मामी ने मुझे पक्का चोदू बना दिया

सन्नी कुमार
मेरा नाम सन्नी कुमार है। मैं हरियाणा से हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। आज मैं अपनी जिंदगी की सच्ची और पहली सेक्स घटना आपको बताने जा रहा हूँ। कोई ग़लती हो तो माफ़ करना।
पहले मैं आपको अपने और मेरी सेक्सी मामी के बारे मे बता दूँ। मेरी मामी का फिगर 32-28-36 होगा जब वो चलती हैं तो उनके चूतड़ देखकर मेरा लण्ड खड़ा हो जाता था।
यह बात आज से दो साल पहले की है, जब मैं अपनी बी.टेक. के दूसरे साल में था। तब मैं छुट्टियों में अपने मामा के घर सोनीपत हरियाणा गया हुआ था।
मैं मामी को देखकर उनको चोदने की तरकीब में लगा रहता था। उनको मोबाइल पर गाने सुनना और वीडियो गाने देखना पसंद है, इसलिए वो मेरे मोबाइल से चिपकी रहती थीं।
मैंने एक दिन अपने फोन में रात को कुछ नंगी तस्वीरें और वीडियो डाल दिए।
अगले दिन जब मामी ने मेरा फोन लिया तो मैं उन्हें देकर बाहर जाकर अख़बार पढ़ने लगा।
थोड़ी देर बाद मामी ने मुझे आवाज़ दी, मैं डरता हुआ उनके पास गया तो वो गुस्से से लाल थीं।
वो मुझसे पूछने लगीं- ये गंदी तस्वीरें और फिल्म कब से देखनी शुरू कर दी तुमने!
मैं उनके आगे हाथ जोड़ने लगा, तो वो कहने लगीं- ये सब तुम्हारे मामा को बताऊँगी!
मैं उनसे माफी माँगने लगा तो वो थोड़ी देर बाद मुझे देख कर हँसने लगीं और बोलीं- मैं तुम्हें दो-तीन दिन से देख रही हूँ जब तुम मुझे पीछे से देखते रहते हो!
मैं आँखें नीचे करके खड़ा रहा और उनसे माफ़ी मांगता रहा। तब उन्होंने मुझे एक शर्त पर माफ़ करने के लिए कहा कि जैसे वो कहेंगी, मैं वैसा ही करूँ तो वो किसी को नहीं बतायेंगी।
उन्होंने मुझसे और सेक्सी फिल्म लाने को कहा, तो मैं सोचने लगा कि शायद अब मेरा काम हो जाएगा।
फिर वो सेक्सी फिल्म देखने लगीं, मैं वहाँ से जाने लगा तो वो बोलीं- तुम यहीं मेरे पास बैठो!
थोड़ी देर बाद वो सिसकारी लेने लगीं और उनके होंठ काँपने लगे, वो कहने लगीं- फिल्म वाले लड़के के स्टाइल में मेरी भी चूत को चूसो!
दोस्तो, यह समय मेरी जिंदगी का सबसे हसीन दौर था।
मैंने देर ना करते हुए उनकी चूत को धीरे-धीरे चाटना चालू किया, मैंने पहली बार किसी नंगी औरत को अपनी आँखों से देखा था। मैं उनकी हल्के बालों वाली चूत को देख कर पागल सा हो गया था। मेरा लण्ड मानो अभी पैन्ट फाड़ कर बाहर निकलने को बेताब हो रहा था।
मेरे चाटने उनकी चूत ने पानी छोड़ना चालू कर दिया था। पानी थोड़ा नमकीन सा था, पर उनकी चूत में से एक अजीब सी खुश्बू आ रही थी, जो मुझे पागल कर रही थी, धीरे-धीरे उनके हाथ मेरे बालों को सहला रहे थे।
कुछ देर बाद वो मेरे सिर को ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगीं। उनके मुँह से मादक सिसकारियों की आवाज़ आ रही थी, वो कह रही थीं- आह्ह..आज तक तुम्हारे मामा ने मुझे यह सुख कभी नहीं दिया..आह्ह!
वो ज़ोर-ज़ोर से मेरे सिर को दबाते हुए झड़ गईं। फिर उनका हाथ मेरे लण्ड पर आ गया। वो मेरे लण्ड को ऊपर से सहला रही थीं। मैं उनके होंठों को चूसने लगा, वो भी मेरा साथ देने लगीं।
थोड़ी देर बाद वो फिर से गर्म हो गईं, अब वो कहने लगीं- मेरी चूत की प्यास बुझा दो… अब मेरे से नहीं रहा जा रहा है!
वो मेरे लण्ड को निकाल कर ज़ोर-ज़ोर से मुँह में लेकर चूसने लगीं।
थोड़ा चूसने के बाद जब मेरा लण्ड गीला हो गया तो वो अपनी चूत पर रगड़ने लगीं।
वो कहने लगीं- तुम भी कुछ करोगे या मैं ही सारा काम करूँ!
मुझे चुदाई के बारे में ज़्यादा नहीं पता था तो वो कहने लगीं- चलो आज मैं तुम्हें पक्का चोदू बना देती हूँ!
फिर उन्होंने मेरा लण्ड अपनी चूत पर रखा और धीरे-धीरे धकेलने को कहा। मैंने वैसा ही किया, थोड़ी देर में ही मेरा 8 इंच का लण्ड उनकी चूत को चीरता हुआ पूरा अन्दर तक चला गया, फिर मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाने चालू किए।
मेरा लण्ड उनकी चूत में जाकर और मोटा हो गया, तो उनको थोड़ा दर्द होने लगा, वो कहने लगीं- धीरे करो!
अब मेरा लौड़ा उनकी भोंसड़ी को धकाधक चोदने में लगा था और मेरे होंठ उनकी बड़ी-बड़ी चूचियों को पीने में लगे थे।
दस मिनट बाद मैं और वो दोनों एक साथ झड़ गए। उस दिन मैंने उनको दो बार और चोदा और उनकी गाण्ड भी मारी।
दोस्तो, यह थी मेरी जिन्दगी की पहली और सच्ची कहानी, मुझे अपनी राय भेजिए कि कैसे लगी मेरी कहानी !
उसके बाद मैं आपको बताऊँगा कि कैसे मैंने उनकी गाण्ड मारी और कैसे उनकी छोटी बहन को चोदा।
[email protected]

Leave a Reply