नई जगह, नये दोस्त-4

मेरी गांड चुदाई की सेक्स कहानी नई जगह, नये दोस्त-3 में मैंने आपको बताया कि मैं एक कस्बे में नौकरी पर गया तो मुझे वहां कैसे कैसे लौंडे, माशूक, गांडू… [Continue Reading]

नई जगह, नये दोस्त-3

मैं खिड़की से देख रहा था कि देवेश का लम्बा मोटा मस्त लंड शशि की गांड में घुसा था, शशि के गोल गोल मस्त गोरे गोरे चूतड़़ चमक रहे थे, लंड पूरा घुस गया था और अंदर बाहर हो रहा था.

नई जगह, नये दोस्त-2

आप मेरे गांडू जीवन की गाथा का एक भाग पढ़ रहे हैं जब मैं एक छोटे कसबे में पोस्टिंग पर गया था. वहां मेरी बहुत इज्जत थी और मुझे वो इज्जत बना कर रखनी थी. साथ ही गांड की प्यास भी बुझानी थी.

नई जगह, नये दोस्त-1

मैं गांड का शौकीन यानी गे हूँ, मेरी पहली पोस्टिंग दूर दराज के एक गांवनुमा कस्बे में हुई थी, वहां मेरे साथ हुई गांडू सेक्स की घटनाएँ मैं अपनी इस कहानी में आप पाठकों के लिए प्रस्तुत कर रहा हूँ.

डांस में गांड हिलाई फैन्स से मरवाई-2

मेरी गांड की कहानी डांस में गांड हिलाई फैन्स से मरवाई-1 से आगे: उन भाई साहब का नाम रमेश था, वे गांव के समृद्ध किसान परिवार से थे. शाम को… [Continue Reading]

डांस में गांड हिलाई फैन्स से मरवाई-1

अगर लौंडा माशूक है, चिकना है तो उसके दोस्त उसे गांड मरवाने में चालू कर ही देते हैं। किस किस से गांड बचाएगा बेचारा… पहले गले में हाथ डालते हैं फिर गले मिलते हैं फिर चुम्मा लेते हैं, गाल काटते हैं, फिर ओंठ चूसते हैं फिर गांड पर हाथ फेरते हैं और गांड मार कर ही दम लेते हैं।

गांड चुदाई के शौक का मारा

मेरे गांडू दोस्तों को एक अपने जैसे शौक के मारे का सलाम. दोस्तो कभी कभी ऐसी गड़बड़ हो ही जाती है. मैं मिलने किसी से गया था, मिला कोई दूसरा… [Continue Reading]

अनजान फौजी से गांड मरवाई

राधे चाचा विधुर थे, उनकी पत्नी चार पांच साल पहले गुजर गई थीं. वे एक रिटायर फौजी थे, लौंडों की गांड मारने के आशिक थे, जिस लड़के के पीछे पड़ जाते उसकी गांड में लंड पेल कर ही मानते थे. अब तक उन्होंने छोटी उम्र से लेकर पच्चीस साल तक के गांव के सारे ही लौंडे निपटा दिए थे.

मेरी गांड मराई की हॉट गे कहानी

मेरा एक गे दोस्त बना. वो गांड मारने और मराने दोनों का शौकीन था मेरी तरह. एक बार उसके बड़े भाई ने मुझे देख लिया , वो भी गे थे, वो मेरी गांड मारना चाहते थे. मेरी गे कहानी पढ़ कर देखें कि फिर क्या हुआ!

मेरा गांडू जीवन

मैं अपने पुराने शहर में कम उम्र से ही गांड मराने का शौकीन हो गया। असल में पहले तो मेरे मोहल्ले/स्कूल के मेरे से बड़ी उम्र के चालू लौंडों ने मेरी ही मारी, कुछ ने पटा कर मेरी गोरी चिकनी गांड में अपना लंड पेल दिया. पढ़ कर देखें!

मेरी गांड की चुदाई की गे सेक्स स्टोरीज-3

उन्होंने लंड मेरी गांड पर टिका कर जोर लगाया.. सुपारा अन्दर घुस गया, मैंने भी गांड ढीली कर ली, फिर उन्होंने एक और जोरदार झटका दिया तो…

मेरी गांड की चुदाई की गे सेक्स स्टोरीज-2

मेरा रूम मेट मुझसे गांड मरवाना चाहता था, उसने बहाने से मुझे तैयार कर ही लिया और मैंने उसकी गांड मार ली, उसे बहुत मजा आया.

मेरी गांड की चुदाई की गे सेक्स स्टोरीज-1

मैं गांडू हूँ, अब तक मेरी गांड की चुदाई की काफी सारी गे सेक्स स्टोरीज आपको बता चुका हूँ. आज कोलेज में गांड की चुदाई स्टोरी का मजा लें!

गे सेक्स स्टोरी: गांड की चुदाई के शौकीन-2

मेरी नई गांड नहीं है.. तूने कई बार मारी है, तूने कई बार मरवाई है, क्या मेरी हर बार क्रीम लगा कर मारी? गांड की चुदाई की गे सेक्स स्टोरी का मजा लें!

गे सेक्स स्टोरी: गांड की चुदाई के शौकीन-1

मैं गांड की चुदाई का शौकीन हूँ, गे सेक्स स्टोरीज लिखता हूँ. कई साल बाद मिले एक दोस्त के ऑफिस में मैंने कैसे गांड मरवाई… पढ़ कर मजा लें!

गे सेक्स स्टोरी: गांड मराने का मजा! लंड का मजा!

मेरी गे सेक्स स्टोरीज आप पढ़ते रहे हैं, जिसे गांड मरवाने का शौक लग जाता है, तो मोटे लंड से गांड मराने में चीख निकल जाती है, गांड फट जाती है पर शौक नहीं छूटता!

नए लड़कों से गांड मराने की दोस्ती-5

मेरे सर मेरी गांड मार रहे थे कि तभी किसी ने दरवाजा खटखटाया.. सर ने मेरी गांड में से झटके से अपना लंड निकाल लिया। सर की गांड फट गई कि इस वक्त कौन आ गया।

नए लड़कों से गांड मराने की दोस्ती-4

मेरे ख्याल से गांड मराना सबसे मजेदार काम है, अपन चुपचाप लेटे हैं.. कोई अपने ऊपर चढ़ा है.. गांड मारने में मेहनत कर रहा है, मजा अपने को आ रहा है।

नए लड़कों से गांड मारने मराने की दोस्ती-3

मैं अन्दर कमरे में घुसा, देखा कैलाश एक तख्त पर बैठा था। उसकी गोद में एक लड़का बैठा था, उस लड़के के बदन पर मात्र अंडरवियर था जो नीचे खिसका हुआ था।

नए लड़कों से गांड मारने मराने की दोस्ती-2

अब तक आपने पढ़ा.. मैं शशि की गांड मार चुका था। अब मेरे पीछे सर खड़े थे उनका मन भी मेरी गांड मारने का दिख रहा था। अब आगे… सर… [Continue Reading]