जूही और आरोही की चूत की खुजली-18

पिंकी सेन
दोस्तो, आपके सब्र का बाँध टूटे, इसके पहले मैं नया भाग लेकर आ गई हूँ।
मुझे उम्मीद है कि आज के भाग में आपको मज़ा आएगा, क्योंकि आज फिर एक ट्विस्ट डाला है। अब आप इस भाग का आनन्द लीजिए।
अब तक अपने पढ़ा…
रेहान आरोही के घर जाकर उसके रूम में उसको चोद देता है और जूही के लिए भी उसको राज़ी कर लेता है। जाने के टाइम राहुल को किसी नुस्खे का लालच देकर वो चला जाता है।
अब आगे…
रेहान वहाँ से सीधा अन्ना के पास गया।
अन्ना- आओ जी.. क्या खबर है, हमको बहुत मज़ा आना जी… उसको भी साथ लाना था जी.. क्या चूसती है वो…!
रेहान- हाँ वो टाइम भी आएगा.. अभी बस सब काम मेरे मुताबिक हो रहा है अन्ना। मुझे तो कोई मेहनत ही नहीं करनी पड़ रही। राहुल इतना बड़ा चूतिया है साला.. अपनी बहनों को चोदने के चक्कर में इतना अँधा हो गया कि समझ भी नहीं पा रहा है कि उनका क्या हाल होने वाला है। साला पागल है..! उसकी बहन तो खुद इतनी बड़ी चुदक्कड़ है.. अगर वो जरा सी मेहनत करता तो मेरी उसको जरूरत ही नहीं होती।
अन्ना- नहीं जी… गॉड तुमको हेल्प करना.. इसके वास्ते राहुल को तुम्हारे पास भेजना जी.. हम एक बात पूछना रेहान जी.. हम जानता कि अब उनका बहुत बुरा हाल होना जी लेकिन आप ऐसा क्यों करता जी.. ये हम को समझ नहीं आना जी?
रेहान- अन्ना सब बता दूँगा, वक्त आने दो। अब सुनो रात को क्या करना है…!
रेहान बोलता गया और अन्ना की आँखों में चमक आने लगी, दो मिनट तक रेहान अन्ना को समझाता रहा।
अन्ना- गुड जी वेरी गुड.. अन्ना तुमको सलाम देना जी.. क्या आइडिया होना जी मज़ा आ गया, अब तुम देखो अन्ना क्या करता जी..!
रेहान ‘ओके’ बोलकर वहाँ से चला आया और अपने घर आकर फिर से फोटो को देख कर रोने लगा- देखो सिमी.. अब बस ज़्यादा टाइम नहीं लगेगा, मैं आरोही के साथ-साथ उसके भाई और बहन की ज़िंदगी भी बर्बाद कर दूँगा.. हाँ अब बस तुम देखती जाओ ‘आई मिस यू सिमी’ आ जाओ प्लीज़ आ जाओ उउउ उूउउ…!
काफ़ी देर रेहान वहीं बैठा रोता रहा।
शाम को पाँच बजे जूही घर आई, तब आरोही गहरी नींद में थी।
जूही धीरे से उसके पास लेट गई और उसके गले को दबा दिया और ‘हूओ’ की आवाज़ निकाली।
आरोही की तो जान निकल गई और झटके से जूही को पीछे धकेला।
आरोही- पागल हो गई क्या मेरी तो जान निकल गई।
जूही- हा… हा… हा… तुमको क्या लगा… हा हा हा कोई तुम्हें मारने आ गया हहा हा हा..!
आरोही- रुक जूही की बच्ची, अभी तुझे मज़ा चखाती हूँ।
वो उठकर उसके पीछे भागी।
जूही कमरे में इधर-उधर भागने लगी और आख़िर आरोही ने उसे पकड़ कर बेड पर गिरा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगी।
जूही- अई उफ़फ्फ़ दर्द होता है.. क्या कर रही हो छोड़ो ना प्लीज़ आ..हह.. सॉरी अब नहीं करूँगी कसम से आ..हह…..!
आरोही उसको छोड़ कर अलग बैठ हुई- इतने से दर्द से घबरा गई, जब असली दर्द होगा तो क्या करोगी…!

यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !
जूही- यह नाटक नहीं था.. असली में दर्द हो रहा था…!
आरोही- मेरी भोली बहना… तुम समझी नहीं… जब चूत में लौड़ा जाएगा तब होगा असली दर्द…!
जूही- अच्छा तुमको कैसे पता.. तुम तो ऐसे बोल रही हो जैसे लौड़ा ले लिया हो…!
आरोही- और नहीं तो क्या.. इन दो दिनों मैंने खूब चुदाई कराई है और एक बड़ा सरप्राईज भी है तेरे लिए…!
जूही- मैं नहीं मानती.. आप झूठ बोल रही हो… प्रूफ दो तब मानूँ।
आरोही ने अपना पायजामा उतार कर अपनी फ़टी हुई फ़ुद्दी उसके सामने कर दी, जिसे देख कर साफ पता चल रहा था कि यह चुद चुकी है और चुदाई के कारण सूजी हुई भी थी।
जूही चूत को छूकर देखती है और अपनी ऊँगली उसमें घुसा देती है।
आरोही- आ..हह…. अब इस ऊँगली से कुछ फ़र्क नहीं पड़ने वाला बहना… लौड़े ने खोल कर रख दिया है इसको…!
जूही- ओ माई गॉड…कब हुआ ये सब और किसके साथ.. प्लीज़ बताओ न.. कैसा फील हुआ.. सब बताओ…!
आरोही उसे सारी बात बता देती है कि कैसे उसने रेहान के साथ चुदाई की और हेरोइन बन गई है। सब कुछ बता दिया। बस राहुल के साथ जो किया वो नहीं बताया।
जूही- ओह माय गॉड फिल्म साइन कर ली और मुझे पता भी नहीं चला दीदी प्लीज़ मुझे भी हिरोइन बनना है.. प्लीज़ कुछ करो आप रेहान से बात करो प्लीज़ प्लीज़…!
आरोही- अरे मेरी माँ… सुन तो पूरी बात.. आज रात को यहाँ छोटी सी पार्टी है बस हम दोनों और रेहान होगा.. तुम किसी तरह रेहान को खुश कर दो वो चाहेगा तो तुम भी स्टार बन जाओगी..!
जूही- दीदी मैं तो तैयार हूँ हम लेस्बो के टाइम सोचते थे कि लंड से कितना मज़ा आता होगा, पर कभी मौका नहीं मिला। अब आज पक्का मज़ा आएगा… पर आपने कहा दर्द होगा तो प्लीज़ बताओ ना कितना होगा…!
आरोही- मेरी जान बहुत होगा, पर बस एक बार… उसके बाद तो मज़े ही मज़े हैं और रेहान से शुरुआत करोगी तो बड़े आराम से करेगा। अब कहो क्या बोलती हो…!
जूही- ओ माई गॉड… मैं क्या बोलूँ रात तो कब होगी मेरी चूत तो अभी से गीली हो गई है यार…!
आरोही- अब तू जल्दी से बाथरूम में घुस जा और अपने बदन को चिकना कर ले। एक भी बाल नहीं रहना चाहिए समझ गई ना.. आज रात को खूब मस्ती करेंगे…!
जूही- पर दीदी एक बात समझ नहीं आ रही भाई के होते ये सब कैसे होगा…!
आरोही- भाई का टेन्शन तू मत ले यार… तू जानती नहीं हमारा भाई एक नंबर का हरामी है…!
जूही- वो कैसे…!
आरोही ने उसको पूरी बात बतादी, चुदाई की भी…!
जूही- ओह वाउ.. दीदी आपने तो इन दो दिन में इतना कुछ कर लिया मेरा तो दिमाग़ चकराने लगा है…!
आरोही- अब ज़्यादा सोच मत… जा जल्दी कर तू रात को सब समझ जाएगी।
जूही ख़ुशी-ख़ुशी बाथरूम में चली गई और आरोही वहीं बैठी मोबाइल पर कोई नम्बर डायल करने लगी।
आरोही- हैलो रेहान जी, जूही आ गई है और मान भी गई है.. पर एक बात दिमाग़ में नहीं आ रही कि आज रात हम देर तक मस्ती करेंगे तो कल शूटिंग का क्या होगा…!
