बेटे जैसे जमाई ने सासू माँ की जम कर चुदाई की

मेरा नाम संगीता है और मेरी उम्र 45 उम्र की है । संगीता विधवा औरत है और वह 25 साल के उम्र मे उसके पति छोड़ कर चले गए थे । संगीता के एक बेटी आपरेशन से हुई थी उसका नाम स्वाती है । स्वाती की शादी भी 20 साल के उम्र मे हो गयी है और पटना मे बैंक मे काम करती है ।

कमसिन लड़की की कामुकता और जिस्म की प्यास

देसी कहानी में पढ़ें कि कमसिन जवान लड़की की कामुकता और उसके जिस्म की प्यास ने उसे अपने चाचा के उम्र के मर्द से बुर की चुदाई करवाने पर मजबूर कर दिया.

गाँव की नासमझ छोरी की मदमस्त चुदाई -4

चूत की सील तोड़ने के बाद मैं अब बिल्लो की गांड मारने की तैयारी कर रहा था. उसने मेरा लौड़ा चूस कर तैयार किया और मैंने उसकी गांड में तेल लगा कर लौड़े का सुपारा छेद पे टिकाया.

योनि रस और पेशाब दोनों एक साथ निकल गए -3

संदीप ने उसके होंठ चूमना शुरू किया, खुशी ने उसकी आँखों में देखा और उसने भी उसे चूमना शुरू कर दिया, संदीप ने खुशी के शरीर को सहलाना शुरू कर दिया।

गाँव की नासमझ छोरी की मदमस्त चुदाई -3

लण्ड पूरा तन कर बुर में टाइट से फंसा था। मैं भी बिल्लो के ऊपर लेटा हुआ था और चूचियों को आहिस्ता-आहिस्ता दबा रहा था। कुछ ही देर में बिल्लो ने चाचा को अपनी बाँहों में कस लिया.. तो मैं समझ गया कि फिर से बिल्लो चुदना चाहती है।

गाँव की नासमझ छोरी की मदमस्त चुदाई -2

गाँव की अलहड़ छोरी सर्दी से बचने को मेरे बिस्तर में आ गई तो लड़की के जवान बदन की तपिश मेरे लौड़े को तपाने लगी। कहानी में पढ़ें कि कैसे वो चुदने को उतावली हुई।

गाँव की नासमझ छोरी की मदमस्त चुदाई -1

बिल्लो एक नासमझ लड़की है जिसे शारीरिक संपर्क के संबंध में कुछ नहीं पता है। वह मेरे यहाँ घरेलू काम काज के लिये आई हुई है। सर्दी की एक रात वो मेरे बिस्तर में आ गई।