जयपुर की रूपा की अन्तर्वासना-3

(Gujrati Bhabhi Sex Story: Jaipur Ki Rupa Ki Antarvasna- Part 3)

This story is part of a series:

गुजराती भाभी सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि रूपा भाभी को भीड़ भरी बस में एक लड़का पप्पू मिला और भाभी उससे चुत चुदाई करवाने को तैयार हो गई.

जिस तरह पप्पू उसकी चूत चाट रहा था, उससे रूपा मदहोश हो कर पप्पू का सिर चूत पे दबाते हुई बोली- आहहह चोद जैसे मर्ज़ी आए वैसे चोद. आज तू चाहे कुछ भी कर ले लेकिन ऐसा मस्त लौड़ा जाने नहीं दूँगी मैं.. तू जी भर के गालियाँ दे… मार मुझे लेकिन जानवर बना के चोद भी मुझे.. पप्पू! पर बदले में तू भी मेरी गालियाँ सुनने और मेरी मार खाने के लिए तैयार रह… मुझे भी चुदाई के वक्त वहशियाना अंदाज अच्छा लगता है… पप्पू तू मेरी जैसी औरत को रंडी क्यों बोलता है? पति के अलावा मैं कई साल बाद किसी अजनबी संग चुत चुदाई का मजा ले रही हूँ… इसलिए रंडी बोलता है क्या मुझे? मेरी उम्र से तू ही अंदाजा लगा मेरी बेटियों की उम्र का. नहीं लगा सकता ना अंदाज़ तू? तो सुन दोनों अभी-अभी 20 साल की हो गई हैं.

मेरी सेक्स स्टोरी का आगे मजा लीजिये.

पप्पू ने गुजराती भाभी रूपा की चिकनी चूत चाट कर बाहर से पूरी गीली कर दी थी. रूपा की चूत को अन्दर से भी अच्छे से चाट कर पप्पू रूपा के मम्मों को पकड़ कर उनका सहारा ले कर खड़े होते हुए बोला- देखा मादरचोद रंडी, एक झापड़ से कैसे तुझे तेरी औकात मालूम हुई? ये भी देखा ना तूने कि कैसे एक अंजान मर्द के साथ रास्ते में चुदवाने के लिए नंगी हुई है तू… इसलिए तेरी जैसी चुदासी औरतों को मैं रांड बुलाता हूँ, थोड़ा यहाँ और वहाँ हाथ लगाओ और साली तुम टाँगें फ़ैला कर चुदवाने को तैयार हो जाती हो, है ना सच बात?

रूपा के मम्मे निचोड़ कर पप्पू ने रूपा को नीचे बिठाया और अपना लंड उसके मुँह पे घुमाते हुए बोला- चल मादरचोद चूत! अब मेरा लंड चूस अच्छे से, अब देख तुमसे क्या क्या करवाता हूँ. बहनचोद बीस साल की कमसिन चूत कभी नहीं चोदी मैंने और तेरे पास दो-दो कमसिन चूत हैं? तेरी माँ की चूत… खूब मज़ा आएगा तेरी बेटियों को चोदने में, खूब चोदूँगा तुझे और तेरी बेटियों को.

रूपा ने पप्पू का लंड अपने चेहरे पे घुमा कर उसे ऊपर कर के एक बार लंड के नीचे और गोटियों का पसीना चाट लिया.

फिर प्यार से पप्पू के मोटे लंड को देख कर उसको चूमते हुए बोली- हाँ पप्पू एक झापड़ से हो गई औकात पता मुझे मेरी… अरे पप्पू गाँडू, तेरे जैसा अलबेला मर्द हो या कोई और मर्द हो, इतना गर्म करोगे तो बर्फ जैसी कोई भी औरत चुदवाने के लिए नंगी हो जाये और फिर मैं तो खुद इतनी गर्म हूँ और अभी जवान हूँ… और ये इतना मस्त लंड देखूँगी तो क्या चुदवाने के लिए टाँगें फ़ैला कर तेरे नीचे नहीं लेटूँगी मादरचोद? तू देख तो… तेरा लंड मेरी नंगी जवानी देख कर कैसा फुँफकार रहा है. मानो इतनी मस्त नंगी औरत देखी ही ना हो. अरे बीस साल की चूत नहीं चोदी तो क्या हुआ? मेरा जिस्म और मेरी चूत भी तो वैसी ही है ना?

