पहले प्यार की चुदाई उसी के घर में

(Pahle Pyar Ki Chudai Usi Ke Ghar Me)

दोस्तो, मेरा नाम साहिल है और मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ. मैं देखने में बहुत स्मार्ट हूँ. मेरी हाइट लगभग 5 फुट 7 इंच है। मुझे सुन्दर लड़कियाँ और भाभियां बहुत पसंद है मेरे लंड का साइज 6 इंच लंबा व 3 इंच मोटा है.
मैंने अन्तर्वासना की लगभग सारी कहानियाँ पढ़ी हैं।

चलिए मैं अब आपको अपने जीवन में घटी एक कहानी बताता हूं जो मुझे हमेशा याद रहेगी।

मेरी एक गर्लफ्रेंड थी जिसका नाम था सुचेता; वो मेरे घर से कुछ दूरी पर रहती थी। दोस्तो, वो इतनी सुंदर थी कि क्या बताऊँ … उसको देख के अच्छे अच्छे का लंड खड़ा हो जाये. उसका फिगर 32 28 34 का था. जब वो चलती थी तो उसे देख कर मैं बिल्कुल पागल हो जाता था.
वो लोग हमारे शहर में नए थे। उसके परिवार में उसका एक छोटा भाई और उसके मम्मी पापा। वो हमारे घर के पास रहते थे और उसका भाई काफी छोटा था तो उसकी मम्मी को कोई काम होता था तो वो मुझे बोल देती थी. और मैंने कभी भी मना नहीं किया.

लेकिन सुचेता से मेरी कोई बातचीत नहीं होती थी, उसका छोटा भाई मेरे पास आ जाता था और मेरा अच्छा दोस्त बन गया था। वो भी कभी कभी अपने भाई को बुलाने के लिए हमारे घर आती थी. शुरू शुरू में तो हमारे बीच कोई बातचीत नहीं हुई लेकिन कुछ दिनों बाद वो कॉलेज जाते वक्त मुझे रास्ते में मिलती और हम दोनों एक दूसरे को स्माइल पास करते.

बस ऐसे करते करते काफी दिन गुजर गए। फिर मैंने सोचा लिया कि अब तो बात करके ही रहूंगा।
फिर एक दिन मैंने उसे हलो बोला और उसने भी हाय में जवाब दिया और एक छोटी सी स्माइल दी. उसे देखकर तो मैं बिल्कुल पागल ही हो गया.

फिर कुछ दिनों तक हमारे बीच हाय हलो ही चलती रही. इसी बीच हम दोनों एक दूसरे को अच्छे लगने लगे. उसके बाद हम अच्छे दोस्त बन गए, फिर मैंने उससे उसका फ़ोन नंबर मांगा और उसने बिना कुछ सोचे दे दिया. फोन पे हमारी बातें होने लगी और कुछ दिन बाद हम दोनों एक दूसरे को जोक, सेक्सी मैसेज भेजने लगे. कुछ दिन बाद हम बिल्कुल खुल गए.

फिर कुछ दिन बाद मैंने उसे परपोज़ किया और उसने भी हाँ कर दी और एक स्माइल देकर चली गयी. उसके बाद हमारे बीच सेक्स चैट शुरू हो गयी। हम देर रात तक एक दूसरे से बात करने लगे. उसके बाद हम दोनों घूमने जाने लगे कभी पार्क तो कभी मूवी देखने जाते! मैं मौका देखकर उसको किस कर देता, वो भी उसका पूरा जवाब देती.

कुछ दिन तक हम दोनों ऐसे ही मिलते रहे. अब हम दोनों के दिल में आग लगी हुई थी और चुदाई का सही मौका ढूंढने लगे.
फिर एक दिन उसका मैसेज आया कि आज उसके घर कोई नहीं है, सभी घर वाले एक रिश्तेदार की बेटी की शादी में जा रहे हैं और उसने बीमारी का बहाना करके शादी में जाने से मना कर दिया. तो मैं यह सुनकर बहुत खुश हुआ.

और सुबह करीब 11 बजे उसके घकर पहुँचा.

जब उसने दरवाजा खोला तो उसे देखकर मैं बिल्कुल अपना होश खो बैठा. वो मुझे देखकर बस मुस्करा रही थी.
फिर अंदर जाते ही मैंने उसे पकड़ लिया.
उसने कहा- थोड़ा सब्र तो करो!
मैंने उससे कहा- यार, अब इन्तजार नहीं होता तुम बस मेरी हो जाओ!
फिर उसने मुझे कहा- बस 5 मिनट में मैं फ्रेश होकर आती हूँ.

जैसे ही वो बाथरूम से निकली, उसे देखते ही मेरा लंड सलामी देने लगा. उसके भीगे हुए बाल … कातिल चेहरा … मानो अब और कुछ बचा ही न देखने को।
कुछ देर तो मुझे ये भी नहीं पता था कि आखिर हो क्या रहा है.

कुछ पल बाद वो मेरे पास आई तो मुझे होश आया. मैंने उसे झट से पकड़ा और किस करने लगा. उसने वाइट कलर का टॉप और ब्लैक कलर की जीन्स पहन रखी थी।
कसम से क्या लग रही थी!
फिर उसने मुझे कहा- रुको जरा … मैं दरवाजा बंद कर देती हूँ.

