माँ बेटा की चुदाई कहानियाँ

माँ बेटा के बीच बने सेक्स सम्बन्धों पर आधारित चुदाई कहानियाँ

Maa-Beta Ke Beech Chudai Ki Kahaniyan

Incest Sex stories about Mother-son Sex Relations

और मेरी मम्मी की चूत चुद गई

जब सेक्स की इच्छा तन और मन पर हावी होने लगती है तो अक्सर अपने घर की औरतों को देखने का हमारा नजरिया भी बदल जाता है, कभी न कभी हम उन्हें चोद डालने के बारे में सोचते हैं।

मेरी चुदक्कड़ माँ की चूत और गांड

मेरी विधवा मम्मी महा चुदक्कड़ है, माँ की उम्र 40 साल है और एक माल औरत है, वो एकदम कामुक भी है। मैं भी अपनी माँ के जिस्म को देखने लगा, उसे चोदने के सपने देखने लगा।

सौतेली मॉम की चूत चोदी गर्म करके

कैसे अपनी सौतेली मम्मी को चूत में उंगली करते देख मेरी इच्छा उन्हें चोदने की हुई और कैसे मैंने उन्हें सेक्स की गोली देकर गर्म करके अपनी मम्मी की चूत चोदी।

मॉम की तड़फती चूत की चुदाई की HOT!

मेरी सौतेली माँ फोन पर अपने यार से कह रही थी कि वो चुदाई के लिए तड़फती रहती है। यह सुन मेरे मन में अपनी माँ की चूत चोदने का ख्याल आया। वो कैसे चुदी?

मेरा कामुक बदन और अतृप्त यौवन- 5

मेरा बेटा मुझे कई बार चोद चुका था, मुझे भी बेटे से चुद कर बहुत मजा आता है। अभी मेरे पति कुछ दिन के लिय बाहर गये तो उनके पीछे हम मां बेटे ने क्या गुल खिलाए!

मेरा कामुक बदन और अतृप्त यौवन- 4

मेरा बेटा मेरी गांड मारना चाह रहा था। मैं थकी हुई थी और गांड मरवाने में होने वाले दर्द से भी डर रही थी। फ़िर भी बेटे की खुशी के लिए मैंने उसे मेरी गांड मारने के लिए हाँ कह दी।

मेरा कामुक बदन और अतृप्त यौवन- 3

सहेली के साथ लेस्बीयन सेक्स करके मैं बेटे के कमरे में गई तो वो मेरी पैन्टी सूंघ रहा था, वो अपनी मां की चूत चोदना चाह रहा था। मैं उसे मना नहीं कर पाई।

मेरी कामाग्नि : अपने बेटे के लिए-2

मैं अपने बेटे के लंड की चमड़ी के इलाज़ के लिए उससे सेक्स करने को तैयार थी। इस भाग में पढ़िये कि कैसे मैंने अपने बेटे से चुद कर उसके लंड की समस्या हल की।

मेरी कामाग्नि : अपने बेटे के लिए-1 HOT!

मेरी पैन्टी मेरा बेटा ले जाता था, उसे मैंने पैन्टी पर मुठ मारते रंगे हाथ पकड़ा। उसका लंड दिखा तो सुपारे पर चमड़ी थी जो तकलीफ़ देह थी। इसका इलाज़ जरूरी था।

माँ और भाभी के साथ चूत चुदाई का खेल -2

क्या सच में माँ.. अच्छा हुआ तुमने कल हमारी चुदाई की आवाज सुन ली.. तो फिर अब तुम भी भाभी के जैसी मालिश के लिए तैयार हो या नहीं?

मेरी हॉट सेक्सी मॉम -2

'चूस ले.. आह्ह.. चूस ले.. फिर मौका नहीं मिलेगा अपनी मॉम की चॉकलेटी बुर.. को खा जा रे...बड़ा मज़ा आ रहा है.. ' मॉम मदहोशी में सिसकारियों के बीच बोल रही थीं।

मेरी हॉट सेक्सी मॉम -1

उनका भीगा गोरा बदन और भी सेक्सी लग रहा था। फिर उन्होंने अपनी बुर के ऊपर साबुन लगाया और मसल-मसल कर साफ़ करने लगीं। बुर के ऊपर काले-काले घने बाल बहुत सेक्सी लग रहे थे..

वर्षों से प्यासी मार्था को मिली यौन संतुष्टि

यह कहानी है एक युवक और उसके पिता की दूसरी पत्नी के बीच यौन सम्बन्धों की… युवा पत्नी को वो कामसुख नहीं मिल पाया जिसकी कामना किसी भी युवती को होती है तो वो अपने पति के युवा पुत्र से अपनी अन्तर्वासना की तृप्ति करती है।

मकान मालकिन और उसके बेटे की चुदास -5

दिव्या को अपनी फुद्दी के भीतर गहराई में एक ऐसी तड़पा देने वाली कमी महसूस होने लगी.. वो अपने बेटे के मोटे मांसल लण्ड से अपनी चूत ठुकवाने के लिए मरी जा रही थी।

मकान मालकिन और उसके बेटे की चुदास -4

चूत की चुदास की मारी दिव्या ने अपने बेटे के सामने अपनी शर्ट उतार कर अपने चूचे उसे पेश किये चूसने के लिये। और फ़िर जीन्स का बटन, ज़िप खोल कर सिर्फ़ कच्छी में उसके पास बैठ गई।

मकान मालकिन और उसके बेटे की चुदास -3

अपने बेटे के लम्बे मोटे लन्ड को देख उसकी मम्मी दिव्या रुक नहीं पाई और उसके सुपारे को चाटना शुरु कर दिया और कुछ पल बाद वो अपने बेटे का लन्ड चूस रही थी।

मकान मालकिन और उसके बेटे की चुदास -2

दिव्या अपने बेटे रवि को हस्तमैथुन करने से रोकने आई थी पर उसका विशाल लन्ड देख कर उसके तनबदन में वासना भड़क गई। कहानी में पढ़ें कि आगे क्या हुआ!

मकान मालकिन और उसके बेटे की चुदास -1

यह कहानी है एक तलाकशुदा माँ और उसके युवा बेटे की... दोनों अन्तर्वासना की आग में जल रहे हैं. बेटा दिन में कई बार मुट्ठ मार कर अपनी वासना शांत करता है, माँ उसे रोकना चाहती है.

क्या मैं अपनी मम्मी को चोद लूँ?

एक बार मैं स्कूल से जल्दी आ गया तो मैंने देखा कि मेरी मम्मी मेरे पड़ोस के अंकल जो एक सरकारी अफसर हैं, उनके साथ सेक्स कर रही थी, अपनी चूत चुदवा रही थी।

घर की चूतों के छेद -4

मम्मी मेरी ओर पीठ करके ड्रेसिंग टेबल के सामने खड़ी थीं.. जिसके काँच में मुझे मम्मी का फ्रंट साइड दिखाई पड़ रहा था.. लेकिन मम्मी ने अपना एक हाथ दोनों मम्मों के ऊपर रखा हुआ था जिस कारण मुझे कुछ खास दिखाई नहीं पड़ रहा था।

सबसे ऊपर जाएँ