पड़ोसी लड़के के बिस्तर पर चूत चुदाई का मजा लिया

(Padosi Ladke Ke Bistar Par Choot Chudai Ka Maja Liya)

हाय फ्रेड्स, मेरा नाम निशा है और मैं पुणे की रहने वाली हूँ. ये कहानी मेरी अपनी है, मतलब मेरी आपबीती है. मेरी उम्र आज 28 साल की है… लेकिन ये कहानी 6 महीने पुरानी है. मैं शादीशुदा हूँ. मेरी शादी को दो साल हो चुके है. लेकिन हमारी कोई संतान नहीं है, क्योंकि मेरे पति अभी कोई इश्यू नहीं चाहते इसलिए उन्होंने बच्चा पैदा नहीं किया है. मेरे पति मर्चेंट नेवी में काम करते हैं और वो साल में 6 महीने शिप पर रहते हैं… और 6 महीने घर पर रहते हैं.

ये मेरी आपबीती तब घटी, जब मेरे पति 6 महीने के लिए शिप पर गए हुए थे. माफ़ करना मैं अपने बारे में बताना भूल ही गई. मैं एक फेयर कलर की लेडी हूँ और मेरी साइज़ 34-29-35 की है. मुझे साड़ी पहनना पसंद है.

मैं उन दिनों घर में अकेली होती हूँ, जब मेरे पति कुछ दिनों के लिए शिप के साथ निकल जाते हैं. मेरे सास और ससुर नागपुर में रहते हैं. उनको यहाँ आने के लिए कुछ दिन लग जाते हैं. मैं प्राइमरी स्कूल टीचर हूँ. मेरे स्कूल की टाइमिंग 7 बजे सुबह से 12.30 बजे नून तक की होती है.

एक दिन मैं दोपहर एक बजे के आसपास घर पर आई और मैं डोर लॉक करके चेंज करने के लिए अपने बेडरूम में आ गई. मेरे घर में कुल 4 कमरे हैं. मैंने कमरे में आकर साड़ी बदलना शुरू किया ही था कि तभी मुझे मेरे पीछे कुछ हरकत सी होती लगी. मुझे ऐसा लगा कि कोई है. मैंने झट से मुड़ कर देखा, लेकिन वहां कोई नहीं था. मेरा भ्रम होगा, ये सोच के मैंने वो बात भुला दी और चेंज करके मैं हॉल में आ गई.

मैं हॉल में बैठ कर पेपर पढ़ रही थी तभी डोर बेल बजी. मैंने दरवाजा खोला तो काम वाली बाई आई थी, इसलिए मैंने उसे अन्दर ले लिया और डोर खुला छोड़कर किचन में आ गई.

करीब एक घंटे बाद जब मैं खाना ख़ाकर हॉल में बैठी पेपर पढ़ रही थी तो मुझे व्हाट्ससैप पर एक मैसेज आया. मैंने देखा तो वो एक वीडियो फाइल थी. मैंने वीडियो डाउनलोड किया और देखा तो वो मेरी ही वीडियो थी, जिसमें मैं साड़ी बदलते हुई साफ दिख रही थी.

मैं ये वीडियो देख कर बहुत डर गई और रोने लगी. फिर 5 मिनट बाद व्हाट्ससैप पर उसी नम्बर एक और मैसेज आया, जिसने मुझे वीडियो भेजा था.

वो मैसेज ऐसा था- अगर ये वीडियो अच्छी लगी हो तो मुझे थंब भेजो… और अगर गुस्सा आ रहा हो और मुझे मारना चाहती हो तो… स्माइली बनी थी.

मैं बहुत डरी हुई थी… लेकिन फिर भी मैं अपने आप पर काबू पाते हुए ये सोचने लगी कि ये कौन हो सकता है? मैंने बहुत सोचा लेकिन मुझे कोई ऐसा नज़र नहीं आ रहा था जो ऐसी हरकत कर सकता है. तब मैंने उस मैसेज को थंब का रिप्लाई दिया क्योंकि मैं देखना चाहती थी कि इसके पीछे कौन है.

फिर उसका मैसेज आया कि वो मुझसे मिलना चाहता है और मुझे उसने आज रात 8 बजे अपने घर बुलाया था.

मैंने फिर से थंब भेज कर उसे हां कर दी. फिर मैं सोचने लगी कि इसने ये वीडियो कब बनाई होगी, मेरे घर तो कोई आया नहीं… और जब में स्कूल जाती हूँ तो मेरा घर लॉक रहता है.