रूपा के चाटने से पप्पू को अच्छा लगा. उसे अब पेशाब आ रहा था. एक बार पेशाब करके फिर रूपा से लंड चुसवाना उसने बेहतर समझा.

पप्पू ने रूपा को ये बताया पर रूपा उसकी आँखों में आँखें डाल कर देखती हुई उसका लटकता और तना लंड सहलाती रही, मानो वो कुछ कहना चाहती हो पर शर्म से कह नहीं पा रही हो.

पप्पू ने एक मिनट रूपा को देखा और फिर उसके दिल की बात समझ गया. अपना लंड रूपा के मुँह की तरफ करके पेशाब करने लगा. पप्पू के पेशाब से रूपा का मुँह भर गया तो फिर उसकी पेशाब मुँह से हो कर मम्मों को गीला करते हुए और फिर नीचे चूत को गीली करके ज़मीन पे गिरने लगा. अपना लंड फिर रूपा की माँग पे निशना लगाकर उसमें पेशाब करते हुए पप्पू बोला- तेरी माँ की चूत हरामी रांड, आज तक किसी भी औरत की माँग ऐसे नहीं भरी थी, रांड तुझे पेशाब पिला कर और माँग भर के अब तुझे अपनी छिनाल बनाया है. रही बात गर्म करने की तो क्या तूने आज तक अपने मर्द को भी तुझे इतना गर्म करते देखा है? तू तो चुदवाने के पहले ही रांड बन गई है. मादरचोद तेरी जैसे औरत को मेरे जैसा लौड़ा जब मिलता है तो तुम लाज शरम छोड़ के किसी भी जगह नंगी हो कर रंडी होने का सबूत देती हो. तेरी चूत भी काफी मस्त है लेकिन साली बीस साल की लड़की का सील तोड़ना अलग बात है रूपा… इसी लिए मुझे उनको चोदना है रांड.

रूपा जैसा चाहती थी वो पप्पू ने समझ कर उसको अपने पेशाब से नहला दिया. उस गर्म पेशाब से अपने मम्मे और बदन को नहला कर रूपा को अच्छा लगा. सबसे अच्छा उसे तब लगा जब पप्पू ने उसकी माँग पेशाब से भरी. रूपा को पप्पू का पेशाब अपनी माँग और पूरे बदन पे सोने के पानी जैसा लगा.

अपने नंगे जिस्म पे वो पेशाब मलते-मलते हौले-हौले अपने मम्मे दबाते हुए वो बोली- हुम्म्म हाय, पप्पू मादरचोद… कितना अच्छा लगा तेरे पेशाब से नहाने में. तेरे लंड की कसम पप्पू भड़वे… ये इतने तने हुए निप्पल मेरे कभी नहीं हुये. आज पहली बार मुझे अपनी सैक्सी इमेज का एहसास हुआ. अरे मेरे जैसी औरत की बात छोड़, किसी भी औरत को ऐसा लंड मिले तो वो मस्त हो जाये और रंडी जैसे चुदवाये.

पेशाब टपकता पप्पू का लंड रूपा अपने मुँह में डाल कर मस्ती से चूसते हुए अपनी चूत और मम्मे सहलाने लगी.

पप्पू रूपा की बात सुन कर खुश हो कर उसका सिर पकड़ कर खड़े-खड़े उसका मुँह चोदते हुए बोला- तेरी माँ की चूत, कसम से आज तक तेरी जैसी हरामी औरत नहीं देखी जो पेशाब अपने जिस्म पे लगा कर खुद उसे अपने मम्मे और चूत पर मसलते हुए लंड चूसती है. ऐसे ही चूस रंडी, ज़ोर से चूस मेरा लौड़ा और गोटियाँ और ऐसे ही चूसते हुए चूत में उंगली करती रह रानी. मुझे पता है मेरा लंड देख कर किसी भी औरत की चूत गीली होगी रंडी… पर तेरी जैसी छिनाल औरत नंगी हो मेरे सामने तो मैं जानता हूँ कि वो औरत दोनों को खूब मज़ा देगी. अब मेरा ये लंड लेने के बाद अपनी लड़कियों को कब सुलायेगी मेरे नीचे ये बता साली..

