शौहर के भाई ने सुहागरात में मेरी चूत चोद डाली

(Shauher Ke Bhai Ne Suhagraat Me Meri Choot Chod Di)

मैं हिना.. मेरी हाइट 5 फुट 7 इंच, फिगर 34-30-32.. उम्र 21 साल की है।
शादी से पहले मुझे चूत चुदाने की बहुत चुल्ल होती थी.. पर मैं शादी से पहले ये सब नहीं करना चाहती थी।

मेरी शादी 7 महीने पहले मेरी अम्मी की बहन यानि मेरी खाला के लड़के से हुई थी। खाला के 2 लड़के हैं, बड़ा 23 साल का छोटा 21 साल का और 19 साल की एक बेटी है।

मेरी शादी रात के समय हुई थी तो उसके बाद 2 बजे रात को मैं अपनी सुसराल पहुँच गई।
उस रात तो हम दोनों चुदाई नहीं कर सके, दूसरे दिन मैं अपने घर आ गई, दो दिन रहने के बाद मैं सुसराल गई और फिर अब सुहागरात की बेला थी।

रात को एक बजे मैं कमरे में लेटी थी। मेरा देवर आया और बोला- भाई आते ही होंगे।
मैं देवर से बोली- तुम यहीं बैठ जाओ.. मैं बोर हो रही हूँ।
वो बैठ गया।

मैंने पूछा- आपके भाई कब आएंगे?
वो बोला- भाभी जी.. भाई की बहुत याद आ रही है?
मैं बोली- जी हाँ सुहागरात है न..
वो बोला- हाँ याद तो आएगी ही क्योंकि आज रात आपकी ज़िंदगी बदल जाएगी और आपकी ख्वाहिश भी पूरी हो जाएगी।
इतना बोल कर वो हँसने लगा।

मैं हँस कर बोली- मुझे सताना ही है तो आप चले जाओ।
वो चला गया।

कुछ देर बाद मेरे शौहर आ गए, वो रूम लॉक करके मेरे पास आ गए और बोले- आज रात का क्या इरादा है?
मैं बोली- जैसा आप चाहो।

उन्होंने मेरे कपड़े उतारना शुरू कर दिए, अब मैं ब्रा में आ गई थी, मैंने उनके कपड़े भी उतारे, उनका अंडरवियर भी उतार दिया।
हम दोनों ने बहुत किस किए.. बहुत देर तक गरमागरम चूमा-चाटी के बाद वो बोले- मैं तुम्हारे साथ एक शर्त पर सेक्स करूँगा।
मैं बोली- कैसी शर्त?
वो बोले- सेक्स में सब कुछ करना पड़ेगा।

मैं चुप रही तो उन्होंने अपना मोबाइल फोन उठाया और ट्रिपल एक्स वीडियो लगा दी।
अब वो बोले- देखो इसमें लंडचूसना.. चूत चाटना.. गांड पर किस करना और अंत में लंड का पानी पीना सब करना होता है.. तभी चुदाई में मजा आता है।

मैं बोली- नहीं.. ये सब गंदा लगता है, मैं नहीं करूँगी।
वो बोले- जानम, सुहागरात को यादगार बनाने के लिए कर लेते हैं। फिर ऐसा गंदा सेक्स कभी नहीं करेंगे।
मैं राज़ी हो गई.. तो वो खुश हो गए।

मैंने उनको गर्दन से पकड़ा और होंठों को किस करने लगी। अब शौहर ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे मम्मों पर टूट पड़े, उन्होंने मेरे चूचों को दबा-दबा कर लाल कर दिए, मेरी आँखें मस्ती में बंद हो गई थीं।
अब मेरे पेट पर किस करते हुए मेरे मम्मों को दबा-दबा कर वे भी मदहोश हो गए थे।

कुछ पल बाद मेरे शौहर मेरी चूत पर हाथ घुमा रहे थे, मैं कामुक आवाजें निकाल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ उनका लंड खड़ा हो गया था।

वो बोले- जान लंड चूसो!

