शादीशुदा भाभी होटल में चुदी

(Shadishuda Bhabhi Hotel Mein Chudi)

मेरे पड़ोस एक सहेली सेक्स वीडियो कॉल करती थी. एक बार उसने मुझे अपनी आपबीती बताई कि कैसे उसको एक लड़का सेक्स वीडियो कॉल में मिला और उसको होटल में ले गया.

मेरा नाम निधि है और मैं आगरा की रहने वाली हूं. मेरे स्तनों का साइज 32 है और मेरे हिप्स 38 के साइज के हैं. मेरे शरीर का सबसे सुंदर हिस्सा मुझे मेरी जांघें लगती हैं. मेरी शादी को आठ महीने हो चुके हैं. मेरे हस्बैंड मेरी जांघों की बहुत तारीफ करते हैं.

बदन से एकदम मस्त माल दिखती हूं मैं. रंग भी गोरा है और देखने में भी काफी सुंदर हूं. मैं जब अपनी जांघों अपने पति के सामने नंगी करती हूं तो वह अपना लंड निकाल कर खड़े हो जाते हैं और मुझे चोदने के लिए तैयार हो जाते हैं. वह अपना लंड मेरी जांघों पर फिराते हैं. उनको ऐसा करना बहुत पसंद है.

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूं यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है. मुझे अन्तर्वासना के बारे में मेरी एक दोस्त ने बताया था. वह मेरे पड़ोस में रहने वाली एक भाभी है. उनके साथ मेरे अच्छे संबंध हैं और हम हर तरह की बातें शेयर कर लिया करते हैं.

यह कहानी असली है क्योंकि मैं भाभी को बहुत समय से जानती हूं और यह कहानी उनकी ही कहानी है. वो काफी समय से अन्तर्वासना पर कहानियां लिख रही हैं. उन्होंने मुझे बताया था कि वो सेक्स वीडियो कॉल भी करती हैं. उनको ये सब करना बहुत अच्छा लगता है. आज मैं उनके साथ हुई घटना को आप लोगों के साथ बांटने जा रही हूं.

दरअसल एक बार भाभी को सेक्स वीडियो कॉल करते हुए एक लड़का मिला. भाभी उसको पसंद आ गई और वो लड़का भी भाभी को अच्छा लगा. धीरे-धीरे दोनों की दोस्ती हो गई. अब वो दोनों सेक्स के अलावा और भी बातें करने लगे.

भाभी को उस लड़के की बातें बहुत पसंद थीं जो भाभी के दिल को छू जाती थीं. इस तरह दोनों की दोस्ती गहरी होती चली गई.

ऐसे ही एक बार उस लड़के ने भाभी को मिलने के लिए बुलाया. वैसे पहले भाभी को उसके पास जाना ठीक नहीं लगा था मगर उस लड़के ने भरोसा दिलाया था कि वो कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करेगा जिससे भाभी की बदनामी हो.

अब कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको भाभी के जिस्म के बारे में कुछ बता देती हूं. भाभी का रंग मेरी तरह एकदम गोरा है. वो देखने में बहुत सुंदर है और चिकनी चमड़ी वाली हैं. अगर उनकी और मेरी तुलना की जाये तो दोनों को ही एक बराबर अंक मिलें. कहने का मतलब है कि भाभी का जिस्म बिल्कुल मेरे जैसा ही है. उनको देख कर लौड़ों का पानी छूट जाता है.

तो भाभी उससे मिलने गई. उस लड़के का नाम राहुल था. चूंकि काफी समय से भाभी उससे फोन पर बातें कर रही थी तो उसको राहुल पर काफी भरोसा था.

वो दोनों पहली बार होटल में मिले. जब भाभी उससे मिलने के लिए पहुंची तो वह पहले से ही वहां पर भाभी का इन्तजार कर रहा था.

जैसे उन दोनों ने एक दूसरे को देखा तो उन दोनों के मन में एक दूसरे को गले लगाने की ललक सी उठी और वो दोनों ही एक दूसरे को गले लगाने के लिए भागे जैसे एक दूसरे के हस्बैंड वाइफ हों. अगले ही पल भाभी ने कहा- मुझे जल्दी जाना है.
राहुल बोला- ठीक है, मुझे बस थोड़ा सा टाइम दे दो. फिर चली जाना.

इतना कह कर राहुल ने भाभी को बेड पर धक्का दे दिया. भाभी राहुल के सामने लेट गई. राहुल भाभी के ऊपर आ गया और उनकी आंखों में देखने लगा. राहुल की आंखों में देख कर भाभी को भी पता चल गया था कि आज उनको बहुत सारा प्यार मिलने वाला है.