उसके वापस आते ही मैंने उसे गोद में उठाया और सीधा उसके बैडरूम में ले गया और किस करने लगा. वो भी रेस्पॉन्स देने लगी।
सुचेता ने कहा- यार, मुझे कुछ हो रहा है।
उसकी बात सुनकर मैंने कहा- आज जो होना है, होने दो!
फिर वो मुस्करायी, मैंने झट से उसका टॉप उतारा और उसके बूब्स को चूसने लगा.

वो बस मजे ले रही थी ‘अअअअ ईईई ऊऊ उम्म उम्म सीसी सी …’ वो मेरा सिर जोर से अपने वक्ष में दबाने लगी और बोलने लगी- जानू … और जोर से चूसो इनको! मुझे बहुत मजा आ रहा है. फिर मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और जोर जोर से चूसने लगा. फिर उसने पैन्ट के अंदर से ही मेरा लंड पकड़ा और उसे मसलने लगी. फिर मैंने उसकी जीन्स को भी उतार दिया और पेंटी के ऊपर से रगड़ने लगा.

उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिये मैंने भी उसकी पैंटी को उतार दिया और उसकी चूत को देखने लगा. क्या चूत थी उसकी … मैं तो उसका दीवाना हो गया. मैं उसकी चूत को चाटने लगा. वो बिल्कुल पागल सी हो गई और तेज तेज आवाज निकलने लगी और बोलने लगी- जानू आई लव यू … अअअअअ सी सी … ओहह आह उम्म उम्म!
फिर वो झड़ गई.

उसके बाद वो मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगी. 10 मिनट चूसने के बाद उसने कहा- यार, अब बर्दाश्त नहीं होता, चोद दो मुझे और बना लो अपनी।
उसके बाद मैंने उसे बेड पे लिटाया और लंड को उसकी मखमली चूत के ऊपर सेट किया और एक जोरदार धक्का मारा. मेरा लंड 2 इंच ही अंदर गया और वो चीखने लगी, फिर मैं रुक गया.
वो कहने लगी- यार बहुत दर्द हो रहा है.
मैंने कहा- यार, बस कुछ देर होगा और उसका बाद तुम्हें बहुत मजा आएगा.

थोड़ी देर बाद मैंने एक जोरदार धक्का और मारा तो मेरा लंड लगभग पूरा अंदर चला गया और वो तेज तेज चिल्लाने लगी. उसकी आँखों से आंसू आ गए, उसकी चूत बिल्कुल फट गयी थी और उसकी सील टूट गयी। उसकी चूत में से खून आने लगा.
मैं उसे जोर जोर से किस करने लगा.
जब वो नार्मल हुई थी मैं अपने लंड को उसकी चूत में आगे पीछे करने लगा. वो भी उसका जवाब अपनी गांड उठा उठा कर देने लगी और तेज तेज आवाज निकालने लगी- आ ऊऊ मा ईईई सी सी उओं म्मा!

लगभग 20 मिनट तक हमारी चुदाई चली, इसी बीच वो एक बार झड़ गयी और हम दोनों पसीने से लथपथ हो गए. फिर मैं कुछ देर तक उसी के ऊपर पड़ा रहा.
कुछ देर आराम करने के बाद मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा, फिर सुचेता उसे पकड़ कर सहलाने लगी, कुछ देर बाद उसने उसे चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया।

इस बार मैंने उसे घोड़ी बनाया और लन्ड उसकी चूत में डाल दिया. 20 मिनट की चुदाई के बाद सुचेता मेरे ऊपर आ गयी और मेरे लंड पर बैठकर चुदने लगी और कहने लगी- साहिल … आई लव यू सो मच!
उसके बाद हमारा चुदाई का दौर काफी देर तक चला, फिर हम दोनों एक साथ झड़ गए. मैं बिल्कुल थक गया था.

थोड़ी देर आराम करने के बाद फिर मैंने उसे गांड मारने को बोला लेकिन उसने मना कर दिया. मैं भी उसे फ़ोर्स करके नहीं बल्कि उसकी इच्छा से सब कुछ करना चाहता था. उसके बाद मैंने और उसने 2 बार और चुदाई की और फिर हम साथ मिल के नहाये.

समय बहुत ज्यादा हो गया था और उसके घरवाले भी आने वाले थे इसलिए मैंने जल्दी से अपने कपड़े पहने और सुचेता को एक किस किया और फिर उसके घर से आ गया।
उसके बाद मैंने उसकी कई बार चुदाई की और उसकी गांड भी मारी कभी होटल में तो कभी उसके घर में ही उसकी चुदाई की।
अभी कुछ दिनों पहले ही वो अपने गांव में चली गई. मैं सुचेता को बहुत याद करता हूँ अब बस या तो फ़ोन पर बात होती है या कभी कभी बाहर मिल लेते हैं.

दोस्तो, सुचेता को मैंने सिर्फ हवस का लिए इस्तेमाल नहीं किया बल्कि मैं उसे एक अच्छी दोस्त भी मानता था.

तो यह थी मेरी लाइफ की एक कहानी.
मैं अगली स्टोरी मैं बताऊंगा कैसे हमने दोबारा सेक्स किया और उसने बड़े प्यार से मुझे अपनी गांड भी दी. मुझे आपके मेल का इंतजार रहेगा.

धन्यवाद
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top