मस्ती की रात-1

(Masti Ki Raat- Part 1)

This story is part of a series:

दोस्तो, आपने मेरी पिछली कहानी
स्विमिंग पूल बना मस्ती पूल
को बेहद पसंद किया, धन्यवाद.

आज की कहानी चार सहेलियों नायरा, पिंकी, सीमा और शबनम की कहानी है जो एक ही शहर में रहती हैं. इन चारों के पति व्यवसाय में हैं. सभी 25-28 उम्र वर्ग में हैं और अभी किसी के भी बच्चा नहीं है. चारों ने यह तय किया है कि अभी कम से कम दो साल तक तो कोई बच्चों के झंझट में नहीं पड़ेगी.

नायरा का पति राहुल, पिंकी का पति धीरज, सीमा का पति राजीव व शबनम का पति मुश्ताक है, और इन सभी के आपस में बहुत ही मिलनसार सम्बन्ध हैं. इनके व्यापार अच्छे हैं और पैसे की इफरात है तो मस्ती में कभी भी पैसा अड़चन नहीं बना.

साल में दो बार ये लोग साथ साथ बाहर घूम आते हैं और हर शनिवार को लेट नाईट पार्टी इनका शौक है. आदमी लोग तो खुल कर ड्रिंक्स लेते हैं, चारों लड़कियां भी एक-आध पेग मार लेती हैं. चढ़ने के बाद हंसी मजाक और नॉन वेज जोक्स की तो बाढ़ आ जाती है.

चारों युगलों को नयी नयी शादी का खुमार अभी उतरा नहीं हैं, हालाँकि सभी कि शादी हुए डेढ़-दो साल हो चुके हैं. पर ‘देखी जा, छेड़ीं ना’ के फार्मूले को मानते हुए कभी लड़कों ने दूसरे की बीवी को छुआ नहीं है. हालाँकि पार्टी में अपनी वाली को चिपटा लेना या खुलेआम किस लेना इनके लिए आम बात है.

नायरा, पिंकी, सीमा और शबनम हर सोमवार को साथ मॉल में घूमने और हर बृहस्पतिवार को कभी किसी कि कभी किसी के घर दोपहर से शाम तक इकठी होकर मस्ती करती हैं.
नायरा और सीमा तो संयुक्त परिवार में हैं अतः उनके घर तो धमाचौकड़ी ज्यादा नहीं होती पर पिंकी के घर तो बेशर्मी की हर हद पार हो जाती है. यही हाल शबनम के घर भी होता है.

बृहस्पतिवार को चारों ने अपने सभी रिश्तेदारों को कह रखा है कि न तो वो उनके घर आयें, न दोपहर से शाम तक फोन करें.

सोमवार को माल में घूमते समय शबनम बोली- यार आज तो एक मिनी स्कर्ट और छोटा सा टॉप लेना है.
झट नायरा ने कहा- क्यों? जींस उतारने में टाइम लगता है क्या?
शबनम भी बेशर्म थी, बोली- नहीं स्कर्ट में बिना उतारे भी उंगली हो जाती है.

अब चारों ब्रांडेड कपड़ों के शोरूम में घुस गयीं और चारों ने ही मिनी स्कर्ट और अलग अलग तरह के टॉप लिए.

असल में नायरा के मम्मे सबसे भारी थे, वो सबसे गोरी भी थी. उसने तो पीले रंग का टॉप लिया, वो चाह तो रही थी थोड़ा लम्बा मतलब पूरे पेट को ढकने वाला … पर शबनम जिससे उसकी ज्यादा ही पटती थी, ने उसे छोटा ही टॉप दिलवाया. वो टॉप उसके मम्मों के पहाड़ को ढकता हुआ नीचे नाभि तक ही आ रहा था.

शबनम पतली पर लम्बी थी … उसे अपनी लम्बी गोरी काया पर गुमान था और वो खुल कर जिस्म दिखाती पोशाक पहना करती थी. उसने टाईट सा पर छोटा स्लीवलेस टॉप लिया जिसमें उसके मम्मे उभर कर आ रहे थे. और टॉप बस इतना ही नीचा था कि मम्मे ढक जाएँ और थोड़ा सा कपड़ा नीचे आ जाए.
उसने जब टॉप पहन कर अपनी गोरी नंगी बांहें ऊपर कीं तो टॉप के अंदर नीचे से उसकी ब्रा झाँक गयी.

