मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-6

दीदी, आप तो मेरी जिंदगी के रेगिस्तान में मरुस्थल की तरह हो. जीजा जी का लंड मैं अपनी चूत में ले चुकी हूँ, वो आपकी चूत को बहुत खुश रखेंगे.. इतना मैं जानती हूँ.

मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-5

चूत तेरी सबसे ज़्यादा कीमती वस्तु है, तू अगर इसे घर के माल की तरह उसे इस्तेमाल करेगी तो ठीक और मस्त रहेगी और अगर म्यूनिसिपॅलिटी वाले नल की तरह उसे यूज किया.. तो इसकी कीमत 2 पैसे की भी नहीं रहेगी.

मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-4

कोई ऐसे लंड तलाशो, जो तुम्हारे साथ शादी करके हमेशा के लिए तुम्हें अपनी चूत बना कर रखे.. ना कि तुम्हें बाज़ारू चूत समझे, जिसे रंडी भी कहा जाता है.

मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-3

मेरे घर मेरे भाई का साला कुछ दिन के लिए आया तो मेरी कामवाली तो उस पर खुद को लुटाने को तैयार थी. मेरा दिल भी उस पर आ गया था. तो हम दोनों में से किसने पहले बाजी मारी? पढ़ें यह कहानी!

मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-2

मेरी कामवाली बहुत खूबसूरत थी, मैंने उसकी वासना जगाई और उससे लेस्बीयन सेक्स किया. लेकिन लंड की अपनी ही महानता है, इसके बिना चूत भी अधूरी रहती है और उसको पाने के लिए रोती है.

मेरी और मेरी कामवाली की चुदास-1

मैं अकेली रह कर जॉब कर रही थी तो मैंने एक कामवाली लड़की रखी. वो खूबसूरत थी लेकिन किस्मत की मारी थी, उसे मेरा सहारा मिल गया. मेरा दिल उसकी कच्ची जवानी पर आ गया.

बदले की आग-8

उसकी पिचकारी मेरी सास के मुँह और मम्मों पर जा पड़ी, जिससे उसका सारा जिस्म अपने बेटे के वीर्य से सन गया. कुछ माल जो चुत में जा चुका था, वो भी चुत से बाहर टपकने लगा था.

बदले की आग-7

मेरी सास को चिंता हो गई थी कि वो चुदाई के कारण माँ बनने वाली है. इसी भय के चलते उसको एक फर्जी डॉक्टर के पास ले जाया गया जो उसकी चुत के साथ खिलवाड़ करते हुए उसकी वीडियो बनाने लगा.

बदले की आग-6

मेरी सास रूपयों के लालच में शराब पीकर चार लड़कों के लंड अपनी चूत में लेने को राजी हो गई. उन चारों ने उसकी चूत अपने वीर्य से भर कर उसके बच्चा ठहरने का पूरा इंतजाम कर दिया और वीडियो भी बना ली.

बदले की आग-3

अपनी बदले की आग को बुझाने के लिए मैं भी रंडी बनने की राह पर चल पड़ी थी. मेरे बॉस ने मेरे पति की बहन को नौकरी के इंटरव्यू के लिए मेरे हवाले कर दिया कि ले ले इससे बदला… कर ले जो करना है.

बदले की आग-2

मेरी सहेली तबस्सुम मुझे खुल कर जीने के लिए अपनी चूत का इस्तेमाल करने के बारे में बता रही थी. उसने मुझे एक ऐसे आदमी से मिलवाया जो मुझे मेरे मकसद में कामयाब कर सकता था.

बदले की आग-1

लड़की को यहाँ इस दुनिया में लगभग सभी देशों में एक वस्तु माना जाता है. जिसका काम अपनी चूत से लंडों की सेवा करना है. यही सोच रख कर आम तौर पर लोग अपना जीवन गुजारते हैं.

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-9

ड्राईवर से मन भर गया तो मैंने एक और नए लंड की तलाश की जो मुझे मेरे कॉलेज में मिला. मैंने उससे दोस्ती कर ली और उसे अपने जिस्म की नुमाईश करके पटा लिया और अपने घर बुला लिया.

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-8

मैं जैसे ही उसके पास पहुँची तो जानबूझ कर उसके ऊपर इस तरह गिर गई जैसे कि मैं फिसली हूँ. उसने भी मुझे इस तरह से पकड़ा कि मेरे दोनों मम्मे उसके हाथों में आ गए और वो उनको दबाने लगा.

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-7

नया लंड पाने की चाहत में हम माँ बेटी ने अपने लिए एक जवान ड्राईवर रख लिया. सेक्सी स्टोरी के इस भाग में पढ़ें कि हम दोनों ने कैसे उस अनाड़ी लड़के को सेट करके चुत चुदाई के मजे लिए.

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-6

अब तक की चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि उस हरामखोर अधिकारी ने मुझे दम भर चोदा और उसने मेरी चूत में ही अपना निकाल दिया. अब आगे….. [Continue Reading]

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-5

अब तक की चुदाई कहानी में आपने पढ़ा कि जगत ने मेरी चूत को अपने आठ इंच लम्बे और मोटे मूसल लंड से चोद कर मुझे थका डाला था और… [Continue Reading]

सौतेली माँ के साथ चूत चुदाई की यादें-4

मेरे पापा अब मेरी मां को चुदाई में मजा नहीं दे पाते थे तो मां ने मुझसे एक डिल्डो मंगवाया और हम दोनों उसे प्रयोग करने लगी. फिर एक दिन माँ का एक चचेरा भाई हमारे घर आया.