बॉडी मसाज के बाद चुत चुदाई

(Body Massage Ke Bad Chut Chudai)

आप सभी को मेरा सादर प्रणाम, मेरा नाम जीत है. मैं हरियाणा के हिसार का रहने वाला हूँ. अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली सेक्स कहानी है. इसलिए कोई गलती दिखे, तो प्लीज़ नजरअंदाज कर दीजिएगा.

मेरी उम्र अभी 22 साल है. मैं दिखने में आकर्षक हूँ. मेरे लंड का नाप भी अच्छा ख़ासा है. ये 7 इंच लंबा व 3.5 इंच मोटा है. मैं कॉल पर बॉडी मसाज का काम करता हूँ.

यह बात 6 महीने पहले की है. एक दिन किसी नए नम्बर से फोन आया. मैंने फोन उठाया, तो सामने से एक मीठी आवाज आई- हैलो.
मैं- हैलो … आप कौन?
उन्होंने अपना नाम परी (काल्पनिक) बताया.

परी ने कहा- मैंने सुना है कि आप बॉडी मसाज बहुत अच्छी करते हैं.
मैंने कहा- जी हां … आपने सही सुना है. मेरे क्लाइंट मुझसे बड़े खुश रहते हैं.
उन्होंने कहा- आपकी उम्र क्या है?
मैंने कहा- जी, अभी मैं 22 साल का हूँ.
उन्होंने कहा- ठीक है … आप मेरे इसी नम्बर पर अपनी फोटो भेजो.

मैंने परी मैडम को अपनी दो हॉट सी फोटो भेज दीं.

कुछ देर बाद फिर से परी मैम का फोन आया. उन्होंने कहा- ठीक है … मुझे आपसे मसाज लेनी है.
मैंने उनसे उनका पता पूछा, तो मालूम हुआ कि वो हिसार से ही थीं.
मैंने हां कर दी और पूछा- मुझे कब और कहाँ आना होगा?

उन्होंने कहा- मैं आपसे बॉडी मसाज अपने घर पर ही लूंगी … लेकिन जब मेरे घर वाले घर पर नहीं होंगे, तब मैं आपको बता दूंगी.
मैंने कहा- ठीक है, जब आप कहेंगी, तब मैं आ जाउंगा.
उन्होंने कहा- ठीक है.

उसके बाद परी का चार दिन बाद फोन आया. उन्होंने कहा- आज घर पर कोई नहीं रहने वाला है, आप मेरे घर आ सकते हैं.
मेरे को भी उस दिन कोई काम नहीं था, तो मैंने हां कह दी. परी से मिलने का समय तय हो गया.

मैं दिए गए समय पर उनके घर के पास पहुंच गया. परी मैम ने मुझे अपने घर का पता नहीं दिया था. उन्होंने मुझसे ये कहा था कि आप फलां जगह पहुंच कर मुझे फोन कर देना.

मैंने बताई जगह पर पहुंच कर परी को फोन किया.
उन्होंने कहा- मैं बस 10 मिनट में आती हूँ.

कुछ देर बाद मेरे सामने एक सफेद रंग की होंडा सिटी कार रूकी. मैंने अन्दर झांका, तो शीशे के अन्दर से ही उन्होंने मुझे आने का इशारा किया. मैं आगे का गेट खोल कर गाड़ी में बैठ गया.

मैंने अन्दर जाकर देखा तो वह एक बहुत सुंदर महिला थीं. उन्हें देखने से लग रहा था कि उनकी उम्र 27-28 साल की होगी. वो काफी धनाड्य वर्ग से लग रही थीं. मेरे बैठते ही परी मैम गाड़ी को आगे बढ़ाने लगीं.

हमारे बीच थोड़ी बात हुई. फिर उन्होंने गाड़ी को एक घर में प्रवेश करा दिया. उनका घर काफी अच्छा था. गाड़ी से उतर कर परी मैम ने आगे चल कर घर का दरवाजा खोला और अन्दर घुस गईं. मैं भी उनके पीछे अन्दर आ गया. वो मेरे लिए पानी लेकर आईं, मैंने पानी पिया.