उसके बाद राहुल ने भाभी के होंठों को किस करना शुरू कर दिया. भाभी भी राहुल का साथ देने लगी. काफी देर तक दोनों एक दूसरे को किस करते रहे. उसके बाद राहुल ने उसको गालों पर किस किया. गर्दन पर चूमा. धीरे-धीरे वो अब नीचे की तरफ बढ़ रहा था.

फिर उसने भाभी की लाल रंग की साड़ी को पेट से हटा दिया. वो उसके ब्लाउज के नीचे भाभी के पेट पर किस करने लगा. जब उसके होंठ भाभी के पेट को चूम रहे थे तो भाभी की आंखें बंद हो गईं थीं. भाभी के मुंह से तेज तेज सांसें निकलने लगी थीं.

राहुल भाभी के जिस्म को चूमते हुए उनके हाथों में अपने हाथों को फंसाने लगा और दोनों ने ही एक दूसरे के हाथों को थाम लिया. अब राहुल के हाथ भाभी की साड़ी के पल्लू की तरफ चले. उसने भाभी की साड़ी के पल्लू को अलग कर दिया और भाभी का ब्लाउज दिखने लगा. उसने भाभी के चूचों के क्लिवेज के बीच में किस किया तो भाभी ने राहुल के बालों के सहला दिया.

फिर राहुल ने भाभी को उठा कर अपने गले से लगा लिया. दोनों के जिस्म की गर्मी बढ़ने लगी थी. राहुल पीछे हाथ ले गया और भाभी के ब्लाउज के हुक खोलने लगा. उसने भाभी के ब्लाउज को खोल दिया और उसे भाभी के चूचों पर से हटा दिया. भाभी ने नीचे से ब्रा पहनी हुई थी. भाभी की लाल ब्रा अब राहुल के सामने थी. वो भाभी के चूचों के हवस भरी नजरों से घूर रहा था.

उसके बाद राहुल नीचे की तरफ बढ़ा उसने भाभी की साड़ी को उसकी नाभि के नीचे से हटाना शुरू किया. भाभी की साड़ी की सिलवटें अब धीरे धीरे खुलने लगी थीं. कुछ ही पलों के बाद भाभी की साड़ी उतर गई थी और वो लाल पेटीकोट में थी.

Shadishuda Bhabhi Hotel Mein Chudi
Shadishuda Bhabhi Hotel Mein Chudi

राहुल ने भाभी के फिर से लेटा दिया और अपने दांतों से भाभी के पेटीकोट का नाडा़ खींच कर खोल दिया.

अब भाभी के पेटीकोट को उसने खोल कर नीचे खींचना शुरू कर दिया. भाभी की गोरी जांघें अब उसके सामने नंगी होने लगी थीं. अगले ही पल भाभी केवल ब्रा और पैंटी में रह गई थी. भाभी का गोरा और चिकना बदन राहुल के सामने था. वो भाभी के बदन को हवस भरी नजरों से ऐसे देख रहा था जैसे पहले उसने कभी किसी महिला का बदन न देखा हो.

उसने भाभी की ब्रा पर किस किया. फिर उसने भाभी के पीछे जाकर उसकी ब्रा के हुक खोल दिये. अब भाभी की ब्रा उसके चूचों से सरक गई. राहुल ने ब्रा को चूचों के ऊपर से हटाते हुए अलग कर दिया. भाभी की ब्रा हटते ही उसके चूचे हवा में झूल गये. राहुल दोबारा से आगे की तरफ आया और उसने भाभी के चूचों को बारी बारी से अपने हाथों में लेकर उनका नाप लेना शुरू कर दिया.

राहुल की हरकतों से भाभी पूरी गर्म हो चुकी थी. उसने भाभी के चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उसके चूचों को दबाने लगा. राहुल के हाथों में आकर अब चूचे टाइट होने लगे थे. उसके चूचे एकदम से कड़क होने लगे थे. भाभी राहुल के चेहरे को देख रही थी. वो भी चाह रही थी कि राहुल उसको जी भर कर प्यार करे.

काफी देर तक वो भाभी के चूचों को दबाता रहा और फिर उसने चूचों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. अब भाभी के मुंह से आवाजें निकलने लगी थीं. भाभी को बहुत मजा आ रहा था. उनके पति ने कभी इस तरह से उसके जिस्म को प्यार नहीं किया था.

भाभी कहने लगी- आज तो तुम मार ही डालोगे मुझे.
राहुल बोला- नहीं, आपको मार दिया तो मैं प्यार किसको करूंगा.

