रवीश रांची

rss feed

मेरी क्लासमेट कॉलगर्ल के रूप में मिली

मैं दिल्ली गया तो सोचा कि कॉलगर्ल को बुलाऊँ. दोस्त से दलाल का नम्बर लेकर बात की, उसने मुझे काफी लड़कियों की तस्वीरें दिखाईं. उसमें एक लड़की को देखकर मैं चौंक गया.

Scroll To Top