ज़िंदगी में पहली बार इतना काला, मोटा और लंबा लंड देख कर रूपा खुश हो कर पहले उसे मसलने लगी. फिर पप्पू की गोटियाँ सहला कर और उसकी तरफ़ देख कर रूपा ने जीभ निकाल कर दो-तीन बार लंड चाट लिया. पप्पू के चेहरे पे फ़ैली मुस्कुराहट देख कर रूपा को बड़ा अच्छा लगा और उसने पप्पू का लंड मुँह में डाल लिया.

पप्पू के बड़े लौड़े से रूपा का मुँह पूरा भर गया. लंड पे मुँह आगे पीछे करते हुए लंड बहुत मस्ती से चूसते हुए रूपा बोली- अब मुझे लंड चूसने देगा या नहीं गाँडू? अब मेरी बेटियों के बारे में कुछ मत पूछना जब तक तू मेरी चूत में अपना पानी ना डाले. तब तक तू मेरे और अपने बारे में ही बात करना. उसके बाद मैं तुझे जो चाहे वो बताऊँगी उन दोनों के बारे में. कसम से इतना बड़ा लंड ज़िंदगी में नहीं चूसा. पप्पू साले मुझे लगता है तेरा लंड चूसते-चूसते आज चूत के साथ मेरे होंठ भी सूज जाएंगे.

रूपा की बात और चुसवाई अच्छी लगने से पप्पू हल्के-हल्के उसका मुँह चोदते हुए और बालों में हाथ फेरते हुए बोला- ठीक है मादरचोद रंडी, अब पहले तेरी चूत का भोसड़ा बनाने के बाद ही तेरी कमसिन बेटियों की बात करूँगा. रूपा रंडी… पहले मेरा लंड और फिर मेरी गोटियाँ और बाद में मेरी गांड चाट. फिर बाद में तेरी गांड मारूँगा और फिर चूत. बहनचोद इतना बड़ा लंड देखा नहीं था तो पहले मिलती, खूब चोदता तुझे रंडी. अब देख तेरी गांड कैसे फाड़ूँगा… पहले अच्छे से चूस कर बड़ा कर मेरा लौड़ा तेरी गांड फाड़ने के लिए.

रूपा खुशी से लंड चूस रही थी. मुठ मारती हुई वो लंड चाट कर मुँह में ले रही थी. चाटने से चेहरे पे आ रहे बालों को पप्पू पीछे करके रूपा को लंड चूसते देख कर सिसकरियाँ भर रहा था. अच्छे से लंड चूसने के बाद रूपा ने ज़मीन पे लेट कर पप्पू के दोनों पैरों के एकदम नीचे उसके लंड के पास आते हुए उसे अपने मुँह पे बिठाया, जिससे उसका लंड पूरा रूपा की गिरफ्त में रहे और पप्पू की झाँट, गोटियाँ और गांड का छेद भी एकदम जीभ के पास हो.

पप्पू की झाँट चाट कर वो बोली- हाँ और लंबा करूँगी… चाहे जो हो जाये. बहनचोद तुझे तो वक्त का अंदाज़ा भी नहीं होगा कि पूरे दस मिनट से चूस रही हूँ तेरा लंड… देख कितना गीला हुआ है. गोटियाँ क्या चूसूँ, मुझे तो तेरी झाँटों से आती खुशबू में दिलचस्पी है, वही तो है जो मुझे मदहोश करती है… पप्पू कुत्ते.

रूपा की इस अदा पे पप्पू खुश हुआ पर उसे और खुशी तब मिली जब उसे अपनी गांड पर रूपा की जीभ महसूस हुई. आँखें बन्द करके रूपा के मम्मे ज़ोर से मसलते हुए वो बोला- साली तेरा चूसना इतना मस्त है कि इतना समय तूने चूसा वो समझा ही नहीं. कसम से तेरे जैसा मस्त लौड़ा आज तक किसी ने नहीं चूसा मेरा. तू सही में मर्द को गर्म करना और उसे खुश करना जानती है रूपा.. और फिर ये तेरा गांड चाटना, उफ्फ्फ, मादरचोद अच्छे से मेरी गांड चाटेगी तो ऐसे ही तुझे चोदूँगा और हमेशा खुश रखूंगा, चल चोद रूपा साली.. अपनी जीभ से मेरी गांड को चोद बहन की लौड़ी.. आह..

