गुरु घण्टाल

स्कूल कॉलेज या ट्यूशन में गुरु घण्टाल मास्टरों मास्टरनियों प्रोफेसरों की अपने छात्र-छात्राओं से यौन चुदाई सम्बन्धों की कहानियाँ

School, College aur tuition me teacher aur student ke beech sex ki Hindi Sex Kahani

Teacher-student Indian sex stories in the School, College or Tuition

बड़े चूचों वाली स्टूडेंट की चुदाई

मैं स्कूल में टीचर था. एक लड़की मेरी तरफ आकर्षित हो गयी मगर मैं उसकी एक सहेली पर मर मिटा था. दोनों में से किसको मेरा लंड नसीब हुआ और मुझे किसकी चूत मिली?

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-9

नम्रता पलंग पर पेटकर बल लेट गयी, टांगें फैला कर दोनों हाथों से कूल्हे को पकड़ कर फैला कर बोली- शरद आ जाओ, मैंने गांड खोल दी है.. इसकी खुजली मिटाओ.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-8

मेरे प्यारे पति देव, मुझे माफ कर दो, मैं तुमसे बात करने के बाद बहुत बेचैन हो गयी, नींद नहीं आ रही थी, तो मैंने भी तुम्हारा नाम लेकर उंगली से अपनी चूत की चुदाई कर ली.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-7

मैं नंगा होकर जमीन पर लेट गया. नम्रता अपने कपड़े उतार मेरे पैरों के बीच बैठ गई. उसने मेरे कूल्हे पर तड़ाक-तड़ाक कर के दो तमाचे जड़ दिए और कुप्पी को गांड के अन्दर डालने लगी.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-6

अपनी चूत में से उंगली निकाल कर वो बड़े सेक्सी तरीके से मुँह में चूसती, फिर उंगली को वापस चूत में अन्दर बाहर करती. मैं पहली बार अपने सामने किसी औरत को हस्तमैथुन करते हुए देख रहा था.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-5

वो घोड़ी बन गयी, उसने अपने सिर और छाती को बिस्तर से टिका दिया. इससे उसकी गांड और उठ गयी. मैंने गांड की ऊंचाई तक खड़ा होकर लंड को उसकी गांड के अन्दर पेल दिया.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-4

उसने अपने दोनों कूल्हों को पकड़कर फैला दिया. मैं उसकी गांड के कुंवारे छेद का वीडियो बनाने लगा और वीडियो बनाते हुए ही उसकी गांड में क्रीम की टयूब से क्रीम भर दी.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-3

टीचर मैडम 69 की अवस्था में आ गयी, उनकी चूत की गंध मुझे अच्छी लग रही थी. मैं उनकी चूत की खुशबू को अपने नथुनों में भरकर चूत की फांकों पर जीभ फिराने लगा.

एग्जाम में मिली सेक्सी टीचर की चुदाई

मैं एक एग्जाम देने के लिए गया तो वहां निरीक्षक टीचर लड़की थी. उसकी गांड देख मेरा लंड उछल गया. तो मैंने क्या किया, हमारे बीच क्या हुआ, इस टीचर सेक्स कहानी में पढ़ें.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-2

जिस दिन से मेरे तुम्हारे मिलन के बारे में सुना, मैं अपनी झांटें बढ़ाने लगी, जिससे मेरी जान मेरी झांट की शेव करके मेरी चूत को चिकनी कर दे और फिर उस चूत को प्यार करे.

टीचर की यौन वासना की तृप्ति-1

जिस स्कूल में मैं पढ़ाता हूँ, वहां एक नयी टीचर की भर्ती हुई. मुझे वो सेक्सी माल लगी और हमारी दोस्ती हो गयी. बात आगे कैसे बढ़ी और सेक्स तक पहुंची, कहानी पढ़ कर मजा लें!

स्कूल टीचर के साथ सेक्स

मैं अपने पुराने स्कूल में अपना सर्टिफिकेट ठीक करवाने गया तो वहां पर जो मैडम थी, वो मुझे कुछ चालू सी लगी. उनकी बातें ही कुछ ऐसी थी. तो मैंने क्या किया? पढ़ कर मजा लें!

मेरी चुदासी मम्मी मेरे टीचर से चुद गई

मेरे पापा बीमार थे तो मेरी मम्मी की वासना पूर्ति नहीं होती थी. एक बार मैंने एक टीचर से ट्यूशन पढ़नी शुरू की और मम्मी और टीचर को मिलवाने की कोशिश की. तो क्या हुआ?

चुदक्कड़ टीचर ने पढ़ाए चुदाई के पाठ-5

मेरी टीचर ने अपनी जवानी की प्यास बुझाने के लिए मुझे मोहरा बनाया. लेकिन मेरे तो भाग्य ही खुल गए थे. मैडम ने मुझे वो सब कुछ सिखाया जिनसे मैं चूतनिवास बना.

चुदक्कड़ टीचर ने पढ़ाए चुदाई के पाठ-4

मेरी टीचर इस वक्त पूरी सेक्स गुरु बनी हुई थी, मुझे एक के बाद एक सेक्स के तरीके बता रही थी और अपनी कामुकता भी शांत कर रही थी. उन्होंने मुझसे क्या क्या करवाया? पढ़ कर मजा लें!

चुदक्कड़ टीचर ने पढ़ाए चुदाई के पाठ-3

मेरी टीचर ने मुझे नंगा कर लिया, वो खुद भी नंगी हो चुकी थी. मैडम अपनी चूत में उंगली डाल डाल कर मुझे चुसवा रही थी. उसके बाद मेरा लंड मैडम की चूत में कैसे गया?

चुदक्कड़ टीचर ने पढ़ाए चुदाई के पाठ-2

मेरी टीचर ने मुझे अपने घर बुलाया और अपने रूप यौवन से मुझे लुभाने लगी, कामुक बातें करने लगी. उसके बाद मैडम ने मेरे साथ क्या किया? पढ़े इस अति कामुक कथा में और मजा लें!

चुदक्कड़ टीचर ने पढ़ाए चुदाई के पाठ-1

मैंने अपनी पहली चुदाई किसी लड़की के साथ नहीं बल्कि मेरी स्कूल टीचर के साथ की. एक दिन मैडम ने मुझे किसी काम से अपने घर बुलाया और अपने जलवे दिखाने शुरू किये.

स्टूडेंट की मम्मी की उसी के घर में चुदाई

मैं नौकरी की तलाश में था. मेरे एक दोस्त ने मुझे एक ट्यूशन दिलवा दी. मैं पहले दिन स्टूडेंट की मम्मी से मिला. वो बहुत खूबसूरत थी. उसके बाद क्या हुआ? कहानी में पढ़ कर मजा लें.

सर बहुत गंदे हैं-4

निगोड़े मर्दों का कहाँ दिल भरता है? और कच्ची कलियों का मज़ा कुछ और ही होता है. और फिर 'नया माल नखरे करके मिले तो ... उसके तो कहने ही क्या!"

Scroll To Top