गांव की लड़की के साथ हसीन रातें

(Gaon Ki Ladki Ke Sath haseen Raaten)

दोस्तो, मैंने मेरे आफिस में काम करने वाली एक गांव की लड़की की चुदाई की।
मेरा नाम कुणाल है और मैं जयपुर का रहने वाला हूँ. मेरी उम्र 24 साल हैं, मैं एक मल्टी नेशनल कम्पनी में जॉब करता हूँ. मैं दिखने में अच्छा लगता हूँ और मैंने जिम जा कर थोड़ी अच्छी बॉडी भी बना ली है।

बात आज से तीन महीने पहले की है जब हमारे आफिस में एक नई लड़की ने जॉइन किया था, उसका नाम कोमल था, उसकी उम्र 21 साल थी दिखने में एकदम सीधी सादी, गोरा रंग, कसा हुआ शरीर, लंबे बाल।
वो जयपुर के पास ही किसी गांव से यहाँ जॉब करने आयी थी, उसका पहला दिन था आफिस में तो वो किसी से कोई ख़ास बात नहीं कर रही थी.

लंच टाइम हो गया था तो मेरे साथियों ने मुझे बोला उससे बात करने को, तो मैंने उसके पास जाकर उसको लंच के लिए पूछा.
एक बार तो उसने मुझे मना कर दिया किन्तु मेरे कुछ जोर देने पर वो मान गयी, फिर हमने साथ में लंच किया तो बातों बातों में पता चला कि वो यहाँ अकेली रहती थी और उसे जयपुर आये काफी समय हो गया था, और पहले वो कहीं और जॉब करती थी।

वो लंच नहीं लायी थी तो मैंने उससे अपना लंच शेयर किया इसलिए मेरा पेट नहीं भरा.
जब कुछ समय बाद मुझे फिर से भूख लगने लगी तो मैं कुछ खाने के लिए बाहर जाने लगा, मैं अपने केबिन से बाहर निकला तो उसने मुझसे बोला कि उसे भूख लग रही है.
तो मैं उसे भी अपने साथ ले गया और हम पास ही के एक रेस्टोरेंट में जाकर कुछ खाने लगे।

उस समय मेरे पूछने पर उसने मुझे अपनी लाइफ के बारे में बताया और ये भी बताया कि उसका कुछ दिन पहले ही उसके बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हुआ है. यह सुनते ही मैं समझ गया कि अब इसे एक कंधे की जरूरत है… तो क्यों ना वो कंधा मेरा ही हो।
और फिर वहाँ हमने अपने फोन नंबर एक दूसरे को दिये।

थोड़ा बहुत खा पीकर फिर हम वापस आफिस में आ गए और अपने अपने काम में लग गए।

फिर हम एक दूसरे से चैट करने लगे, धीरे धीरे फिर हम कॉल पर बात करने लगे, कुछ दिन ऐसे ही बीत गए।

एक रात करीब 11 बजे मुझे उसका कॉल आया, मैंने बात की तो वो रो रही थी. मेरे पूछने पर वो कहने लगी- मुझे तुमसे अभी मिलना है. कैसे भी बस… अभी मिलना है।
मेरा और उसका घर कोई 4-5 किलो मीटर के फासले में होगा, मैं उसके पास गया रात का वक़्त था तो मैंने कार ले जाना ही सही समझा.

मैं उसके घर पहुँचा तो वो बाहर ही खड़ी थी और मैं उससे बात करने के लिए कार से बाहर आया तो वो ‘मुझे यहाँ से चलो!’ कह कर मेरी कार में बैठ गयी।

मैंने कार स्टार्ट की और वहाँ से चल दिए, रास्ते में उसने मुझे बताया कि उसको उसके बॉयफ्रेंड की याद आ रही थी तो इसलिए मुझे बुला लिया थोड़ा टाइम पास करने के लिए।

फिर ऐसे ही कुछ दूर कार चलाते चलाते हम हाईवे पर आ गए और थोड़ी दूर मुझे एक रेस्टोरेंट दिखाई दिया तो मैंने उससे पूछा कि उसे कुछ खाना हैं क्या?
तो उसने बोला- नहीं, खाना कुछ नहीं लेकिन पीना है!
पहले तो मैं उसकी यह बात सुन कर चौंक गया, फिर मैंने उससे पूछा कि पहले कभी पी है?
तो उसने ना में सर हिलाया.

