अपनी सहेली के पति से चुदी

(Apni Saheli Ke Pati Se Chudi)

दोस्तो, आप सबको नमस्कार, मेरा नाम सुनीता है. मैं आप सबको अपनी सच्ची कहानी बताने जा रही हूँ कि कैसे मैं अपनी सहेली के पति से चुदी.

मेरे पड़ोस में मेरी एक सहेली रहती है. हम दोनों में बहुत अच्छी दोस्ती है. मेरी सहेली मेरा भरपूर साथ देती थी और मैं भी उसका भरपूर साथ देती थी. हम दोनों लोग हमेशा एक दूसरे की सहायता करते थे. मेरी सहेली और मैं, हम दोनों लोग कॉलोनी के लड़कों को देखते थे.. और एक दूसरे से उनको लेकर सेक्सी बातें करते थे. मेरी कॉलोनी के लड़के, मेरी सहेली और मुझको लाइन भी मारते थे. हम दोनों लोग कभी कभी शाम को घूमने जाते थे, तो कॉलोनी के लड़के हम दोनों लोग पर गन्दे कमेंट करते थे.. जिनको हम दोनों ही बहुत एन्जॉय करते थे.

मेरी सहेली का पति भी मुझे बहुत अच्छा लगता था. लेकिन वो मेरी सहेली का पति था.. इसलिए मैं उस पर ज्यादा ध्यान नहीं देती थी. जबकि मेरी सहेली तो मेरे पति से बहुत मजाक करती थी.

मुझे शुरू से ही सेक्स करने का बहुत मन रहता था और मैं अपनी शादी से पहले तक अपने कई बॉयफ्रेंड्स से सेक्स कर लेती थी, लेकिन अब अपने पति के डर से उन सबसे सेक्स नहीं करती हूँ. मेरे बॉयफ्रेंड्स आज भी मुझसे सेक्स करने के लिए बोलते हैं, लेकिन मैं अपने पति की वजह से अपने बॉयफ्रेंड्स से नहीं चुदवाती हूँ.

जबकि मेरी सहेली के भी कई बॉयफ्रेंड्स हैं और वो अब भी अपने बॉयफ्रेंड्स से चुदवाती है. मेरी सहेली ये बात मुझे बताई थी और मुझे भी कहा था कि मैं ये बात किसी को नहीं बताऊँ. वैसे तो मुझे उसकी इस हरकत के बारे में मालूम ही नहीं चलता, लेकिन मैंने एक बार अपनी सहेली को उसके बॉयफ्रेंड्स से फ़ोन पर बात करते हुए देख लिया था. फिर जब मैंने उससे जोर देकर पूछा तो उसने मुझे बताया कि वो अपने बॉयफ्रेंड से बात कर रही थी और जब उसका पति घर पर नहीं रहता है, तो वो अपने बॉयफ्रेंड से चुदवा भी लेती है.

मेरी सहेली की बात सुनकर मुझे भी अपने बॉयफ्रेंड्स से चुदवाने का मन करने लगा. लेकिन मैं अपने पति से कुछ ज्यादा ही डरती थी. मेरे पति ने मुझे एक दो बार अपने बॉयफ्रेंड्स से बात करते हुए देख लिया था, इसलिए हम दोनों लोग के बीच झगड़ा होने लगा था. इसी लिए मैंने अपने बॉयफ्रेंड्स से बात करना छोड़ दिया. हालांकि मेरा एक बॉयफ्रेंड जब भी मुझसे कभी कभी फोन लगा कर बात करता है, तो मैं उससे बात कर लेती हूँ.

मेरी सहेली मुझसे बड़ी चुदैल है, वो अपने बॉयफ्रेंड्स से चुदवाने के लिए होटल तक में चली जाती थी. जब वो होटल वगैरह जाती थी तो अपने पति से कोई बहाना बना देती थी कि उसे आज अपनी किसी सहेली के घर जाना है या बहन के घर जाना है. और आज सुनीता आपके लिए खाना बना देगी. उसकी इस बात को लेकर मुझे उसके पति को खाना खिलाना पड़ता था. वो तो इतनी अधिक चालाक थी कि कभी कभी अपनी बहन के साथ टूर पर जाने की बात कह कर अपने बॉयफ्रेंड्स के साथ चली जाती थी और बहुत दिन के बाद आती थी.

