गांव वाली साली की सहेली को चोदा-2

(Gaon Vali Sali Ki Saheli Ko Choda- Part 2)

मेरी इस मस्तराम सेक्स स्टोरी के पहले भाग
गांव वाली साली की सहेली को चोदा-1

नीरू ने पायल के पीछे आकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, उसके बूब्स बिल्कुल नंगे थे.

पायल के छोटे बूब्स देखकर मेरी हालत खराब हो रही थी, गोल सुडौल तने हुए उरोज मेरी मुट्ठी में समा रहे थे, मैंने तुरंत उनको हाथ में लिया और निप्पल को मुंह में लिया. पायल की निप्पल पर होंठ लगाते ही पायल लंबी सिसकारी लेकर तड़प उठी.

अब मैंने उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. अब पायल और गर्म होने लगी थी और सिसकारियां भर रही थी. मैं लगातार उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूस रहा था.
तभी नीरू ने उसकी टांगों की तरफ जाकर उसकी पैंटी को निकाल दिया और उसकी कुंवारी बुर को आजाद कर दिया. मैं उसके निप्पल को छोड़ पेट को चाटता हुआ जांघों पर पहुंचा तो मैंने देखा नंगी बुर को देखा.

मेरे होश उड़ गए सफेद चिट्टी बुर की बीच की लकीर के आस पास हल्के हल्के बालों के रोयें थे, बाक़ी की जगह साफ़ थी, शायद आज ही बना कर आई थी उसकी चूत पर हल्का हल्का रोया आना शुरू हो गया था. नीरू ने बतलाया कि मैंने आज ही इसको बुर के रोयें को साफ करने को बोला था.
दोस्तो, मैं आपको बतला दूं कि पायल की चूत पर तो बाल आने शुरू हो गए थे लेकिन नीरू की चूत पर आज तक भी कोई बाल नहीं है. मैंने भी जिंदगी में बिना बालों वाली पहली चूत नीरू की ही देखी है.

अब पायल की चूत को देख मुझसे रुका ना गया और मैंने उसकी टांगें चौड़ी कर उसकी बुर पर अपनी जीभ सटा दी. मेरी जीभ बुर पर लगते ही पायल बेड पर उछल पड़ी.
तभी नीरू बोली- पायल, अभी क्या उछल रही है, अभी तो सारे मजे बाकी हैं! देखना तुझे कितना मजा आएगा!
पायल बोली- हां नीरू, मुझे बहुत मजा आ रहा है.

तभी नीरू ने अपनी जीजी यानि मेरी पत्नी को आवाज लगाई. आवाज लगाते ही मेरी पत्नी तुरंत बेडरूम में आ गई, उसने हम तीनों को कहा- अरे बेशर्मों, तुम तीनों अंदर मजे कर रहे हो और मैं तुमको गेट के छेद से मजे करते हुए देख रही हूं. मेरी हालत तुम तीनों को देख देख कर खराब हो गई है, मेरा तो कुछ करो!
और यह कहते ही मेरी पत्नी ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और नंगी हो बेड पर देखते हुए बोली- अरे नीरू, तू कहां मर गई? मेरी चूत को चाट!

यह सुनते ही नीरू अपनी जीजी की टांगों के बीच में आकर उसकी चूत को चाटने लगी. जब वह अपनी जीजी की चूत को चाट रही थी तो वह डॉगी स्टाइल में थी. मैंने तुरंत नीरू के पीछे से जाकर उसके डॉगी स्टाइल का फायदा उठाते हुए नीरू की चूत में अपना पूरा लंड डाल दिया. मेरा पूरा लंड नीरू की चूत में समा चुका था.

नीरू की चूत में लंड घुसा कर मैंने पायल को अपने पास बुलाया और नीरू के चूतड़ों की दरार को फैलाकर पायल से उसकी चूत में समाए अपने लंड को देखने को कहा. पायल बड़े गौर से उस नजारे को देख रही थी.

क्या नजारा था दोस्तो … मैं बयां नहीं कर सकता.

मेरी पत्नी टांगें फैलाएं नीरू से अपनी चूत चटवा रही थी, मैं नीरू की चूत डॉगी स्टाइल में चोद रहा था और पहली बार चुदने आई पायल मेरे लंड को नीरू की चूत में अंदर बाहर होते हुए नीरू के गांड की दरार फैला कर उसे बड़े चाव से देख रही थी.

