ऑनलाइन पटाई लड़की को दुबारा चोदा

(Online Patayi Ladki Ko Dobara Choda)


आपने मेरी 2 साल पुरानी एक कहानी पढ़ी होगी
ऑनलाइन लड़की को पटा कर रूम पर चोदा

यह कहानी उसी लड़की के बारे में है जिसको मैंने दुबारा चोदा, कब और कैसे चोदा, इस कहानी में पढ़ें और मजा लें।

जो लोग नए हैं उनको मैं अपने बारे में बता दूँ।
मेरा नाम जॉर्डन चौधरी है, मैं इस टाइम राजस्थान में रहता हूँ। मेरी उम्र 27 साल है, मेरी बॉडी एवरेज है यानि देसी बॉडी है। मेरे लण्ड का साइज 7.5 इंच है।

जो मेरे बारे में जानते हैं, उनको पता होगा कि लड़कियां और भाभियां मेरी चुदाई की काफी दीवानी हैं।

उस लड़की का नाम पूजा है, उसकी उम्र 28 साल के लगभग होगी। उसकी हाइट लगभग 5.6 फ़ीट है, उसकी बॉडी का साइज करीब 34″ के बूब्स और 32″ की गांड और 30″ के लगभग कमर है।
पूजा इस समय गुजरात में रहती है अपने पति के साथ … उसका पति वहां किसी कंपनी में जॉब करता है।

शादी के बाद पूजा से बात नहीं होती थी या कभी कभी होती है तो भी 1-2 मैसेज सिर्फ!

यह बात कुछ 15 दिन पहले की है। पूजा का मैसेज आया रात को लगभग 12 बजे- कहाँ हो?
मैंने कहा- जयपुर … तुम कहाँ हो?
तो बोली- आज ट्रेन से जयपुर आ रही हूँ, कल पहुँच जाऊंगी जयपुर।

मैंने कहा- और बताओ क्या चल रहा है?
उसने कहा- वो बात मिल कर करेंगे। कल रात को या परसों दिन में फ्री हो तो मिलते हैं।
मैं मन ही मन खुश हुआ, मैंने कहा- जरूर … पहुँच के फाइनल करो कि मिलना कब और कहाँ है।

दूसरे दिन उसका कॉल आया- जयपुर में मैं भैया के पास रुकी हुई हूँ।
उसके भाई का जयपुर में होटल है।
मैंने कहा- तो मिलना कैसे होगा?
फिर उसने कहा- दिन में भैया तो होटल रहते हैं. तो उनके जाने के बाद यहीं पर आ जाना।
मैंने उसके साथ फाइनल किया कि कल मिलते हैं, भैया के होटल जाते ही आप कॉल कर देना।

अगले दिन में सुबह से ही लण्ड को साफ़ करके मालिश वगैरह करके तैयार हो गया और पूजा की कॉल का इंतज़ार करने लग गया।
लगभग 9 बजे उसका मैसेज आया- आ जाओ!
और उसने घर का पता मैसेज कर दिया।
मैं लगभग 30 मिनट में दिए गए पते पर घर पहुँच गया।

वो मुझे बाहर लेने के लिए निकली तो मैं तो देखता ही रह गया यारो!
उसने रेड गाउन पहन रखा था।
शादी के बाद क्या खूबसूरत हो गई थी!
आप सभी को पता ही होगा शादी के बाद लड़की खिल सी जाती है।

उसके चेहरे पर बहुत शानदार चमक आ गई थी, बदन थोड़ा भर गया था और स्तन भी बड़े हो गए थे।
मैं उसको देखता ही रहा.

मेरा ध्यान तब टूटा जब उसने हेलो बोला. उसने कहा- इतना क्या देख रहे हो? वही हूँ पुरानी पूजा!
मैंने कहा- मैं पूजा नाम की लड़की को जानता था, आज पूजा भाभी से मिल रहा हूँ।

वो थोड़ा शरमा सी गई और बोली- चलो भी अब अंदर … या यहीं करोगे सब?
और उसने आंख मार दी।

उसने कहा- बैठो, मैं कॉफी बना लूं।
कॉफी पीते हुए बातें हो रही थी तो उसने बताया- यार तेरी चुदाई के लिए तरस रही हूँ।
मैंने कहा- इतनी तड़फ थी तो गुजरात बुला लेती.
उसने बोला- आगे से बुलाऊँगी।

बातें करते करते हम थोड़ा क्लोज हो गए थे. बातें करते ही हम पास पास आये और हमारा पहला किस होना शुरू हो गया।
किस के जोश से पता लग रहा था कि पूजा प्यासी तो बहुत है। मैंने किस के साथ साथ उसके बूब्स दबाने शुरू कर दिए। उसके बूब्स पहले से बड़े और मुलायम हो गए थे।