तो मैंने उसे पीने से मना किया, लेकिन वो मुझे पिलाने के लिए जोर देने लगी. कुछ दूर आगे जाकर हमें एक बार दिखाई दिया, वहाँ जाकर हमने बियर पी, कुछ देर बाद उसे चढ़ने लगी।
फिर जब वो अपना होश खोने लगी तो मैं उसे वहाँ से लेकर जाने लगा पर उसे इतनी चढ़ गई थी कि वो सही से चल भी नहीं पा रही थी. मैंने उसे सहारा दिया और हम दोनों वहाँ से चल दिये.
उस समय करीब रात के 12 बज चुके थे, रास्ते में मैंने उससे कहा कि उसे उसके रूम पर छोड़ देता हूं तो उसने मना कर दिया और बोलने लगी कि इतनी रात को घर का गेट कोई नहीं खोलेगा तो अब वो सुबह ही जा सकती हैं।
अब मेरे पास भी कोई जगह नहीं थी उसे ले जाने के लिए तो मैंने उसे रात किसी होटल में गुजरने के लिए बोला और वो फट से मान गयी.

फिर कुछ दूर आगे जा कर मुझे एक होटल दिखाई दिया और मैंने गाड़ी रोक कर उस होटल में रूम के लिए बात की और हमें रूम मिल गया।
मैं उसे रूम में ले गया और उसे सुला कर वापस नीचे लॉबी में आ गया, कुछ देर बाद मैं रूम में गया तो वो जग रही थी, मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?
तो उसने मुझे और बियर पीने के लिए बोला.

मैंने वहीं होटल से दो बियर ली और फिर मैं रूम में आ गया।
जब मैं रूम में गया तो मैंने देखा कि उसने अपना टॉप उतार रखा था और वो सिर्फ ब्रा में बैठी टीवी देख रही थी, मैंने उससे पूछा तो कहने लगी गर्मी लग रही थी तो उतार दी, जबकि AC ऑन था।

फिर हमने वो बियर भी पी और कुछ देर बाद वो फिर से होश खोने लगी और उल्टी सीधी हरकते करने लगी, मैं समझ गया इसे चढ़ गई हैं, मैंने उसका नशा कम करने के लिए उसे उठा कर बाथरूम में ले गया और उसे शावर के नीचे खड़ा कर दिया और जैसे ही मैं शावर खोल कर बाहर जाने लगा तो उसने मुझे पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया और मुझे कस के जकड़ लिया और हम दोनों ही शावर में भीग गए।
उसके बाद उसने अपने कपड़े उतारे और मैंने अपने और काफी देर तक हम शावर में भीगते रहे, फिर जब मैं उसे बाथरूम से बाहर लाया तो हम दोनों ही पूरे न्यूड थे और जैसे ही हम बाथरूम से बाहर आये तो एक तो हम भीगे हुए ऊपर से AC ऑन होने के कारण हमे बहुत तेज ठंड लगी और वो मुझसे चिपकने लगी.

फिर मैंने उसे बेड पर लिटाया और उसे कम्बल औढ़ा दिया और मैं भी उसके पास लेट कर टीवी देखने लगा।

कुछ देर बाद मुझे लगा कि वो ठंड से कांप रही है तो मैंने AC बंद कर दिया. फिर भी उसे शायद ठंड लग रही थी और वो मुझसे चिपके जा रही थी, मुझे समझ नहीं आया कि क्या करूँ तो मैंने उसे बॉडी हीट देने के लिए अपने से चिपका लिया, फिर कुछ देर बाद मुझे लगा कि वो मेरे सीने पर किस कर रही है और धीरे धीरे वो मेरे होंठों की तरफ आने लगी और फिर उसने मुझे लिप किस किया, मैं भी अपना कंट्रोल खो रहा था और मेरा लंड भी अब खड़ा होने लगा था और उसकी जांघों पर छूने लगा था।

फिर उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसे हिलाने लगी, हम अभी तक एक दूसरे को जगह जगह पर किस कर रहे थे फिर मैंने उसे सीधा लिटा दिया और उसके कयामती शरीर को चूमने और चाटने लगा, वो हल्की हल्की सिसकारियां ले रही थी और मैं कभी उसे किस करता कभी उसके बोबे चूसता कभी उनको जोर से दबाता.

