समर प्रताप सिंह

rss feed

Author's Website

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-15

दोस्तो. बीच में इम्तिहान होने की वजह से कुछ देरी हो गई.. माफ़ी चाहता हूँ.. आइए आगे चलते हैं। अब तक आपने पढ़ा कि मैं सोनम को चोद रहा था और सोनम के शरीर की अकड़न भी बता रही थी कि वो इस मिलन का इंतज़ार नहीं करेगी। तभी सोनम की चूत ने पानी फेंक […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-14

सोनम समझ गई कि मैं क्या चाहता हूँ उसने एक बार ‘नहीं’ की.. निगाह से मुझे देखा.. लेकिन मैं बोला- अरे भोसड़ी की.. जो कहता हूँ.. सो कर.. यार सुबह से गाण्ड मरी हुई है.. साला आज एक अदद चुदाई नहीं हुई नसीब में.. सोनम राज़ी नहीं हुई.. तो मैंने उसका सर और नीचे दबाया […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-13

तभी बाहर कुछ खटपट की आवाज़ हुई। मेरा ध्यान उस तरफ गया… सोनम की सिसकारियाँ भी रुक गई थीं। मैंने चुपके से उसकी तरफ देखा तो दोनों ही डर गए थे और लगता था अभी-अभी सुनील के लण्ड ने सोनम की चूत भरी थी। उसकी चूत और जाँघों का गीलापन जबरदस्त चुदाई का गवाह था। […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-12

सोनम सुनील के नीचे चुद रही थी और प्रीति ने मेरा लण्ड निकाल लिया था और बुरी तरह से मसलना चालू कर दिया था। जबकि साथ ही साथ प्रीति एकटक उन दोनों की धकापेल चुदाई को भी देख रही थी। वो शायद किसी और को अपने सामने चुदता हुआ पहली बार देख रही थी। इसी […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-11

अगली सुबह रविवार था रात की मस्त चुदाई के बाद मैं सपने में अंकिता की मस्त चुदाई कर रहा था कि सुबह-सुबह 6 बजे अचानक बजी फ़ोन की घंटी ने खड़े लण्ड पर धोख़ा कर दिया। फ़ोन उठाते ही मैं नींद में ही गरजा। ‘कौन है मादरचोद जिसको गांड फड़वानी है सुबह-सुबह?’ उधर से एक […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-10

दोस्तो, पिछले भाग में रूचि ने मुझे अपनी आपबीती बताई.. दुःख तो हुआ लेकिन आपको तो पता ही है लड़कियाँ इतना खुल कर बोलें और कुछ ही दिनों की दोस्ती में चुदवा भी लें.. इसका मतलब है कि कुछ तो गड़बड़ है। वैसे यह नई चुदाई मस्त थी। कुछ ऐसा ही मेरे दिमाग में भी […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-9

दोस्तो, पिछले भाग में आपने मेरी और रूचि की घमासान चुदाई पढ़ कर अपनी लौड़े जरूर हिलाए होंगे.. कई चूतों से पानी छूट पड़ा होगा और मेरे कुछ दोस्तों ने मेरी और रूचि की तरह चुदाई करने की कोशिश भी की होगी। लेकिन असल मुद्दा था कि अंकिता ने रूचि के साथ ऐसी क्या बकचोदी […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-8

कॉलेज गेट पर उतर कर मैंने रूचि को साथ लिया और कुछ कदम दूर चौहान ढाबा पहुँच गया, वहाँ एक झोपड़े में चाय और टोस्ट मंगाया और रूचि को लेकर उसकी आगे की कहानी सुनने को बैठ गया। उस झोपड़े में एक चारपाई एक कुर्सी और एक छोटी मेज थी। मैं कुर्सी पर बैठ गया.. […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-7

अगली सुबह रूचि पहले से मेरा इंतज़ार कर रही थी, शायद उसके अन्दर जो कुछ भरा था वो सुनने वाला कोई तो चाहिए था और मुझसे अच्छा कौन था.. जिसको उससे मतलब भी था। हम दोनों ही मतलबी थे और साथी भी थे। मैं रूचि के बगल में बैठ गया.. आज रूचि भी चिपक कर […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-6

दोस्तो, मैं समर एक बार फिर से आपके लिए एक और मस्त सत्य घटना लेकर हाजिर हूँ। मेरी पिछली कहानियाँ पढ़ कर आपके लौड़ों को जरूर चूत की चाहत हुई होगी और चूतों ने पानी एक बार नहीं कई बार छोड़ा होगा। आपकी ईमेल्स के लिए धन्यवाद.. आइए चलते हैं एक और चुदाई के सफ़र […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-5

दोस्तों नए साल की हार्दिक बधाइयाँ, हालाँकि मुझे यकीन है की मेरी पिछली कहानियाँ पढ़कर साल के आखिरी दिन आपने मस्ती करते हुए बिताए होंगे। आइये साल की पहली कहानी पढ़ते हैं। साक्षी भी मुस्कराते हुए मेरी बाइक पर मुझसे चिपक कर बैठ गई। मेरी पीठ पर साक्षी के भारी चूचे चिपके हुए थे, हर […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-4

दोस्तो, एक बार फिर से मैं समर हाज़िर हूँ आपके साथ इस कड़ी की चौथा भाग लेकर! मुझे यकीन है कि आप लोगों को मेरी पिछली कहानियाँ पसंद आई होंगी.. काफी लोगों ने मेरी कहानियाँ पसंद की उन सभी का धन्यवाद। दोस्तो, मुझे काफी मेल्स आये, सबका जवाब देना तो मुश्किल है लेकिन यथासंभव मैंने […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-3

दोस्तो, मुझे कई मेल प्राप्त हुए.. उनके लिए हृदय से धन्यवाद। मेरी पिछली कहानी पढ़ कर जरूर आपको अगली के बारे में उत्सुकता हुई होगी, जो इस कहानी के माध्यम से दूर करने की पूरी कोशिश करूँगा। मेघा के साथ मेरा यह रिश्ता उसी तरह चलता रहा.. मेघा पहले दिन ही अपनी सहेलियों के बीच […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-2

हमारी चाय खत्म हो चुकी थी, स्क्रीन पर चल रही चुदाई भी अपने चरम पर पहुँच चुकी थी। बहुत ही साधारण सी बात है कि हम दोनों को ही चुदाई की सख्त जरुरत थी.. लेकिन शायद कोई बंदिश सी थी जो हमें आगे बढ़ने से रोक रही थी। मेघा मेरी गोद से उठ कर चाय […]

दोस्ती में फुद्दी चुदाई-1

दोस्तो, मेरा नाम समर है और मैं अपने शहर कानपुर के एक बड़े कॉलेज में पढ़ता हूँ। अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है तो भूल-चूक माफ़ कीजिए। बी.टेक की पढ़ाई मैंने इसीलिए की क्योंकि कैरियर के साथ-साथ इसमें लड़कियाँ भी मस्त आती थीं। यह कहानी एक सत्य घटना है जो मेरे साथ हुई और […]

Scroll To Top