शमीम बानो कुरेशी

rss feed

मामू की गांड चुद गई: ऑडियो सेक्स स्टोरी

मेरे मामू मेरे घर आये, मेरा और मेरी सहेली का दिल उस पर आ गया और हम दोनों अपनी फुद्दी उससे चुदवाने के लिए उसके कमरे में गईं!

चुदाई की कमाई

मैं अपने कॉलेज में होने वाले टेस्ट की तैयारी कर रही थी। तभी अब्दुल का फोन आया,’बानो, क्या कर रही है ? जल्दी से ऊपर आजा… एक काम है !’ ‘अभी आती हूँ… ‘ मैंने मोबाईल पजामें में रखा और कमरे से बाहर निकली। ‘मां की लौड़ी, कहा जा रही है? पढ़ना नहीं है क्या… […]

जोगिंग पार्क-3

On 2009-06-20 Category: चुदाई की कहानी Tags:

नेहा वर्मा एवं शमीम बानो कुरेशी फ़िर एक दिन मैं जब सवेरे विजय के यहाँ गई तो वहाँ उसका एक दोस्त और था। मैं उसे नहीं जानती थी… पर वो मुझे जानता था। उसने अपना नाम प्रफ़ुल्ल बताया था, पर लोग उसे लाला कहते थे। मुझे वहाँ रोज आता देख कर वो भी विजय के […]

जोगिंग पार्क-2

On 2009-06-19 Category: चुदाई की कहानी Tags:

नेहा वर्मा एवं शमीम बानो कुरेशी “कल आऊँगी… अब चलती हूँ !” “मत जाओ प्लीज… थोड़ा रुक जाओ ना !” वह जैसे लपकता हुआ मेरे पास आ गया। “मत रोको विजय… अगर कुछ हो गया तो… ?” “होने दो आज… तुम्हें मेरी और मुझे तुम्हारी जरूरत है… प्लीज?” उसने मुझे बाहों में भरते हुये कहा। […]

जोगिंग पार्क-1

On 2009-06-18 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखिका : नेहा वर्मा मेरी शादी हुए दो साल हो चुके हैं, शादी के बाद मैंने अपनी चुदाई की इच्छा को सबसे पहले पूरी की। सभी तरीके से चुदाया… जी हाँ… मेरे पिछाड़ी की भी बहुत पिटाई हुई। मेरी गांड को भी चोद-चोद कर जैसे कोई गेट बना दिया हो। सुनील मुझे बहुत प्यार करता […]

बानो की जवां रातें-2

On 2007-03-08 Category: पड़ोसी Tags:

लेखिका : शमीम बनो कुरैशी मेरे नथुनों में बानो की चूत की रसभरी महक बस गई। ऐसी खुशबू मैंने जिन्दगी में पहली बार पाई थी। उसने अपनी चूत को मेरे मुख पर रगड़ दिया और मेरा चेहरा लसलसे, चिकने द्रव से भिगा दिया। बाकी का काम मेरी लपलपाती हुई जीभ ने कर दिया। उसकी चूत […]

दिलकश चुदाई

On 2007-01-31 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखिका : शमीम बानो कुरेशी रोज की तरह मेरे पति शराब की बोतल ले कर घर आ गये थे। मैंने उनके लिये शराब के साथ मांस पका कर रख लिया था। उसका दोस्त राजेश जो अभी कुँवारा था, साथ ही आता था। राजेश मुझे अक्सर घूरता तो रहता था पर मुझे उसकी नजरें बुरी नहीं […]

अधखिला पुष्प

मेरी शादी हुये लगभग चार साल हो चुके थे। कुछ अभागी लड़कियों में से मैं भी एक हूँ। शादी के दिन मैं बहुत खुश थी। लगा था कि जवानी की सारी खुशियाँ मैं अपने पति पर लुटा दूंगी। मैं भी मस्ती से लण्ड खाऊंगी… कितना मजा आयेगा। पर हाय री मेरी किस्मत… सुहाग रात को […]