फिर धीरे धीरे मैं उसकी चूत तक पहुँचा मैंने देखा कि उसकी चूत पर बाल नहीं थे, शायद उसने आज ही साफ किये थे, उसकी चूत देख कर मैं पागल हो गया एकदम क्लीन और गुलाबी रंग की चूत थी उसकी, और दोस्तो मुझे क्लीन शेव चूत बहुत पसंद है।

मैंने धीरे से उसकी चुत पर अपनी जीभ फिरना शुरू किया वो तो जैसे पागल ही हो गयी और जोर जोर से मेरा नाम ले कर सिसकारने लगी- ओह कुणाल ओह कुणाल!
उसके मुंह से ये सब सुन कर मुझे भी काफी मजा आ रहा था और मैं अपनी पूरी जीभ उसकी रसीली चुत की गहराइयों में ले जा रहा था।

धीरे धीरे उसका शरीर अकड़ने लगा और वो मेरे मुंह को अपनी चुत पर दबाती हुई चिल्लाती हुई झड़ गयी। उसके चेहरे पर एक सुकून वाली खुशी थी जैसे कि उसे वो चीज मिल गयी हो जिसके लिए वो काफी समय से तड़प रही हो।

फिर हमने बहुत देर तक एक दूसरे को किस किया, मैं उसके ऊपर था और वो अपने पैरों को फैलाये हुए थी और मेरा लंड उसकी चुत को छू रहा था, फिर कुछ देर बाद उसने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत पे रख कर कहने लगी- कुणाल, अब प्लीज इसे अंदर डाल दो!
उसकी चुत एकदम गीली थी और मैंने भी देर न करते हुए एक जोरदार धक्के के साथ मेरा लंड उसकी चुत में डाल दिया लेकिन एक धक्के में लंड पूरा अंदर नहीं गया और उसे दर्द भी हुआ तो वो जोर से चिल्लाई और उसने मुझे रुकने को बोला.

फिर कुछ देर मैं उसे फिर से किस करने लगा, उसके बोबे दबाने लगा, थोड़ी देर बाद उसने अपने कूल्हों को हिलाया और मुझे अपनी तरफ दबाने लगी, मैं समझ गया कि अब इसका दर्द कम हो गया है और अब इसे चुदना है।

मैंने फिर धीरे धीरे धक्के देना शुरू कर दिया और अपना 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड पूरा उसकी चुत में डाल दिया, कुछ ही देर में उसे मजा आने लगा और वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी और मुझे और जोर से करने के लिए बोलने लगी.

मैं अभी ठीक से गर्म भी नहीं हुआ था कि वो फिर से अकड़ने लगी और कुछ देर बाद वो जोर जोर से आहें भरते हुए एक बार फिर झड़ गयी. लेकिन मैं अभी रुकने वाला नहीं था. फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से उसकी चुत में अपना लंड अंदर बाहर करने लगा.

अब वो मुझे जगह जगह काटने लगी, अपने नाखून मेरे शरीर पर चुभाने लगी जिस वजह से मुझे और भी मजा आने लगा।
दोस्तो, जब कोई लड़की मुझे लव बाइट्स देती हैं तो मुझे बहुत मजा आता हैं।

उसके बाद करीब काफी देर तक मैं उसे चोदता रहा और जब मेरा निकलने वाला था तो मैंने उससे पूछा- कहाँ निकालूँ?
तो वो बोली- मेरी चुत के अंदर ही निकाल दो, मैं दवाई ले लूंगी.

फिर हम दोनों साथ ही झड़ गए। हम ऐसे ही एक दूसरे से चिपके हुए कुछ देर तक लेटे रहे, फिर मैं उठा और सिगरेट पीने बालकॉनी में चला गया. वो शायद थक गयी थी इसलिए वही लेटी रही. कुछ देर बाद मैं रूम में आया और उसे अपनी बाहों में लेकर लेट गया और हम दोनों एक दूसरे के अंगों से खेलते रहे, फिर हमारा वापस मूड़ बन गया और इस तरह मैंने उस रात उसकी 4 बार दमदार चुदाई की. हमें सुबह के 6 बज गए थे और फिर 10 बजे हमे चेकआउट करना था तो हमने थोड़ी देर सोना ही ठीक समझा और 10 बजे चेकआउट करके हम वहाँ से निकल गए.

फिर जब हम आफिस में मिले तो वो बिल्कुल नार्मल थी और जैसे वो रोज मुझसे बाते करती थी वैसे ही बात कर रही थी।

उस दिन के बाद हम 4 बार और उसी होटल में गए और उसी रात की तरह हमने बियर पी और पूरी रात चुदाई के मजे लिए।
लेकिन अब वो वापस अपने गांव जा चुकी हैं शायद उसकी शादी होने वाली है, मुझे नहीं लगता कि अब हम दोबारा मिल पाएंगे।

दोस्तो, ये मेरी पहली कहानी थी. अगर मुझसे कोई गलती हुई हो तो प्लीज माफ करना और अपनी राय मुझे आप मेल भी कर सकते हैं.
[email protected]