रूपा जीभ गांड पे घुमा कर चाटने लगी. उसका एक हाथ लंड पे मुठ भी मार रहा था. पप्पू मम्मे बड़ी मस्ती से मसल कर उसे और गर्म कर रहा था. गांड के छेद में जीभ घुसेड़ कर वो पप्पू को और खुश कर रही थी. गांड चाटने के बाद उसने लंड के आजू बाजू का इलाका थूक से पूरा का पूरा गीला किया, मानो पप्पू के लंड से रस बहने लगा हो.

लंड को चेहरे पे घुमाती हुई रूपा बोली- हाँ और दे मुझे और दे तेरी झाँटें… लंड और गांड, आज सब चाट डालूँगी मादरचोद. आज मैं पूरे मूड में हूँ, सब कुछ करूँगी. मेरा ये ऐसा नशीला मूड तूने ही बनाया है, अब तू जैसा चाहे वैसे चोद मुझे पप्पू. मुझे अच्छे से चोद और जब तक मुझे चोद रहा है… मेरी बेटियों के ख्यालों में खो मत जाना. अरे मेरी बेटियाँ भी मिलेंगी तुझे, उनको मैं ही चुदवाऊँगी तुझसे. वो भले ही बीस साल की हों पर जिस्म 23-24 जैसा है उनका. पप्पू तू मेरी बेटियों को भी खूब चोदना.

पप्पू अब रूपा पे उल्टा लेट गया. इससे रूपा को लंड और गांड चाटने में आसानी हो गई और रूपा की चूत और गांड पप्पू के मुँह के पास हो गई. अपने पैर घुटनों में मोड़ कर पप्पू पैरों की उंगलियों से रूपा के मम्मे मसलने लगा.

अपने खुरदुरे पैरों से रूपा के चिकने और मुलायम मम्मे बेरहमी से रगड़ते हुए वो बोला- तेरी माँ की चूत साली… मुझे अपनी लड़कियों का लालच देती है छिनाल? साली तू क्या उनकी दलाल है हरामन? बहनचोद मैं तो तेरी लड़कियों को वैसे भी चोदूँगा रंडी. लेकिन अब पहले तेरे जिस्म को चोदना है अभी. आहहह हहह हरामी… जीभ से मेरी गांड चोद, पूरी अन्दर डाल अपनी जीभ.

थोड़ा और नीचे हो कर पप्पू की गांड के दोनों गोलों को अलग करके उसके छेद पे अपनी जीभ रख कर रूपा पागल बिल्ली की तरह चाटने लगी. उस तीखी गंध से उसे अच्छा लगा तो वो पूरी गांड पे जीभ फेरते हुए छेद में जीभ घुसा कर चाटने लगी.

अपने मुलायम मम्मों पे पप्पू के खुरदुरे पैरों से होता खिलवाड़ उसे अच्छा लगा और वो बोली- हाँ साले… डालती हूँ! पहले झाँटों से तो स्वाद खतम करने दे. मैं बेटियों का लालच नहीं दे रही बल्कि इसमें तो मेरा ही स्वार्थ है, मुझे तेरे जैसे मर्द का मूसल जैसा लंड मिले. पप्पू… मैं तो यही चाहुँगी कि मेरी बेटियों को भी इस लंड से अच्छी चुदाई मिले. वैसे वो मेरी बेटियाँ हैं… इसलिए हो सकता है कि वो कालेज में लड़कों से चुदवाती हों.

रूपा की चूत फ़ैला कर उसमें जीभ डाल कर पप्पू चूत को जीभ से चोदने लगा. पूरी जीभ अन्दर डाल कर चूत चाटने के बाद अपनी गांड को चोद रही रूपा की जीभ का अच्छा एहसास होने लगा.

पप्पू बोला- आआ आआहहह हह साआलीईईई क्या गर्म जीभ है तेरी रंडी, इतनी गर्म जीभ आज तक मेरी गांड पे नहीं लगी और चाट, चूस अन्दर डाल जीभ, बहनचोद कसम से ऊपर वाले की दुआ से आज पहली बार इतना गर्म माल मिला है, साली तू रंडी बनने के लायक है, तुझे तो किसी बड़े आदमी की रखैल बनना चाहिये रूपा कुतिया.. साली चूस और चोद मेरी गांड रंडी, आहहहहह.