फिर उन्होंने कहा- आप यहीं बैठिए, मैं आपके लिए चाय लेकर आती हूँ.
मैं चाय नहीं पीता, तो मैंने चाय के लिए मना कर दिया.

इस पर परी ने कहा- तो क्या लेंगे आप?
मैंने कहा- कुछ नहीं मैम.
परी मैम ने अपने मम्मों पर हाथ फेरते हुए कहा- तो दूध पियोगे?

मैं उनकी चूचियों की तरफ ललचाई निगाहों से देखने लगा. फिर अपने आपको कंट्रोल करते हुए मैंने कहा- मैम, चलिए काम शुरू करते हैं.
उन्होंने कहा- अरे इतनी भी जल्दी क्या है.
मैं चुप होकर उनकी तरफ देखने लगा.

उन्होंने कहा- मुझे फुल बॉडी मसाज चाहिए.
मैंने कहा- हां जी ठीक है.
वो बोली- मुझे क्या करना होगा?
मैंने कहा- बस आप अपने कपड़े निकाल दो.

वो दूसरे रूम में गईं और सिर्फ तौलिया लपेट कर बाहर आ गईं.

मैंने उन्हें देखा, तो देखता रह गया. मैडम क्या गजब का माल लग रही थीं. बड़े बड़े मम्मे और बड़े बड़े चूतड़. परी मैम का साईज 36-30-38 का था … जो मुझे बाद में खुद उन्होंने ही बताया था.

परी मैम ने अपने आपको बहुत अच्छी तरह से मेंटेन कर रखा था.

इसके बाद वो मेरा हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले गईं और बेड पर लेट गईं. मैं बैग से तेल की बोतल निकाल कर उनके पास गया और उनकी मसाज शुरू कर दी. परी मैम पेट के बल लेटी थीं. मैंने उनकी पीठ पर थोड़ा तेल टपका कर हल्के हाथों से मसाज करना शुरू कर दी.

कुछ देर तक मालिश करने के बाद मैं परी मैम की गर्दन के पास मसाज करने लगा. तौलिया के नीचे उन्होंने ब्रा पैंटी पहनी हुई थी. उनकी ब्रा मेरी मसाज में रुकावट डाल रही थी.

मैं उनकी ब्रा को एक दो बार हटाया, तो मैम ने मुझे रुकने का कह कर अपनी ब्रा को निकाल दिया. मैं मजे से पीठ की मालिश करने लगा. तभी परी मैम ने अपनी तौलिया को पूरी तरह से हटा दिया. मेरे सामने अब वो सिर्फ एक पैंटी में पेट के बल लेटी थीं.

कुछ देर बाद मैं उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा तो परी मैम ने अपनी पेंटी भी निकालने का कह दिया.

Body Massage Chut Chudai
Body Massage Chut Chudai

मैंने उनकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और उनके पैरों से नीचे लाते हुए उनकी पैंटी को हटा दिया. पैंटी निकालते समय मुझे उनकी बुर का छेद दिखने लगा था. मैं गांड की दरार में हाथ फेरता हुआ चुत की फांकों को भी टच करने लगा था. इससे परी मैम ने अपनी टांगें फैला दी थीं. मुझे उनकी चुत से बहते लिसलिसे प्री-कम का गीलापन महसूस होने लगा था. इधर मेरा लंड भी औकात दिखाने लगा था.

परी मैम की पीछे की मसाज होने के बाद मैंने कहा- अब आप सीधी होकर लेट जाएं.
वो एक पल में ही सीधी होकर लेट गई.

आह दोस्तो, उसका एक एक दूध आधा आधा किलो का होगा. उनके गोरे गोरे मम्मों पर एकदम गुलाबी निप्पलों की झलक पाते ही मेरा लौड़ा टनटनाने लगा. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी उसके मम्मों को चूस लूं.

पर मैं अपने पेशे से मजबूर था. मैं परी मैम के पास सिर्फ उनकी बॉडी मसाज के लिए आया था. इसलिए मैं मन मारकर एकदम शरीफ होकर मसाज करने लगा. उनको भी ये पता चल गया था कि ये मेरे साथ कुछ नहीं करेगा.

