जन्मदिन के उपहार में गाण्ड मरवाई-2

Janamdin ke Upahar me Gaand Marvai-2 मैं काफ़ी देर तक भैया के ऊपर लेटा रहा, कभी उनकी आँखों मे आँखें डाल कर उनको देखता और वो मुझे फिर उनके रसीले… [Continue Reading]

जन्मदिन के उपहार में गाण्ड मरवाई-1

Janamdin ke Upahar me Gaand Marvai-1 दरअसल मेरे ये भैया मेरे पापा के जूनियर हैं, उनका नाम करण है। हमेशा से ही मुझे पुलिस वाले अच्छे लगते थे और भैया… [Continue Reading]