मार्च 2016 की लोकप्रिय कहानियाँ

(Best Stories Published In March 2016)

यह कहानी निम्न शृंखला का एक भाग है:

प्रिय अन्तर्वासना पाठको
मार्च महीने में प्रकाशित कहानियों में से पाठकों की पसंद की पांच कहानियां आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…

मेरी बीवी की मस्त जवानी का कामुक नज़ारा

 
मेरा नाम ऋषभ जैन है, मैं एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ। मेरी उम्र 34 साल है.. मेरी शादी हुए दस साल हो चुके हैं। मेरे वाइफ का नाम जूही जैन है.. उसकी उम्र 31 साल है.. लेकिन लगती 25 की है। वो बहुत ही सेक्सी दिखती है। गोरा रंग.. ऊंचा कद.. बड़े-बड़े बूब्स.. पतली कमर और उभरे हुए नितंब यानि चूतड़..
उसकी बात ही कुछ और है, उसे जो भी देखे.. उसका लण्ड तन जाए.. और उस देखने वाले के मन में उसे चोदने की इच्छा हो जाए।

अपने जीवन की एक रोचक कामुकता भरी घटना अन्तर्वासना डॉट कॉम के पाठकों के लिये लिख रहा हूँ।
उस वक्त मेरी और जूही की शादी हुए 4 साल चुके थे, हमारी लाइफ बड़े आराम और मस्त चल रही थी। जूही एक सीधी-सादी घरेलू औरत थी, अपने पति यानि कि मेरा पूरा ख्याल रखती थी।

हमारी लाइफ में अलग मोड़ आया और हमारी लाइफ और भी रंगीन हो गई।
मेरा ट्रान्सफर दूसरे शहर में हो गया, मैंने अपने दोस्त रवि की मदद से उसके घर के बाजू में ही एक घर किराये पर ले लिया।
घर बहुत बढ़िया था.. हॉल.. रसोई और बेडरूम..

हमने वहाँ शिफ्ट कर लिया, उसी दिन हमने पूरे घर की साफ-सफाई करके सारा समान सैट कर दिया।
घर की सफाई करते वक़्त जूही को वहाँ पर एक सीडी का एलबम मिला, वो मेरे पास लेकर आई और उसने मुझे दिखाया।
मैंने देखा और सोचा कि पुराने किराएदार का छूट गया होगा, मैंने उसको साइड में रख दिया।

हमें घर का समान सैट करते-करते रात हो गई, मैंने होटल से खाना मंगवाया और हमने खाना खाया और सोने लगे।
तभी मुझे वो सीडी एलबम की याद आई और मैंने उसे टीवी पर लगाया.. और जो हमने देखा हमारी दोनों की आँखें फटी की फटी रह गईं। वो ब्लू-फिल्म की सीडियाँ थीं। इसके पहले हम दोनों ने साथ में कभी ब्लू-फिल्म नहीं देखी थी।

ब्लू-फिल्म देखने के बाद हमारी जबरदस्त चुदाई हुई।

उस दिन से हमारा जीवन ही बदल गया। अब हम हर रोज वो सीडियां देखने लगे और चुदाई करने लगे, हमें चुदाई में बहुत मज़ा आने लगा।
इसके पहले हम खामोशी से चुदाई करते थे और सो जाते थे, अब हम सेक्सी बातें करने लगे।

एक दिन ऐसे ही सेक्स करते समय मैंने जूही से कहा- जूही जब तुम्हें कोई मर्द प्यासी नज़रों से देखता है.. तो मुझे बहुत मज़ा आता है।
जूही मेरी बात सुनकर हैरान हो गई.. वो बोली- क्या जानू.. अक्सर मरदों को उनकी वाइफ को कोई देखे.. तो गुस्सा आता है.. और आप हैं कि आपको मज़ा आता है?

मैंने कहा- क्या करूँ जान.. मैं हूँ ही ऐसा.. वैसे भी तुम्हें नहीं अच्छा लगता अगर तुम्हें कोई प्यासी नज़रों से देखे तो.. सच सच बताना?
वो मेरी बात सुन कर चुप हो गई।

पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…
 

पर-पुरुष की चाहत में एक दीवानी

 
मेरी कहानी वाइफ़ स्वैपिंग की चाहत में दो दीवाने के तीन भाग अन्तर्वासना के चहेते लेखक वरिन्द्र सिंह द्वारा भेजे गए थे।
अब एक और सच्ची कहानी आपको बताना चाहता हूँ। आशा है आपको पसंद आएगी।

अन्तर्वासना डाट कॉम पर मेरी कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक दिन मेरे ई मेल आईडी पर एक ई मेल मिला, किसी रिया नाम की लड़की का था, उसने मुझसे मेरे क्लब के बारे में जानकारी और मुझसे बात करने की इच्छा ज़ाहिर की। वो दिल्ली में ही रहती है।

पहले हमने ई मेल्स के जरिये और फिर गूगल हैंगआउट पर चैटिंग की और मेरे फेसबुक पेज gargseemaraj पर बहुत बहुत बार मेसेज के जरिये बात की।

जब दोनों का विश्वास बन गया तो फोन नम्बर ले दे कर कॉलिंग के जरिये आपस में बहुत खुल कर बात हुई।
इस दौरान यह बात तो साफ हो गई कि उसका पति वाइफ़ स्वेपिंग में रुचि नहीं रखता था।
मैंने उसे यह भी कहा कि हमारे क्लब में तो सिर्फ़ युगलों को ही प्रवेश मिलता है, अकेले क्लब जॉइन नहीं कर सकते।

मगर उसने बताया कि सेक्स के बारे में उसके पति और उसके विचार अलग अलग हैं। पति सिर्फ एक से ही सेक्स करना पसंद करते हैं, मगर उसे सेक्स में नित नई चीज़ें चाहिए, सेक्स को लेकर वो अपनी ज़िंदगी का भरपूर मज़ा लेना चाहती है, मगर यह नहीं चाहती कि लोग उसको रंडी ही समझे मगर जीवन का लुत्फ लेना तो सबका हक़ है।

मुझे वो लड़की बहुत बिंदास लगी, मैंने उससे मिलने का सोचा और उससे मिलने की इच्छा ज़ाहिर की।
हम दोनों एक रेस्तरां में मिले, एक खूबसूरत, स्लिम और सेक्सी औरत… मुझे तो देखते ही वो भा गई और मन ही मन मैं उसे चोदने के सपने सँजोने लगा।

थोड़ा ज़्यादा बेतकल्लुफ होते हुये मैंने उससे हाथ मिला कर उसका अभिवादन किया, उसने भी बड़ी गर्मजोशी से मुझसे हाथ मिलाया। हम दोनों बैठ कर कुछ देर बातें करते रहे एक दूसरे के बारे में, क्लब के बारे में।

Comments

सबसे ऊपर जाएँ