वो भी एकदम शांत होकर मसाज कराने लगी थीं. उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था और ऐसा लग रहा था कि इनकी चूत पर बाल आते भी नहीं होंगे. उनकी चूत इतनी नाज़ुक थी, जैसे कभी किसी ने छुआ भी नहीं हो.

अब चूंकि परी मैम मेरे सामने पूरी नंगी थीं, उनके बड़े बड़े चुचे और बिल्कुल छोटी सी गुलाबी चुत, जिसकी सिर्फ एक लाईन दिखाई दे रही थी. उनकी चुत की दोनों फांकें आपस में मिली हुई थीं और चूतड़ तो बहुत ही बड़े बड़े थे. मैं तो बस उन्हें देखने में मस्त था.

उन्होंने मेरे लंड को हिलाकर कहा- कहां खो गए?
मैंने सॉरी बोला और कहा- कहीं नहीं.
परी जी टांगें खोलते हुए बोलीं- मेरे को फुल बॉडी मसाज चाहिए.

मैंने हामी भर दी. उनकी खुली चुत से बहता पानी और उनकी पूरी बॉडी मसाज की बात से मेरे को लग रहा था कि मैम ने यहां मेरे को चुदाई करने के लिए बुलाया है. अब उनका मसाज में ध्यान नहीं था.

कुछ देर के बाद उन्होंने कहा- अब तुम मेरी ब्रेस्ट की मसाज करो.
मैं मैम की चूचियों की मसाज करने लगा. उनके बड़े बड़े चुचों पर तेल डाल कर मैं धीरे धीरे मसाज करने लगा.
परी ने सीत्कार भरते हुए कहा- मसल डाल न इनको.

मैं समझ गया कि अब ये गर्मा गई हैं. मैं उनके चूचों को जोर जोर से मसलने लगा. परी मैम भी अब धीरे धीरे से सिस्कारी लेने लगी थीं. मेरा 7 इंच का लंड तन कर मेरी पैन्ट में ही टेंट बन गया था. यह परी मैम ने भी देख लिया था.

मैं मसाज करता हुआ मैम के पेट पर आ गया. मैम के मुँह से अब ‘आ आ आ ईईईईईई …’ निकलने लगा था.

मैं परी मैम की जांघों की मसाज करने लगा. उस समय मेरा पूरा ध्यान परी मैम की चूत पर टिक गया था. उनकी चूत बिल्कुल गुलाबी थी. जांघों पर मसाज करते हुए मेरा हाथ परी मैम की चूत को लग गया.
इससे उनके शरीर में जैसे करंट दौड़ गया, उन्होंने एकदम से ‘आई … आह … करके मादक सीत्कार भरी.

मैडम की चुत पर मैं चुत पर हाथ बार बार लगाने लगा. अचानक एक मिनट बाद परी मैम ने मेरा लंड पकड़ लिया और कहने लगीं- मुझे मेरी चूत की भी मसाज करवानी है.

मैं समझ गया कि मैम को भी चुदाई का मन कर रहा था. इधर मैं तो मैम की चूत चोदने को मरा जा रहा था. मैंने कहा- ठीक है मैम.
मैम ने कहा- मुझे परी कहो.
मैंने कहा- जैसा आप कहें परी जी.

मैम मेरे कपड़े निकालने लगीं. उन्होंने मेरे सारे कपड़ों को निकाल दिया. अब मुझे अपने लंड से परी की चुत की मसाज करनी थी.

परी मैम उठीं और उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए. वो मुझे किस करते हुए मेरे लंड को हिला रही थीं. मैं भी उनको चूमने के साथ ही अपने एक हाथ से मैम के 36 इंच के मम्मों को व दूसरे हाथ से उनकी चूत को सहलाए जा रहा था.

मैंने बॉडी पर हर जगह किस किया, कुछ देर बाद मैम ने मुझे इशार किया. मैं समझ गया और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए. मैंने जीभ को चुत की फांकों में लगा दिया. आह क्या रसीली चूत थी.