पिंकी ने तो स्कर्ट टॉप मैचिंग का फ्लोवेरिश प्रिंट में लिया. उसकी स्कर्ट इतनी ढीली थी कि जब वो पहन कर जोर से घूमी तो पैंटी भी दिख गयी. सीमा ने जींस स्कर्ट के साथ शर्ट स्टाइल का टॉप लिया जिसके ऊपर के बटन काफी नीचे थे. मतलब राजीव को अगर मम्मे टटोलने हों तो ऊपर से हाथ जल्दी अंदर जा सकता है.

चारों ने एक सी रेड शेड की नेल पोलिश भी ली. आज का लंच शबनम की ओर से था. लंच लेकर बाहर आते समय पिंकी ने चार बियर की केन ले लीं क्योंकि इस बृहस्पतिवार चंडाल चौकड़ी उसी कि घर इकट्ठी होनी थी और यह शबनम की फरमाइश थी कि चिल्ड बियर होनी चाहिए उस दिन.

नायरा बोली- तुम लोग निकलो, मुझे पार्लर में वेक्सिंग करानी है.
पर शबनम बोली- आज नहीं, परसों आयेंगे तब मैं भी करा लूंगी.
अबकी बार सीमा ने ऑब्जेक्शन कर दिया, बोली- शनिवार की पार्टी में आज ली हुई ड्रेस पहनेंगे. इसलिए वेक्सिंग आज नहीं बृहस्पतिवार को सब कराएँगे ताकि पार्टी में मर्दों की नजरें ज्यादा फिसलें.
सब हंस पड़ी और पार्लर से पिंकी के घर पर ही वेक्सिंग कराने की बात तय कर ली. चारों ने आपस में ये भी वादा किया कि मर्दों को आज की ड्रेस नहीं दिखायेंगी.

अब आइये इनकी निजी जिन्दगी में भी झांकें.

शबनम और मुश्ताक की सेक्स लाइफ बहुत मस्त है. शबनम बहुत सेक्सी है. उसे सेक्स का शौक मुश्ताक से ज्यादा है. वो अल्हड़ है और उसे कम से कम कपड़े पहनना पसंद है. अब मुश्ताक भी उसी के रंग में रंग गया है. मुश्ताक का इलेक्ट्रॉनिक्स का शोरूम है, वो रात को देर से ही घर आ पाता है पर आने के बाद सुबह 11 बजे तक बहुत रंगीन जिन्दगी जीता है.

मुश्ताक को पीने का शौक भी शबनम ने ही डाला. शबनम दिल्ली की पढ़ी हुई है और हॉस्टल में पूरी बिगड़ी हुई थी. उसको बियर और सिगरेट की लत थी. कभी कभी व्हिस्की से भी उसे परहेज नहीं था. पर हाँ … उसने अपना कौमार्य शादी के बाद के लिए बचा रखा था. बस मुश्ताक को उसकी यही अदा भा गयी.

अब मुश्ताक के शोरूम से आते ही उसे शबनम के चुम्बनों की बौछार मिलती. पेग और स्नाक्स तैयार मिलते. दोनों साथ साथ नहाते और फिर नाममात्र के कपड़े पहन कर डिनर करते.

हफ्ते में दो-तीन दिन पोर्न मूवी देखना उनका नियम था. मूवी शबनम पहले ही डाउनलोड करके रखती. सेक्स में इधर उधर की सेक्सी बातें उन्हें पसंद थी. मुश्ताक को मम्मे चूसने का बहुत शौक था. शबनम शिकायत करती तो कहता कि चूस चूसकर इन्हें नायरा के मम्मों जैसा ही बनाना चाहता हूँ.
शबनम भी हंस कर कह देती- तुम्हें नायरा के ही चुसवा देती हूँ, मेरी फिगर खराब मत करो.

मुश्ताक को फोरप्ले में बहुत मजा आता है. निप्पल चूसने के अलावा वो शबनम की चूत में उंगली कर करके ही उसका पानी निकाल देता है. कई बार तो मूवी हाल में बैठे बैठे ही उसने शबनम की चूत का बुरा हाल कर दिया.

