ममेरी बहन की चुदाई कहानी-3

(Mameri Behan Ki Chudai Kahani- Part 3)

This story is part of a series:

आप सभी ने पिछले भाग में पढ़ा था कि आलिया आखिरकार मेरी गलफ्रेंड बन गई थी. हम दोनों उसकी फ्रेंड चित्रा के घर जा रहे थे.

अब आगे:

कार में म्यूजिक बज रहा था, करीबन आधे घंटे बाद हम चित्रा के घर पर पहुंच गए थे. आलिया ने अपने फोन से कॉल करके उसे बाहर बुलाया.

चित्रा अपनी फैमिली के साथ एक हाई-फाई फ्लैट में रह रही थी. वैसे चित्रा के कोई बहन भाई नहीं थे. वो केवल मॉम डैड के साथ ही रहती थी.

तभी चित्रा बिल्डिंग से बाहर निकली और आकर पीछे बैठ गई. मैंने देखा कि उसने ब्लैक टी-शर्ट और ब्लू जींस पहनी थी.

चित्रा- हाय राज … हाऊ आर यू.
मैं- फाइन … थैंक्स फॉर आस्किंग.

फिर मैं कार आगे बढ़ा दी. दोनों आज गजब की हॉट माल लग रही थीं. मेरा लंड परेशान हो गया था.

हम तीनों मुंबई शहर में घूमने निकल गए. फिर एक थियेटर में कंलक फिल्म देखने के लिए 6 से 9 के शो में घुस गए. मेरे पास आलिया बैठी थी, उसके पास चित्रा बैठी थी.

फिल्म शुरू हो गई थी, लेकिन चित्रा और पब्लिक होने से मैं आलिया के साथ कुछ भी नहीं कर पा रहा था.

फिल्म खत्म करके हम रेस्टोरेंट में खाना खाने आ गए. खाना के बाद हम वहां से घर के लिए निकल आए. पहले हम दोनों ने चित्रा को ड्रॉप किया. फिर हम घर पहुंच गए.

अभी कंलक मूवी देखी थी, इसलिए रोमांस करने का मन कर रहा था.

मैंने रूम में म्यूजिक बजाकर, आलिया को अपने साथ डांस करने के लिए कहा. आलिया डांस करने के लिए खड़ी हो गई और हम दोनों डांस करने लगे.

जैसे-जैसे म्यूजिक अपनी मस्ती फैला रहा था, वैसे ही हम दोनों नजदीक आते जा रहे थे.

इसके बाद मैं इंस्ट्रूमेंटल म्यूजिक बजाने लगा और हम दोनों कपल के तरह डांस करने लगे. हम डांस करते हुए एक-दूसरे से किस करने लगे थे. इस दौरान हम इतने मदहोश हो गए थे कि मैं किस करते हुए अपने हाथ से आलिया की पीठ पर हाथ घुमाने लगा. मुझे उसकी ब्रा की स्ट्रिप महसूस हुई.

मैंने अपना हाथ उसकी पीठ से सहलाते हुए नीचे ले आया. मैं उसकी गांड पर हाथ घुमाने लगा. आलिया मेरी इस बात का कोई विरोध नहीं कर रही थी. मुझे समझ आ गया कि आलिया आज मूड में है.

हम दोनों किस करते हुए एक-दूसरे में खो गए थे. मेरा लंड उसकी गांड पर हाथ सहलाने से खड़ा हो गया था और आलिया के पेट को छूने लगा था. लंड के स्पर्श से उसको होश सा आ गया. वो मुझे रोककर अपने कमरे में चली गई.

मैंने भी उसके पीछे कमरे में जाकर उसको पीछे से पकड़ लिया.
आलिया मेरे हाथ पकड़ते हुए बोली- हम लिमिट पार कर रहे हैं.

मैंने आलिया को अपनी ओर घुमाकर उसे देखा.