मैंने लंड पकड़ा और सुपारे को चूसने लगी.. फिर आधा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी। कुछ देर बाद अचानक नमकीन रबड़ी मेरे मुँह में आ गई और कुछ बाहर गिर गई।

फिर मैं लेट गई.. उन्होंने मेरी गांड के नीचे तकिया लगा दिया.. जिससे मेरी चूत ऊपर को उभर आई, मेरी क्लीन शेव चिकनी चूत देखते ही लंड फिर से खड़ा हो गया।
अब वो मेरी चूत के ऊपर जीभ घुमाने लगे, मैं मदहोश हो गई और सीत्कार करने लगी।

पहली बार ऐसी अजीब सी फीलिंग आई.. मुझे लगा कि जैसे चूत में से कुछ निकल रहा हो।
कुछ देर में मेरी धड़कनें तेज़ हो गईं और मैं फारिग हो गई।

शौहर बोले- तेरे माल का टेस्ट बहुत मज़े का है।
अब तक उनका लंड भी मेरी चूत में जाने को तैयार था, मेरे शौहर मेरी टाँगों के बीच में आ गए और अपने लंड को मेरी चूत पर रगड़ने लगे।
मुझसे रहा नहीं जा रहा था, वो ज़ोर लगाने लगे.. तो मुझे दर्द होने लगा। तभी एकदम से लंड का टोपा चूत के अन्दर घुस गया.. मेरी साँसें रुक गईं.. दर्द की वजह से मेरे आँसू निकल आए। शौहर मेरे दर्द को समझ गए और मुझे किस करने लगे।
कुछ देर यूं ही मेरे दूध चूसने और मुझे चूमने के बाद वो आराम-आराम से झटके मारने लगे।

अब लंड और अन्दर घुस गया तो मुझे फिर से दर्द हुआ, वो इस बार झटके मारते रहे, मुझे कुछ देर बाद मज़ा आने लगा। अब हल्का हल्का दर्द और हल्का हल्का मज़ा आ रहा था.. मदहोशी का आलम छा रहा था।

इस मजे को वो लड़कियाँ जो सेक्स करती हैं सिर्फ वो ही जानती हैं।

तभी अचानक मेरी नज़र कमरे की विंडो पर पड़ी.. तो वहाँ कोई था।
मैंने शौहर को बोला- वहाँ कोई है।
वो बोले- कोई नहीं है।
मैं चुप रह गई।

फिर शौहर बोले- डॉगी पोजीशन में आ जाओ।
मैं कुतिया जैसी बनने को राजी थी पर मैं बोली- गांड में मत करना!
शौहर बोले- ओके..

फिर उन्होंने पीछे से लंड को चूत में पेल दिया, मेरी ‘आआ आहह..’ निकल गई।

कुछ देर बाद उन्होंने मेरी चूत में लंड का पानी निकाल दिया और लेट गए।
थोड़ी देर बाद वो उठे.. फ्रेश होने गए।

अब तक रात के 3 बज चुके थे। उन्होंने अपने फ्रेंड को फोन किया और जाने लगे।
मैंने पूछा तो बोले- दोस्तों को ट्रीट देनी है.. मैं चलता हूँ।

मैं ‘ओके’ बोल कर नंगी ही लेट गई।
वो कमरे से निकल गए।
मैं भी खुश थी।

मैंने भी उसी वक्त अपनी बेस्ट फ्रेंड अलीज़ा को कॉल की और उसे अपनी सुहागरात में अपनी पहली चूत चुदाई की सब बात बता दी।
यह हिन्दी सेक्स कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

मैंने फोन रखा ही था कि विंडो से कूद कर देवर आ गया।
मैं डर गई और जल्दी से कम्बल अपने ऊपर ले लिया।

वो मुझे देख कर मुस्करा रहा था।
मैं गुस्से से उस पर चिल्लाने लगी.. पर वो मुस्कराता रहा।

फिर उसने मुझे एक फोन दिया मैंने फोन देखने लगी। उसमें मैंने एक वीडियो देखी तो मेरे पैरों तले से ज़मीन निकल गई।
वो मेरी बांहों पर हाथ रख कर बोला- तो भाभी जान.. क्या इरादा है?
मैं गुस्से से बोली- तुम चाहते क्या हो?
देवर- मैं आपको चोदना चाहता हूँ।
मैं- तुम पागल हो गए हो।

देवर- ओके मैं चलता हूँ.. अपने सब कजिन्स को और फ्रेण्डस को ये दिखा दूँगा।

देवर ने मेरी चुदाई की वीडियो बना ली थी।
मैं- ओके.. तुम जो चाहो वो कर लो.. पर ये वीडियो अभी इसी टाइम डिलीट कर दो।
देवर- ओके ओके मेरी प्यारी भाभी जान।

मैं वॉशरूम गई और फ्रेश हो कर वापस आई। फिर देवर ने जो मेरी चुदाई की.. तो मेरी हड्डियाँ चटक गईं। उसने मेरी बहुत ज़ालिम चुदाई की थी। हालांकि मुझे और भी ज्यादा मज़ा आया।

फ्रेण्डस, तो यह थी मेरी पहली स्टोरी अब मैं आपके मेल का वेट कर रही हूँ।
बाय फ्रेंड्स..

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! शौहर के भाई ने सुहागरात में मेरी चूत चोद डाली