मेरा घमंड घुस गया मेरी चूत में

(Non Veg Story: Mera Ghamand Ghus Gaya Meri Choot Me)

हाय फ्रेंड्स, मैं विशाखा वर्मा दिल्ली से हूँ. मैं एक बहुत ही सुंदर लड़की हूँ, मेरा फिगर 38-30-36 का है. मैंने दिल्ली से अपनी बी.टेक पूरी की है और फिलहाल मैं एक कॉल सेंटर में काम करती हूँ.
मैं आपके साथ अपनी वो कहानी शेयर करने जा रही हूँ जिसने मेरी ज़िंदगी को बदल कर रख दिया. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है.. कोई ग़लती हो जाए तो प्लीज़ मुझे माफ़ करना.

बात उस टाइम की है, जब मैंने बी.टेक फर्स्ट ईयर में एडमिशन लिया था मेरी सुंदरता और मेरे फिगर को देख कॉलेज के सभी स्टूडेंट मुझे आँहें भर कर देखते थे. सभी लोगों के मन में सिर्फ़ ये ही बात रहती कि मुझसे दोस्ती कैसे की जाए, लेकिन उस टाइम में बहुत घमंड में रहती थी और गर्ल्स के अलावा किसी लड़के से बात करना तो दूर उनकी तरफ देखती भी नहीं थी, लड़कों को मेरा ये घमंड बिल्कुल पसंद नहीं था.

एक दिन एक लड़के ने मुझे कॉलेज के क्लासरूम में अकेले देख मुझे प्रपोज किया और बोला- विशाखा, आई लाइक यू और मैं तुमसे दोस्ती करना चाहता हूँ.
ये सुन कर मैंने उस लड़के के गाल पर एक ज़ोरदार थप्पड़ मार दिया और उसको मना कर दिया. मैं वहां से चली गई.

लेकिन मुझे क्या पता था वो लड़का इस थप्पड़ का जवाब मुझे किस तरह से देगा.

धीरे धीरे टाइम निकलता गया और करीब 2 महीने के बाद कॉलेज में एग्जाम शुरू हुए, तो उस एग्जाम में मेरी तबीयत खराब हो गई थी, जिससे मैं एग्जाम की तैयारी नहीं कर पाई थी. तब उसी लड़के ने मेरी हेल्प की, उसने मुझे नोट्स दिए और कॉलेज में मुझे पढ़ाया.

उसी टाइम मुझे पता चला कि उसका नाम आकाश है. उसने मेरी इतनी हेल्प की और मेरी एग्जाम की तैयारी करवा दी. इसके बाद आकाश की और मेरी दोस्ती हो गई, लेकिन मेरा घमंड अब भी वैसा ही था, बिल्कुल भी बदला नहीं था. लेकिन आकाश से दोस्ती होने के बाद मैंने उससे थप्पड़ के लिए उसको सॉरी बोला और आकाश ने हल्की सी स्माइल देकर बोला कि कोई बात नहीं.

फिर एक दिन आकाश ने बोला कि विशाखा मैं यहाँ पास ही में लेक पर घूमने जा रहा हूँ.. क्या तुम मेरे साथ चलोगी घूमने?
मैंने उसको मना कर दिया और बोला कि आकाश हम दोस्त सिर्फ़ कॉलेज में हैं बस.. और मैं तुम्हारे साथ कहीं घूमने नहीं जाना चाहती.
यह सुन कर आकाश ने अपना मुँह बिगाड़ लिया और दुखी मन से मुझे सॉरी बोल कर चला गया.

उसके जाने के बाद मुझे मेरी ग़लती का एहसास हुआ और मैंने उसे पीछे से आवाज़ देकर वापिस बुलाया और उसे सॉरी बोला. फिर उसके साथ चलने को भी मैं राज़ी हो गई. मैंने आकाश से पूछा कि ऐसे ही चलूँ या घर जाकर कपड़े चेंज कर के आऊं?
उस टाइम मैंने जीन्स टी-शर्ट पहनी हुई थी, तो आकाश ने कहा- तुम्हारी मर्ज़ी है, चेंज करना चाहो तो कर लो.

मैं आकाश की कार में बैठ गई. पहले अपने घर गई और मैंने कपड़े चेंज किए. अब मैंने घर से ब्लू कलर का टॉप और ब्लैक कलर की फुल स्कर्ट पहनी हुई थी.
मैं जैसे ही कार में बैठी तो आकाश मुझे देखता ही रह गया.

मैंने बोला- क्या देख रहा है आकाश?
तो आकाश बोला- विशाखा तुम इन कपड़ों में बहुत ही अच्छी लग रही हो.
मैंने कहा- ओके ठीक है.. अब तुम चलो कहाँ घूमने चल रहे हो.

वो मुझे एक लेक के पास लेकर गया जहाँ का मौसम बड़ा ही रोमांटिक था. वहां पर मैंने जहाँ भी देखा, वहां पर सभी जगह हर कोई लड़का अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूम रहा था.
मैंने ये देख आकाश को बोला कि आकाश तुमको भी अपनी गर्लफ्रेंड को लाना चाहिए था.. यहाँ मुझे क्यों ले आए?
आकाश बोला- मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है, मैं यहाँ अपने फ्रेंड्स के साथ ही घूमने के लिए आता हूँ.