हमने करीब 5 मिनट इसी तरह चुदाई करने के बाद पायल से पूछा- कैसा लग रहा है?
पायल बोली- मुझे नहीं मालूम कि कैसा लग रहा है लेकिन मेरे पूरे तन बदन में चीटियां रेंग रही हैं और मेरी बुर में खुजली सी मच रही है.
पायल ने पहली बार बुर शब्द का इस्तेमाल किया उसके मुंह से यह सुन मुझे मजा आ गया.

मेरी पत्नी ने मुझसे कहा- देखो कितनी तड़प रही है! यह तो चुदने के लिए बिल्कुल तैयार बैठी है. अपने मुंह से ही बुर का नाम ले रही है. आप देर क्यों कर रहे हो? इसको मारोगे क्या!
तभी नीरू बोल उठी- नहीं जीजी, जब तक यह अपने मुंह से नहीं कह देती कि मेरी चूत में अपने जीजू का 7 इंच लंबा लौड़ा ठोक दे, तब तक मैं इसकी चूत में अपने जीजू को लंड जाने नहीं दूंगी.
नीरू की बात सुनते ही पायल बोली- अगर तुझे इतना ही तड़पाना था तो मेरे सामने यह सब क्यों किया और मुझे क्यों तड़पा रही है? मुझसे नहीं रहा जा रहा … कुछ तो करो!
नीरू बोली- ठीक है, सीधी होकर बेड पर लेट … अभी तेरा कुछ करवाती हूं.

यह सुनते ही पायल सीधी होकर बेड पर लेट गई. अब नीरू और मेरी पत्नी दोनों ने उसकी टांगों को चौड़ा किया और उसकी कुंवारी बुर की दरार को खोल कर मुझे दिखा कर बोली- देखो राजा जी, बिनचुदी बुर के दर्शन करो … कितनी मस्त लग रही है पायल की बुर … हम आपके लंड के लिए बंद और नई बुर लेकर आए हैं. इसे प्यार से चोद कर हमारी तरह ही कली से फूल बनाओ! लेकिन इसको दर्द ना होने पाए!
मैंने कहा- ठीक है, जैसी आपकी आज्ञा!

मैंने समय की मांग को देखते हुए पायल की बुर पर अपनी जीभ लगा कर उसको चाटना शुरू कर दिया. जैसे जैसे मैं पायल की चूत चाट रहा था, पायल अपने चूतड़ उछाल कर मजा ले रही थी. मैं पायल की चूत चाटे जा रहा था और नीरू और मेरी पत्नी ने उसके दोनों उरोजों को अपने अपने मुंह में ले चाटना चूसना शुरू कर दिया. अब पायल कामुकता के सातवें आसमान पर थी, वह अपने चूतड़ों को उछाल उछाल कर मजे ले रही थी.

आखिरकार वह पल आ ही गया जिस पल का नीरू इंतजार कर रही थी. पायल मजे में आकर बोली- अरे नीरू, तू तो अपने जीजू के लंबे लंड का मजा ले चुकी है. मुझे क्यों तड़पा रही है, मेरी बुर में भी अपनी जीजू का लंड पूरा डलवा कर इसे फड़वा दे ना! मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा, तुम तीनों मुझे क्यों तड़पा रहे हो. मैं मर जाऊंगी, मुझको बचा लेना!

अब नीरू ने मुझसे कहा- जीजू अब इसकी छोटी सी बुर की चुदाई करनी है. लेकिन यह देख लो कि आपका लंड बहुत तगड़ा है, इसकी बुर में इसको डालना भी है और इसको ज्यादा दर्द भी ना हो … बहुत प्यार से धीरे धीरे डालना है. पहले अपन लोग खाली लंड का सुपारा डालकर इसकी चुदाई करेंगे. फिर धीरे-धीरे लंड को अंदर को बढ़ाएंगे. अब आप तैयार हो जाओ.
मैंने कहा- ठीक है, जैसा आप दोनों की मर्जी!

उसके बाद नीरू और मेरी पत्नी ने पायल की टांगों को फैलाया और उसकी चूत की दरार को चौड़ा कर मेरा लंड उसकी चूत के मुहाने पर रखवा दिया.

