चिकने बदन-2

अब चूत तो मैंने भी बहुत चटवाई है, मगर हमेशा मर्दों से। किसी औरत से और वो भी अपनी सगी बहन से चूत चटवाने का यह पहला मौका था। वो जैसे सेक्स की भूख से मरी जा रही थी.

कामुकता की इन्तेहा-11

सर्दी की रात में इतनी ठंड में भरी शादी में बगैर पैंटी पहने मुझे यूं लग रहा था जैसे मैं नंगी घूम रही हूँ। पैंटी न होने अहसास मेरे जिस्म में एक अजीब सनसनी पैदा कर था.

चिकने बदन-1

जब किसी औरत को गैर मर्द का चस्का लग जाए तो वो छूटना बहुत मुश्किल होता है. ऐसी ही दो बहनों की कहानी है यह… शादी के पहले दोनों अपने बॉयफ्रेंडज़ से चुदवाती रही और शादी के बाद…

वो मुझे भावनाओं में बहा ले गई-2

वो मेरे दोस्त की शादीशुदा साली थी. दोस्त की शादी में ही वो मुझे चाहने लगी थी. शादी के बाद क्या हुआ था, वो आप इस कहानी के पहले भाग में पढ़ चुके हैं. अब आगे क्या हुआ?

अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-3

अब नये नये लंडों से चुदना अमीषा का रोज़ का काम हो गया था। मगर जो मज़ा उसको माँ के दोस्त ने दिया था वो किसी और से नहीं मिला. इसलिए उसने सोचा कि अब माँ को अपना पार्ट्नर ही बनाना पड़ेगा।

नंगी आरज़ू-1

घर के हालात ठीक नहीं थे तो मेरी खाला की बेटी अट्ठाईस वर्षीया आरजू की शादी नहीं हो पा रही थी. वो बहुत कमजोर हो गयी थी. मैंने उस से खुल कर बात की तो पता लगा कि…

प्यासी जवानी के अकेलेपन का इलाज़-2

तुम्हारी चिकनी जाँघों के बीच घनी काली झांटों के पीछे छुपी चूत बहुत ही रसीली और प्यारी है. मेरा ये लंड तुम्हारे चूत से मिलने को बहुत ही बेताब है बेचारा..

कामुकता की इन्तेहा-9

मैं चुपचाप उल्टी ही गयी और घोड़ी बन कर अपनी प्यासी फुद्दी उसे पेश कर दी। फिर वो मेरे पीछे आया और नीचे मेरे दोनों घुटनों को पकड़ कर चौड़ा कर दिया।

छोटी गलती के बाद की और बड़ी गलती

मैं 45 साल की हूँ, मेरे दो बच्चे हैं। दस साल पहले मेरे पति की मौत हो गई। और पति के मरने के बाद मैं अपने ही पड़ोस में रहने वाले लड़के के साथ कुछ कर बैठी.

ट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्यास-2

नौकरानी भी बढ़िया थी, उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे बाथरूम की ओर लेकर चलने लगी. यह देख कर कि ये नौकरानी भी चालू माल है तो मैंने उसका हाथ जोर से दबा दिया.

शादी का मंडप और चुदाई

राजस्थान के गाँव में मैंने एक अंजान आदमी से कई बार सेक्स किया। मेरा सबसे यादगार सेक्स तब हुआ जब मंडप में लड़की फेरे ले रही थी, इधर मैं अपनी चुदाई करवा रही थी, उसी गैर मर्द से। कैसे? लीजिये पढ़िये:

कामुकता की इन्तेहा-5

मेरे यार ने मुझे छोटी सी निक्कर और ज़रा सा टॉप पहनाया और भरी सर्दी में मुझे मेला दिखाने ले गया. असल में वो अपने दोस्तों के सामने मेरे सेक्सी बदन की नुमाइश करने ले गया था.

कामुकता की इन्तेहा-2

मैंने चूतों पर पीएचडी की हुई है। 20 एकड़ जमीन इसी चूत में गयी है, पचासों औरतें अपने नीचे से निकाली हैं. लेकिन अभी भी 250 एकड़ बाकी है। तेरे जितना जोश बहुत कम औरतों में देखा है।

अनजानी दुनिया में अपने-3

मां बेटी को मैं ले आया था, अब वे मेरे साथ फ्लैट में थी। रात को मैंने देखा कि कामिनी बालकनी में खड़ी थी, मैं उसके पास गया, पूछा तो उसे अपने पति की याद आ रही थी.

शादी में चूत चुदवा कर आई मैं-2

मैं अपने पति के साथ राजस्थान के एक गाँव की शादी में आई. मेरी चूत लंड के लिए तड़प रही थी. ताऊ जी के एक दोस्त पर मेरी नजर पड़ी और उसने भी मुझे उसी नजर से देखा. बस… मैंने सोच लिया!

मुझे दूध वाले ने चोदा

मैं बहुत सेक्सी विचारों वाली की लड़की हूं। शादी के बाद पति का सिर्फ 4 इंच का लंड देख मुझे बहुत निराशा हुई। वे मुझे ढंग से चोद भी नहीं पाते थे। मेरी चूत की प्यास के लिए मैंने क्या किया?

मेरे पति का दोस्त मेरा दीवाना-1

मेरे पति के एक दोस्त को चाहने लगी, वो भी मेरा दीवाना था. मैं उससे चुदाई करवाने की सोचने लगी, उसे नंगी होकर भी दिखाया लेकिन उसने मुझे छुआ भी नहीं! क्या था उसके मन में!

वासना के पंख-3

संध्या ने अपना हाथ शारदा के साए के अन्दर सरका दिया और उसकी चूत का दाना खोजने लगी। लेकिन जैसे ही उसकी उंगली शारदा की गीली चूत के दाने पर छुई, शारदा उठ कर बैठ गई।

सहेली ने मुझे रंडी बनाया

मेरे पति विदेश में जॉब करते थे तो मेरी वासना तृप्ति नहीं होती थी. गैर मर्द से चुदाई का सोचा पर डर लगता था. फिर मुझे एक नयी सहेली मिली, उसने मेरी मदद की! कैसे की? खुद पढ़ें!

वासना के पंख-1

यह लम्बी कहानी मेरी पिछली कहानी ‘होली के बाद की रंगोली’ जो भाई बहन के सेक्स सम्बन्धों पर थी, से ही सम्बंधित है. उस घटना से पहले क्या हुआ, यह बताया गया है.