मेरे अन्दर ही रस छोड़ दो. मैं एक भारतीय के बच्चे की माँ बनना चाहती हूँ.

ऐसा सुनते ही मुझे उस पर प्यार आ गया और मैंने उसे चूमते हुए तेज तेज धक्कों से चोदना चालू कर दिया. फिर अपने उत्तेजित लंड की पिचकारी उसकी चूत के अन्दर ही छोड़ दी. उसने भी मुझे जोरों से जकड़ लिया. हम दोनों ऐसे ही लिपट कर लेट गए.

वो थोड़ी देर बाद उठी और वाशरूम गई. दस मिनट बाद वो बाहर आई और मेरे साथ ही लेट गई.

हम दोनों अपने भूतकाल के बारे में बात करने लगे. उसने मेरी गर्ल फ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने अपने 6 साल के रिलेशन के बारे में उसे बताया.

मैं बात करते करते रोने सा लगा, तो उसने मुझे गले से लगाया और मेरा लंड फिर से पकड़ लिया.
हम दोनों गर्म होने लगे.
वो बोली- बेबी, अब इस बार तुम मेरी चूत को कैसे भी चाट सकते हो.

मैं अपने घुटनों पर बैठ गया और वो मेरे आगे खड़ी हो गई. मैंने अपने दांतों से उसकी पेंटी उतारी, तो हैरान हो गया. वो वाशरूम से चूत के बाल शेव करके आई थी.

मैंने उसे देखा तो वो मुस्कुराई और बोली- मुझे समझ आ गया था कि तुम मेरी घुंघराली झांटों की वजह से मेरी चूत नहीं चाट सके थे. अब मैदान साफ़ है … तुम मजा ले भी सकते हो और मुझे दे भी सकते हो.

मैंने उसे थैंक्स कहा और एक भूखे कुत्ते के तरह उसके बदन को चाटने लगा. मैं धीरे धीरे उसके मम्मों को चूसता हुआ उसकी नाभि पर आया और फिर मेरा ध्यान उसकी चूत चाटने पर केन्द्रित हो गया. मैंने अपनी जीभ नुकीली करके उसकी चूत के मुकुट को छेड़ा, तो वो गनगना उठी और उसने अपनी टांगें पूरी तरह से खोल दीं.

मैं उसकी चूत को ऊपर से नीचे तक चाटने लगा. मैंने एक बार तो उसकी एक फांक को काट भी लिया था, जिससे वो उछल पड़ी थी. मैं कभी अपनी पूरी जीभ उसकी चूत के अन्दर डाल देता, तो कभी उंगली.

मैंने उसकी चूत में अपनी 3 उंगलियों को एक साथ डाल दिया, जिससे वो चिल्ला उठी. वो फिर से गर्म गई थी और चुदने को मचलने लगी थी. मैंने उसे अब कुतिया बनने को कहा. वो बेड पे अपनी गांड ऊपर करके लेट गई. मैंने थोड़ा बॉडी लोशन उसकी गांड और थोड़ा उनकी चूत पर लगाया. कुछ ज्यादा सा मैंने अपने लंड पर भी लगा लिया.

इसके बाद मैं उसको चोदने की मुद्रा में उसके पीछे आ गया. लंड को चूत के छेद में लगा कर मैंने दो ही झटकों में पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक पेल दिया. बस अगले कुछ ही पलों में पूरे कमरे में चुदाई की पछ पच … की आवाजें गूंजने लगीं.

वो ‘ओह बेबी … उम्म्ह… अहह… हय… याह… कम ऑन फक मी हार्ड … फक मी हार्ड..’ करने लगी.

मुझे जोश आने लगा और मैं उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारने लगा. मैंने थप्पड़ मार मार कर उसकी गांड लाल कर दी. तभी उसकी चूत ने फिर से पानी पिचकारी छोड़ दी.

उसकी चुदाई करते हुए मुझे बीस मिनट से ज्यादा हो गया था. अब मैं थकने लगा था. मैंने फाइनल शॉट मारे और उसकी चूत में ही झड़ गया. एक मिनट बाद मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

वीर्य और रज से सने हुए लंड चूत को हम दोनों ने पास रखे नैपकिन पेपर से अपने आपको साफ किया और बाथरूम में आ गए. हम दोनों शॉवर के नीचे खड़े गए और एक दूसरे से अठखेलियां करते हुए नहा कर बाहर आ गए. फिर हम दोनों ने एक एक पैग लगाया और सो गए.

सोने से पहले हम ने एक दूसरे को लिप किस की और वेरोनिका को मैंने थैंक्स बोला.
उसने मुझसे कहा- बेबी एक दिन बाद हम दोनों एक दूसरे शहर में होंगे. उधर मेरी बहन ऐना और उसका ब्वॉयफ्रेंड हेक्टर हम दोनों को मिलेंगे.

मैंने उसे फिर से थैंक्स कहा और हम दोनों सो गए.

आगे की सेक्स कहानी मैं दूसरे पार्ट में आप लोगों से शेयर करूँगा, जब ऐना से मेरी मुलाक़ात हुई.

आपको मेरी सेक्स कहानी का ये भाग कैसा लगा, अपने विचार जरूर मेल करें.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top