मैं- हम दोनों को पता है कि हम क्या कर रहे हैं. अब मुझसे कन्ट्रोल नहीं हो रहा है. वैसे भी तुमने ही बोला था कि मेरे पास ग्रीन सिग्नल है, यानि मैं कुछ भी कर सकता हूं.
आलिया- मेरा वो मतलब नहीं था.
मैं आलिया की आंखों में देखकर बोला- प्लीज मान जाओ.
आलिया- लेकिन …

मैं- एक दिन तो हम करेंगे ही, हम कुछ गलत नहीं कर रहे हैं. प्लीज आलिया.
आलिया- ठीक है, लेकिन क्या तुम्हारे पास प्रोटेक्शन है?
मैं- नहीं.
आलिया- क्या? तुम प्रोटेक्शन के बिना सेक्स करोगे?
मैं- अब इस वक़्त कहां से प्रोटेक्शन निकालूं?
आलिया- ओके एक कंन्डीशन पर … तुम अन्दर नहीं झड़ोगे.
मैं- ओके.

आलिया की इतनी बात सुनकर मैं उसे किस करने लगा और वो भी मेरे साथ दे रही थी. मैंने अपना हाथ उसकी गांड पर रख दिया और हम दोनों गर्म होने लगे.

फिर मैंने अपनी टी-शर्ट निकाल दी. अब मेरा लंड फिर से खड़ा होकर आलिया को छू रहा था. मैंने अपना एक हाथ आलिया के कातिलाना मम्मों पर रख दिया और हल्का सा दबा दिया … जिससे वो और ज्यादा मदहोश हो रही थी.

अब मैंने आलिया की टी-शर्ट निकालकर फेंक दी. अन्दर उसकी रेड ब्रा मस्त दिख रही थी. उसकी रेड ब्रा में उसके दूध से मम्मे फंसे देखकर मैं और भी ज्यादा उत्तेजित हो गया था.

मैंने आलिया को घुमाकर उसकी ब्रा निकाल दी … जिससे उसके कातिलाना चूचे आजाद हो गए. मैं अपने दोनों हाथों से उसके मम्मों को हौले से छूने लगा. मैं जिंदगी में पहली बार किसी लड़की के नंगे मम्मों को छू रहा था.

आलिया के चूचे बड़े ही टाइट थे. मैंने अपने दोनों हाथों को उसकी चूचियों पर जमा दिए और मस्ती से दबाने लगा.

आलिया लगातार अपना होश खो रही थी और अपनी आंखें बंद कर चुकी थी. आलिया ने इसी मदहोशी की हालत में अपने दोनों हाथ मेरे हाथ पर रख दिए थे. मैं उसके मम्मों को दबाते हुए गर्म हो रहा था और आलिया भी गर्म हो रही थी.

उसकी साँसें और दिल की धड़कन बढ़ रही थीं. अभी मुझे ऐसा लग रहा था, मानो मैं जन्नत की सैर कर रहा था.

कुछ मिनट तक मैं आलिया के टाईट मम्मों को दबाता रहा और वो ऐसे ही मदहोशी की हालत में खड़ी रही.

अब मुझसे ज्यादा बर्दाश्त नहीं हो रहा था, इसलिए मैंने आलिया को उठाकर बेड पर पटक दिया. फिर अपनी पेन्ट निकालकर वहां खड़ा हो गया. इस समय मैं सिर्फ निक्कर में खड़ा था.

कुछ पल बाद मैंने बेड की तरफ बढ़ कर आलिया की पेन्ट भी निकाल दी … जिससे वो अब सिर्फ पेन्टी में रह गई थी.

मैं आलिया के ऊपर आकर किस करने लगा. आलिया भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. मुझे किस कर रही थी. मैं भी उसके पूरे बदन को चूमने लगा और उसके मम्मों को भी दबाए जा रहा था.

इस समय आलिया चुत चुदाने के पूरे मूड में आ गई थी. उसकी चुदास देख आकर मैंने आलिया की पेन्टी निकालकर फेंक दी. उसने अपनी टांगें खोल कर मेरे सामने अपनी चूत फैला दी.

Behan Ki Chudai
Behan Ki Chudai

मैंने एक पल के लिए आलिया की चुत को निहारा और वासना से लिप्त हो चुकी अपनी आँखों से उसे घूरने लगा. उसने चुत चाटने का इशार किया. मैं खुद ही उसकी चुत चाटने की मंशा बना चुका था. अगले ही पल मैं आलिया की चूत चाटने लगा.

आलिया अपनी चूत पर मेरी जीभ का स्पर्श पाते ही एकदम से गर्मा गई. वो दोनों हाथ से बेडशीट को पकड़ कर खुद के बदन को ऐंठने लगी.

मुझे चुत चाटने का पूरा अनुभव सेक्स वीडियो देखने से आया हुआ था.