उन दिनों मैं उसके पति को अपने घर बुलाकर उसे खाना खिलाती थी. मेरे पति भी कभी कभी अपने ऑफिस के काम की वजह से बाहर जाते थे. कई बार ऐसा मौका पड़ा कि मेरे पति मेरे घर पर नहीं रहते और मेरी सहेली का पति मेरे घर खाना खाने के लिए आता था.

मेरी सहेली का पति और मैं, हम दोनों लोग एक दूसरे से बात कर लेते थे. इस तरह के अवसर जब बार बार पड़ने लगे तो मैं और मेरी सहेली के पति में अच्छी दोस्ती हो गयी.

जब मेरे पति अपने ऑफिस के काम की वजह से बाहर जाते थे, मुझे भी चुदवाने का मन करता था. मैं भी अपनी सहेली के पति से बात करते करते खुल गयी थी और वो भी मुझसे खुलकर बातें करने लगे थे. मेरे पति को शक ना हो इसलिए मैं अपनी पति के बाहर जाने के बाद ही अपनी सहेली के पति से बात करती थी. वो भी तब, जब वो मेरे घर खाना खाने के लिए आते थे. इसी तरह हम दोनों में खुल कर बातें होने लगी थीं.

एक दिन मेरी सहेली के पति मुझसे बात करते करते मुझे अपने साथ घूमने जाने के लिए बोलने लगे और मैं भी मान गयी. हम दोनों लोग बाहर घूमने निकल गए. इसके बाद तो जैसे ये सिलसिला ही चल पड़ा. हम दोनों लोग ऐसे ही बहुत बार बाहर घूमने गए और हम दोनों लोग एक दूसरे के काफी करीब आ गए. एक बार मेरी सहेली के पति ने मेरे हाथ को अपने हाथ में लिया, तो मैंने कोई आपत्ति नहीं की. बस इसके बाद उन्होंने तुरंत ही मुझे चूम लिया, तो मैंने भी उनको चूम लिया. इस तरह से अब हम दोनों लोग एक दूसरे को किस भी करने लगे थे.

एक दिन मेरी सहेली के पति मुझसे मेरी ब्रा और पेंटी का रंग भी पूछने लगे थे. मैंने बताया तो वो मेरी पसंद की ब्रा और पेंटी ले आए.
उन्होंने मुझसे कहा- पहन कर बताओ कि कैसी लगी.
मैंने कहा- ठीक है कल बता दूँगी.

पर वो शायद उसी समय देखना चाहते थे. हम दोनों के बीच सेक्स की चर्चा होने लगी और कामवासना जाग गयी. वास्तविकता भी ये थी कि हम दोनों लोग एक दूसरे के साथ सेक्स करना चाहते थे. इस वजह से मेरी सहेली के पति ने मुझसे रात में मिलने के लिए बोला. उन्होंने मुझसे सेक्स करने के लिए बोला था. मैं भी बहुत दिन से चुदवाना चाहती थी. मैंने हां कर दी.

उस दिन मेरे पति अपने ऑफिस के काम से बाहर गए थे. मेरे पति को तो जैसे सेक्स को लेकर मुझसे कोई मतलब नहीं था और वो अपने ऑफिस के काम में लगे रहते थे.

मैंने उस दिन मैक्सी पहनी थी और नई वाली ब्रा पेंटी पहनी थी. मेरी सहेली का पति रात को घर आ गया. मैंने उसको खाना खिलाया और उसके बाद हम दोनों लोग बात करने लगे. मेरी सहेली का पति मुझसे बात करते करते मेरे जिस्म को छूने लगा और उसके बाद वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मुझे किस करने लगा. मैं भी गर्म थी और मुझे भी चुदवाने का मन कर रहा था तो हम दोनों ने एक दूसरे को बहुत देर तक किस किये.

उस दिन मेरी सहेली अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाने के लिए गयी थी. उधर मेरा पति मुझे छोड़कर अपने ऑफिस के काम की वजह से बाहर गया था.

हम दोनों एक दूसरे को किस करने के बाद गर्म हो गए. मेरी सहेली के पति ने मेरी मैक्सी को निकाल दिया. मैं ब्रा और पेंटी में आ गयी. उसके बाद उसने मेरी ब्रा और पेंटी को भी निकाल दिया और मैं उसके सामने नंगी हो गयी. मेरी सहेली का पति मेरी एक चूची को चूसने लगा.