धीरे धीरे हम दोनों की सांसें गर्म हो रही थी।

उसने मेरे लण्ड पर हाथ लगाया तो वो पूरा सख्त हो चुका था। उसने मेरी पैंट की चेन खोली और लण्ड को बाहर निकाल लिया और हिलाने लग गई।
मैंने भी उसकी चूत पर हाथ मारा, देखा तो पता चला कि उसने पेंटी नहीं पहनी हुई थी, सीधा हाथ चूत के दाने पर गया. मैंने रगड़ना शुरु कर दिया।
हम दोनों गर्म हो गए थे।

उसने किस करना छोड़ा और मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेकर के चूसने लग गई।
वो लण्ड बहुत मस्त चूसती है गज़ब की कला है।

मैंने उसका गाउन उतार दिया देखा तो उसने ब्रा भी नहीं पहनी थी। कपड़े उतरते ही मैं उसके बूब्स पर टूट पड़ा, उसके बूब्स को किस कर रहा था, मसल रहा था.
वो बोली- तुम बहुत जोर जोर से सलते हो.
वो इसी बीच आवाज करने लग गई- आ आ आ … अब मुझे चोद दो … बहुत तड़पी हूँ तुम्हारे लिए!

फिर किस करते हुए उसने मेरे कपड़े भी खोल दिए। मेरे को नंगा देख के उसकी आँखों में चमक आ गई थी।
उसके बाद हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए। वो मेरे लण्ड को चूस रही थी और मैं उस की चूत चाट रहा था।

हम दोनों ही बहुत गर्म हो रहे थे, कमरा मादक आवाजों से गूंज रहा था।
वो एकदम से चूसते चूसते हटी और बोली- आ जाओ यार … अब इंतज़ार नहीं हो रहा।
बोली- चोद दे … मुझे रंडी बना दे!

मैं उठा, उसको बैड पर लेटाया और गांड के नीचे तकिया लगाया और सामने से सेट कर के झटका मारा। पहले झटके में ही मेरा पूरा लण्ड चूत के अंदर जा चुका था।
उसके मुँह से आवाज निकली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद मार दिया।
मैं भी जोश में था, मैंने भी गाली देते हुए कहा- रंडी, अभी तो लण्ड चाहिये था, अब रो रही है। अब ले अपने यार का … चुद साली रंडी बन के!

उसके बाद मैंने धीरे धीरे झटके मारने शुरु कर दिए. मैं झटकों के साथ साथ उस के बूब्स भी दबा रहा था।
धीरे धीरे मैंने स्पीड बढ़ा दी. वो आवाजें कर रही थी- आ आ आ … बहुत मज़ा आ रहा है.

लगभग 10 मिनट की चुदाई के बाद उसने एकदम से किया- आ आ आ आ आ आह!
और वो झर गई।

मैंने झट से लण्ड निकाला और उसकी चूत चाटने लगा गया। बहुत मस्त पानी निकाला था मेरी चोदी रांड ने … उसकी चूत को मैंने चाट के साफ़ कर दिया। बहुत ज्यादा टेस्ट था उसकी चूत के पानी में!
मैंने उसकी चूत को चाट चाट के दुबारा उसका मूड बना दिया और इस बार मैंने उसको घोड़ी बना दिया जो मेरा पसंद का पोज़ है।
मैं उसको घोड़ी बना के चोद रहा था वो आवाज कर रही थी और गालियाँ दे रही थी- साले कुत्ते … चोद अपनी कुतिया को … फाड़ ड़े मेरी चूत को … घुसा दे पूरा लंड इसमें!

लगभग 15 मिनट शानदार चुदाई चली, उसके बूब्स हिल रहे थे जैसे सदियों बाद आज़ाद हुए हों।
फिर दोनों ने एक साथ लगभग ‘आ आ आ…’ किया और दोनों का पानी निकल गया और बेड पर निढाल होकर के गिर गए।

उसने बताया कि वो आज लगभग 3 महीने बाद में पानी निकाल पाई है।
उसने कहा- थैंक यू यार … तेरी चुदाई तो याद आती है।

मैंने उसको पूछा कि वो पति से संतुष्ट क्यों नहीं है?
तो उसने बताया कि उसके पति को ड्रिंक करने की आदत है इसलिए वो तो अपना पानी निकाल के सो जाता है और मुझको तड़फती छोड़ देता है।

उसने बताया- मैं बहुत प्यासी हूँ, मुझे रंडी की तरह चोदो यार! इस बार और गाली दो!
यह सुन कर मेरे को जोश आ गया, लण्ड एकदम से कड़क हो गया। मैंने कहा- बहनचोद रंडी … इतनी प्यासी है तू तो आ जा फिर!

मैंने उसके मुँह में अपना लण्ड डाल दिया और बोला- चूस मादरचोद इसको!
वो मेरा लण्ड चूस रही थी. उसी वक्त मैंने उसके निप्पल को पकड़ के रगड़ा जोर से तो एकदम से वो चिल्लाई.

