श्रेया आहूजा

rss feed

बेबी डॉल मैं सोने दी..

बड़े शहरों की लड़कियाँ जंक फ़ूड खाते-खाते मोटी होती जा रही हैं। मोटी लड़कियां कितना भी मेकअप करें.. कितना भी अंग्रेजी बोलें.. चुदाई में मज़ा नहीं देतीं.. जितना कि सावी जैसी देसी माल मजा देती हैं।

जब चोदन चिंगारी कोई भड़के

प्रेषक : देवव्रत मैं देवव्रत, लखनऊ के अलीगंज में रहता हूँ। यह मेरी आपबीती है जो श्रेया आहूजा के ज़रिये मैं आप को बताना चाहूँगा। मेरी बीवी रेवती अक्सर बिस्तर पर पड़ी ही मिलेगी, उसे पूजा पाठ का बहुत शौक था, कहती थी आज नहीं सेक्स करुँगी क्यूंकि आज व्रत है। मैंने भी पहले ये […]

चालू छोकरी की चुदाई की दास्तान

उसके साँवले गोल-गोल चूतड़ एकदम दमक रहे थे। जब मैंने उसकी गांड को दो उँगलियों से फैलाई, तब मैंने एक काला सा मल-द्वार देखा और फिर अंदर गुलाबी छिद्र था।

मेरे यार की शादी

रमित बड़े प्यार से मम्मे चूस रहा था, फिर उसने पैंटी खोली, जाहन्वी की चूत हमेशा की तरह गीली थी, रमित चूत फैला फैला कर देख रहा था, अब जाहन्वी की चूत चाटने लगा।

गन्दी बातें चोदा चोदी की

श्रेया आहूजा का सलाम, नमस्ते! बहुत दिन हुए कुछ अपनी आपबीती सुनाये तो सोचा आप सबसे शेयर करूँ यह आपबीती! भारी पब्लिक डिमांड पर मैं अपनी आपबीती सुनाने जा रही हूँ क्यूंकि इन दिनों मैंने सिर्फ अपने दोस्तों की आपबीती सुनाई है. वैसे तो आप सब मुझे जानते हैं, मैं श्रेया आहूजा जालंधर की पंजाबी […]

कोई आये और मेरी चुदाई करे !

On 2013-03-12 Category: कोई मिल गया Tags:

हमेशा की तरह कामुक आपबीती लेकर एक बार फिर हाजिर हूँ आपके सामने ! पहले तो शुक्रिया मेरी सारी कहानियाँ पढ़ने के लिए ! कई सालों से मैं आपको अपनी और लोगों की आपबीतियाँ सुनाती आ रही हूँ, आपके हज़ारों इमेल मुझे मिलते आएँ हैं, विश्वास कीजिये, मैं सारी इमेल पढ़ती हूँ पर सबका जवाब […]

तेरी कह के लूँगा

On 2013-02-04 Category: चुदाई की कहानी Tags:

और क्या हाल हैं जी? आपकी श्रेया आहूजा एक बार फिर आपके सामने हाज़िर है एक दोस्त की आपबीती लेकर ! यह कथा है मेरे दोस्त संजय कुमार रस्तोगी उर्फ़ राजू की ! अब आगे राजू की ज़ुबानी: मैं संजय कुमार रस्तोगी हूँ मेरी उम्र अभी तीस साल है और मैं कालीघाट कोलकाता रहने वाला […]

बीस रुपये में चुदईया

On 2012-12-14 Category: कोई मिल गया Tags:

श्रेया आहूजा का आप सबको मनस्कार ! यह कहानी मेरे पड़ोसी की है। हम दोनों काफी आत्मीय हैं तो उसने यह आपबीती मुझे सुनाई… वही मैं आपके सामने पेशा कर रही हूँ, उम्मीद है आपको अच्छी लगेगी। बात उन दिनों की है जब मैं बैंक में जॉब कर रहा था और मेरी पोस्टिंग पटना में […]

ऐसा क्यूँ होता है?

On 2012-10-08 Category: कोई मिल गया Tags:

यह आपबीती मेरे एक सीनियर की है जिनका नाम अजय जायसवाल है। जायसवाल साहब एक बड़ी कंपनी के मैनेजर है जहाँ मैं बतौर रिसेप्शनिस्ट काम कर रही हूँ। जायसवाल साहब ने मुझे एक शाम अपने केबिन में बुलाया और यह घटना सुनाई क्योंकि मैं जायसवाल साहब की काफी करीबी थी। कंपनी में बड़ा कॉन्ट्रैक्ट दिलाने […]

मुझे तो तेरी लत लग गई

On 2012-08-25 Category: कोई मिल गया Tags:

यह आपबीती मुझे मेरे दोस्त जय पाण्डेय ने भेजी है… और मैं जानती हूँ कि यह शत प्रतिशत सही है। तो पेश है आपबीती… ‘मुझे तो तेरी लत लग गई’ बात उन दिनों की है जब मैं नया नया डॉक्टर बना था। मेरी पहली पोस्टिंग बिहार में बक्सर जिले में हुई थी। बक्सर जिला कम […]

आज कुछ तूफानी करते हैं !

