शादी से पहले पति के सामने चुत चुदाई-2

(Shadi Se Pahle Pati Ke Samne Chut Chudai- Part 2)

This story is part of a series:

मेरी गरम सेक्स कहानी के पिछले भाग
शादी से पहले पति के सामने चुत चुदाई-1
में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी लालची माँ ने मेरा रिश्ता तय कर दिया. मुझे भी सेक्स की लत थी. एक दिन मेरा होने वाला पति घर आया तो मेरी मां हम दोनों को अकेले छोड़ कर चली गयी.
मेरे पति को भी सेक्स का नशा था. वो मेरे साथ सेक्सी बातें करने लगे और मेरी कामुकता जगा कर मुझे नंगी कर लिया.
अब आगे:

तभी बालू ने मेरा मोबाइल लिया और टाइप किया गूगल में ‘इंडियन एमएमएस थ्रीसम’
और फिर मुझे दिखाने लगे, बोले- ये सब रियल हैं, सच में स्कूल गर्ल, कालेज गर्ल, मैरिड वुमन सब एक साथ दो, तीन, चार, पांच मर्दों से एक साथ चुदाई करवाती हैं।
मैं बोली- सच में? यार ये तो गजब है! इंडिया में भी फारेन जैसे होने लगा?

बालू बोले- अब सच बोलना, नहीं कसम दे दूंगा.
मैं बोली- प्लीज कसम मत देना, हमेशा सच बोलूंगी… पर एक शर्त पर कि अगर कुछ भी खराब बोल दूं गन्दी गन्दी बातें भी… तो बुरा नहीं मानना और मुझे डांटना ना हो।
बालू बोले- अगर ये भी बोल दो कि तुम एक साथ पांच छः मर्दों से एक साथ कई बार चुदवा चुकी हो और आगे भी चुदवाओगी तो भी मैं बुरा नहीं मानूंगा, ना डाटूंगा और फिर भी शादी हर हाल में तुमसे ही करूंगा… कसम से मम्मी कसम!
मैं बोली- ग्रेट यार… इतनी पसंद आ गयी मैं! पर आपको बता दूं आज मेरी लाइफ में आप पहले मर्द नहीं हो जिसने मुझे इस तरह छुआ है और जिसके साथ लेटी हूं। जो आप पूछना चाहते हैं तो वो भी सब बता दूं कि अभी जब से मोबाइल में ये सब देखने लगी हूं तो सच में उस तरह के पोर्न वीडियो देख कर लगता है कि तीन चार लोग मुझे भी चोदें! सच यही है।

इतना सुनते ही बालू ने मेरी कुर्ती उतार फेंकी और मुझसे लिपट गये, बोले- बहुत सेक्सी हो यार! थैंक्यू… मुझे ऐसी ही पार्टनर चाहिए! अब वन्द्या खुल के गन्दा बोलो! मेरा ऐसे ही साथ देना! अगर कभी तुम्हारा बहुत मन किया तो तुम तीन चार मर्द से चुदवा लेना।

मैं बोली- सच बालू?
वे बोले- सच में!
मैं बोली- आपको बुरा तो नहीं लगेगा?
बालू बोले- कसम से बुरा नहीं लगेगा! आप खुश हो और मजा आये आपको… आप सेटिस्फाई हों, मुझे इसमें खुशी मिलेगी।
मैं बोली- थैंक्यू… पर आपके लिए मैं कुछ भी करूंगी, पर खुद से ऐसा कुछ नहीं करूंगी; अगर किन्ही मर्दों से करवाया या करवाने का मन किया तो आपसे बता दूंगी।
बालू बोले- पर अपन बातों में कल्पना डाल दो… तीन मर्द को सोच के सब करेंगे तो उससे जोश बढ़ता है.
मैं बोली- ओके!

अब बालू ने मेरे बूब्स ब्रा को ऊपर से ही दबा दिया, मुझे मस्त लगा, मैं बोली- ये मेरे छोटे हैं अभी मेरी सहेलियों से!
बालू बोले- मस्त हैं सेक्सी… इन्हें मैं दबा दबा के बड़ा कर दूंगा। अभी भी बहुत मस्त हैं.