भूखी शेरनी जैसी भाभी की चुदाई

'भेन की चूत, ले भाभी की चूत... साला अकेला मुठ मारता है? भाभी तो साली चूतिया है जो देखती ही रहेगी... भाभी की भोसड़ी नजर नहीं आई?' भाभी वासना में कांप रही थी।

होस्टल का डर

On 2006-06-02 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखिका : शमीम बानो कुरेशी जब मैंने एम ए करने के लिये दाखिला लिया तो मुझे होस्टल में जाना पड़ा। डर के मारे मेरी जान निकली जा रही थी। जाने वहाँ लड़कियाँ कैसा व्यवहार करेंगी। वहां से कहीं जाने को मिलेगा या नहीं। यहां जब तब चुदने वाली लड़की को अब लण्ड नसीब होगा या […]

बात एक रात की

On 2006-05-09 Category: कोई मिल गया Tags:

बनारस में कहावत है कि किसी जवान लड़की की गाण्ड देख कर अगर लौड़ा खड़ा नहीं हुआ तो वो बनारसी नहीं है। यहाँ लोग गाण्ड के दीवाने होते हैं। कोई चिकना लौण्डा हो तो भी लण्ड फ़ड़फ़ड़ा उठता है। फिर मैं और नसीम तो जवान, कम उम्र, और सुपर गोल गाण्ड वाली लड़कियाँ थी, किसी […]

चढ़ती जवानी की मस्ती

शादी के बाद से नज़मा भाभी की चुदाई बहुत ही कम हुई थी। जवान तन लण्ड का प्यासा था। मुझे रोज चुदते देख कर उसका मन भी मचल उठा। वो रोज छुप छुप कर अब्दुल से मेरी चुदाई देखा करती थी। जब वो गाण्ड मारता था तो भाभी का दिल हलक में अटक जाता था। […]

जवानी फिर ना आये

On 2005-12-17 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखिका : शमीम बानो कुरेशी जवानी की मस्ती मैं जी भर के लूटना चाहती हूं, लगता है कि बस रोज रात को कोई मुझे दबा कर चोद जाये … जानते है जीवन में जवानी एक ही बार आती है … फिर आ कर ना जाने वाला बुढ़ापा आ जाता है … जी तरसता रह ही […]

बाप बेटा और बहू

On 2005-11-04 Category: पड़ोसी Tags:

लेखिका : कला सिंह सहयोगी : शमीम बानो कुरेशी मैं एक साधारण परिवार की लड़की हूँ। वाराणसी के एक घनी आबादी में रहती हूँ। मुझे भी सब वही शौक हैं जो एक जवान लड़की के होते हैं। मेरे परिवार में बस मेरी मां है, पिता की याद मुझे नहीं है, मैं जब बहुत छोटी थी […]

सौ लौड़ों से चुद चुकी हूँ मैं !!

On 2005-09-15 Category: रिश्तों में चुदाई Tags:

मैं उन दिनों अपने चाचा जान के यहाँ वाराणसी आई हुई थी। उनके लड़का अब्दुल बड़ा ही खूबसूरत था। गोरा चिट्टा, दुबला सा, लम्बा सा, उसे देखते ही मेरा दिल उस पर आ गया था। यूँ तो कानपुर में मुझे चोदने वाले कम नहीं थे, पर उनमें ज्यादातर तो गाण्ड मारने के शौकीन थे। गाण्ड […]

मौसी की चूत चुदाई देखते पकड़ी गई

मेरे घर में आज कल मेरी छोटी मौसी और मौसा जी आये हुए हैं। मैं रात को रोज़ उनकी चुदाई देखती हूँ, और मजा लेती हूँ। मौसा मौसी रात को छत पर जाकर चुदाई किया करते थे।

Scroll To Top