और मेरी चूची को चूसने के बाद वो बोला- आज तुमको पूरा मजा देता हूँ.
मैंने उसके लंड को सहलाते हुए कहा- हां मुझे भी इसका पूरा मजा लेना है.
वो बोला- मैं अभी आता हूँ.

वो मेरी रसोई में चला गया और उधर जाकर उसने मुझसे पूछा कि लिक्विड चॉकलेट कहाँ रखी है?
मैं समझ गई कि ये क्या करने वाला है. मैंने झट से उसको बताया कि चॉकलेट कहाँ रखी है.
वो लिक्विड चॉकलेट लेकर आया. उसने मुझे चित लेटने को कहा. मैं चूत खोल कर लेट गई. उसने मेरी चूत पर चॉकलेट डाल दी और मेरी चूत को चाटने लगा.

मुझे इस तरह से अपनी चूत पर लिक्विड चॉकलेट लगवा कर चटवाना बड़ा ही मजा दे रहा था. उसने मेरी चूत बहुत देर तक चाटी और मैं ‘आह आह उह्ह उह्ह..’ करके चिल्लाने लगी.

मेरी चूत को मेरी सहेली का पति चाट रहा था और मैं उसके मुँह में झड़ गई. मेरी सहेली का पति मेरी चूत का पानी चाट कर साफ़ कर गया. मैं थोड़ा शांत हो गयी थी.

कुछ देर बाद मेरी सहेली के पति ने मुझसे अपना लंड चूसने के लिए बोला. मैंने भी उसके लंड पर लिक्विड चॉकलेट लगाई और खूब देर तक उसका लंड चूसा. कुछ ही देर बाद वो भी झड़ गया.

अब हम दोनों लोग शांत हो गए थे.

कुछ देर यूं ही पड़े रहने के बाद हम दोनों लोग सेक्स करने के मूड में आ गए. मेरी सहेली के पति ने मेरी दोनों जांघों को फैला दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया. वो मेरी चूत को हचक कर चोदने लगा. मैं अपनी सहेली के पति के सामने पूरी नंगी होकर चुदवा थी और वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था. मेरी चूत को चोदते हुए, वो मेरी मोटे मोटे चूचों को भी चूस रहा था. हम दोनों लोग पूरी मदहोशी में सेक्स कर रहे थे. वो पूरी ताकत से लंड पेल रहा था. इधर मैं भी अपनी गांड उछाल उछाल कर उससे चुदवा रही थी. हम दोनों लोग जिस अंदाज में सेक्स कर रहे थे. उसमें हम दोनों का जिस्म एक दूसरे से रगड़ खा रहा था. जिससे हम दोनों लोग एकदम गरम हो चुके थे और इसी तरह चुदाई करते हुए मैं झड़ने को होने लगी.

तभी मेरी सहेली के पति ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और मैं झड़ न सकी. मुझे उसके लंड खींच लिए जाने से बहुत गुस्सा आया. पर उसने मुझे पूरा मजा लेने का याद दिलाया और एक मिनट बाद अपना लंड फिर से मेरी चूत में डाल दिया. लंड घुसवाते ही मुझे चैन सा मिल गया.

अब मुझे जोर जोर से चोदने लगा. इस तरह लगभग आधे घंटे तक हम दोनों लोग सेक्स करते करते झड़ गए. हम दोनों का पूरा पानी एक साथ निकल गया था. आज सच में इतना अधिक पानी निकला था कि हम दोनों के जिस्म का नीचे का हिस्सा लंड चूत के रस से भीग गया था.

माल निकल जाने के बाद हम दोनों को बहुत तृप्ति मिल गई थी. अब हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और उसके कुछ देर बाद मैं नंगी ही बाथरूम में गयी और पेशाब करने लगी.

मैं बाथरूम से बाहर आई तो मेरी सहेली का पति मुझे फिर से अपनी बाँहों में लेकर किस करने लगा. इससे हम दोनों में फिर से चुदास जागने लगी. कुछ देर बाद ही सेक्स का समन्दर फिर से हिलोरें मारने लगा. मेरी सहेली के पति ने मुझे देर तक किस किया. इसके बाद वो मेरी चूत को चाटने लगा.