रेहान- मेरी रानी, उसकी फिकर तुम क्यों करती हो, मैं सब संभाल लूँगा, तुम बस देखती जाओ।
आरोही- ओके रेहान बाय लव यू…!
आरोही फ़ोन रखने के बाद मोबाइल में गेम खेलने लगी।
शाम तक ऐसा कुछ खास नहीं हुआ जो मैं आपको बताऊँ तो आपको सीधे मेन पॉइंट पर ले जाती हूँ।
शाम को 8 बजे राहुल बीयर पार्टी का सामान ले रहा था, तभी उसको रेहान का फ़ोन आया और उसने बताया कि पार्टी तुम्हारे घर में नहीं बल्कि मेरे एक फार्म हाउस पर होगी, जहाँ कुछ सरप्राईज भी है, तो तुम सब रात 9 बजे रेडी रहना.. मैं आरोही को भी अभी बता देता हूँ इतना कहकर उसने फ़ोन काट दिया।
आरोही भी एकदम तैयार थी, तभी रेहान ने उसको फ़ोन किया और अपने प्लान के बारे में बता दिया और उसने यह भी कहा कि गाड़ी मैं भेज रहा हूँ, तुम लोग उसी में आ जाना और कुछ ड्रेस भी ले आना।
इतनी बात के बाद फ़ोन कट गया।
राहुल जल्दी से जरूरत का सामान लेकर घर आ गया।
आरोही हॉल में बैठी थी, उसने बहुत सेक्सी एक ब्लैक पारदर्शी मैक्सी वाला ड्रेस पहना था।
उसको देखते ही.. राहुल- वाउ.. यू लुकिंग हॉट.. मार डालेगी आज तो बहना…!
आरोही- थैंक्स भाई.. रेहान जी का फ़ोन आया था.. आपको भी किया होगा ना…!
राहुल- हाँ यार आया था.. जल्दी करो और यह जूही कहाँ रह गई अब तक नहीं आई तुमने उसको कॉल तो कर दिया था ना यार…!
आरोही- वो कब की आ गई भाई.. वो अन्दर तैयार हो रही है।
राहुल- उसको बता दिया ना पार्टी यहाँ नहीं है…!
आरोही- हाँ बाबा.. सब बता दिया, अब आप भी तैयार हो जाओ जल्दी…!
राहुल सारा सामान वहीं रख कर अपने कमरे में चला गया।
जूही भी तैयार होकर आ गई, उसने छोटा सा गुलाबी स्कर्ट और उस पर काली जैकेट पहनी थी, दोस्तो, अब मैं आपको क्या बताऊँ.. उसने ब्रा भी नहीं पहनी थी.. आधे से ज़्यादा मम्मे दिख रहे थे और स्कर्ट भी ऐसा कि जरा सा हवा का झोंका आए तो उसकी चूत भी दिख जाए।
आरोही- वाउ.. जूही क्या सेक्सी ड्रेस पहना है और ब्रा क्यों नहीं पहनी…!
जूही- वो इस जैकेट का लुक ऐसे ही आता है.. मम्मे दिखेंगे तभी तो आपके रेहान जी लट्टू होंगे न…!
आरोही- वेरी स्मार्ट गर्ल.. पैन्टी तो पहनी है ना वर्ना बैठते टाइम चूत भी दिखाई देगी हा हा हा…!
जूही- ये देखो, पहनी है.. आप भी न.. बस ही ही ही करती रहती हो…!
राहुल- वाउ.. क्या बात है जूही.. आज तो तुमने भी कमाल कर दिया है.. आज तो तुम आरोही को भी मात दे रही हो…!
जूही- भाई, प्लीज़ चुप रहो… मैं कभी भी दीदी से सुन्दर नहीं लग सकती ओके.. अब आप दीदी की तारीफ करो वरना मैं ये ड्रेस निकाल कर दूसरा पहन लूँगी…!
राहुल- सॉरी आरोही.. मैंने यूं ही बोल दिया.. इस दुनिया में तुमसे सुन्दर कोई नहीं है.. ओके…!
