सूरज कुमार

Budiness

rss feed

सेक्स कहानी बायोलॉजी वाली मैडम की गांड और चुत चुदाई की

मैं जिस घर में किराये से रहता था, वहीं एक फैशनेबल मैडम भी रहने आई. दूसरे ही दिन मैडम ने अपनी चुत और गांड की चुदाई मुझसे कैसे करवाई? पढ़ें मेरी सेक्स कहानी में!

मेरी सेक्सी बुआ के मटकते चूतड़-2

मैंने देखा.. फूफाजी और बुआ दोनों नंगे बैठे हुए थे। बुआ फूफा जी के लंड को अपने हाथ में पकड़ कर हिलाए जा रही थीं और बुआ के दोनों दूध झूल रहे थे, फूफा जी बुआ के चूचों को मसल रहे थे।

मेरी सेक्सी बुआ के मटकते चूतड़-1

मेरी बुआ बहुत खूबसूरत और सेक्सी हैं, उनके चूतड़ बहुत बड़े और उभरे हुए हैं। एक बार वो हमारे घर आई तो मैंने उन्हें कमरे में अपने बदन से खेलेते देखा। फ़िर उनके घर गया तो बुआ फ़ूफ़ा जी की चुदाई देखी।

घर की चूतों के छेद -4

मम्मी मेरी ओर पीठ करके ड्रेसिंग टेबल के सामने खड़ी थीं.. जिसके काँच में मुझे मम्मी का फ्रंट साइड दिखाई पड़ रहा था.. लेकिन मम्मी ने अपना एक हाथ दोनों मम्मों के ऊपर रखा हुआ था जिस कारण मुझे कुछ खास दिखाई नहीं पड़ रहा था।

घर की चूतों के छेद -3

घमौरियों के कारण मेरी बहन ने मुझसे पीठ पर पाउडर लगवाया। शाम को बारिश आई तो बारिश में नहाते हुए उसने अपनी शर्ट उतार दी और मुझे चूमने लगी और चोदने को कहा।

घर की चूतों के छेद -2

बुआ चूचियों में भरे दूध से परेशान थी। उसके कहने पर मैंने बुआ की चूचियों का दूध पिअया और फ़िर उसी के उकसाने पर बुआ को चोदा। बुआ ने मेरी बहन को पट्टी पढ़ाई और…

घर की चूतों के छेद -1

शायद मेरे नसीब में मेरे परिवार के छेदों का ही सुख लिखा था। रिश्तों में चुदाई की कहानी आप को एक एक घटना बिल्कुल सत्य के आधार पर लिख रहा हूँ...

मॉम की अन्तर्वासना शान्त की

मेरे पापा घर से दूर रह कर जॉब करते हैं और मेरी सौतेली लेकिन खूबसूरत मम्मी अपनी जवानी की अन्तर्वासना में जलती रहती थी. मैंने उनकी चूत छोड़ कर उनकी मदद कैसे की! इस कहानी में पढ़िए !

सौतेली मॉम की चुदाई -2

अपनी सौतेली मॉम की चूत चाटने के बाद मॉम ने मेरा लण्ड चूसा फ़िर लण्ड पर चूत टिका कर चुदी। लेकिन घर आकर मैंने मॉम को उनके पूरे होशोहवास में कैसे चोदा, पढ़ें इस भाग में…

सौतेली मॉम की चुदाई -1

मम्मी की चूत को चाटने में मुझे बहुत मजा मिल रहा था। थोड़े समय बाद मैं अपनी जीभ से मम्मी की चूत को जीभ से ही चोदने लगा और उनकी चूत से निरंतर निकलते रस का पान करने लगा। अब मम्मी की साँसें काफ़ी तेज हो गई थीं।

Scroll To Top