अब मैं उनके सामने ब्रा पैन्टी में लेटी थी और वो भी पूरे नंगे थे, मुझे बोले- अब तू तड़ाक में बात करो! जब भी ये पल हों जानवर बन जायेंगे दोनों! फिर सेक्स के बाद नार्मल लाइफ वही आप!
मैं बोली- ओके!
मुझे अब वो गंदी बातें बोलने लगे, बोले- फुल रंडी लगती हो सेक्सी!
और मेरी पैंटी उतार दिये और सीधे मेरी दोनों टांगों को फैला कर चौड़ा कर दिया सबसे पहले मेरी चूत में किस किया और बोले- तेरी चूत तो बह चली है, बहुत चुदासी है तू साली! फिर मना क्यूं कर रही है?
मैं बोली- मैं तेरा लौड़ा अन्दर सुहागरात में ही लेना चाहती हूं।

तभी एकदम जोश में आकर बालू अपनी पूरी जीभ मेरे चूत में डाल कर जोर जोर से चूसने और चाटने लगा; मैं छटपटाने लगी और ऊं हहह वोहह हहह आहहह की आवाज जोर जोर से मेरे मुंह से अपने आप निकलने लगी. ये मेरे साथ फर्स्ट टाइम था, तब भी मेरे मुंह से अपने आप गन्दी बातें निकलने लगी, मैं बोली- ओहह हहह कुत्ते और चाट… बहुत मस्त चाटता है चूत… कितनों की चाटी है?
तभी बालू उठा और मेरी ब्रा को जोर से खींचा ब्रा फट गई, मैं अब पूरी नंगी हो गई.
बालू बोला- पूरी छिनाल लगती है तू वन्द्या… क्या मस्त माल है तू!

मैं बोली- अपनी रंडी को कितना दोगे?
तभी बालू ने पर्स निकाला और पांच सौ के करीब दस बारह नोट मेरे ऊपर फेंक दिये और बोला- यार बहुत मज़ा आयेगा अब! तुम मेरी असली रंडी लग रही हो नोटों के ऊपर… बोल अब तेरी नथ उतार दूं? बता चुदेगी ना?
मैं बोली- इतना तो मुझे छूने का लगता है, बीस हजार लूंगी चुदाई का!
बालू बोले- वाह मेरी रंडी, बड़े भाव हैं तेरे साली?
तभी मैं बोली- नथ तो मेरी दस बारह बार उतर चुकी है।

मैं बोली- अंदर से भी गेट बंद कर दो, कहीं मम्मी ना आ जायें!
पर वो नहीं गये, बालू बोले- मम्मी को सब पता है, वो नहीं आयेंगी.
मैं बोली- अरे मम्मी ऐसे ही कुण्डी दे गई होगी, कहीं कोई और आ गया तो?
बालू बोले- आने दो… अब हम मियां बीवी बनने वाले हैं। क्यूं डरें किसी से?

वो नहीं गये बंद करने गेट अंदर से!

और अब सीधे मेरे चूत को फैला कर अपनी जीभ से चाटने लगे; जोर जोर से चूसने लगे और दोनों हाथों से मेरे दूध दबाने लगे. मैं बिल्कुल तड़पने लगी; मुझसे रहा नहीं जा रहा था; मेरे मुंह से अपने आप आवाज निकालने लगी- ऊंहहह आहहहह… मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा! कुत्ते क्या कर दिया!
टीवी की आवाज़ तेज थी इसलिए आवाज वहीं रुक गई.

इतने में मुझे लगा कि जैसे परदा हिला हो!
मैं बोली- कोई आया क्या?
बालू ने मुड़ कर देखा, बोले- कोई नहीं… तू खुद डरती है और मुझे भी डरा रही है, इससे मूड बदल जाता है, कोई आता है तो आने दे अब, बस आज तेरी चूत को खा जाऊंगा.
और पूरी चूत मेरी मुंह में भर लिया.

मैं बिल्कुल नंगी तड़पने लगी; मुझसे सच में अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था; मैं अपने आप अपनी कमर उछालने लगी और अपनी चूत उठा उठा कर चटवाने लगी और बोली- ओहहहहह मेरे राजा… मार डालोगे क्या? ये क्या कर दिया? कौन सी आग लगा दी? मुझसे रहा नहीं जा रहा है… हहह!

