मेरी कामुकता, मेरे तन की प्यास-2

शादी के बाद मेरी कामुकता बढ़ती चली गई. मैं घर से बाहर अपनी कामुकता को शांत करना चाहती थी. एक शादी में चार पांच हट्टे कट्टे बॉडी गार्ड को देख कर मेरी चूत पानी बहाने लगी और मैंने उन से अपनी चूत की आग ठंडी करवाने का फैसला किया.

मेरी कामुकता, मेरे तन की प्यास-1

मैं और मेरा जिस्म बहुत सुन्दर हैं. मुझ पर सब लट्टू थे लेकिन मैंने किसी को पास नहीं फटकने दिया. शादी के बाद पति से चुदी तो मैं लंड और चुदाई की दीवानी हो गई. धीरे धीरे मेरी कामुकता बढ़ने लगी, मुझे चुदाई में कुछ नया करने की चाहत जागने लगी.

मेरी प्यासी चूत को कमसिन लंड मिल ही गया

मेरी चूत में हर वक़्त आग लगी रहती है। पति का काम बढ़ जाने से मेरी फुद्दी में लंड की आवा-जाही कम हो गई। पति ने डिलडो लाकर दिए मगर मुझे असली, ज़िंदा लंड चाहिए था. मेरी सेक्स कहानी पढ़ कर देखें कि मुझे कैसे नसीब हुआ एक जवान लंड!