दोस्तो, सही कहूं तो उस वक्त उसकी बुर बहुत छोटी थी और मेरी कन्नी उंगली जाने लायक भी छेद उसमें नजर नहीं आ रहा था. मैंने अपने लंड का सुपारा उसके छेद पर रखकर आगे करना चाहा लेकिन सुपारा छेद छोटा होने की वजह से उसमें सेट नहीं हो पा रहा था. मैंने अपनी बीवी और साली को बुर की दरार और फैलाने के लिए बोला और अपने लंड का सुपारा कुछ आगे दबाया.

मेरे लंड के सुपारे का अगला हिस्सा पायल की छोटी चूत में दाखिल हुआ.
लेकिन तुरंत ही पायल ने कहा- मुझे दर्द हो रहा है.
तभी मेरी पत्नी ने पास में रखी क्रीम की शीशी उठाई, मेरे लंड पर अच्छे से क्रीम लगाया और पायल की बुर की दरार में क्रीम को भर दिया. अब फिर से मैंने उसकी चूत के मुहाने पर अपने लंड का सुपारा लगाया हल्का सा अंदर दबाया इस बार चिकना होने की वजह से मेरा सुपारा पायल की चूत के अंदर समा गया.

पायल को दर्द हुआ लेकिन उसने बताया- मैं इस दर्द को सह सकती हूं.

इसी बीच मेरी पत्नी और नीरू में उसके बूब्ज़ को चूसना शुरू कर दिया जिसके कारण उसको दर्द का आभास कम हुआ. कुछ देर उसके बूब्स चूसने के बाद मेरी पत्नी और नीरू ने उसकी चूत में समाए मेरे लंड को देखकर कहा- पायल अब तू आराम से लंड लेकर कुछ ही देर में कली से फूल बनने वाली है!
और यह कहकर मेरी पत्नी ने अपने मोबाइल से पायल की बुर में गए हुए मेरे लंड के सुपारी की वीडियो और कई सारे फोटो लिए और कहा- यह तेरी बुर की चुदाई का उद्घाटन हम कभी भी देख लेंगे! कितना मजा आ रहा है.

अब मैंने अपने लंड को वहीं पर आगे पीछे करना शुरू किया. अभी सुपारा डालकर ही मैं पायल की बुर के अगले हिस्से पर ही धीरे धीरे पायल को मजे दे रहा था, नीरू और मेरी पत्नी मेरे लंड को उसकी बुर में देख कर मजे ले रही थी.

तभी मेरी पत्नी ने मुझको बोला- अब अपने लंड को इसकी कुंवारी बुर में थोड़ा आगे बढ़ाओ!
जैसे ही मैंने अपने लंड को पायल की बुर में थोड़ा आगे बढ़ाया, वह चीख उठी, उसको दर्द हो रहा था.
अब मेरी पत्नी और नीरू ने पायल को बेड के कोने पर कर लिया और दोनों ने उसकी टांगें ऊपर उठाकर एक एक टांग फैलाकर पकड़ ली और मुझसे उसकी बुर पर अपना लंड लगाकर अंदर डालने को बोला.

मैंने कहा- यार, पहली बार इसकी बुर में लंड जा रहा है और मेरा लंड भी बहुत तगड़ा है, यह दर्द तो महसूस करेगी ही … इसकी चीख भी निकल सकती है.
तब नीरू ने मेरी पत्नी से कहा- जीजी, आप इसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके फैला लो और मैं ऊपर इसके बूब्स और मुंह के पास जाती हूं ताकि इसे दर्द का अहसास कम से कम हो!
तभी मेरी पत्नी ने मुझको मेरे कान में कहा- यह इस तरह आपको घुसाने नहीं देगी, आप अपना आधा लंड एक ही झटके में इसकी बुर में डालो और तुरंत लंड बाहर निकाल लेना ताकि इसकी झिल्ली फट जाए.

अब मैंने मौका देख पायल की बुर पर अपना लंड सेट किया और नीरू को इशारा किया कि तू इसके होंठों को मुंह में ले ताकि इसकी चीख ना निकले.
और मैंने एक जोरदार झटके के साथ अपना आधा लंड पायल की कुंवारी बुर में पूरी ताकत के साथ ठोक दिया. पायल की चीख निकली और मैंने तुरंत ही अपना लंड उसकी बुर जो अब चूत बन चुकी थी, से बाहर खींच लिया. मेरे लंड पर हल्का सा खून लगा हुआ था और थोड़ा खून पायल की चूत में दिखाई दिया.