इतने में मुझे कुछ मोबाइल सा दिखा परदे के पीछे… पर इस बार उनके संकोच में नहीं बोली कि वो बोलें ना कि अच्छे खासे मूड़ को डिस्टर्ब कर रही है.
मैंने सोचा जाने दो!

और इतने में बालू ने मेरी चूत में अपनी उंगली डाल दी, मैं उछल गयी और जोर से उनका लन्ड पकड़ लिया.
वो बोले- देखना साली, तू आज खुद बोलेगी कि मेरी चूत में लंड डाल दो अपना!
तो मैं बोली- यह नहीं होगा… चाहे मेरी जान निकल जाए! बस मैंने सोच लिया कि चाहे सबसे चुदाई करवाती रहूं नहीं रहा जायेगा तो… पर तुझसे सुहागरात के दिन ही चुदवाऊँगी.

तभी बालू बोले- ऐसी भी क्या जिद है? चलो देखता हूं, कैसे अभी रह पाओगी बिना मेरा लोड़ा घुसवाये!
मैं बोली- देख लो, आजमा लो, पागल तो मुझे कर ही दिया है!

उसी समय फिर एक हाथ से मेरे नंगे बूब्स दबाने लगे, एक हाथ से चूत में अपनी उंगली डाल दी, बालू को मुझे तड़पाने में बहुत मजा आ रहा था.
फिर वो उठे, मेरे सीने के अगल बगल दोनों टांगें करके मेरे बूब्स को दोनों हाथों से जम के पकड़ लिया और फिर अपना लन्ड मेरे बूब्स के बीच में घुसा दिया और थूक लगा के लंड से बूब्स को चोदने लगे.

अब सच में मेरी हालत बहुत खराब होने लगी, तभी मुझे लगा कि लगता है बालू से चुदवा लूं… नहीं पागल कर देंगे.
बालू दस मिनट बूब्स चोदने के बाद फिर बोले- अब बता कुतिया… चोदूं तेरी चूत?
मैं बोली- नहीं… पर मुझसे अब रहा नहीं जा रहा है!

अब वो मेरे मुंह के सामने अपनी टांगें फैला कर बैठ गये और अपना लन्ड पहले मेरे गालों पर रगड़ा, फिर मेरी नाक में डालने लगे, बोले- तुमसे सेक्सी नाक इतनी सुंदर किसी की नहीं है.
और बहुत ही अजीब पर नशीली खुशबू लंड की नाक में घुस गयी.

तभी बालू बोले- मेरी रंडी कुतिया, चाटो चूसो मेरे लौड़े को!
और मेरे होंठों पर अपने लन्ड को रख दिया.

मैंने मना किया कि प्लीज ये मत करवाओ मुझसे!
तो बालू बोले हर लड़की का ये ड्रीम होता है कि उसे मस्त लन्ड चूसने को मिले! और तू कैसी बात कर रही है, कौन सा मेरा पहली बार चूस रही है, ले साली चूस!
और मेरे होठों पर लन्ड को रगड़ने लगे.

जैसे ही लंड मेरे होठों को रगड़ा, उसके टच करने से गरम गरम उसकी छुअन से मुझे बहुत मस्त अजीब सा लगा और मैंने अपने हाथ से उसका लन्ड पकड़ कर मुंह में भर लिया और चूसने लगी लन्ड!
बालू का लन्ड बहुत बड़ा नहीं है इसलिए आराम से मुंह में पूरा घुसा दिया और मैं चूसने लगी, चाटने लगी.

जाने क्या हुआ कि मेरी आंखें बंद होने लगी और बालू तो जैसे पागल होने लगे, फुल जोश में आ गए और मुझे बहुत गंदी गालियां देने लगे- और चूस रंडी… ले मेरे लंड को… तू साली पूरी छिनाल है… तुझे एक साथ कई लंड चोदेंगे, तब तेरी प्यास बुझेगी!
उसकी ये बातें मेरे जोश को और बढ़ा रही थी.

तभी मेरी आंखें बंद हो गई, बस मैं उसका लन्ड चूसे जा रही थी और बालू तो कांपने लगा और लन्ड रगड़ने की स्पीड फुल बढ़ा दी और उसकी भी आंखें बंद हो गई थी। मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था, लगा कि अब जम के बालू चोद दे!
अगर अब बोलता कि ‘चोद दूं’ तो मैं हां बोल देती अब!