मैंने उसी समय उसको कुतिया पोजीशन में किया और लण्ड चूत के छेद पर सेट कर के झटका मारा. पूरा लण्ड उसकी चूत में जा चुका था। मैं उसकी गांड पर हाथ रखके लगातार उसको चोद रहा था।
वो चिल्ला रही थी- आह … आआ … उम्म … हह!

अब की बार वो पूरी रंडी लग रही थी, वो गालियां निकल रही थी- मादरचोद मेरा पति … ऐसे क्यों नहीं चोदता है?
मैं भी फुल स्पीड से उसकी गांड पर मारते हुए उसे चोद रहा था. मार मार के मैंने उसकी गांड लाल कर दी थी।

थोड़े टाइम बाद वो पानी छोड़ चुकी थी पर उस टाइम मैं पूरे जोश में था। मैं लगातार फुल स्पीड के साथ उसको चोद रहा था क्योंकि वो झड़ चुकी थी तो उसका मूड नहीं हो रहा था।
वो गाली दे रही थी- मादरचोद छोड़ दे … अब जान निकालेगा क्या?
मैंने कहा- रंडी बहुत चुदासी हो रही थी? अब तो मेरा आएगा तभी छोडूंगा।

काफी देर तक उसकी ताबड़तोड़ चुदाई के बाद आखिर मौका आ गया, अब मैं झरने वाला था, मैंने उसको बताया- मेरा निकलने वाला है।
उसने मेरा वीर्य पीने की इच्छा ज़ाहिर की.

मैंने लण्ड को निकाला और उसके मुँह में डाल दिया। लेकिन आपने महसूस किया होगा दोस्तो … कि ऐसे समय पर चूत में से लण्ड निकलते ही वो मज़ा एकदम से ख़राब सा हो जाता है.
और मैंने कोशिश की पर उसके मुँह में झर नहीं पा रहा था।

मैंने सोचा चोदना दुबारा पड़ेगा ऐसे तो!
उसको मैंने वहीं पर बैड पर लेटाया और उसको बोला- चूत खोल लो पूरी!
उसने अपनी जांघें फैला कर चूत खोल कर मेरे सामने पेश की तो चूत चाटने का मन हो गया मेरा।
मैं दुबारा से उसकी चूत चाटने लगा … उसकी चूत को जितना चाटो, उतना मज़ा आ रहा था।

वो भी धीरे धीरे और चार्ज हो गई थी।

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखा और सेट कर के फिर से झटका मारा। लण्ड तीसरी बार फिर से उसकी चूत में था.
और शुरू हो गई एक बार फिर से पलंग तोड़ चुदाई।

लेकिन एक बात कमाल हो रही थी वो हर चुदाई में खुल के साथ दे रही थी।

जिन लड़कियों ने ऐसे चुदाया है, उनको पता होगा कि टाँगें कंधे पर रखे होने की वजह से लण्ड पूरा जड़ तक अंदर जाता है। हर एक झटके के साथ उसकी चीख निकल रही थी क्योंकि इस पोज़ की वजह से लण्ड पूरा आगे तक जा रहा था।

काफी देर से चुदाई की वजह से उसकी चूत खुल गई थी और गीली भी थी तो पानी निकालना मेरे लिए मुश्किल हो रहा था।
रगड़ जितनी अच्छी होती है, पानी निकालना उतना ही आसान रहता है।

मैंने थोड़े टाइम बाद स्पीड और बढ़ा दी पूरे जोश से उसको चोदने लग गया। कमरा एक बार फिर मादक आवाजों से गूंज रहा था ‘आआ आहय हाय … हाँ … उम्म्ह …’
मेरे मुख से एक बार फिर तेज ‘आ आ आ आ …’ की आवाज निकली और मैंने झटके से लण्ड को बाहर निकाला और पूजा के मुख के पास ले जाकर हिलाने लग गया।

थोड़ी देर हिलाते ही मेरे माल से उस का मुँह भर गया। वो उस पानी को पूरा पी गई थी और चाट चाट के पूरा साफ़ कर दिया।

आज तक के एक्सपीरियंस से बता रहा हूं दोस्तो … इतना अच्छा लण्ड कोई नहीं चूस सकता जितना वो लड़की चूस सकती है। ये मेरा चैलेंज है हर उस लड़की को जो लण्ड चूसने में माहिर है।

अब वो एकदम तृप्त नज़र आ रही थी।

उसके बाद थोड़ी देर हमने इधर उधर की बातें की. फिर मैं जल्दी मिलने का वादा करके वहाँ से निकल गया।
वो मुझे गेट तक छोड़ने आई।

तो दोस्तो, कैसी लगी कहानी?

अपनी मेल और फेसबुक आईडी यहाँ दे रहा हूं सुझाव जरूर दें! आपके कीमती सुझाव से ही कहानी में और सुधार हो पाता है.
[email protected]
https://www.facebook.com/Hunteerrr

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top