पायल की सील टूट चुकी थी.

लेकिन दोस्तो, हम जितनी कल्पना कर रहे थे, इतना दर्द पायल को नहीं हुआ था जितना लोग कहते हैं. अगर सही तरीके से किया जाए तो इतना दर्द शुरू में लड़की को होता भी नहीं है. यह मैंने कई लड़कियों सील तोड़ते हुए महसूस किया कि अगर सही तरीके से किया कोई दर्द नहीं होता.

अब कहानी पर आते हैं. पायल की चूत से मैंने अपना लंड बाहर खींच लिया तो तुरंत ही पायल ने कहा- आपने अपना लंड बाहर क्यों निकाला है? डालो ना … मुझे मजा आ रहा है.
उसके बाद नीरू और मेरी पत्नी ने उसकी दोनों टांगें फैला दी और मैंने अपना पूरा लंड पायल की चूत में डाल कर धक्के लगाने शुरू कर दिए.

पायल अपनी पहली चुदाई का पूरा मजा ले रही थी. मेरी पत्नी और नीरू पायल की चूत में मेरे लंड को अंदर बाहर जाते हुए देख रही थी और मैं पायल की छोटी सी चूत की ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था. मेरा लंड उसकी छोटी सी चूत में बिल्कुल फंस कर जा रहा था और पायल अपने सिर को थोड़ा ऊपर उठा कर अपनी चूत में मेरे लंड को अंदर बाहर जाते हुए देख कर बोली- नीरू कसम से … मैं बहुत घबरा रही थी कि इतना बड़ा लंड मेरी छोटी सी चूत में कैसे आएगा. लेकिन देख ना अब कितने आराम से जा रहा है और मुझे बहुत मजा आ रहा है. मुझे कुछ कुछ हो रहा है नीरू! मैं जाने वाली हूं! मुझे चोदो ना … मुझे चोदो!

पायल का शरीर अकड़ने लगा तो मैं समझ गया कि पायल झड़ने वाली है, मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और तुरंत ही पायल ने मेरी बांहें पकड़ ली और मेरे सीने से चिपक गई और शरीर को उठाती हुई बोली- हो गया … हो गया … हो गया … मार दिया!
और यह कहती हुई वह शांत पड़ गई और मुझे लंड बाहर निकालने के लिए बोलने लगी.

मैंने अपना लंड बाहर निकाल दिया. पायल शांत हो चुकी थी. उसके बाद मैंने नीरू और अपनी तो बीवी दोनों को बेड पर डॉगी स्टाइल में चुदाई शुरू की. मैं अपनी पत्नी और नीरू की चूत में पीछे से लंड डालकर बारी बारी दोनों की चुदाई करता रहा. पायल बैठकर दोनों को चोदते हुए देख रही थी.

करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं नीरू की चूत में अपना माल छोड़ दिया और मैं भी शांत पड़ गया और अपनी पत्नी को मैंने जीभ से चाट कर शांत किया.

उसके बाद जाने कितनी ही बार हम चारों ने एक साथ चुदाई की. करीब 5 साल बाद पायल की शादी हो गई उसके बाद पायल को चोदने का मौका नहीं मिला. वह साल में एक आध बार ही आती है उसका पति साथ आता है. लेकिन बात होती रहती है.
लेकिन नीरू अभी भी जब मायके आती है तो मुझसे खूब चुदवाती है, हम तीनों साथ एक साथ ही मजे करते हैं.

उसके बाद भी नीरू ने अपनी सगी मौसी की लड़की को मुझसे चुदवाया, हम सबने साथ चुदाई की और उससे अलग दो लड़कियों को और चुदवाया. वो कहानी में आपको बाद में सुनाऊंगा.
मैं और मेरी पत्नी बहुत खुले विचारों के हैं, हमको अगर कोई लड़की या शादीशुदा औरत इस तरह की मिलती है तो हम दोनों ही साथ में उसकी चुदाई करते हैं.

मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक लड़की का मेल भी आया है कि वह हमारे साथ सेक्स करना चाहती है. लेकिन वह कुछ दूर की है इसलिए अभी हम इस पर कोई फैसला नहीं ले पाए.
दोस्तो, आपको हमारी मस्तराम सेक्स कहानियां कैसी लगी, हमको ईमेल पर जरूर बताएं.
हमारी ईमेल आईडी है [email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top