करीब चार पांच मिनट बाद बालू ने मेरी चूत में उंगली घुसा दी, वो एकदम बह रही थी, उंगली जैसे अंदर बाहर चूत में हुई, मैंने अपनी टांगें फैला दी और ऊपर कर ली दोनों टांगें कि बालू समझ जाये कि मैं चुदाई करवाने के लिए पूरी तैयार हूं.
मैं इतने जोश में थी कि जरा भी दिमाग न लगाया कि बालू तो मेरे मुंह में टांगें फैला कर अपने लन्ड से चोद रहा है मुंह को मेरे, फिर उसका हाथ वहां चूत में कैसे जायेगा।

पर मेरी चूत में उंगली अंदर बाहर हो रहा थी और मैं आंखें बंद कर के फुल जोश में बालू का लन्ड चूसे जा रही थी.
कि तभी अचानक बिजली की स्पीड से एकदम मेरी चूत में एक बहुत बड़ा सा सख्त मोटा कुछ बहुत तेजी से पूरे जोर ताकत से एक झटके में मेरी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया. ऐसा लगा, इतना दर्द हुआ कि मैं बेहोश सी हो गई, मेरे मुंह में बालू का लन्ड घुसा था तो मुंह से आवाज भी नहीं निकली और बालू इतने जोश में था कि बस लंड से मेरे मुंह को चोदे जा रहा था.

टीवी की आवाज़ तेज थी जिससे कोई आवाज ही नहीं आयी, मेरी आंखों से आंसू बहने लगे और बालू को देखा तो वो अपनी आंखें बंद किये फुल जोश में पसीना पसीना हुआ जा रहा था. मेरे हाथ भी कंधा भी बालू की टांगों के नीचे दबा था, मैं बेबस मुंह से गूं-गूं की आवाज निकाली और आंसू की धार बह चली. इतना दर्द कि लगा मर जाऊंगी!

उधर अब बिल्कुल समझ आ गया कि कोई मेरी चूत को चोद दिया और जो भी है उसका लन्ड बहुत बड़ा है।
मेरा होने वाला पति गधा मेरे मुंह को चोदने में मदहोश है, उधर नीचे मेरी अब कोई दोनों टांगें पकड़े पूरा फैलाये मेरी चूत में अब धक्के लगाये जा रहा था और मेरी चूत फ़ाड़ दी. बहुत असहनीय दर्द उसके हर बार लंड अंदर बाहर घुसाने में हो रहा था.

मुझे अब तक ये नहीं पता चला कि मेरी चूत को चोद कौन रहा है और वह इतनी सावधानी बरत रहा था कि उसका बदन कैसे भी बालू को टच ना हो।
होती भी कैसे बालू मेरे मुंह में चढ़ा था तो उसका पूरा शरीर मेरे कंधे से ऊपर मुंह के पास था और जो मेरी चूत को चोद रहा था, उसका पूरा लौड़ा अन्दर और वो दोनों टांगों के बीच में यानि मेरे कमर के नीचे था।
अब जो मेरी चूत चोद रहा था, वो लन्ड अन्दर बाहर करने के साथ साथ मेरे दोनों बूब्स भी जोर जोर से दबाने लगा.

मुझे बालू के ऊपर बड़ा गुस्सा आता, जो मेरे हाथ कंधे सब दबाये मेरे मुंह में लंड डाले उल्लू की तरह गधा साला मुंह में मेरे लन्ड डाले पागल है, मुझे दो तीन बार लगा था कि कोई है… परदा हिला था, मोबाइल भी थोड़ा चमका था, मैं बोली भी थी कि लगता है कोई है।
पर बालू बेवकूफ ने हर बार मुझे चुप करा दिया कि तुम फालतू में डर रही हो, मूड खराब कर रही हो.

मैं ये भी बोली थी कि ‘अंदर से भी बंद कर लो’ भले ही मम्मी बाहर से कुंडी लगा दी है।
पर बालू ने कोई एक बात नहीं मानी मेरी, उसी का परिणाम कि शादी बालू गधे से होने वाली है और मेरी चूत उसके मौजूदगी में कोई और चोदे जा रहा है।

कहानी जारी रहेगी.
मेरी हॉट सेक्स स्टोरी में हर एक बात सच है! मेरी गरम चुदाई कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेरी मेल आईडी पर मेल भेज कर बता सकते हैं।
[email protected]