एसे ही नायरा का पति राहुल भी उसका दीवाना है. संयुक्त परिवार में होते हुए भी राहुल सभी का लाडला है और जब वो ऑफिस से घर आकर अपने कमरे में घुसता है तो कोई भी नायरा को भी नीचे आवाज नहीं देता.
दोनों खाना खाने के बाद अगली सुबह 9 बजे ही नीचे दिखाई देते हैं.

राहुल ने कामसूत्र की सारी मुद्राएँ सीख रखी हैं. नायरा के मम्मों का तो वो दीवाना है. बस एक ही बात में नायरा और उसकी नहीं पटती कि वो पीछे से भी करना चाहता है और नायरा उसमें कम्फर्ट महसूस नहीं करती.

हाँ नायरा की चुसाई जबरदस्त है. उसका फ्रेंच किस बहुत लम्बा और असरदार होता है. इसी तरह राहुल का लंड की गर्मी तो वो एक बार चूस कर ही निकाल देती है. रात को भी कितनी ही बार ऐसा हुआ कि अचानक राहुल की आँख खुली तो उसने नायरा को अपना लंड चूसते हुए पाया और इस समय वो इतने मूड में होती है कि राहुल का पानी निकाल ही देती है.

इन दोनों का फ्रेंच किस का डेमो तो सैटरडे की पार्टी में भी हो चुका है. एक बार सभी दोस्तों का फ्रेंच किस का कम्पटीशन हुआ तो उसमें भी राहुल-नायरा ने ही बाजी मारी.

सीमा भी हॉस्टल में पढ़ी होने की वजह से काफी बेतकल्लुफ है. हालाँकि उसका परिवार रुढ़िवादी है पर उसका पति राजीव समझदार है और अच्छा कमाता है, घर में सबका ध्यान रखता है तो इसी कारण सीमा के बाहर घूमने और ड्रेस पर कोई कुछ नहीं कहता.

राजीव और सीमा का सेक्स भी अलग तरीके का है. उन्हें सपने देखने या फ़ंतासी का बहुत शौक है. राजीव के पास अश्लील सामग्री का भण्डार है. हालाँकि अब तो सब कुछ नेट पर मौजूद है पर राजीव और सीमा ग्रुप सेक्स की बातें अक्सर करते हैं.
वो तो इनके दोस्तों ने कभी इस ओर जाने की हिम्मत नहीं की वना ग्रुप सेक्स तो सीमा राजीव का पसंदीदा सेक्स होता.

अब पिंकी की तो कहानी सबसे अलग है. धीरज का दवाइयों का होलसेल का काम है. सेक्स टॉयज उसे बहुत पसंद हैं. पिंकी की चूत में जितनी बार वो गया होगा, उससे ज्यादा तरह तरह के डिलडो गए होंगे. वाईब्रेटर्स की तो कई वैरायटी हैं उसके पास.
अब पिंकी को भी ऐसा शौक लग गया है.

धीरज इतना बदमाश है कि एक बार तो पार्टी में भी वो पिंकी की चूत में वाईब्रेटर लगा कर ही ले गया और उसका रिमोट उसके पास था. पार्टी में जब उसका मन करता वो रिमोट चला देता. पिंकी असहज हो उठती.

पिंकी और धीरज दोनों ही बियर के शौक़ीन हैं. पिंकी कभी कभी स्मोक भी कर लेती है. उसे ये लत अपने हॉस्टल से पड़ी थी. पर चूंकि धीरज नहीं पीता तो पिंकी भी अकेली होती है तभी सुट्टे मार लेती है.
दोनों ही पिंकी और धीरज डांस अच्छा कर लेते हैं. जब मूड बनता दोनों रात को म्यूजिक चला कर बॉलरूम डांस कर लेते. धीरज को पिंकी का गदराया बदन ऐसा मदहोश कर देता कि डांस करते करते कब दोनों के होंठ चिपक जाते, कब धीरज उसकी ड्रेस में अंदर हाथ डाल देता पता ही नहीं चलता था.

धीरज का व्यक्तित्व भी मदमस्त करने देने वाला है. सब उसे कन्हैया कहते हैं.

कहानी जारी रहेगी.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top