जवान लड़की की बुर चुदाई की कहानियाँ

जवान लड़की को प्रेम प्यार के चक्कर में फांस कर सेक्स का मजा लेने या अपनी अन्तर्वासना शांत करने के लिए चूत चुदवाने वाली कहानियाँ हिंदी में

jwan Ladki Ko Prem Pyar ke chakkar me fans kar sex ka maja lene ya apni antarvasna shant karne ke liye bur chudvane vali kahaniyan

Indian Sex stories of teen girls and Boys

जवान लड़की की सेक्स कहानी-1

इस सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन जवान लड़की की वासना उफान पर थी. वो अपने यार से मेरे घर में चुदती थी. एक दिन वो चुदने आई पर उसका यार नहीं आया.

मॉडलिंग की लालच में मेरी बहन चुद गई

हैलो डियर … मेरी ये सेक्स कहानी काल्पनिक है, इसका किसी से कोई लेना देना नहीं है. मेरी पिछली कहानी थी भाई से चूत चुदवाई बहाना बनाकर इस सेक्स कहानी की शुरुआत करने से पहले मेरा आपसे कहना है कि यदि आपको मेरी सेक्स कहानी अच्छी लगे, तो मुझे ईमेल जरूर करना, ताकि मैं इस […]

तीन पत्ती गुलाब-30

गौरी की कसी खूबसूरत गुलाबी गांड मारने के लिए मैं मरा जा रहा हूँ। चूत का उदघाटन तो आराम से हो गया था पर उसे गांड के लिए तैयार करना जरा मुश्किल लग रहा है।

जवानी की शुरुआत में स्कूलगर्ल की अन्तर्वासना-2

क्या हम आपस में ही सेक्स नही कर सकते? क्योंकि अब स्कूल खत्म होने वाला है, बॉयफ्रेंड भी नहीं है और बनाने का मन भी नहीं है अभी, पर मन करने लगा है सेक्स का बहुत।

जवानी की शुरुआत में स्कूलगर्ल की अन्तर्वासना-1

नयी चढ़ी जवानी के कारण मेरी सहेली अपने बॉयफ्रेंड से सेक्स करने लगी थी और मुझे भी थोड़ा बहुत बताती थी. तो मेरे मन में भी सेक्स को लेकर उत्सुकता पैदा होने लगी.

तीन पत्ती गुलाब-28

मुझे गौरी का वह पहला चुम्बन याद आ गया। अगर इस समय गौरी मेरे सामने होती तो मैं उसके होंठों को जबरदस्ती चूम लेता पर सानिया के साथ अभी यह सब कहाँ संभव था।

तीन पत्ती गुलाब-27

मैंने अपना एक हाथ नीचे करके उसकी सु-सु को टटोला। उसके चीरे पर अंगुली फिराई और फिर उसकी मदनमणि को चिमटी में पकड़ कर मसलने लगा।

तीन पत्ती गुलाब-26

मैंने अपना लंड उसकी सु-सु की फांकों के बीच लगा दिया। अब वो इस संगम के लिए तैयार थी। उसने अपनी जांघें थोड़ी सी और खोल दी और मेरे पप्पू का काम आसान कर दिया।

तीन पत्ती गुलाब-24

उसने नाइटी और हमारे प्रेमरस में भीगा तौलिया अपने हाथों में पकड़ रखा था। जिस अंदाज़ में वह टांगें चौड़ी करके चल रही थी, मुझे लगता है उसे अब भी थोड़ा दर्द महसूस हो रहा होगा।

मेरी चूत को लगी दूसरे लंड की प्यास

अपने कॉलेज के दोस्त से मैं चुदाई का अनुभव ले चुकी थी. अब मेरी नजर उसके एक सीनियर दोस्त पर थी. क्योंकि मेरी चूत को अब दूसरे लंड की प्यास लगने लगी थी.

भाभी ने कुंवारी लड़की की चूत चुदवा दी-2

मेरे पड़ोस की भाभी की चुदाई मैं करता था. उनके पास एक कुंवारी लड़की आती थी. मैंने उस कुंवारी लड़की को पटा लिया था, बस चुदाई करनी थी. उसमें भाभी मेरी मदद कर रही थी.

तीन पत्ती गुलाब-23

मैंने अपनी जेब से वह सोने की अंगूठी निकाली और गौरी के दायें हाथ की अनामिका में पहना दी। मैंने गौरी के हाथ को अपने हाथ में लेकर उस पर एक चुम्बन ले लिया। गौरी लाज से सिमट गई। “गौरी मेरी प्रियतमा! आज की रात हम दोनों के लिए सुनहरे सपनों की रात है। आओ […]

हॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता और सेक्स-2

मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी कामुकता का इलाज नहीं किया. उसका दोस्त मुझे चोदना चाहता था तो मैं उसी की हो गई. अब हॉट कॉलेज गर्ल की वासना एक बड़े लंड से पूरी होने वाली थी.

हॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता और सेक्स-1

मैं हॉट कॉलेज गर्ल हूँ. मेरे अंदर कामुकता भरी हुई है. मैं अपने बॉयफ्रेंड से चुदना चाहती थी लेकिन उसने कभी मेरी चूत की चुदाई की तरफ ध्यान नहीं दिया. तो मैंने क्या किया?

तीन पत्ती गुलाब-22

गौरी इस समय रोमांच के उच्चतम स्तर पर पहुँच चुकी थी और बस मेरी एक पहल पर अपना तन, अपना कौमार्य मुझे सौम्प देने के लिए आतुर थी लेकिन तभी ...

तीन पत्ती गुलाब-21

मैंने उसकी पजामी का इलास्टिक पकड़ा और उसे धीरे धीरे नीचे करने लगा। जब पजामी थोड़ी नीचे सरकने लगी तो उसने अपने नितम्ब थोड़े से ऊपर उठा दिए ...

तीन पत्ती गुलाब-20

काश कल सुबह वो नहाते समय अपनी सु-सु दिखाने के लिए राजी हो जाए तो मज़ा आ जाए। उसके साथ नहाते समय सु-सु को चूमने का विचार मन में आते ही लंड महाराज ने तो पाजामे में कोहराम ही मचा दिया.

तीन पत्ती गुलाब-19

गुरु ... ठोक दो साली को ... क्यों बेचारी को तड़फा रहे हो ... लौंडिया तुम्हारी बांहों में लिपटी तुम्हें चु...ग्गा (चूत गांड) देने के लिए तैयार बैठी है तुम्हें प्रवचन झाड़ने की लगी है।

तीन पत्ती गुलाब-18

एक बार वो मेरा लंड चूस चुकी थी. अगले दिन मेरा दिल कर रहा था कि अपना पूरा लंड उस नवयौवना के मुख में डाल कर चुसवाऊँ. क्या मैं ऐसा कर पाया? कहानी में पढ़ें.

तीन पत्ती गुलाब-17

गौरी ने पहले तो मेरे सुपारे पर अपनी जीभ फिराई और फिर पूरे सुपारे हो मुंह में भर लिया। और फिर दोनों होंठों को बंद करते हुए उसे लॉलीपॉप की तरह बाहर निकाला।

Scroll To Top