सौरभ गुप्ता

rss feed

Author's Website

जीना इसी का नाम है-10

Jeena Isi Ka Naam Hai-10 जीना इसी का नाम है-9 डैम काफी बड़ा था, नाव चल रही थी, हमारे अलावा कोई दूसरी नाव डैम में नहीं थी, डैम के दूसरी तरफ छोटा सा पहाड़ था, हमारी नाव उस तरफ से गुजर रही थी, मुझे ऐसा लग रहा था कि परियों की रानी अपनी सहेलियों के […]

जीना इसी का नाम है-9

Jeena Isi Ka Naam Hai-9 जीना इसी का नाम है-8 अनीता से मिले पैसे और जेवर दहेज मिली नगद रकम और मकान बेचने से आया पैसा, सब करके मेरे पास 70 लाख रुपये हो गए थे, मैंने इस कसबे में आकर शहर की अपेक्षा कम कीमत में एक काफी बड़ा प्लाट खरीद कर उस पर […]

जीना इसी का नाम है-8

अनीता सेठ को नीचे छोड़ कर मुझे लेकर ऊपर के कमरे में आई, मुझसे कहा- तुम ऊपर ही रहना, मैं बुड्ढे को निपटाती हूँ। मैं ऊपर के कमरे में जाकर सो गया। रात को करीब 12 बजे मुझे अनीता ने जगाया, मैं बोला- क्या हुआ? अनीता ने जवाब दिया- साला बुड्ढा… ठीक से खड़ा भी […]

जीना इसी का नाम है-7

अनीता के नर्म गोरे और नागे बदन का स्पर्श पा कर उसका लंड फिर से खड़ा होने लगा उसने सोई हुई अनीता के उरोज चूसना चालू कर दिया और हाथ से उसका बदन सहलाने लगा।

जीना इसी का नाम है-6

एक दिन रात को 11 बजे अनीता ड्रिंक लेकर लड़खड़ाते हुए घर आई, उसने पर्स में सिगरेट निकालने के लिए हाथ डाला पर पैकेट में सिगरेट ख़त्म हो चुकी थी, मुझसे बोली- डार्लिंग सिगरेट ख़त्म हो गई है, जाकर दूसरा पैकेट ला दो। मैंने कहा- अनीता, अभी बहुत रात हो गई है, अब सिगरेट नहीं […]

जीना इसी का नाम है-5

अनीता को एक बार चोदने के बाद मैं उससे काफी घुल मिल गया था, वह मुझ पर काफी भरोसा करती थी और मुझे एकदम सीधा सादा आदमी समझने लगी। मैंने कभी भी उसे चोदने के लिए परेशान नहीं किया। अनीता से मिली जानकारी के अनुसार वह अपर मिडल क्लास की अति महत्वाकांक्षी लड़की है, अनीता […]

जीना इसी का नाम है-4

अनीता ने अपने वक्ष पर मेरा चेहरा भींच लिया, मैं अपने नाक और होंठ उसके उभारों पर घुमा रहा था, तभी अनीता ने एक हाथ से अपना स्तन पकड़ा और उसका निप्पल मेरे मुख में डाल दिया। मैं समझ गया कि वो क्या चाहती है। मैंने बारी उसके चूचुक खूब चूसे, तभी बिजली चमकी मैंने […]

जीना इसी का नाम है-3

बाइक को सड़क के एक तरफ ले जाकर मैंने लॉक कर दिया और हम दोनों किसी तरह उस छोटी पहाड़ी पर चढ़ कर फायर वाचर के रूम में पहुँच गए पर वहाँ कोई नहीं था। बारिश होने से आग लगने की कोई गुंजाइश नहीं रह गई थी इसलिए वो शायद अपने घर चला गया होगा। […]

जीना इसी का नाम है-2

अनीता के घर से लग रहा था कि वो अपर मिडल क्लास को बिलोंग करती है, अनीता का कमरा ऊपर था, वो सीढ़ियाँ चढ़ने के लायक नहीं थी, मैंने उसे सहारा दिया, उसको खड़ा करके उसका एक हाथ अपने गले में डाला और अपना एक हाथ उसकी कमर में डाला, फिर उसको लेकर सीढ़ियाँ चढ़ने […]

जीना इसी का नाम है-1

Jeena Isi Ka Naam Hai-1 मेरा नाम सौरभ गुप्ता है, मैं मध्यप्रदेश के छोटे से गांव का निवासी हूँ मेरा स्वभाव सीधा सादा है। लेकिन दिखने में मैं एक ऊँचा गोरा व सुंदर नौजवान हूँ, जिसे लड़कियाँ आसानी से पसंद कर लें। मैं 6 साल का हुआ तब तक मेरे माता पिता दोनों ही इस […]

Scroll To Top