पप्पू फिर चूत को उंगली से फ़ैला कर चाटने लगा. रूपा की गांड को सहला कर वो बीच-बीच में गांड भी चाटने लगा. फिर अपनी जीभ से चूत को चोदते हुए उसने रूपा की गांड में उंगली घुसा डाली. गांड में उंगली घुसने से रूपा उचकी. वो भी पप्पू की गांड चाटने लगी मस्ती से. उन दोनों का ये खेल चलता रहा.

फिर अपना मुँह पप्पू की गांड से हटा कर रूपा बोली- देखो पप्पू, हम दोनों ने ये अनुभव पहली बार किया है. बहुत मज़ा आ रहा है तेरी गांड चाटने में और तुझसे अपनी गांड चाटवाने में.. आहह अरे उंगली से क्या गांड फाड़ेगा गाँडू? मेरी गांड तेरे लौड़े से फटनी चाहिये. ऊम्म्म्म्म और अन्दर अपनी मर्दानी जीभ डाल मेरी गर्म गुजराती चूत में पप्पू कुत्ते. मेरे चोदू भड़वे, जी चाहता है कि आज रात की सुबह ही ना हो, तू ऐसे ही पेलता रहे मुझे रात भर. ओहहह… मेरे मम्मे पे अपने हथौड़े जैसे हाथ से मेहरबानी कर… बहुत दिनों से इनको तेरे जैसे मस्त मर्द ने छुआ और मसला नहीं है.

पप्पू उठ कर रूपा के सीने पे बैठ गया जिससे अब उसकी गांड रूपा के मुँह पे आ गई. रूपा पप्पू की गांड फ़ैला कर उसे चाटने लगी और पप्पू उसके मम्मों को ज़ोर से मसलते हुए और निप्पलों को खींचने लगा.

पप्पू बोला- अरे बहनचोद रंडी, लौड़े से ही तेरी गांड फाड़ूँगा रानी, पर पहले तेरी गांड में उंगली करके उसमें मस्ती तो भर दूँ. साली तू लंड के लिए इतनी क्यों उतावली हो रही है? बहनचोद लंड घुसेगा तो देखूँगा कि कितनी मस्ती या दर्द से चुदवाती है तू. वैसे रंडी तेरे मम्मे सही में बड़े शानदार हैं, साली देख कैसे तन कर खड़े हैं तेरे निप्पल. आह बहनचोद… तेरे मम्मे बहुत दिनों से मसले नहीं ना किसी ने, आज देख तेरे मम्मों को कैसे नोंच-नोंच कर मसलता हूँ रंडी.

रूपा में और मस्ती भर गई मम्मों के मसलने से. पप्पू उसके मम्मे मसल रहा था तो वो लंड पकड़ कर पप्पू को दिखा कर हिलाती हुई उसकी मुठ मारने लगी, जिससे उसमें से काफी रस निकल आया.

एक हाथ से वो पतला सा रस ले कर उसे अपनी चूत पे रगड़ते हुए धीरे-धीरे रूपा उतावली हो कर पप्पू की गांड चाट रही थी. अब उसे एहसास हो रहा था कि उसकी चूत में लंड नहीं घुसा तो वो बहद बेकाबू हो जायेगी.

अपनी चूत में उंगली डालते हुए वो पप्पू से बोली- उफ्फ बहनचोद, मैं सही में अब उतावली हो गई हूँ तेरे लंड के लिए. तूने आज जैसे मुझे गर्म करके रंडी बनाया है वैसे आज तक मैंने कभी नहीं किया था. तेरे इस दमदार लौड़े से दर्द भी हुआ तो भी अपनी गांड को मैं चुदवाऊँगी, पर साले मादरचोद… अब चोद डाल मेरी चूत. बहुत तड़प रही है मेरी चूत तेरे लौड़े के लिए. दे मुझे अपना ये लौड़ा और शाँत कर मेरी जवानी आह्ह..