मुझे फिर से उसका लंड लेने का मन करने लगा. मेरी सहेली का पति मेरी चूत को बड़ी मस्ती से चाट रहा था तो मैं भी अपनी गांड उठाते हुए उसकी पीठ को अपने नाख़ून से नोंचे जा रही थी.

उसने मेरी चूत को चाटने के बाद मेरी गांड को बहुत देर तक मसला और उसके बाद उसने मुझे दीवार की तरफ कर दिया. अब हम दोनों लोग खड़े होकर सेक्स कर रहे थे. मेरी सहेली का पति मुझे पीछे से चोद रहा था. मुझे अपनी चूत में उसका लंड बहुत मजा दे रहा था. उसने मुझे बहुत देर तक चोदा. फिर हम दोनों का पानी निकल गया.

इस तरह से हम दोनों ने दो बार चुदाई की. हम दोनों सेक्स करते करते थक गए थे. इसलिए एक दूसरे की बांहों में चिपक कर लेट गए और थोड़ी देर तक आराम किया.. हमारी कब आँख लग गई, इसका पता ही नहीं चला.

आज की रात मेरे पति अपने ऑफिस की काम की वजह से बाहर गए थे, इसलिए मेरी सहेली का पति मेरे घर ही रुक गया था. हम दोनों लोग नंगे सोए हुए थे.

हम दोनों कुछ देर के बाद उठे तो मैंने अपनी सहेली के पति के लिए कॉफ़ी बनाई और उसके बाद हम दोनों ने नंगे ही बैठ कर कॉफ़ी पी. कॉफ़ी पीने के बाद हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे.

मैं इस वक्त अपनी सहेली के पति की बाहों में थी और वो मेरे होंठों को चूस रहा था. मेरे होंठों को चूसने के बाद वो मेरे चूची को चूसने लगा. मैं आहें भर रही थी. हम दोनों एक दूसरे को चूम रहे थे, चाट रहे थे.

मेरी सहेली का पति मेरी चूची चूसने के बाद मेरे नाभि को चाटने लगा था. इससे मुझे फिर से सेक्स चढ़ने लगा और मेरी सहेली का पति भी सेक्स करने के मूड में आ गया था.

हम दोनों लोग बिस्तर पर नंगे लेटे हुए थे और वो मेरी दोनों जांघों के बीच में मेरी चूत को चाट रहा था. मेरी चूत को चाटने के बाद मेरी चूत में उंगली करने लगा. मेरी चूत ने लिसलिसी हो उठी. लेकिन थकान के कारण इस बार हम दोनों ने ओरल सेक्स करने का मजा लेना तय किया था.

फिर हम दोनों 69 के पोज में आ गए. मेरी सहेली का पति मेरी चूत को चाटने लगा और मैं उसके लंड को चूसने लगी.

मेरी चूत गीली हो चुकी थी और कुछ ही पलों में झड़ गई. मेरी सहेली का पति मेरी चूत के पानी को चाट कर मजा ले रहा था. इस वक्त मैंने उसके लंड को अपने मुँह से निकाल दिया था और बस अपनी चूत चटवाने का मजा ले रही थी. चूत का पानी चाट लेने के बाद भी वो मेरी चूत को चाटता रहा, जिससे मैं फिर से गरम हो गई.

मेरी सहेली का पति मेरी चूत चाटने के बाद अपना लंड मुझे चूसने के लिए कहने लगा तो मैं उसका लंड चूसने लगी. वो भी कुछ देर के बाद झड़ गया और उसका भी पानी निकल गया.

तीसरी बार पानी निकल जाने के कारण हम दोनों बहुत थक गए थे और हम दोनों की फिर से नींद लग गयी.

सुबह वो मुझे छोड़ कर अपने घर चला गया. उसको काम पर जाना था. शाम को वो फिर मेरे घर आ गया. उस दिन के बाद से जब तक मेरे पति ऑफिस के काम की वजह से घर वापस नहीं आ गए थे. हम दोनों लोग रोज रात को सेक्स करते थे.

इसके बाद भी, मेरी सहेली जब भी अपने बॉयफ्रेंड्स से चुदवाने के लिए जाती है, तो मैं उसके पति से उसी घर में जाकर चुदवा लेती हूँ.

आप सबको मेरी कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताएं, फीडबैक जरूर दीजिए.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top