भाभी ने राहुल को गले से लगा लिया और दोनों ही एक दूसरे के होंठों को जोर से चूसने लगे. उसके बाद राहुल ने उसको अपने से अलग किया और बेड पर लिटा दिया. अब वो चूचों से हट कर नीचे पेट को किस करता हुए नीचे पैंटी की तरफ जाने लगा.

उसने भाभी की पैंटी को चूमा. भाभी की चूत से गीला पदार्थ निकलने लगा था जिसकी गंध राहुल की नाक में पहुंच रही थी. उसने कई मिनट तक भाभी की चूत के ऊपर पैंटी के ऊपर से किस किया.

फिर उसने धीरे से भाभी की चूत से पैंटी को हटा दिया. भाभी की चूत नंगी हो गई और राहुल की आंखों में एक चमक सी आ गयी. भाभी का हाल बुरा हो चला था. वो राहुल की तरफ प्यास भरी नजरों से देख रही थी.

राहुल ने भाभी की आंखों में देखा और फिर चूत पर अपने होंठ रख दिये. भाभी आंखें बंद हो गईं और राहुल भाभी की चूत को चूसने लगा. उसकी चूत में जीभ डाल कर भाभी की चूत को मजा देने लगा. उसने कई मिनट तक भाभी की चूत को चाटा. वो चूत को ऐसे चाट रहा था जैसे खा ही जायेगा.

कुछ देर तक भाभी की चूत को चाटने के बाद उसने भाभी के पैरों को फैला दिया. अब चूत में अंदर तक जीभ डालने लगा तो भाभी तड़प उठी. भाभी बेड की चादर को पकड़ कर खींचने लगी.
भाभी की चूत ऊपर की तरफ उठ कर राहुल के मुंह में जा रही थी. भाभी को बहुत मजा आ रहा था और राहुल था कि भाभी की चूत को चूसने में लगा हुआ था.

उसके बाद वो उठा और अपने कपड़े उतारने लगा. उसने अपनी शर्ट उतारी और फिर अपनी पैंट को उतार कर अंडरवियर भी उतार दिया. दोनों ही अब नंगे हो गये थे.

वो दोबारा से भाभी की चूत की तरफ आया और चूत में जीभ को डाल कर अंदर तक भाभी की चूत को चोदने लगा. भाभी बुरी तरह से तड़प उठी और जोर से सिसकारियां लेते हुए उसके बालों को नोंचने लगी.

भाभी की ये हालत देख कर राहुल को मजा आ रहा था. लेकिन भाभी की हालत बहुत ही खराब हो चुकी थी. भाभी कहने लगी कि मुझे क्यों तड़पा रहे हो, मेरा पानी निकल जायेगा.
राहुल बोला- आपकी चूत का पानी पीना है मुझे.

वो तेजी के साथ भाभी की चूत में जीभ चलाता ही रहा और भाभी की चूत से पानी निकलने लगा. राहुल ने सारा पानी पी लिया और चाट कर चूत को साफ कर दिया. उसके बाद कई मिनट तक भाभी ऐसे ही पड़ी रही.

भाभी की चूत को चाट कर राहुल ने उसको खुश कर दिया था. अब दोबारा से उसने भाभी की चूत में उंगली करनी शुरू कर दी. कुछ देर उंगली करने के बाद राहुल ने अपना तना हुआ लंड भाभी की चूत पर लगा दिया. उसने भाभी की चूत में लंड को पेल दिया और भाभी की चूत को चोदने लगा.

राहुल के धक्कों से चुदते हुए भाभी को भी मजा आने लगा. राहुल ने उसकी टांगों को अपने हाथों में उठा रखा था और जब भी वो धक्का लगाता था तो हर धक्के के साथ भाभी के पैरों में बंधी हुई पाजेब बजने लगती थी. छन-छन की आवाज के साथ भाभी की चूत की चुदाई हो रही थी.

दोनों के मुंह से ही सिसकारियां निकल रही थीं.

उसके बाद उसने भाभी को घोड़ी बनने के लिए कहा. उन्होंने बताया कि उन्हें भी इस पोजीशन में चुदना काफी अच्छा लगता है. फिर वह बस घोड़ी बन गई राहुल ने अपना लंड भाभी की चूत से सटा दिया और हल्के से धक्का लगाया.

वह भाभी की कमर पर किस करने लगा और साथ में हल्के-हल्के धक्के भी लगाने लगा. यह नजारा वाकई में कामुक था. फिर वह दोनों एक दूसरे में बहुत समय तक इसी तरह खोए रहे और चुदाई चलती रही. हर धक्के में भाभी राहुल का साथ दे रही थी.

