मेरे ससुर और मेरी मम्मी की चुदाई : हिंदी ऑडियो सेक्स स्टोरी

(Sasur Aur Meri Mummi Ki Chudai: Audio Sex Story)

मेरा नाम प्रिया है, मेरी उम्र 20 साल की है. मैं अपनी मम्मी की तरह सेक्सी हूँ मतलब मेरी माँ भी एक बहुत मस्त माल के जैसी हैं.

अब सेक्स स्टोरी पर आती हूँ.
मेरी मम्मी की उम्र 44 साल है.. उनका नाम माला है. वो दिखने में बहुत सेक्सी लगती हैं, उनका साइज 42-32-38 का है. उनकी चूचियां हैं तो 32 की, लेकिन बहुत ज्यादा उठी हुई हैं. जब वे सेक्सी सा ब्लाउज पहनती हैं तो उनकी आधी चूचियां बाहर निकलने को बेताब सी दिखती हैं. उनका शरीर एकदम दूध सा गोरा है. मेरे पिता जी नहीं हैं, इसलिए वह बहुत चुदासी रहती हैं.

मेरी शादी तय हो गई है. मेरे होने वाले ससुर एक दिन घर आए.

मैं इधर पहले अपने ससुर के बारे में बता दूँ. उनकी उम्र 45 साल की है, वे कसे हुए बदन के मालिक हैं और मेरी सास नहीं हैं.

जब मेरे ससुर मेरे घर आए तो उस वक्त मेरे घर पर मम्मी थीं. मैं अपने कमरे में थी. उस वक़्त मम्मी ने साड़ी ब्लाउज पहन रखा था. उनकी चूचियां आधी बाहर निकल रही थीं. ससुर जी को जब वह पानी देने के ले लिए झुकीं, तो उनका पल्लू हट गया और ससुर जी की नजर मम्मी की चूचियों पर चली गई. मम्मी ने अपना पल्लू ठीक किया और ससुर जी के बगल में बैठ गईं.

अब ससुर जी मम्मी को कामुक निगाहों से निहार रहे थे. उस वक़्त मम्मी की लाल साड़ी और बिंदिया, गहरी लिपस्टिक को देख कर ससुर जी का लंड ने पैंट में तम्बू बना दिया. शायद मम्मी ने भी इस बात पर गौर किया.

फिर ससुर जी ने मम्मी से कहा- मुझे आपसे जरूरी बात करनी है.
‘जी बताइए!’
ससुर जी ने कहा कि मैं एक शर्त पर ही शादी करूँगा अगर आप मेरी बात माने!
मम्मी ने कहा- जी बताईए?
तो ससुर बोले- मुझे भी शादी करनी है, तो आपको इस शादी से पहले कोई मेरे लिए भी दुल्हन ढूँढनी होगी.
मम्मी बोलीं- ये आप क्या कह रहे हैं?
ससुर जी ने कहा- यही शर्त है.

फिर वो चले गए. मम्मी परेशान थीं कि अब क्या किया जाए.

दो दिन बाद मम्मी मेरी होने वाली ससुराल गईं और मेरे ससुर से बोलीं- आपको किस तरह की दुल्हन चाहिए?
तो ससुर बोले- आपकी जैसी.
मम्मी शरमा गईं और बोलीं- मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?
अब ससुर बोले- आप तो अभी भी जवान दिखती हो.. क्या आप मुझसे शादी करोगी?
तो मम्मी बोलीं- ये कैसे हो सकता है?
ससुर बोले- क्यों नहीं हो सकता? मैं भी अकेला हूँ.. आप भी अकेली हो. मैं जानता हूँ कि आपकी चूत भी लंड चाहती है.

मम्मी इतने खुले शब्दों से एकदम से शरमा गईं और बोलीं- हमारी शादी के बाद क्या होगा?
तो ससुर बोले- सुहागरात होगी!
मम्मी हंसते हुए बोलीं- आप सुहागरात मना भी पाएंगे?
ससुर जी ने मम्मी से कहा- आज ट्रायल हो जाए?
मम्मी भी खुल कर बोलीं- ठीक है.. आज दिखा दीजिये कि आपके लंड में कितना दम है?

फिर ससुर जी मम्मी की चूचियों को मसलने लगे और बोले- समधन जी, अगर आपको गर्भवती न बना दिया तो कहना.
यह कहते हुए ससुर जी ने मम्मी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और तेजी से चूसने लगे.

मम्मी तो चुदासी थीं ही, वो भी गर्म हो गईं और ससुर जी के लंड को पकड़ कर बोलीं- आपका लंड बहुत बड़ा है.

मम्मी ने ससुर को दूर किया और बोलीं- आप अभी कुछ देर के बाद कमरे में आइएगा और सुहागरात मनाईएगा.
ससुर जी हँसते हुए बाहर चले गए.

मम्मी चुत चुदाई के लिए तैयार होने लगीं. उन्होंने लाल साड़ी पहनी, मेकअप किया और बिस्तर पर दुल्हन की तरह बैठ गईं. मम्मी ने नई दुल्हन की तरफ घूँघट डाल लिया.

