अपनी चूत की कामुकता मौसेरे भाई के लंड से शांत की

(Choot Ki Kamukta Mausere Bhai Ke Lund Se Shant Ki)

दोस्तो, मैं निशा, मैं आपके लिए अपनी दूसरी कहानी पेश कर रही हूँ, मैं 37 साल की हूँ, बरेली में रहती हूँ. मेरे पति फौज में हैं इसलिए मैं सेक्स की कमी से परेशान रहती हूँ।
मेरे बदन का आकार 36-34-38 है, घर में मेरी बेटी 18 साल की, ननद 26 साल की और सास 59 साल की है।

मेरी सास के साथ मेरे लेस्बियन सेक्स की कहानी आप पढ़ चुके हैं लेकिन यह घटना जो मैं आज बता रही हूँ, उससे भी पहले की है.

करवा चौथ के दिन मेरा सेक्स करने का बहुत मन था लेकिन पति को छुट्टी न मिलने के कारण वो नहीं आ सके। मैं अपने घर पर लेस्बियन सेक्स करती हूँ अपनी बेटी के साथ ननद के साथ और सास के साथ बेटी और ननद के साथ मैं लेस्बियन सेक्स साथ में कर लेती हूँ और सास के साथ अकेले में करती हूँ।
मुझे लंड लेने का बहुत मन हो रहा था। मैं कई दिनों तक इन्तजार करने के बाद थक गई फिर मेरे दिमाग में एक आईडिया कि क्यों न मैं सेक्स करने के लिये किसी को पटा लूँ।

दो दिन बाद मेरे घर पर मेरी मौसी का लड़का अमित आया जोकि मुझसे 10 वर्ष छोटा है, उसकी शादी अभी नहीं हुई है, वो देखने में बहुत ही स्मार्ट है और अच्छा लगता है। मेरे मन में ख्याल आया कि क्यों न आज अमित के साथ सेक्स कर लूँ।
रात के 1 बजे मैंने देखा कि अमित अपना मोबाईल चला रहा है. मेरे कमरे के बगल में ही मेरी बेटी का कमरा था और उसी कमरे मे अमित को सोने के लिये बोला था और मेरी बेटी अपनी बुआ के पास सोई हुई थी.

मैंने एक प्लान बनाया, मैंने अपने कमरे में टीवी पर ब्लू फिल्म लगा ली, टीवी की आवाज बढ़ा दी और सोने का नाटक करने लगी.
उसी बीच अमित ने सुना कि ये आवाज कहाँ से आ रही है और वो मेरे कमरे की तरफ आया तो उसने देखा कि कमरे की लाईट बन्द है और दीदी अपने कमरे में सो रही है.
मैं ये सब धीरे से आँख खोल कर देख रही थी कि तभी उसने मेरी तरफ देखा मेरी जाँघ खुली हुई थी. यह देखकर वो मेरी तरफ बढ़ा और मेरी जाँघ को घूरने लगा. तभी मैंने करवट ली और अपने चूतड़ उसकी तरफ कर दिये, अपनी मैक्सी और ऊपर खींच ली, इतने में मेरे चूतड़ दिखने लगे।

अमित का पैर नीचे रखे गिलास में लग गया और वो गिर गया तो मैं उठी और देखा कि अमित मेरे कमरे है, मैं बोली- तुम यहाँ क्या कर रहे हो?
तो वो बोला- दीदी आपका टीवी चल रहा था तो वही बन्द करने आया था।
तो मैं बोली- ओ के, वैसे तुम यहाँ क्या देख रहे थे?
वो शर्मा गया और बोला- कुछ नहीं दीदी!
तो मैंने उसे अपने बेड पर खींच लिया और उसको किस करने लगी.

मैं उठी और गेट बन्द किया और उसका लंड निकाल कर चूसने लगी, उसका लंड लगभग 8 इंच का था.

वो पहले तो चुपचाप करवाता रहा, फिर बोला- दीदी आपने ये सब जानबूझ कर किया है?
तो मैंने हाँ कर दी।
फिर वो मुझे किस किरने लगा, मैंने उसको नंगा कर दिया और उसने मेरे कपड़े उतार दिये. मैं दोबारा उसके लंड को फिर चूसने लगी.
10 मिनट के बाद वह मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसका सारा पानी पी गई।

आधे घण्टे बाद मैं फिर उसके लंड को चूसने लगी फिर अमित उठा और मेरे दूध दबाने लगा और चूसने लगा.
मैंने उससे पूछा- तुमने पहले किसी को चोदा है?
तो वो बोला- हाँ अपनी गर्लफ्रेण्ड को!

फिर अमित मेरे पेट पर और जाँघों पर किस करने लगा. उसने मेरी टाँगें फैला दी और मेरी चूत को चाटने लगा. मैं एकदम सिहर उठी. उसने 15 मिनट में मेरा पानी निकाल दिया. मेरी चूत एकदम गुलाबी हो गई थी।
अमित को मैंने बोला- अब क्यों तरसा रहा है? डाल दे मेरी चूत में अपना लंड!

उसने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और एक जोरदार झटका मारा कि पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर घुस गया। फिर उसने मुझे काफी देर तक चोदा. उस लम्बी चुदाई में मैं 3 बार झड़ी और फिर वो भी झड़ गया, उसने मेरी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया।

उस रात हमने 5 बार चुदाई की.

अमित बोला- दीदी, आपको चोद कर बहुत मजा आया.
तो मैं बोली- मुझे भी तुझसे चुदा के बहुत मजा आया।

वैसे अब मैं उससे रोज चुदाई करने वाली हूँ।

अगली कहानी में मैं बताऊँगी कि अपनी बेटी के साथ लेस्बियन सेक्स कैसे किया.

आपको मेरी रियल सेक्स स्टोरी कैसी लगी, जरूर बतायें।
फिर किसी से सेक्स करूँगी तो आपको बताऊँगी।

[email protected]

इस कहानी को पीडीएफ PDF फ़ाइल में डाउनलोड कीजिए! अपनी चूत की कामुकता मौसेरे भाई के लंड से शांत की