इसके बाद आकाश ने अपनी कार से एक कोल्ड ड्रिंक की बोतल निकाली और दो गिलास भी निकाले. उसने कोल्ड ड्रिंक दोनों गिलासों में डाली. मैं इस टाइम थोड़ी देर के लिए पास ही बने वॉशरूम में चली गई.

ये ही मेरी लाइफ का टर्निंग पॉइंट था.

आकाश ने यहाँ मेरे साथ धोखा किया और मेरी कोल्ड ड्रिंक में कुछ मिला दिया. मैं जब वॉशरूम से आई, तब हम दोनों ने कोल्ड ड्रिंक एक साथ पी और कोल्ड ड्रिंक पीते ही मेरा सिर घूमने लग गया. अब मुझे सब कुछ दिखाई तो दे रहा था, लेकिन मैं खुद उठ कर चल भी लूँ, ऐसी मेरी हालत नहीं थी.
आकाश ने मुझे सहारा दिया और उसने मुझे अपनी कार में बैठाया. फिर आकाश पता नहीं कार को लेकर कहाँ चल दिया. मैं होश में होते हुए भी बेहोश थी, क्योंकि मुझे सब पता चल रहा था कि क्या हो रहा है लेकिन मैं ना तो बोल पा रही थी और ना ही चल पा रही थी.

आकाश ने अपनी कार एक होटल के पास रोकी और मुझे साथ लेकर होटल में चल दिया. उसने होटल में एक रूम बुक कर रखा था. रूम में अन्दर आते ही उसने मुझे सोफे पर बैठाया और रूम का दरवाजा लॉक कर दिया.
उसके बाद आकाश मुझसे बोला- विशाखा तू बहुत घमंडी लड़की है, देख तेरा घमंड आज मैं कैसे तोड़ता हूँ,

मेरे पास उस वक्त चुपचाप बैठने के अलावा कोई और रास्ता नहीं था. वो मेरे पास आया और मुझे ऊपर से नीचे देखने लगा. फिर तुरंत मेरे होंठों पर होंठ रख कर वो मुझे लिप किस करने लगा. मेरे टॉप के ऊपर से ही मेरे मम्मों को दबाने लगा.
मैं तो मदहोश होने लगी थी क्योंकि मेरे सिर पर तो दवाई का असर था और मेरे साथ क्या हो रहा था, मुझे कुछ नहीं पता था.

आकाश ने मुझे अपने कंधे पर हाथ डाल कर उठाया और बेड पर लेटा दिया. उसके बाद सबसे पहले आकाश ने मेरे बालों में से हेयर पिन निकाल दी और मेरे बाल खोल दिए. उसके बाद वो मेरे ऊपर आया और उसने मुझे मेरे सिर से चूमना शुरू किया. सिर से लेकर पैरों तक मेरे बदन की कोई ऐसी जगह नहीं थी, जहाँ उसने मुझे किस ना किया हो. ये ही काम उसने मुझे उल्टा करके भी किया, मेरे कूल्हों को भी वो बहुत देर तक चूमता रहा. फिर उसने मुझे बैठाया और मेरे टॉप को अपने हाथों से उतार दिया. उसके बाद उसने मुझे मेरी ब्लैक ब्रा के ऊपर से ही चूमना शुरू किया. मेरे एक निप्पल को वो चूम रहा था तो दूसरे निप्पल को हाथों से मसल रहा था.

उसके बाद वो मेरी नाभि को चूमने लगा और साथ में मेरी चुत को स्कर्ट के ऊपर से ही हाथों से रगड़ रहा था.

शायद मुझे ये सब अच्छा लग रहा था क्योंकि मेरी चुत इतनी गीली हो चुकी थी कि स्कर्ट भी मेरे चुत के पानी से भीग गई थी. उसके बाद आकाश ने मुझे उल्टा किया और मेरी पीठ को चूमने लगा. चूमते हुए उसने मेरी ब्रा का हुक़ खोल दिया और ब्रा को मेरे शरीर से अलग कर दिया. अब वो मेरे कूल्हों को मसलता हुआ मेरे मम्मों से दूध पी रहा था.

इसके बाद उसने मेरी स्कर्ट को ऊपर किया और मेरी ब्लैक पेंटी के ऊपर से ही मेरी चुत को चाटने लगा. थोड़ी देर बाद उसने मेरी पेंटी उतार दी और मुझे बिस्तर पर से उतार कर सीधा खड़ा कर दिया. मैं उसके सामने इस टाइम सिर्फ़ स्कर्ट में उसके कंधों का सहारा लिए खड़ी थी. वो मुझे जगह जगह चूमने लगा.

अब आकाश खुद अपने कपड़े उतारने लगा. मैंने देखा उसका मोटा तगड़ा लंड बिल्कुल लठ की तरह खड़ा था.

