शिव राज

i m working person writing is my hobby

rss feed

Author's Website

कानपुर की नूर बेगम

एक बार ऑटो में मुझे बुर्के वाली एक महिला मिली. वो मेरी तरफ देख रही थी, उसकी आंखें बहुत सुन्दर लग रही थीं, तो मैं भी देखने लगा. उसके बाद क्या हुआ, कहानी पढ़ कर पता लगाएं!

दोस्त की शादी में मेरी सुहागरात

मैं अपने एक दोस्त की शादी में गया, वहां दोस्त की बुआ की बहू यानि दोस्त की भाभी मेरे दोस्त से मजाक कर रही थी. उस भाभी से मेरी दोस्ती कैसे हुयी एयर मैंने कैसे चुदाई सुख का मजा दिया. पढ़ें भाभी की चुदाई कहानी में!

दिल्ली वाली भाभी की चूत चुदाई

इंटरनेट पर चैट करते हुए मुझे एक भाभी मिली, बात हुई, फोन नम्बर लिया, फोन पर बातें हुई, उनसे मिलाने उनके ऑफिस गया. फिर एक दिन मैंने उन्हें अपने घर बुलाया..

रात-दिन तुम्हारा लंड अपनी चूत में रखना है

मेरे ऑफिस में एक नई लड़की नेहा आई तो हमारी दोस्ती हो गई, बात होने लगी, फोन नम्बर लिया-दिया, फोन पर बातें हुई. एक दिन मैंने उसे मूवी चलने के लिए कहा तो वो तैयार हो गई... सिनेमा हाल में मैंने उसका हाथ पकड़ा तो उसने कुछ नहीं कहा तो मेरा हौंसला बढ़ गया और हम चूची दबाने से होते हुए चूमा चाटी तक पहुँच गए.. एक दिन मैंने उसे अपने कमरे में बुलाया तो...

Scroll To Top