खैर रात को 8 बजे के करीब मैं तैयार हो गई. मैंने स्काइ ब्लू कलर की साड़ी और लाल काले रंग का ब्लाउज पहना था. इस वक्त भी मैंने अपने बाल खुले ही छोड़े थे, जैसे मैं हर रोज़ करती थी.

मैं उसके मैसेज का इन्तजार कर रही थी कि तभी उसका मैसेज आया. उसमें लिखा था कि मेरे ऊपर के फ्लोर पर जो फ्लैट है, वहाँ आना है. मैं दंग रह गई कि ये लड़का मनीष कब मेरे घर पर आया और उसने मेरी वीडियो भी बना ली. वो अकेला रहता था लेकिन मुझे कभी ये महसूस नहीं हुआ कि वो ऐसा कुछ करेगा. वो तो मेरी तरफ आते जाते देखता भी नहीं था, ना किसी और लड़की को लेकर उसकी कोई बात कभी सुनी थी.

फिर मैं संभल गई और अपना घर लॉक करके मैं उसके घर चली गई. मैंने डोरबेल बजाई तो उसने झट से डोर खोला, लेकिन वो सामने नहीं था. मैं अन्दर गई तो उसने पीछे से डोर बंद कर दिया. इसके तुरंत बाद उसने मुझे पीछे से हग किया और अपने हाथ मेरे ब्लाउज पर रख कर मेरी छाती को हल्के से दबा दिया और चूचे सहलाए.

मैंने उसके हाथ को झटक दिया और उससे दूर हो गई. मैंने अपनी साड़ी संभाली और उससे पूछा कि ये क्या बदतमीज़ी कर रहे हो… तुम्हें ऐसा करते हुए शरम नहीं आती?

मेरी इस बात पर वो हंसने लगा और सोफे पे बैठ गया. फिर मैंने शांत होते हुए उससे फिर से पूछा कि ये वीडियो तुमने कब बनाया और क्यों बनाया?
उसने कहा कि वो मुझे पिछले 1 साल से फॉलो कर रहा है और उसने मेरी तस्वीरें भी मुझे दिखाईं, जो उसने चुपके से खींची थीं.

मैं अपनी इन तस्वीरों को देखकर दंग रह गई कि इतनी सारी फोटो उसने कब खींची. लेकिन बहुत प्यारी फोटोज थीं वो. मेरी साड़ी में, ड्रेस में, घाघरा चोली में… कई तरह की मुद्राओं में फोटो निकाली गई थीं. उसका हाथ फोटो निकालने में बहुत साफ़ था, एक भी फोटो वल्गर नहीं थी, लेकिन फिर भी मेरी ऐसी वीडियो उसने क्यों बनाई?

मुझे अब उस पर प्यार सा आने लगा था. मेरे ऐसा पूछने के बाद वो मेरे पास आया और मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपने बेडरूम में ले गया, वहाँ उसने मेरी बड़ी बड़ी फोटोज फ्रेम करके दीवार पर लगाई थीं. उन फोटोज को देख कर मैं हतप्रभ थी… वो तो जैसे मेरा दीवाना था. हर जगह बस मेरी ही फोटो लगी थी.

अब मेरा भी गुस्सा कुछ कम हो गया था और मेरी फोटोज देख कर मुझे भी अच्छा लगने लगा था.

फिर भी मैंने उसे वीडियो के बारे में पूछा तो उसने कहा कि वो मुझे पाना चाहता है. जबकि उसकी उम्मीद थी कि मैं शादीशुदा होने की वजह से उसकी नहीं हो सकती थी. तो उसने चुपके से मेरे घर के लॉक की ड्यूप्लिकेट की बनवा ली और वो मेरे स्कूल से आने से पहले घर में जाकर छुप गया था.

जब मैं अपने कमरे में चेंज कर रही थी तब उसने वो वीडियो बना ली थी. लेकिन मेरे घर में उस वक्त मेरी कामवाली बाई आती है, ये उसे पता था, इसलिए वो जब वो बाई आई, तब वो चुपके से निकल गया.

अब वो अपने बेडरूम का दरवाजा बंद करने लगा तो मैंने उसे रोका और कहा- ये क्या कर रहे हो?
उसने एक स्माइल दी और बोला कि पति पत्नी जब बेडरूम में होते हैं, तो दरवाजा बंद करना चाहिए.

मैंने उसे अपने से दूर धकेला और दौड़ कर हॉल में आ गई और मैं दरवाजा खोल कर बाहर जाने लगी, तभी उसने मेरा हाथ पकड़ा और कहा कि चली जाओ मुझे छोड़कर मैं भी तुम्हारे इस वीडियो को यूट्यूब पर अपलोड कर दूँगा. साथ ही मेरे पति को भी व्हाटसैप पर भेज दूँगा.
उसकी इस बात को सुनकर मैं अचानक से रुक गई और उससे पूछा कि उसके पास मेरे पति का नंबर कैसे आया?
तो उसने कहा कि वो और मेरे पति अच्छे दोस्त हैं.
मैंने उसको कहा- तुम क्या चाहते हो?