अब परी मैम पूरी तरह गर्म हो चुकी थीं. वो एक बार मेरे मुँह में झड़ गईं. मैंने उनकी चुत का सारा पानी चाट कर साफ कर दिया. मैं भी कुछ देर बाद उनके मुँह में झड़ गया.
परी मैम ने कहा- पहली बार किसी ने मेरी चूत को चाटा है. मेरे पति तो आते हैं, मेरी चूत में अपना पांच इंच का छोटा पतला सा लंड डालकर पानी निकाल लेते हैं और मैं प्यासी रह जाती हूँ.

मैं उनके बदन को सहला रहा था. कुछ ही देर में हम दोनों फिर से गर्म हो गए थे.

परी मैम ने मेरे लंड को हिलाते हुए कहा- अब जल्दी से डाल दे अपने लंड को मेरी चूत में … ये बहुत प्यासी है.

मगर मैं परी मैम को और अभी तड़फाना चाहता था. मैं उनके मम्मों को अपने हाथों में लेकर जोर जोर से मसलने लगा. उनके मुँह से दर्द भरी आहें निकल रही थीं. फिर भी उन्होंने मुझसे रुकने के लिए नहीं कहा.
मैं उनके मम्मों को दबाते हुए उनके होंठों को अपने होंठों में दबाते हुए चूसने लगा.

कुछ देर बाद परी मैम ने कहा- प्लीज़ डाल दो न … अब बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से फाड़ डाल मेरी चुत को … साली बहुत तंग करती है … जल्दी से फाड़ डाल आज इसे.

मैंने मैम की चुत पर हाथ लगाया, तो वह पूरी तरह से गीली हो चुकी थी. मैंने परी मैम की चुत पर अपना मुँह रखा और जोर जोर से चाटने लगा. मैं उनकी चुत को पूरी तरह से खोल कर चाट रहा था. परी मैम अपने हाथों से मेरे सिर पर लगा कर दबाव बना रही थीं.

दो उंगलियां मैंने उनकी चुत में डाल दीं. मेरे उंगली डालते ही वो चिहुंक उठीं. परी मैम की चुत बहुत कसी हुई थी. उन्होंने मेरे को अपने ऊपर खींच लिया और गुर्रा कर बोलीं- मैं सारी रात तेरी हूँ … बाद में तुझे जो मर्जी कर लेना … परंतु अब मेरे से बर्दाश्त नहीं हो रहा है … मेरे को चुत में लंड चाहिए.

ये सुनते ही मैंने परी मैम को बेड के किनारे किया और चुत पर लंड लगा कर रगड़ने लगा. परी मैम अपने चूतड़ों को उठा कर मेरे लंड को अपनी चुत में लेने की नाकाम कोशिश कर रही थीं.

मैंने लंड को चूत के छेद पर रख कर एक जोर का झटका मारा. मेरा आधा लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया था. परी मैम की चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ क्योंकि उनके पति का लंड सिर्फ 5 इंच का था.

मैं एक मिनट के लिए रूका और मैंने फिर से एक जोर का झटका लगा दिया. अबकी बार मेरा पूरा लंड परी मैम की चूत में घुस चुका था. परी मैम की फिर से चीख निकल गई. उनके घर पर कोई नहीं था इसलिए मैंने परी मैम को चीखने चिल्लाने दिया.

कोई 10 मिनट तक मैंने मैम को उसी तरह हचक कर चोदा. फिर मैं नीचे आ गया और वो मेरे ऊपर आ गईं. उन्होंने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत के छेद पर लगाया और बैठ गईं. उन्होंने मेरा पूरा लंड चुत में ले लिया था. अब वो ऊपर नीचे होने लगीं. उनके चुचे हवा में उछल रहे थे.

वह बहुत ही कामुक होकर सिसकारियां भर रही थीं ‘ईईईई आआआ उउउ आ आ आह …’

कुछ देर बाद मैंने परी मैम को घोड़ी बनने के लिए बोला. वह झट से बेड के किनारे आ कर घोड़ी बन गईं. मैंने पीछे से उनकी चुत के छेद पर लंड लगा कर जोर से झटका मारा और पूरा लंड एक बार में ही अन्दर डाल दिया. मैम के मुँह से जोर की चीख निकल गई.