मुझे उसने बिस्तर पर उल्टा लेटा दिया और स्कर्ट के ऊपर से ही मेरे कूल्हों पर अपना लंड सैट कर के रगड़ने लगा. वो मेरे ऊपर लेट सा गया था.

दोस्तो मेरा स्कर्ट मेरे कूल्हों की दरार में घुस गया था और उसके ऊपर से उसका लंड भी अड़ा हुआ था. फिर आकाश ने मुझे सीधा किया और मेरी स्कर्ट को ऊपर उठा कर मेरी चुत पर लंड को सैट करके लेट गया. वो मुझे ज़ोर ज़ोर से लिप किस करते हुए मेरे मम्मों को दबाने लगा. ये सब करते करते अचानक उसने एक ज़ोर का झटका लगाया और उसके लंड का टोपा मेरी चुत में पार हो गया. मुझे बहुत दर्द हुआ, लेकिन मेरे लिप पर वो इतना ज़ोर से लिप किस कर रहा था कि मैं चिल्ला ना सकी. उसने फिर ज़ोर का झटका लगाया, जिससे उसका पूरा लंड मेरी चुत के अन्दर घुस गया. मेरी आँखों से आँसू निकल पड़े और चुत से खून भी निकलने लगा.. क्योंकि मेरा ये पहली बार था.

इसके बाद उसने मेरी चुदाई शुरू की और करीब आधे घंटे तक वो मुझे चोदता रहा. शायद उसने भी कोई दवा ली हुई थी.
इसी बीच मैं करीब 2 बार झड़ गई थी. बाद में आकाश भी मेरी चुत में ही झड़ गया और मेरे ऊपर ही लेट गया.
वो लंड को मेरी चुत में घुसाए हुए ही सो गया. मुझे भी नींद आ गई.

कुछ टाइम बाद मुझे होश आया, अब मुझे पिलाई हुई दवाई का असर भी ख़त्म हो चुका था.

मैंने होश में आकर देखा, आकाश बिल्कुल नंगा मेरे ऊपर लेटा हुआ है और उसका लंड मेरी चुत से टच हुआ पड़ा है. मेरा स्कर्ट मेरे पेट पर फोल्ड करके ऊपर किया हुआ है. बेडशीट मेरी चुत के खून से लाल हुई पड़ी है.. और मेरा टॉप, ब्रा और पेंटी सब बेड के नीचे फर्श पर पड़े हैं.

मैंने आकाश को तेज़ी से धक्का देकर बेड से नीचे गिरा दिया और मैं भी बेड से उठने की कोशिश करने लगी, लेकिन मुझसे खड़ा नहीं हुआ गया. मेरी चुत बिल्कुल लाल हो रही थी और दर्द बहुत तेज़ हो रहा था. मैं वापिस बिस्तर में बैठ कर रोने लगी.

मैंने आकाश को बोला- आकाश मैंने तेरा क्या बिगाड़ा था जो तूने मेरे साथ ये सब किया?
तब आकाश ने बोला कि तेरा घमण्ड तोड़ने की लिए तेरे साथ ये सब किया.
मैंने उसको बोला कि आकाश मैं अब प्रेग्नेंट हो जाऊंगी, किसी को क्या मुँह दिखाऊंगी.
तब आकाश ने मुझे एक गोली दी और कहा कि ले इसे खा लेना, कुछ नहीं होगा और अपनी चुत को पानी से अच्छे से धो लेना.

मुझसे चला नहीं जा रहा था, उसने मुझे मेरे सारे कपड़े उठा कर दिए और मैं बाथरूम में गई. आकाश भी मेरे साथ आया क्योंकि मुझसे चला नहीं जा रहा था. उसने पहले पानी से मेरी चुत को धोया और फिर मुझे पेंटी पहनाई..

मैंने अपने कपड़े किसी तरह पहने. आकाश ने कहा- देख विशाखा, तेरे साथ मैं ज़िंदगी गुजारने को तैयार हूँ, तुझे घबराने की ज़रूरत नहीं है.
मैंने आकाश से बोला- आकाश प्लीज़ अब मुझसे तू बात मत कर और मुझे घर छोड़ दे.. और फिर मुझसे मिलने की कोशिश मत करना. और हो सके तो प्लीज़ तेरे और मेरे बीच जो हुआ, वो किसी को मत बताना.

दोस्तो उसके बाद ना तो मैंने आकाश से कभी बात की और ना ही उसने मुझसे. उसने मेरा सारा घमंड मेरी चुत में घुसा कर रख दिया. हालांकि मुझे आकाश से चुदाई करवाने के बाद उससे कुछ प्यार सा हो गया था.

तो दोस्तो कैसी लगी मेरी ये नोन वेज स्टोरी प्लीज़ मुझे मेल करके ज़रूर बताएं, मुझसे चैट करने के लिए और इस सेक्स स्टोरी के बारे में बताने के लिए मुझे मेरी मेल और फेसबुक आईडी पर मैसेज करें. मेरी मेल आईडी है.
[email protected]