आरोही- ठीक है.. ठीक है.. अब मस्का मत लगाओ…!
दोस्तो, मैं आपको बता दूँ.. आरोही को बहुत गुस्सा आता है जब कोई उसके सामने किसी और की तारीफ करता है.. इसलिए सबको ये पता है कि आरोही गुस्से में पागल हो जाती है और कुछ भी कर सकती है, तो सभी इस बात का ध्यान रखते हैं।
वो तीनों बात कर ही रहे थे कि एक आदमी जिसने ड्राइवर की ड्रेस पहनी थी, वो अन्दर आया।
ड्राइवर- सर… आपके लिए रेहान सर ने कार भेजी है।
राहुल- हाँ ओके… तुम ये सामान लेकर चलो… हम आते हैं…!
तीनों उसके पीछे-पीछे चल दिए। राहुल आगे बैठ गया और दोनों पीछे।
आधा घंटा कार चलती रही और फिर एक सुनसान एरिया में बहुत ऊँचाई पर एक बड़ा सा फार्म हाउस आता है, वहाँ कार रुक गई। ड्राइवर ने नीचे उतर कर गेट खोला.. तीनों उतर गये।
बाहर एक 30 साल का ठीक-ठाक सा दिखने वाला आदमी खड़ा उनको वेलकम करता है और उनसे कहता है आप मेरे पीछे आइए रेहान सर अन्दर आपका वेट कर रहे हैं।
वो जब अन्दर जाते है तो ज़बरदस्त लाइटिंग हो रही थी और स्वीमिंग पूल के पास हट (झोपड़ी) बनी हुई थी.. जो काफ़ी बड़ी थी और सजी हुई थी।
आरोही- वाउ.. क्या मस्त डेकॉरेशन है मज़ा आ गया देख कर…!
रेहान- वेल्कम ब्यूटीफुल गर्ल्स…!
आरोही- ओह वाउ.. रेहान जी आपने तो काफ़ी अच्छा इंतजाम किया है।
रेहान- अब आप सब पहली बार मेरे फार्म पर आए हो तो कुछ स्पेशल तो बनता है ना…!
राहुल- हाँ यार, ये तो सही बात है.. इससे मिलो मेरी छोटी बहन जूही…!
रेहान ‘हाय सेक्सी’ बोलकर जूही का हाथ पकड़ कर चूम लेता है। जूही भी एक सेक्सी सी स्माइल दे देती है।
रेहान ताली बजाता है तो पाँच-छह आदमी आते हैं।
रेहान- सब काम हो गया न.. अब तुम सब बाहर जाओ।
वो सब बाहर चले गये, ड्राइवर राहुल का सामान अन्दर रख गया।
रेहान- ओके.. अब पार्टी शुरू करते हैं.. आ जाओ सब यहाँ आराम से बैठ कर ड्रिंक करेंगे।
रेहान ने अच्छे से टेबल लगाई थी, सब वहाँ बैठ गए, शैम्पेन खोली गई.. सबने आरोही को ‘विश’ किया और पीने का दौर शुरू हो गया।
उसके बाद बीयर की बोतलें खोली गई।
जूही- न बाबा मैं नहीं पीऊँगी.. अभी सर घूम रहा है…!
रेहान- अरे यार पार्टी का मज़ा लो.. नहीं पिओगी तो मज़ा कैसे आएगा लो..मेरे हाथों से पीओ।
ओके माई फ्रेंड्स ! आज का भाग यहीं तक ! अब अगले भाग में आपको पता चलेगा कि क्या होता है?
दोस्तो, आपने मेल करके कहानी की तारीफ की है, उसके लिए थैंक्स।
अब रेहान का क्या इरादा है, वो जानता है कि जूही तैयार है फिर भी वो जूही को नशे में क्यों कर रहा है?
अन्ना को रेहान ने रात के लिए कौन से इंतजाम के लिए कहा था?
सब सवालों के जवाब आगे के भाग में मिलेंगे..! तो पढ़ते रहिए और मज़ा लेते रहिए।
इस भाग के बारे में आप सब अपनी राय मेरी आईडी [email protected] gmail. com पर मेल करके बता सकते हो।
ओके बाय फ्रेंड्स।

Leave a Reply