तो उसने मुझे फिर से बेडरूम में आने को कहा और वो अन्दर चला गया. मैंने बहुत सोचा कि अब मैं क्या करूँ? उसका इरादा क्या है, ये मैं समझ चुकी थी.

फिर आखिरकार मैं अन्दर बेड रूम में चली गई. मेरे अन्दर आते ही उसने बेड रूम का डोर बंद किया और मुझसे बोला कि मैं उसे होंठ से होंठ मिला कर चुम्बन करूँ.

मैंने मना कर दिया तो वो बोला कि ठीक है… कोई बात नहीं, तुम आराम से बेड पर बैठो.

यह कह कर वो बाहर चला गया. अब तक मेरे मन में भी वो वासना की चिंगारियाँ उठने लगी थीं. मेरा जिस्म भी अब बेकाबू होने लगा था. मैंने सोचा कि मेरे पति तो 6 महीने नहीं आने वाले और मैं घर पर अकेली क्या करूँ?

तभी मनीष अन्दर आया और दरवाजा बंद करके मेरे पास आके बैठ गया.

मैंने ही उससे कहा कि मैं जानती हूँ कि तुम मुझसे क्या चाहते हो.
वो स्माइल देते हुए बोला- जानेमन, तुम तो बहुत होशियार भी हो.

ऐसा कह के उसने मेरे मोबाइल से साड़ी चेंजिंग का वीडियो डेलीट कर दिया. तब मैंने उससे कहा कि जब पति पत्नी पहली बार बिस्तर पर मिलते हैं तो वो जो करते हैं, वैसा तुम करो.
वो बोला- ओके मैं तैयार हूँ.

फिर मैं अपना घूँघट ओढ़ कर बेड पर बैठ गई. फिर वो मेरे पास आया और मेरा घूँघट उठा कर उसने मुझे मेरे होंठों पर एक जोरदार चुम्मी की और इसी तरह वो मुझे चूमते चूमते वो मेरे मम्मों को सहलाने लगा और हल्के से दबाने लगा. अब मुझे भी अच्छा लगने लगा. उसने मेरी छाती को जब पहली बार छुआ, तो मेरे शरीर में एक बिजली सी दौड़ गई थी.

अब मैं भी वासना के वशीभूत होकर उसका साथ देने लगी और मैंने उसे अपनी बांहों में ले लिया. उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और वो मेरे बाजू में लेट कर मेरे गाल पर गाल रगड़ते हुए मेरे होंठों को चूमने लगा. इसी दौरान उसका हाथ मेरे पेट पर फिरने लगा.

ऐसा 5 मिनट चलने के बाद वो मेरे ऊपर आ गया और मेरा ब्लाउज खोलने लगा, तो मैं शर्मा गई. मेरी मुस्कान देख कर वो बहुत खुश हो गया और जल्दी जल्दी उसने मेरा ब्लाउज खोल दिया, ब्रा भी निकाल दी. वो मेरी नंगी छाती को देख कर वो मदहोश सा होकर देखता रह गया.
एकदम पर्फेक्ट शेप में मेरे मम्मों को देखकर वो मदमस्त हो गया, मेरे मम्मे एकदम टाईट और तने हुए थे.

ये नज़ारा देखने बाद वो पागल हो गया और भूखे भेड़िए की तरह वो मेरी चूचियों पर टूट पड़ा. मेरे मम्मों को वो ज़ोर से दबाने लगा, मेरे निपल्स को मसलने लगा. फिर एक निप्पल को वो मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और काटने लगा.

मैं मीठे दर्द से चिल्ला उठी, लेकिन मेरी चीख उसे बिल्कुल सुनाई नहीं दी. वो तो और ज़ोर से चूचियों को मसलने लगा.
मैंने उसे किसी तरह रोका और उससे कहा- पति पत्नी की तरह प्यार करो.
मेरी बात सुनकर वो एकदम शांत हो गया और मेरे निप्पल को धीरे धीरे चूसने लगा.

करीब दस मिनट बाद उसने मेरी पूरी साड़ी उतार दी और खुद के भी सारे कपड़े उतार दिए सिवाये अपने अंडरवियर के. मैं भी सिर्फ़ पेंटी में थी.

फिर वो बाजू हो गया और अपना अंडरवियर उतार कर उसने अपना लंड बाहर निकाला.