फिर ससुर जी कमरे में आए और बोले- पहले मैं तुमसे शादी करूँगा फिर सुहागरात मनाऊंगा.
उन्होंने मम्मी की माँग में सिंदूर लगाया और मंगलसूत्र पहनाया. इसके बाद मम्मी के होंठों पर होंठ रख दिए और धीरे-धीरे होंठों का रस पीने लगे. मेरे ससुर ने मम्मी की लिपस्टिक को चूस लिया. मम्मी भी मचल रही थीं.. तो ससुर जी ने मम्मी का पल्लू हटा दिया और उनकी बड़ी-बड़ी चूचियां ब्लाउज के ऊपर से दबाने लगे.

अरे मेरे होने वाले ससुर और मेरी मम्मी की चूत के मिलन की पूरी कहानी मेरी सेक्सी आवाज में सुनिए ना…

अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तम ब्राउज़र क्रोम Chrome है. इसे आप यहाँ से download करें!

सेक्स से भरपूर गुजराती सेक्सी लड़की परी से हिंदी, गुजराती, इंग्लिश, उर्दू में सेक्स चैट करने के लिये दिल्ली सेक्स चैट गर्ल परी पर आयें और सेक्स की मजेदार बातें करके मजा लें!

मम्मी और भी मचलने लगीं. ससुर ने उनकी ब्रा को भी उतार दिया और उनकी बड़ी चूचियां एकदम से बाहर आ गईं. मम्मी ने ससुर जी का लंड पकड़ लिया और आगे-पीछे करने लगीं.

मम्मी के मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं. मेरे ससुर जी ने मम्मी को लिटा दिया और उनके ऊपर चढ़ कर उनके ब्लाउज के बटन खोलने लगे. साथ ही वे तेजी से होंठों को चूसने लगे. जल्द ही ससुर जी मेरी मम्मी का ब्लाउज उतार दिया और उनकी ब्रा के ऊपर से चूचियां तेजी से दबाने लगे.

मम्मी और भी मचलने लगीं. ससुर ने उनकी ब्रा को भी उतार दिया और उनकी बड़ी चूचियां एकदम से बाहर आ गईं. मम्मी ने ससुर जी का लंड पकड़ लिया और आगे-पीछे करने लगीं.
ससुर जी ने मम्मी के पेटीकोट का नाड़ा खींच दिया और उसे भी उतार दिया और उनकी पैंटी के अन्दर छिपी स्वीट चुत पर हाथ फेरते हुए बोले- माला, तुम आज भी खूबसूरत हो जान!

फिर ससुर जी ने मेरी मम्मी की पैंटी को भी उतार दिया और चुत में उंगली करने लगे.
मम्मी के मुंह से तेजी से कामोत्तेजक आवाजें निकलने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’

ससुर जी ने उनके कड़क निप्पल को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगे. मम्मी चुदने को मचल रही थीं. मम्मी की चूत गीली हो चुकी थी.

ससुर जी ने निप्पलों को चूसने के बाद मम्मी से पूछा- माला रानी तुम्हें कैसा लग रहा है?
मम्मी ने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है.. पहली बार मुझे कोई प्यार से चोद रहा है.
मम्मी ने ससुर जी का लंड को हाथ में पकड़ा और बोलीं- आपका तो बहुत मोटा है.. ये मेरी चूत को तो फाड़ ही देगा.

फिर ससुर जी ने मम्मी की चुत पर अपनी जीभ रख दी और वे जीभ को मम्मी की चुत में अन्दर-बाहर कर रहे थे.. जीभ से चुत को चाट रहे थे.

मम्मी दोनों हाथों से ससुर जी के सिर को अपनी चूत पर खींच रही थीं और बोल रही थीं- खा जाओ मेरी भोसड़ी को.. इसमें बहुत गर्मी है, अपने वीर्य से इसे सींच दो.

ससुर जी ने मम्मी से बोला- तुम बहुत मस्त हो, बिल्कुल रंडियों की तरह से चुदवाती हो.
मम्मी ने कहा- आह.. हाँ मैं तुम्हारी रंडी हूं.. तुम मुझे रोज चोदना.. अब बर्दाश्त नहीं होता.. अपना गरम लंड मेरी चूत में डालो ना राजा.

ससुर जी ने अपना लंड मम्मी की चूत पर टिकाया और एक धक्के में अन्दर कर दिया.

मम्मी ससुर जी के मोटे लंड की चोट बर्दाश्त नहीं कर पाईं और चिल्लाने लगीं- ओह.. बहुत दर्द हो रहा है.

ससुर जी उनके दोनों दूध पकड़ कर दबादब चोद रहे थे. मम्मी तेजी से शोर मचा रही थीं.

ये चुदाई उन दोनों के दसेक मिनट के खेल के बाद खत्म हो गई और अब मेरी माँ मेरी सास बन गई हैं और मेरे ससुर मेरे पापा बन गए हैं.

आपको मेरी इस सेक्स स्टोरी पर जो भी कमेन्ट करना हो कर सकते हो.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top