कुछ देर तक भाभी को झुका कर उसकी चुदाई करने के बाद राहुल ने अबकी बार उसको दीवार के सहारे खड़ा कर लिया और वहां पीछे से उनको बांहों में भर कर उन्हें चोदने लगा।
भाभी भी आनंद के मारे जैसे मरी जा रही थी. उनके मुंह से कामुक आवाजें निकल रही थीं. वह बार-बार बस राहुल-राहुल कहती जा रही थी.

राहुल भी भाभी-भाभी कहता हुआ भाभी की चूत को मस्ती में चोद रहा था. कुछ देर तक उसने जम कर भाभी की चूत मारी और अबकी बार बस राहुल का वीर्य झड़ने ही वाला था और वह ऐसे खड़े-खड़े पोजीशन में ही भाभी की चूत में झड़ गया. फिर धीरे-धीरे वह भाभी से अलग हुआ तो राहुल का वीर्य भाभी की चूत से निकलकर उनकी जांघों पर बह निकला.

कुछ देर तक वो दोनों ही बेड पर आकर पड़े रहे. फिर पंद्रह-बीस मिनट बीत जाने के बाद दोनों ही फिर से मूड में आ गये. अबकी बार राहुल ने भाभी को अपना लंड चूसने को कहा तो भाभी ने राहुल का लंड का सुपाड़ा अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसने लगी. राहुल के मुंह से मजे की कामुक सिसकारियां निकलने लगीं.

राहुल को अपना लंड भाभी के मुंह में देकर इतना मजा आ रहा था कि उसने अपनी टांगों को भाभी की गर्दन पर लपेट दिया था. भाभी की गर्दन अब राहुल की टांगों के बीच में दबी थी लेकिन वह राहुल के लंड को पूरा मुंह में लेकर चूसती जा रही थी.

बहुत देर तक भाभी ने राहुल के लंड को चूसा। फिर राहुल और भाभी 69 की पोजीशन में आ गए. वह दोनों ऐसे ही एक दूसरे को चूसते रहे. भाभी के मुख से लार निकल राहुल के लंड पर जा रही थी. उनके चूड़़ी वाले हाथ राहुल के लंड पर चल रहे थे.

पीछे से राहुल भी उनकी गुलाबी चूत में जीभ घुसाने में लगा था. भाभी भी आनंद के साथ चूत चुसवाने का मजा ले रही थी. भाभी ने मुझे बताया कि उनको इतना मजा आ रहा था कि वह तो फिर से राहुल के मुंह में ही झड़ गई लेकिन राहुल झड़ने का नाम नहीं ले रहा था. उसने भाभी को फिर से बेड पर धक्का दे दिया.

भाभी को अपने आगोश में ले लिया और उनके जिस्म से लिपटने लगा. अब राहुल ने फिर से उनकी चूत में अपना लंड घुसा दिया. भाभी की इस बार चीख निकल गई क्योंकि अबकी बार तो बहुत तेज तेज धक्के लगा रहा था वह. उसके धक्के इतने तेज थे कि चूत दर्द करने लगी थी उनकी.

इधर राहुल यस बेबी … आह्ह … यस बेबी करता हुआ भाभी की चूत को रौंदने में लगा हुआ था. वह कुछ देर के बाद अब दोबारा झड़ने की कगार पर पहुंच गया था. फिर उसने दबा कर धक्के देना शुरू किया. भाभी की चूत में लंड पूरा का पूरा घुसा कर चोदने लगा. दो चार धक्कों के बाद वो फिर से भाभी की चूत में झड़ गया और ऐसे ही भाभी के नंगे जिस्म पर लेटा रहा.

उसके बाद वो दोनों उठे और अपने कपड़े पहनते हुए भाभी कहने लगी कि अब उनको घर जाना होगा. राहुल ने भी भाभी की बात मान ली. वो दोनों अब बाहर आ गये. यह सारी घटना भाभी ने खुद मुझे बतायी थी.

दोस्तो, मेरी शादी को 8 महीने हो चुके हैं लेकिन जब से भाभी ने मुझे इस घटना के बारे में बताया है तब से मेरा मन भी करने लगा है कि काश मुझे भी कोई इस तरह से प्यार करे. मैं भी शादीशुदा हूं लेकिन मेरी जिन्दगी में अब तक ऐसी कोई घटना नहीं हुई है. मैं कई बार इस घटना के बारे में सोच कर रोमांचित हो जाती हूं इसलिए मैंने अन्तर्वासना पर यह घटना आप लोगों के साथ शेयर की है.

अगर आपको मेरे द्वारा बताई गई इस घटना के बारे में कुछ और जानना है तो आप मुझे नीचे दी गई मेल आईडी पर अपना मैसेज छोड़ सकते हैं.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top