On 2012-07-23 Category: पहली बार चुदाई Tags:

श्रेया आहूजा का आप सभी को सलाम ! यह आपबीती है मेरे चचेरे भाई बल्लू की जो कटनी, मध्यप्रदेश में रहता है। इस आपबीती को बल्लू ने मुझे अपनी जुबान से तब बताया जब वो मेरे यहाँ जालंधर अपनी शादी के सिलसिले में आया हुआ था। बल्लू बचपन से बहुत शरारती हुआ करता था। उसका […]

न बुर न चूची बातें करे ऊँची ऊँची

On 2012-06-12 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखिका : श्रेया अहूजा हाय श्रेया मैं देव… डिग्री कॉलेज वाला देव भटनागर ! सोचा बहुत दिन हो गए, बात नहीं हुई ! आखरी बार जब बात हुई थी अब तुमने पूछा था- हाउ इस लाइफ?? आज सोचा तुम्हें बताऊँ मेरी ज़िन्दगी कैसी थी, और अब कैसी है… तुम्हें तो याद होगा ज्योति… थोड़ी सांवली […]

मुझे गन्दा गन्दा लगता है !-2

उस दिन घर आकर मैंने दसियों बार ब्रश किया होगा… अब मेरा भाभी से और दानिश से कोई लेना देना नहीं था… महीनों बीत गए दोनों से बात किये हुए। बस घर पर पढ़ाई.. टीवी.. कंप्यूटर.. एक दोपहर मुझे एक ईमेल आया संजय का ! मैंने मैसेज किया- संजय, कहाँ हो यार…चल मिलते हैं !संजय […]

मुझे गन्दा गन्दा लगता है ! -1

जब मैं अट्ठारह साल की थी, मेरे कूल्हे बड़े हो रहे थे... मेरे मम्मे भी बड़े हो रहे थे... सेक्स क्या होता है मुझे अच्छे से पता था.. मेरे दोस्त हुआ करते थे दानिश, रौनक और संजय। एक शाम हम चारों लुक्का-छुप्पी खेल रहे थे...

पोकर के जोकर

On 2012-02-29 Category: ऑफिस सेक्स Tags:

मैं श्रेया आहूजा आपके सामने फिर पेश हूँ इस बार आपबीती लेकर ! सबसे पहले तो आप सबका शुक्रिया कि आपने मेरे कहानियों को इतना सराहा ! थैंक्स… आपके इ मेल मुझे मिलते रहते है… माफ़ी चाहूंगी कि सबको जवाब नहीं दे पाई… कोशिश यही रहेगी कि मैं जवाब ज़रूर दूँ… आप लिखते रहना… जो […]

बाबा चोदो ना मुझे

उस भिखारी को मैंने अन्दर बुला लिया... फिर उसके सामने मैं अपनी ब्रा खोल कर खड़ी हो गई! मैंने नीचे जीन्स पहनी हुई थी! मैंने उसके सामने अपने उरोज पेश किए और एक चूचा उसके मुँह में डाल दिया!

मिस दिवा 2011

On 2011-12-12 Category: कोई मिल गया Tags:

सबसे पहले पाठकों को श्रेया का नमस्कार ! माफ़ी चाहूंगी कि मैं इतने दिनों के बाद आपके सामने अपनी नई कहानी लेकर आई। क्या करती? जॉब ही कुछ ऐसा है… पेट के लिए इंसान क्या कुछ नहीं करता ! पेट के कारण मैं मॉडल बनने की चाहत लेकर चंडीगढ़ की सबसे बड़ी फोटो लैब दुआ […]

कैरेक्टर ढीला है…

On 2010-04-19 Category: गुरु घण्टाल Tags:

लेखिका : श्रेया अहूजा शाम के समय हर रोज मैं श्रेया, पीयू और निशा बायलोजी पढ़ने कालेज कैम्पस में ही सर के घर जाते थे। सर की उम्र करीब 30 साल थी और हमारी रही होगी अठारह उन्नीस … ! पीयू सर पर लाइन मारती थी… कहती थी वो सर को प्यार करने लगी है। […]

एक से भले दो !

On 2009-12-11 Category: नौकर-नौकरानी Tags:

प्रेषिका : श्रेया अहूजा दोस्तो, मैं श्रेया आहूजा एक बार फिर आपके सामने पेश हूँ !! इतने दिन तक गायब रहने का कारण मेरे भाई की शादी थी ! उसकी शादी कनाडा में हुई आपकी दुआ से ! मैं आज आपको अपने भाई के बारे बताने जा रही हूँ ! शक्ल-सूरत से भोला-भाला पतला-दुबला छरहरा […]

एक्टिंग स्कूल

हेलो दोस्तो, आपको श्रेया का नमस्कार… फिर से आपके सामने पेश है एक लण्ड कठोरी फ़ुद्दी पिपासु कहानी! यह कथा है मेरी सहेली जूली की …. हम दोनों प्लस टू पास करके वूड्स एक्टिंग स्कूल में जाया करती थी। बहुत दिनों से जूली नहीं आई, मालूम चला कि वो बीमार है तो मैं उसे मिलने […]

Scroll To Top