मैं आलिया की चुत चाटने में मशगूल था, तभी आलिया ने अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ लिया और वो अपनी चूत पर मेरा सर दबाने लगी.

अब उससे बर्दाश्त नहीं हो रहा था. वो धीमे-धीमे सीत्कार भी कर रही थी- आह … उंह … अब बस भी कर … मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा.

मैंने उसकी चुत से सर हटाया तो उसने मेरे लंड की तरफ इशारा किया- अब जल्दी पाइप फिट कर दे … लीक होने को है.

मैंने उसकी चुत में अपना लंड सैट किया और एक धक्का लगा दिया. लेकिन लंड फिसल गया.

मैंने दोबारा से चुत पर लंड सैट करके एक जोरदार धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड उसकी चुत में घुस गया.
आलिया की चुत में लंड घुसते ही, वो जोर से चिल्ला उठी- ओह माँ … मर गई … निकाल, निकाल इसे …

आलिया की चीख सुनकर मैंने लंड बाहर निकाल लिया. आलिया चुत पर हाथ घुमाते हुए कराहने लगी- आह अ … आह … फट गई शायद …
मैं- सॉरी …
वो मुझसे पूछने लगी- तेरा पहली बार था क्या?
मैंने हां में सर हिला दिया.

आलिया ने दर्द भरी मुस्कान फेंकते हुए मुझे अपने ऊपर खींच लिया. मैं फिर से आलिया के मम्मों को दबाते हुए उसे किस करने लगा.

करीबन पांच मिनट बाद वो शांत हो गई थी. मेरा लंड भी चोदने के लिए तैयार था. मैं फिर से आलिया के ऊपर चढ़ गया और चुत पर लंड सैट कर दिया.

आलिया- धीमे डालना, बहुत दर्द होता है.

फिर मैंने धीरे से आलिया की चुत में लंड घुसाया, जिससे आलिया कराह उठी. लेकिन उसने मुझे हटने के लिए नहीं कहा.

मैं लंड चुत में अन्दर-बाहर करने लगा था. अभी मैंने आधा लंड ही आलिया की चुत में घुसेड़ा था. वो जोरों से सीत्कार कर रही थी- आह ओह राज आं … आह ओह..

मैं आलिया की कामुक आवाजों से और भी अधिक उत्तेजित हो गया था. अब मैंने जोर का झटका मारा, जिससे मेरा पूरा लंड आलिया की चुत में घुस गया. आलिया की आवाज चीख में बदल गई. इस बार वो पहले से ज्यादा तेज आवाज में चिल्ला दी थी.

आलिया- आहह ऊँह, धीमे राज … ओह मां … तेरा बहुत मोटा है.

मैं अभी इतना ज्यादा उत्तेजित था कि उसकी बातों को अनसुना करके जोर के झटके लगा रहा था. आलिया दर्द के मारे चिल्ला रही थी.

आलिया- आह … राज निकाल ले, दर्द हो रहा है … आह रहने दे … निकाल राज प्लीज … आह राज ओह माँ … प्लीज …

मेरी बहन दर्द के मारे जोर से चिल्ला रही थी. उसने अपने हाथों से बेड की चादर को एकदम से पकड़ लिया था. आलिया के चिल्लाने से मैंने उसके मुँह पर हाथ रख दिया और लगातार बिना रुके आलिया को चोदने लगा.

आलिया अपने मुँह से मेरे हाथ हटाने की कोशिश कर रही थी. लेकिन मेरी पकड़ के वजह से वो कुछ नहीं कर पा रही थी.

दर्द के वजह से आलिया के आंख में आंसू आ गए थे, लेकिन मैं तो आलिया को चोदने में पागल हो गया था.

तभी आलिया ने दोनों हाथ से मेरी पीठ पकड़ लिया. मैं समझ गया कि आलिया की चुत अब राजी हो गई है. मैंने उसके मुँह से हाथ हटा दिया और उसकी चूत में तेजी से धक्के लगाने लगा.

आलिया भी अब जोरों से सीत्कार कर रही थी. इस दौरान आलिया मेरी पीठ पर नाखून मार रही थी. मैं आलिया को चोदने में इतना पागल हो गया था कि मुझे इस बात का अहसास ही नहीं हो रहा था.

