वो भीगी-भीगी चूत चुदाई की भीनी-भीनी यादें-3

हम दोनों ही आँगन में बारिश में भीग रहे थे.. पर हमें कुछ फ़र्क नहीं पड़ रहा था क्योंकि हमारे अन्दर की गर्मी को भी तो शांत करना था। वो मेरी तरफ़ मुड़ी और मेरे होंठों पर चूमने लगी।

वो भीगी-भीगी चूत चुदाई की भीनी-भीनी यादें-2

मैं और आईशा साथ लेटे हुए थे और बारिश हो रही थी। मैंने अपना एक हाथ उसकी कमर पर डाल दिया और उसके गले के पीछे धीरे-धीरे चूमने लगा। आगे की घटना कहानी में पढ़िए।

वो भीगी-भीगी चूत चुदाई की भीनी-भीनी यादें-1

मामा के घर एक कार्यक्रम में एक लड़की मिली, उस पर दिल आ गया। वो भी मेरे दिल का हाल समझ गई थी और वो बहुत खुश लग रही थी। कहानी पढ़ कर देखें कि बात कैसे आगे बढ़ी!

मैं, मेरा चचेरा भाई और दीदी-3

मैंने अपना लण्ड सुहाना के गाण्ड के पास रखा और ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगा और उसकी गाण्ड के बीचोंबीच अपना मूठ निकाल कर फ़ैला दिया। फ़िर मैंने सोनू को भी… [Continue Reading]

मैं, मेरा चचेरा भाई और दीदी-2

मैं- सोनू, क्यों ना एक बार सुहाना की गाण्ड को फ़िर से छूआ जाए, जब वो सो रही हो? सोनू ने मेरी तरफ़ देखा, उसके चेहरे पर थोड़ा डर और… [Continue Reading]

मैं, मेरा चचेरा भाई और दीदी-1

दोस्तो, मेरा नाम आशु है। मैं अहमदाबाद से हूँ और 22 साल का भोला और शर्मीला लड़का हूँ। मैं इन्जीनियरिंग का स्टुडैन्ट हूँ और अन्तर्वासना का बहुत बडा फ़ैन हूँ।… [Continue Reading]