शिप्रा XX

rss feed

दीपावली के पटाखों की सौगात

दीपावली के पटाखों से मेरे जीवन में कुछ ऐसा घटित हुआ कि मैं उसे जीवन भर भूल नहीं पाऊँगी. कहानी पढ़ कर जाने कि क्या हुआ था मेरे साथ!

डुबकी का खेल रिया के साथ

लेखक : सुमित सम्पादक : शिप्रा मेरे प्रिय अन्तर्वासना के मित्रो, मैं जयपुर (राजस्थान प्रदेश) का रहने वाला हूँ और 2008 से अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ. आप यह भी कह सकते हैं मुझे अन्तर्वासना की लत लगी हुई है और मैंने अन्तर्वासना की 2008 से लेकर आज तक प्रकाशित होने वाली अधिकतर कहानियाँ पढ़ी […]

इक्कीसवीं वर्षगांठ-3

On 2011-11-10 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

प्रेषिका : शिप्रा सुबह आठ बजे जब पापा ऑफिस चले गए तब शिप्रा ने मेरे पजामे में हाथ डाल कर मेरे लौड़े और टट्टों को दबा कर मुझे जगाया और कहा कि मैं फ्रेश हो कर नाश्ता कर लूँ ! मैं भी उसके मम्मों को पकड़ कर दबाते हुए उठा और उसे चूम कर बाथरूम […]

इक्कीसवीं वर्षगांठ-2

प्रेषिका : शिप्रा शिप्रा के रसोई में जाने के बाद मैं अपने बिस्तर पर लेट लेटे तीन वर्ष पहले अपनी अठारवीं वर्षगाँठ की वह घटना को याद करने लगा जब शिप्रा और मेरे यौन सम्बन्ध स्थापित हुए थे। आप सब भी उस घटना के बारे में जिज्ञासु होंगे इसलिए मैं उसका विवरण निम्नखित अनुच्छेदों में […]

​इक्कीसवीं वर्षगांठ-1

मेरा नाम सुमित है, मैं राजस्थान में जयपुर का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 21 वर्ष, एक छोटे से मध्यम वर्ग के परिवार का सदस्य हूँ। मैं जयपुर में एक इंजिनीयरिंग कालेज के अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रहा हूँ। मेरे परिवार के सदस्य हैं मेरे पापा पृथ्वीराज जो एक निजी उद्योग में कार्यरत हैं, […]

Scroll To Top