चुदासी मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी

(Chudasi Mauseri Bahan Ki Chudai Ki Kahani)

मेरा नाम रेहान है, मैं कोटा राजस्थान में रहता हूँ, मेरी उम्र 19 साल की है और मैं अभी पढ़ रहा हूँ।
तो बात उस समय की है जब मेरी मौसी के लड़के की शादी थी।

मेरी मौसी के एक लड़का और एक लड़की सकीना है, सकीना बहुत खूबसूरत है। मेरी मौसी का घर हमारे घर से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर है।

हम सब मेरी मौसी के घर से शादी के स्थान पर गये हुए थे, उस दिन मेरी मौसी की लड़की सकीना भी वहीं थी।

सब लोग डांस कर रहे थे पर सकीना नहीं कर रही थी, थोड़ी देर बाद उसने मुझे इशारा किया।
मैं तुरंत उसके पास गया, वो मेरा हाथ पकड़ कर साईड में ले गई और मुझसे कहने लगी- डांस तो ऐसे कर रहा है कि कोई ना कोई लड़की पटा ही लेगा?
मैंने कहा- लड़की पटाना इतना आसान नहीं है, और मैं अनजान को पटाऊँगा भी नहीं… मैं तो जान पहचान वाली को ही पटाऊँगा।

वो बोली- मैं पट जाऊँ तो कोई परेशानी तो नहीं है ना?
मैं बोला- जरा फिर से कहना, मुझे सुनाई नहीं दिया?
उसने फिर से कहा- अगर मैं पट जाऊँ तो कोई परेशानी तो नहीं है ना?
मैंने कहा- नहीं!
और मैंने भी हाँ भर दी, वैसे भी इतनी शानदार माल को छोड़ेगा भी कौन!

फिर अचानक उसने मुझसे यह कहा- मेरी तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही, घर चलते हैं।
मैंने कहा- ठीक है!
और मैं उसे उनके घर मतलब (मौसी के घर) ले जाने लगा।
तो उसने मुझसे कहा- हमारे नहीं, आपके घर चलते हैं।
मैंने कहा- ठीक है, हमारे घर की चाबी मेरे पास ही थी तो मैं उसे लेकर चला गया।
और फिर घर का ताला खोल कर हम दोनों अंदर गये।

फिर मैंने पास वाले लड़के को बुलाया और उसको पैसे देकर मेडीकल से दवाई लेकर आने को कहा। वो दवाई देकर चला गया।
मैंने सकीना को दवाई खिलाई और मैं रसोई में पानी पीने चला गया।

पर जब मैं वापस आया तो मैंने देखा कि सकीना बेड पर बैठी हुई थी और उसने अपना टॉप उतार दिया था।
उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मुझे किस करने लगी।
मैं पीछे कैसे हटता, मैं भी उसे किस करने लगा।

फिर उसने मेरे एक के बाद एक करके सारे कपड़े उतार दिए और फिर से मुझे किस करने लगी। फिर मैं भी उसे किस करने लगा और उसकी शमीज उतार कर उसकी चुची दबाने लगा, वो मदहोश होने लगी और ‘सी… सीअ… अह’ की आवाजें निकालने लगी।

अब मैंने उसकी जींस उतार दी और उसकी पेंटी भी… मैं उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा।
फिर मैंने उसकी चूत में जैसे ही मेरी एक उंगली घुसाई तो उसके मुँह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गई।
वो मुझसे कहने लगी- भाई रेहान, अब बस अपना लंड घुसा दो मेरी चूत में!

मैंने भी देर ना करी और मैंने मेरा लंड उसकी चूत पर सेट किया और एक झटका लगाया तो मेरा लंड फिसल गया।
फिर मैंने तेल की शीशी ली और थोड़ा तेल उसकी चूत पर लगाया, फिर मैंने एक झटका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया और उसकी चीख निकल गई- आह अम्मी मर गई…

और वो कहने लगी- रेहान, निकालो इसे बहुत दर्द हो रहा है!
पर मैंने नहीं निकाला।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

फिर उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो फिर मैंने एक जोर से झटका मारा तो मेरा 6 इंच का लंड उसकी चूत में घुस गया और उसकी चीख के साथ साथ उसके आँसू भी आ गये।

अब मैंने लंड अंदर बाहर करना चालू कर दिया, मैं लंड अंदर बाहर कर रहा था और वो जोर जोर से ‘आह आह आह…’ कर रही थी।
फिर वो झड़ गई पर मैं अभी बाकी था, थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने उसकी चूत में से अपना लंड निकाला और उसके मुँह में दे दिया।
वो मेरा सारा पानी पी गई।

जब हम उठे तो मैंने देखा कि बेड पर खून था, तो मैंने बेड की चादर बदली और खून वाली चादर धो दी।
फिर हमने कपड़े पहने और हम वापस शादी के स्थान पर आ गये।

तो ये थी मेरी बहन की चूत चुदाई की कहानी! आपको पसंद आई?
मुझे मेल जरूर करें।
[email protected]

What did you think of this story??

Comments

सबसे ऊपर जाएँ