वन्दना

rss feed

कंप्यूटर सेन्टर-2

दोस्तो, आप सबकी उम्मीदों पर खरी उतरने के लिए वंदना फिर हाज़िर है ! चलो दोस्तो, मेरी रंगीन रात की बंद कमरे की कहानी आप सबके लिए मेरी अपनी जुबानी ! बोले- मैडम, माफ़ करना सिर्फ आधे घंटे का वक़्त दो, हम ज़रा घर होकर वापस आते हैं। खाना मत बनाना, लेकर आयेंगे ! दारु […]

कंप्यूटर सेन्टर-1

On 2008-09-21 Category: गुरु घण्टाल Tags:

मेरी दो कहानियाँ एक अरसा पहले प्रकाशित हो चुकी हैं। कम्प्यूटर लैब में तीन लौड़ों से चुदी कंप्यूटर लैब से चौकीदार तक उसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए अब उनसे आगे : दोस्तो, आप सब ने मेरी दोनों कहानियों को बेहद प्यार, सतिकार दिया है। कई लोगों से मेरी बात हुई, फ़ोन नंबर लेकर लोगों […]

कंप्यूटर लैब से चौकीदार तक

On 2006-08-11 Category: कोई मिल गया Tags:

कम्प्यूटर लैब में तीन लौड़ों से चुदी से आगे: कई लोग सोचते होंगे कि शायद यहाँ अन्तर्वासना पर मनगढ़ंत कहानियाँ होती हैं, लेकिन दोस्तो, यह कलियुग है, घोर कलियुग! इन सभी किस्सों में सचाई सौ फ़ीसदी होती है। यह बात दुबारा इस लिए लिख रही हूँ क्यूंकि मेरी पहली कहानी छपने के बाद जब चैट […]

कम्प्यूटर लैब में तीन लौड़ों से चुदी

किशोर कमसिन थी जब मैंने अपनी सील तुड़वाई थी और फिर उसके बाद कई लड़के कॉलेज लाइफ तक आये और मेरे साथ मजे करके गए।

Scroll To Top