अपने नीचे लेटी रूपा की तड़प देख कर पप्पू खुश हुआ. उस रंडी औरत को चुदाई के लिए इतनी बेताब बनी देख कर उसे और तड़पाने के लिए उसके मम्मे और भी बेरहमी से मसलते हुए निप्पल खींच कर उनको मस्ती से मरोड़ते हुए वो बोला- बहनचोद इतनी क्यों उतावली हो रही है कि लंड पे से मेरा पानी ले कर चूत में डाल रही है रंडी? अरे चूत में तो मेरा लौड़ा घुसेगा… तब मज़ा आएगा तुझे… वो उंगली निकाल रांड. साली और थोड़ी मेरी गांड चाट कर जीभ से चोद… उसके बाद तेरी चूत फड़ दूँगा मैं, चल और चाट मेरी गांड मेरी रूपा रानी.

‘आहहहह… अब ये आग नहीं सही जाती, जल्दी मेरी चूत में डाल दे अपना मुस्टंडा लंड नहीं तो मैं मर जाऊँगी… बहन के लौड़े. एक बार मुझे शाँत कर… फिर तू कहेगा तो मैं रात भर तेरी गांड चाटूँगी साले.. लेकिन अब सहा नहीं जाता, अब गांड चाटने को मत बोल, अभी मेरी चूत चोद डाल.

रूपा उंगली से अपनी चूत चोदते हुए जोश में आकर दूसरे हाथ से पप्पू के बाल पकड़ कर उसका सिर झंझोड़ डाला और उसकी छाती में एक मुक्का भी मारा. फिर जोश में उसका लंड सहलाने लगी. वो बहुत उतावली हो कर पप्पू की गांड को चूसती रही.

पप्पू को पहले तो रूपा के मुक्के और अपने बाल खींचे जाने पर गुस्सा आया पर फिर रूपा पे रहम खा कर उसने उसकी चूत को झुक कर एक बार पूरी जीभ अन्दर डाल के अच्छे से चाट लिया. फिर उसकी टाँगें फ़ैला कर उनके बीच में बैठ के निप्पल खींचे और मम्मे बेरहमी से मसले.

फिर बोला- चल रूपा रंडी, पहले तेरी चूत फाड़ कर बाद मैं तेरी गांड का भोसड़ा बना दूँगा… चल छिनाल मेरा लंड पकड़ कर अपनी रंडी चूत पे रख और चूत उठा कर मेरे लौड़े से लगा. बहनचोद बहुत गर्म हो गई है… लगता है अब तेरी इस गर्म गुज्जू चूत में अपना मूसल लौड़ा डाल के तुझे नहीं चोदा तो तू अपनी चूत की आग में जल जायेगी. मादरचोद कैसे एक अंजान मर्द की गांड चाट रही है तू साली भड़वी. कसम से तेरे जैसी गर्म माल देखी नहीं आज तक, चल रख मेरा लंड अपनी गर्म चूत पे.

अपना सीना ऊपर करके पप्पू के हाथों में अपने मम्मे भर कर रूपा एक चुदक्कड़ बिल्ली की तरह झट से पप्पू का लंड पकड़ कर अपनी चूत पे सटा कर खुद ही अपनी कमर ऊपर नीचे करती हुई लंड अन्दर डालने की कोशिश करती हुई बोली- आआहहहह… उम्म्म अब मुझे चैन मिलेगा भोसड़ी के… ले मैंने चूत पे लंड रख दिया, अब तू मेरी गर्म चूत में बिंदास हो कर अपना लौड़ा डाल दे.

रूपा ने लंड चूत पे जैसे ही रखा, पप्पू ने हल्का धक्का दिया, जिससे रूपा की तंग चूत का मुँह फ़ैला कर लंड की टोपी अन्दर घुस गई.

रूपा की एक चूची बेरहमी से मसलते हुए और दूसरे हाथ से अपना लंड पकड़ कर पप्पू बोला- मादरचोद बड़ी चुदासी लगती है तू… रंडी अब देख तेरी चूत की क्या हालत करता हूँ. मादरचोद बड़ा गर्म किया है तूने मेरा लंड छिनाल, तेरी चूत बड़ी मस्ती से चोदूँगा साली हरामन.

मेरी गुजराती भाभी सेक्स स्टोरी पर अपने कमेन्ट मेल से भेजिए.
[email protected]
कहानी जारी है.