दो बातें

प्रेषक – ए बी सी एक्स वाई ज़ेड

आज मैं आपके लिए कोई कहानी नहीं लाया, बल्कि मैं आपसे केवल दो बातें करने आया हूँ।

और ये दो बातें केवल लड़कियों के लिए हैं।

तो लेडीज़ – ग़ौर फरमाएँ।

आप या तो कुँवारी होंगी या फिर शादीशुदा

शादीशुदा तो ठीक है, कुँवारी होंगी तो २ बातें होंगी,

या तो आप शादी करेंगी या नहीं।

शादी नहीं की तो ठीक लेकिन अगर की तो २ बातें होंगी,

या तो आपका पति ठरकी होगा या नहीं

ठरकी हुआ तो आपको चुदाई का मज़ा आएगा, लेकिन अगर ठरकी नहीं हुआ तो २ बातें होंगी

या तो आप एक ही बिस्तर पर सोएँगे या अलग-अलग,

अलग से सोने का तो सवाल ही नहीं उठता और अगर एक ही बिस्तर पर होंगे तो २ बातें होंगी।

या तो आप बिना चुदे ही सो जाएँगी या फिर पति को गालियाँ देंगी।

बिना चुदे तो नींद आएगी नहीं और अगर मन में पति को गालियाँ देंगी तो २ बातें होंगी।

या तो आप अपने पति को छोड़ने की सोचेंगी या फिर किसी और से अपनी चूत मरवाने की

एक साल से पहले तो तलाक़ तो होगा नहीं और अगर किसी और से चुदवाना हो तो २ बातें होंगी।

या तो आप अपने किसी पुराने यार से चुदवाएँ या किसी और से।

किसी और को तो ढूंढना पड़ेगा लेकिन अगर यार से चुदवाना होगा तो २ बातें होंगी।

या तो उसकी शादी हो गई होगी या नहीं,

कुँवारा होगा तो ठीक लेकिन अगर शादी-शुदा होगा तो २ बातें होंगी।

या तो वह आपको चोदेगा या नहीं।

चोद देगा तो आप खुश लेकिन अगर नहीं चोदेगा तो २ बातें होंगी।

आपको या तो अपनी जवानी ऐसे ही गुज़ारनी होगी या फिर किसी को ढूंढना पड़ेगा जो आपको चोद सके।

ऐसे जवानी बिताना मुश्किल है अगर किसी को ढूंढना हो तो २ बातें होंगी।

या तो वह आपको चोद कर खुश पाएगा या नहीं।

खुश किया तो ठीक लेकिन अगर खुश नहीं किया तो २ बातें होंगी।

या तो आपको वो जैसे भी चोदे खुश रहना होगा या फिर किसी दूसरे के लंड को ट्राई करना होगा।

उससे चुदवा के ही खुश रहना है तो पति के लण्ड में क्या बुराई है,

लेकिन अगर दूसरा लण्ड ट्राई किया तो २ बातें होंगी।

या तो दूसरा लण्ड मस्त होगा या फिस्स,

मस्त हुआ इसकी क्या गारण्टी लेकिन अगर फिस्स हुआ तो फिर एक और लण्ड ढ़ूँढ़ो।

अरे तो मेरी बात समझ में क्यों नहीं आती है…

बार-बार लण्ड ढ़ूँढ़ रही हो और हर एक लण्ड फिसड्डी निकल रहे हैं।

दुनिया से कितना चुदवाओगी।

मुझे मेल क्यों नहीं करती हो।

तो दोस्तों चोदो-चुदाओ और लाइफ़ को खुशहाल बनाओ।

Download a PDF Copy of this Story दो बातें

Leave a Reply