अब वो वापस वो मेरे सीने से चिपक गया. इस वक्त उसने अपना लंड मेरे मुँह के पास रख दिया था. उसने अपने खड़े लंड पर कंडोम चढ़ाया और फिर मुझे लंड चूसने को कहा.

लेकिन मैंने मना कर दिया. मैंने उससे कहा- मैं ये नहीं करूँगी लेकिन इसके बदले में यदि तुम कुछ और करने को कहोगे तो वो मैं कर दूँगी.
उसने झट से कहा- तो ठीक है आप वादा करो कि जब भी मेरा दिल होगा, मैं आपके साथ लेट सकता हूँ.
मैंने हंस कर हां कर दी और उससे कहा कि जब मेरे पति यहाँ रहेंगे, तब भी वो मेरे साथ बिस्तर शेयर कर सकता है. मैं उस वक्त भी मैनेज कर लूँगी.

अब उसने मेरी पेंटी उतार दी और मेरे ऊपर लेट कर उसने अपना खड़ा लंड मेरी चुत के छेद में ज़ोर से घुसा दिया. चूंकि मैं इस वक्त गरम हुई पड़ी थी और मेरी चुत भी अपनी छोड़ने के कारण चिकनी हुई पड़ी थी. इसलिए उसका लिंग भी जल्दी अन्दर चला गया.

अब तक मैं लंड घुसने से पहले ही उसके निप्पल चूसने की वजह से दो बार पानी छोड़ चुकी थी.

जब उसने लंड पेला तो मुझे दर्द तो हुआ लेकिन बहुत अच्छा भी लगा क्योंकि मेरे पति कभी ऐसा नहीं करते थे. फिर उसने धक्के देना शुरू कर दिया. उसका लंड ज़ोर ज़ोर से मेरी प्यासी चुत में अन्दर बाहर होने लगा. काफी देर तक वो मुझे चोदता रहा, मैं थक गई थी. लेकिन वो उसी स्पीड से चोद रहा था.

उसके धक्के से मेरी सारी बॉडी हिल रही थी और मेरी चूचियां तो उछल उछल कर उसे और तेज़ चोदने के लिए कह रही थीं.
कुछ देर के बाद वो थोड़ा तेज स्वर में चीखते हुए चुदाई करने लगा, मैं जान गई कि उसका पानी निकलने को हो गया. तभी वो झड़ गया और मेरे ऊपर लेट कर मुझे अपने बांहों पकड़ कर शांत हो गया.

मुझे अपने बांहों में पकड़ कर अभी भी वो मुझे किस कर रहा था. मुझे लगा कि ये इतना थकने बाद वो सो जाएगा, लेकिन वो तो मेरे ऊपर इतना फिदा था कि एक मिनट के लिए भी मुझे अपने दूर नहीं करना चाहता था.
मैं भी वैसे ही उसकी बांहों में पड़ी रही और मैं भी उसके गाल पर और उसके बदन पर किस करने लगी.

उस रात उसने मुझे 4 बार चोदा… या यूं कहो कि हम दोनों ने 4 बार सेक्स किया और पति पत्नी की तरह चुदाई का मजा उठाया.

उस रात के बाद हम आल्टरनेट दिन कभी उसके घर में, तो कभी मेरे घर में मिलने लगे. फिर एक महीने बाद मैं उसके घर अपना डेली रुटीन का सामान और कपड़े लेकर चली गई और उसके ही घर में उसकी वाइफ की तरह लिव-इन रिलेशनशिप जैसे रहने लगी.

आपके मन में ये सवाल आया होगा न कि मेरे पति आने के बाद क्या हुआ?

तो मैंने मेरे पति आने के बाद कभी मुझे स्कूल ट्रिप के बाहर जाना है, तो कभी मुझे मायके जाना है, तो कभी हम सहेलियां 2-3 दिन के लिए बाहर घूमने जा रहे हैं… कह कर और ऐसे ही बहुत से बहाने बना कर मनीष से मिलती रही और उसके साथ सेक्स करती रही.

आज मैं मेरी लाइफ बहुत एंजाय कर रही हूँ. मैं मेरे पति के साथ भी सेक्स का मज़ा लेती हूँ. मेरे पति को आज तक ये पता नहीं चला कि मैं किसी और के साथ भी बेड शेयर करती हूँ.

उधर मनीष भी बहुत खुश है कि मैं आज भी उसकी वाइफ के जैसे उसकी हर माँग पूरी करती हूँ.

मेरी सेक्स कहानी पर आपके विचारों से परिपूर्ण ईमेल का स्वागत है.
[email protected]