मैं आलिया को इस समय एक रांड की तरह चोद रहा था. मैं क्या अगर किसी को भी आलिया जैसी चुत चुदाई को मिल जाए, तो कोई भी ऐसे ही चोदेगा.

आलिया- आह राज … धीमे … बहुत दर्द हो रहा है … आह ओह रहने दे अब … ओह माँ, राज निकाल ले प्लीज … आह यू आर सो हार्ड.

करीबन बीस मिनट तक आलिया को लगादार चोदने के बाद मैं भी थक गया था. मैं झड़ने की कगार पर आ गया था. मैंने आलिया की चूत से लंड खींचा और जल्दी से उससे अलग हो गया. आलिया भी एकदम से पस्त हो गई थी.

मेरा लंड लावा छोड़ने ही वाला था. मैं दौड़ कर बाथरूम में चला गया और मुठ मारने लगा. लंड को आठ दस बार ही हिलाया था कि मैं झड़ गया. मेरे लंड पर खून लगा था, यानि आलिया की सील टूट चुकी थी. हालांकि लंड डालने से पहले मैं समझता था कि आलिया चुदी चुदाई है लेकिन लंड डालते वक्त ही मुझे अहसास हो गया था कि आलिया अभी कुंवारी थी.

मैं लंड साफ़ करके फिर से आलिया के पास आ गया और एसी फुल करके आलिया के पास लेट गया.

आलिया चुत में उंगली घुमाते हुए सीत्कार कर रही थी. आलिया की चुत में खून लगा था और वो दर्द के मारे सीत्कार कर रही थी.

आलिया- इतनी बेरहमी से कोई चोदता है, साले तूने मेरा खून निकाल दिया … आह अह..
मैं- बधाई हो … अब तुम एक औरत बन गई हो.
आलिया- शटअप.

आलिया अपनी चुत में उंगली घुमाते हुए दर्द से तड़फ रही थी.

मैं- सॉरी..
आलिया- अब सॉरी का क्या अचार डालूं, जान निकाल दी तुमने … आह.

मैं आलिया को किस करने लगा और साथ में उसके मम्मों को भी दबाने लगा. इससे आलिया को थोड़ी राहत मिल गई थी.

अब आलिया मुझे रोककर खड़ी हुई और बाथरूम में चली गई. आलिया की चुदाई की वजह से उसकी चाल बदल गई थी.

कुछ मिनट बाद आलिया मेरे पास आकर लेट गई. उसको अभी भी दर्द हो रहा था. लेकिन अब दर्द पहले से कम लग रहा था.

मैं उसके चुत में उंगली घुमाकर बोला- हो जाए और एक राउंड!
आलिया- नो …
मैं- प्लीज़, इस बार धीमे करूंगा.
आलिया- नो मतलब नो … साले तुम जानवर की तरह चोदते हो … अभी भी दर्द हो रहा है.

आलिया अब खुलकर चुदाई के शब्द बोल रही थी. वैसे भी मेरे पास अभी कई दिन थे. मैं आलिया से चिपककर और एक हाथ उसके मम्मों पर रखकर लेट गया.

मैंने मजाक करते हुए कहा- आलिया ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा न!
आलिया- काश तुम मेरी जगह होते, तब तुम्हें पता चलता.

आलिया के गाल पर किस करके मैंने उसे सॉरी बोला … फिर लाइट ऑफ करके मई आलिया से चिपक गया. कुछ ही देर में हम दोनों सो गए. बल्कि यूं कहूँ कि आलिया सो गई थी और मैं अपनी आंखें बंद करके सोच रहा था.

मैं आंखें बंद करके सोच रहा था कि आखिरकार आलिया मेरी गलफ्रेंड बन ही गयी. सच में आलिया की यह चुदाई में जिंदगी भर नहीं भुला पाऊंगा. आलिया के वो रसीले होंठ … कातिलाना चूचे, टाईट चुत, हॉट फिगर … आह आलिया को चोदकर मजा आ गया.

मैं अभी और ज्यादा उत्साहित हो रहा था, क्योंकि आलिया के साथ आगे में और ज्यादा मजा करूंगा.

इस कहानी का अगला अंक जल्द ही आएगा, नए ट्विस्ट … मजेदार चुदाई और रोमांस के साथ मैं आलिया की चुत चुदाई की कहानी लिखूंगा. मुझे आपकी मेल का इन्तजार रहेगा.
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top