वाट दा फ़क

लेखिका : श्रेया आहूजा

आजकल सोशल साईट का जमाना है … मेरी प्रोफाइल पिक्चर देख कर सब लोग मेरे फ्रेंड बनना चाहते थे।

मैं नाम से सेक्सी श्रेया आहूजा और फिगर तो पंजाबन वाली लम्बे बाल गोरा चिट्टा रंग …पीले रंग की टॉप में गोल गोल मम्मे और वक्ष-रेखा पर तिल ! नीचे शॉर्ट-स्कर्ट.. गोरी-मोटी चिकनी जांघें एक के ऊपर एक रखी हुई.. जरा ध्यान से फ़ोटो बड़ी करो तो पैंटी का रंग भी दिख जाये … यह थी मेरी फ़ोटो

दिल्ली की बात है कॉलेज की पढ़ाई पूरी हो रही थी और जवानी करवट बदल रही थी .. दोस्तों के साथ बात करते वक़्त पैंटी गीली हो जाया करती ….

जोजो मुझे साईट पर मिला था

उस रात मैंने जोजो को बोल ही दिया- तुम फोने सेक्स करते हो ! चोदोगे कब ?… मेरा बदन तड़प रहा है …

जोजो मेरा जू्नियर था … पतला दुबला पर लम्बे लंड वाला …

उसने मुझे अपने कमरे में बुलाया अगले ही दिन …

लड़कों का लॉज था … कमरा छोटा था … एक बिस्तर था, मैं बिस्तर पर बैठ गई, वो मुझे चूमने लगा।

दिन का समय था, बाहर लड़कों का शोर आ रहा था ….

मैं : कोई आ गया तो ? बाहर चलते हैं किसी होटल में …

जोजो : डार्लिंग ! कोई नहीं आयेगा … लेट्स हैव फन !

उसने मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार उतार दी और मेरी गर्म-गर्म जांघों को मसलने लगा … ब्रा का हुक खोला और पैंटी भी सरका दिया बिल्कुल नंगी कर दिया।

हमने दो दो जाम वोडका शोर्ट्स लगाये और उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया … जैसे वो मेरे ऊपर आने लगा मैंने देखा दो चार लोग रोशनदान से हमें देख रहे थे।

मैं : वाट द फ़क …. जोजो ! हमें वो देख रहे हैं !

जोजो : देखने दे ! कौन सा चोद रहे हैं तुझे ! … हॉस्टल के लौंडे है उन्हें भी तो पता चले कि मैं कितना बड़ा स्टड हूँ ! कम ऑन बेबी !

उनमें से एक मोबाइल से मेरी फोटो ले रहा था … दूसरा मुठ मार रहा था।

एक लड़का : अरे गुरु ! गांड दिखा लौंडिया की … चूचियाँ तो मस्त हैं इसकी !

जोजो : हैं ना मस्त माल ! तू देखता जा … यह देख इसकी गांड … चोदेगा??

लड़का : एक बार दरवाज़ा खोल दे …बहुत चोदेंगे… साईट से इसी को टिकाया है ना गुरु ??

मैं बहुत डर गई, नशे में थी पर समझ सब रही थी… कहीं सब आ जायें तो ….

मैं : जोजो, लीव मी ! जाने दो ….

दूसरा लड़का : कुतिया बना के चोद … घुसा ना !

जोजो ने मुझे घुमाया और घोड़ी बना कर चोदना शुरू किया !

ई ई बस्स ओह्ह अहह अह्ह्हह्ह अह्ह्ह ! मैं बुरी तरह चुदने लगी अब कंट्रोल नहीं रहा … ऐसा लग रहा था दुनिया मुझे नंगे चुदते हुए देख रही थी …

दारू और सेक्स का नशा सर चढ़ गया था !

मैंने कभी नहीं सोचा था इस तरह लोग मुझे देखेंगे … जोजो ने मुझे धोखा दिया था !

मेरी बुर पानी छोड़ रही थी .. मज़ा भी आ रहा था

तीसरा लड़का : यार जोजो ! इधर घूम जा ! वीडियो मस्त आयेगा … एक टांग उठा कर चोद !

जोजो ने मेरी एक टांग उठाई और लंड अन्दर बाहर करने लगा।

मैं : बस जोजो अह्ह्ह दर्द हो रहा है …. जाने दो

जोजो : अगर अच्छे से नहीं चुदवाओगी तो दरवाज़ा खोल दूंगा ! पूरा हॉस्टल चोदेगा … ! चल वीडियो बनवा जैसा वो बोले ! सुनती जा समझी !

आज कोई रास्ता नहीं था ! मैं फंस चुकी थी … बस इन्तज़ार कर रही थी … कब वापस जा पाऊँगी ….

वीडियो वाला लड़का : ओई लौंडी बुर दिखा इधर … ऐसा हाँ !

मैं : ऐसे न … यह देख .. गुलाबी है अन्दर इसके ! और क्या देखेगा बोल मादरचोद !

लड़का : हाँ अपने मम्मे मसल … यार जोजो ! इसकी गांड भी मार !

जोजो मेरी गुदा में अपना लंड घुसाने लगा !

आह्ह्ह ईई आह्ह्हह्ह जोजो नो … मेरी गांड चुद रही थी बहुत दर्द हो रहा था !

लड़का : वाह ! मार धक्के जोर जोर से ! मार ! चीख साली ! जोर जोर से …. लातें फैला … अपने बुर में ऊँगली अन्दर-बाहर कर !

वो जैसा बोलता गया मैं करती गई … एक लड़के ने अपना मुठ रोशनदान से अन्दर गिरा दिया।

लड़का : ओये जोजो ! इसके मुँह के अन्दर गिरा ! और तू पी जाना सारा माल … ओके

जोजो ने मेरा मुँह खोला, लंड घुसाया और अपना नमकीन पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया …

उफ़ मुझे निगलना पड़ा !

मैं नंगी जोजो के पैरों में गिर गई … अब मुझे वापस पहुँचा दो …

लड़के : इसे सेव करता हूँ वाट दा फ़क के नाम से … और दरवाज़ा खोल हमें भी मौका दे

मैं रोने लगी … जोजो को दया आ गई ….

जोजो : बस तीन लोगों के साथ ओरल कर ले…

वो मुझे नंगी ही कोरिडोर के तरफ खींचने लगा … अगर इस तरह बाहर जाती तो न जाने कितने लोग चोद देते

मैं : आई लव यू जोजो ! तुम जितना कहो सेक्स करुँगी पर इनसे नहीं करुँगी !

जोजो तो तरस आ गया … उसने मुझे कपड़े पहनाये … बाइक पर छोड़कर आया

अगर कोई एम एम एस ‘ वाट दा फ़क’ के नाम से मिले समझना कि वो आपकी श्रेया की है …

मैंने फिर जोजो का फ़ोन नहीं उठाया … आपका फोन ज़रूर रिसीव करुँगी पर आप तो ऐसा धोखा नहीं दोगे ना ??

Download a PDF Copy of this Story वाट दा फ़क

Leave a Reply