परी मैम ने गालियां निकालनी शुरू कर दीं- आआआ माँ मर गई … मादरचोद फाड़ डाली रे मेरी … साला कमीना …

मैंने उनकी चिल्लपौं पर कोई ध्यान नहीं दिया और परी मैम को ताबड़तोड़ चोदता रहा. पीछे से लंड पेला हुआ था, सो साथ ही मैं उनके चूचों को मसलने लगा. उनकी सिसकारियां तेज होने लगीं. अचानक परी मैम बेड पर सीधी होकर लेट गईं और कहने लगीं- जल्दी मेरी चुत में डाल दे.
मैं लंड डाल कर चोदने लगा.

कुछ ही धक्के खाने के बाद मैम बोलीं- मेरी जान आह … मैं … गग..ईई …

तो मैंने धक्के लगाने तेज कर दिए. वह मेरे से लिपट गईं, मैं धक्के लगाता रहा. फिर परी मैम एकदम शांत हो गईं. कुछ समय के लिए मैं भी रूक गया. मैं परी मैम के होंठ चूमने लगा, जिससे वो एक बार फिर से गर्म हो गईं.

इस तरह मैंने पोज बदल बदल कर मैम को 30 मिनट तक चोदा. अब तक परी मैम दो बार झड़ चुकी थीं.

कुछ देर बाद मैं भी झड़ने वाला था, मैंने मैम से पूछा- कहां निकालूं?
परी मैम ने कहा- मैं तेरा माल अन्दर ही लेना चाहती हूँ.

मैं परी मैम की चूत में ही झड़ गया. परी मैम भी एक बार फिर से मेरे साथ झड़ गईं.
कुछ देर तक मैं उनके ऊपर लेटा रहा.

फिर हम दोनों एक साथ बाथरूम में गए. एक दूसरे को साफ किया. इसके बाद हम दोनों शॉवर के नीचे नहाने लगे. परी मैम और मैं एक दूसरे को चिपक कर नहा रहे थे. कुछ समय तक ऐसे ही शॉवर के नीचे खड़े रहे. उस समय बहुत आनन्द आ रहा था.

हम एक दूसरे को साबुन लगाने लगे. मैंने परी के चूचों पर साबुन लगाकर मसले, फिर मैं परी मैम की चुत पर साबुन लगाने लगा. चुत पर साबुन लगा कर मैं परी मैम के पीछे जाकर पेट व परी की चुत पर मसलने लगा. जिस कारण परी मैम फिर से मदहोश होने लगीं और ‘आआआ ईईईईस्स..’ करने लगीं.

फिर मैंने शॉवर के नीचे जाकर साबुन साफ किया. साबुन साफ करते ही परी मैम वहीं मेरे होंठों को चूसने लगीं. परी मैम पूरी तरह से गर्म हो गई थीं.

वो कहने लगीं- अब जल्दी से कुछ करो … वरना मेरी जान निकल जाएगी.

मैं परी मैम को तड़फाना चाहता था. इसलिए मैं उनको फर्श पर लेटाकर उनके ऊपर छा गया और होंठों को चूसने लगा. कुछ देर बाद चुत को चूसने लगा, जिस कारण परी मैम एक बार फिर झड़ऩे लगीं.

अब मैं खड़ा हो गया और परी मैम घुटनों पर बैठ कर मेरा लंड चूसने लगीं.

कोई दो मिनट लंड चुसाने के बाद मैंने परी मैम को खड़ा किया और उनकी एक टांग को अपने कधे पर रख कर उनको दीवार से लगा दिया. फिर लंड लगा कर मैंने मैम को चोदने चालू कर दिया.

कोई 20 मिनट की जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों साथ में झड़ऩे लगे. परी मैम मेरे लंड से बहुत खुश हो गई थीं.

उस दिन मैंने परी मैम को दो बार और चोदा व परी मैम की सीलपैक गांड भी मारी. मैम की गांड चुदाई की कहानी मैं अगली बार लिखूंगा. साथ में एक कुंवारी लड़की की मसाज व उसकी सीलपैक चुत कैसे चोदी … इसको भी लिखूँगा.

आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ जरूर बताइएगा. मुझे आपकी मेल का इन्तजार रहेगा.
आपका जीत
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top