जवान लड़की की बुर चुदाई की कहानियाँ

जवान लड़की को प्रेम प्यार के चक्कर में फांस कर सेक्स का मजा लेने या अपनी अन्तर्वासना शांत करने के लिए चूत चुदवाने वाली कहानियाँ हिंदी में

jwan Ladki Ko Prem Pyar ke chakkar me fans kar sex ka maja lene ya apni antarvasna shant karne ke liye bur chudvane vali kahaniyan

Indian Sex stories of teen girls and Boys

तीन पत्ती गुलाब-20

काश कल सुबह वो नहाते समय अपनी सु-सु दिखाने के लिए राजी हो जाए तो मज़ा आ जाए। उसके साथ नहाते समय सु-सु को चूमने का विचार मन में आते ही लंड महाराज ने तो पाजामे में कोहराम ही मचा दिया.

तीन पत्ती गुलाब-19

गुरु ... ठोक दो साली को ... क्यों बेचारी को तड़फा रहे हो ... लौंडिया तुम्हारी बांहों में लिपटी तुम्हें चु...ग्गा (चूत गांड) देने के लिए तैयार बैठी है तुम्हें प्रवचन झाड़ने की लगी है।

तीन पत्ती गुलाब-18

एक बार वो मेरा लंड चूस चुकी थी. अगले दिन मेरा दिल कर रहा था कि अपना पूरा लंड उस नवयौवना के मुख में डाल कर चुसवाऊँ. क्या मैं ऐसा कर पाया? कहानी में पढ़ें.

तीन पत्ती गुलाब-17

गौरी ने पहले तो मेरे सुपारे पर अपनी जीभ फिराई और फिर पूरे सुपारे हो मुंह में भर लिया। और फिर दोनों होंठों को बंद करते हुए उसे लॉलीपॉप की तरह बाहर निकाला।

नजर का धोखा और मौसी की चूत- 1

एक लड़की मेरी अच्छी दोस्त थी. उससे मेरे सेक्स सम्बन्ध नहीं थे पर एक दिन वो गर्म हो रही थी तो मैंने मौके का फ़ायदा उठाने की सोची. तो हुआ क्या?

अनजान लड़के से चुत चुदवा ली

मेरा जिस्म बड़ा ही गदराया हुआ है. जब मैं बाहर निकलती हूं, तो सब लोग मुझे ऐसे घूरते हैं जैसे मुझे अभी चोद देंगे. मैं एक लडके से चुदी. कैसे? मेरी चुदाई स्टोरी का मजा लें.

तीन पत्ती गुलाब-14

सेक्स ईश्वर द्वारा मानव को प्रदत्त आनन्दायक क्रिया है यह कोई पापकर्म नहीं है। इसमें पति-पत्नी या प्रेमी-प्रेमिका को जिन क्रियाओं में आनन्द मिले वो सब प्राकृतिक निष्पाप होती हैं।

तीन पत्ती गुलाब-13

पता नहीं उसने अपने प्रथम शारीरिक मिलन को लेकर कितने हसीन ख्वाब देखे होंगे? क्या वो इतनी जल्दबाजी में पूरे हो पाते? सम्भोग या चुदाई तो प्रेम की अंतिम अभिव्यक्ति है.

तीन पत्ती गुलाब-12

मैंने अपना हाथ उसकी नंगी पीठ और कमर पर फिराया और फिर उरोज को अपने हाथ में पकड़कर हौले से दबाया। और फिर मैंने एक उरोज के चूचुक को मुंह में लेकर चूसा।

तीन पत्ती गुलाब-11

गौरी ने टॉप के नीचे समीज या ब्रा नहीं पहनी थी तो मेरी निगाहें तो बस उसकी गोल नारंगियों और जीन पैंट में फंसी जाँघों और नितम्बों से हट ही नहीं रही थी।

सहेली की मदद को उसके भाई को फंसाया-4

मेरी सहेली ने योजना बनाकर मुझे अपने भाई से चुदवा दिया. मैं भी खूब मजा लेकर चुदी और नाटक करती रही कि मैं नशे में हूँ. उसके बाद मेरी सहेली ने अपने भाई के साथ क्या किया?

तीन पत्ती गुलाब-9

मेरी आँखें तो उसकी पुष्ट गुलाबी जाँघों से हट नहीं रही थी। मस्त हिरनी सी कुलाचें सी भरती जैसे ही वो मेरे पास से गुजरने लगी उसके अल्हड़, अनछुए, कुंवारे बदन से आती खुशबू ...

सहेली की मदद को उसके भाई को फंसाया-2

मैं अपनी सहेली के भाई का लंड लेना चाहती थी तो योजना बना कर मैंने उससे दोस्ती कर ली. वो मेरे पास आने की कोशिश करता रहा और मैं उसे अपने जिस्म से दूर दूर रखती रही.

सहेली की मदद को उसके भाई को फंसाया-1

कॉलेज में खेल प्रतियोगिता में एक खूबसूरत लड़का मुझे पसन्द आ गया. वो लाइन तो दे रहा था लेकिन साले की फट रही थी लड़की से बात करते हुए. तो मैंने क्या किया?

मेरे भैया मेरी चूत के सैय्याँ-4

रियल सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि हम भाई-बहन ने अपनी चचेरी बहन के साथ खूब चुदाई के मजे लिये. लेकिन फिर हम बोर हो गये और हमने कुछ नया करने का सोचा.

तीन पत्ती गुलाब-8

वह आसमान की बुलंदियों से कटी पतंग की तरह मेरी बांहों में झूल सी गई। लगता है यह उसका पहला ओर्गस्म था। उसने अपने काम जीवन का पहला परम आनन्द भोग लिया था।

मौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायी-2

मैं भाभी की बहन की बेटी की चूत चुदाई के लिए तड़प कर रह गया. वो हाथ से निकल गयी थी एक बार तो ... लेकिन किस्मत ने एक बार फिर से हम दोनों को मिला दिया.

मौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायी-1

भाभी की चूत चुदाई के बाद उन्होंने एक जवान लड़की की कुंवारी चूत का मजा दिलाने का वादा किया. जब भाभी ने मुझे उससे मिलवाया तो बताया कि ये उनकी बहन की बेटी है.

मेरी बेटी की चुदाई का कारनामा

यह सेक्स कहानी मेरी बेटी की चुदाई उसके बॉयफ्रेंड के साथ है. एक रविवार मेरी बेटी मुझे बता कर अपने बॉयफ्रेंड के रूम में उससे मिलने गयी. तो वहां क्या हुआ होगा?

Scroll To Top