रीता शर्मा

rss feed

मेरी सहेली-2

प्रेषिका : कामिनी सक्सेना सहयोगी : रीता शर्मा मेरी सहेली-1 रीता के पति राहुल अभी तक घर नहीं आए थे। रीता ने अपना सामान रसोई में रखा और खाना बनाने की तैयारी करने लगी। उसे रह रह कर साहिल से चुदाई की याद आ रही थी। लगभग ७ बजे राहुल आया। काम भी पूरा हो […]

यौन क्षुधा यानि चूत चुदाई की प्यास

आज शाम को फ़िजां में थोड़ी ठण्डक हो गई। मैं अपना छोटा सा कुर्ता पहन कर छत पर आ गई। ऊपर ही मैंने ब्रा और चड्डी दोनों उतार दी और एक तरफ़ रख दी। मेरी टांगों के बीच ठण्डी हवा के झोंके टकराने लगे।

बीवी की सहेली को चोद ही दिया

रीता मेरी पड़ोसन थी. मेरी पत्नी नेहा से उसकी अच्छी दोस्ती थी. शाम को अक्सर वो दोनों खूब बतियाती थी. दोनों एक दूसरे के पतियों के बारे में कह सुनकर खिलखिला कर हंसती थी. मुझे भी रीता बहुत अच्छी लगती थी. मैं अक्सर अपनी खिड़की से उसे झांक कर देखा करता था. उसके कंटीले नयन, […]

भीगा बदन

On 2006-08-05 Category: कोई मिल गया Tags:

आपको एक खास बात बताऊं ! जब मैं कुवांरी थी तब मेरी चुदने की इच्छा कम होती थी। क्यूंकि मुझे इस बारे में अधिक नहीं मालूम था। आज मेरी शादी हुये लगभग पांच साल हो चुके हैं, मैं बेशर्मी की हदें पार करके सभी तरीको से अपने पति से चुदवा चुकी हूँ। जी हां ! […]

शोला जो भड़के

On 2006-04-03 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषिका : रजनी एवं रीता शर्मा पाठको, यह मेरी पहली कहानी है, जो मैं अपनी सहेलियों की मदद से लिख रही हूँ … इसमें कुछ तो वास्तविक है … और कुछ कहानी को दिलचस्प बनाने के लिये अलग से अंश जोड़े गये हैं। सर्वविदित है कि जवानी बड़ी जालिम होती है। ये जाने लड़कों और […]

चोरी का तोहफ़ा

On 2005-02-10 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जो हन्टर सहलेखिका : रीता शर्मा मैं बचपन से अच्छे माहौल में नहीं रहा हूँ। मैं चोरी बहुत कुशलता से कर लेता हूँ। पर इसके लिये भाग्य का भी आपके साथ होना जरूरी है। शारीरिक सुडौलता एक आवश्यक गुण है। इसके लिये मैं हमेशा कठिन योग भी करता हूँ और जिम भी जाता […]

मेरी सहेली-1

प्रेषिका : कामिनी सक्सेना सहयोगी : रीता शर्मा मैं और कामिनी बचपन की सहेलियाँ है. हम स्कूल से लेकर कॉलेज तक साथ साथ पढ़े. और अब मेरी और कामिनी की शादी भी लगभग एक ही साथ हुयी थी. मेरा घर और उसका घर पास में था. कामिनी का पति बहुत ही सुंदर और अच्छे शरीर […]

Scroll To Top