मुन्ने राजा

rss feed

मन का मीत मिला रे

तो मैंने उसको सेक्स के बारे में फिर से बताना शुरू किया... आज न तो उसमे कल जितनी शर्म थी और ना ही मदहोशी... वो बड़ी तन्मयता से सुन रही थी, समझ रही थी... फिर उसने मेरे हाथ अपने बोबों पर लगा दिए और खुद मेरे होंटो को चूसने लगी

प्यारी मिनी और उसका सरप्राइज-2

On 2005-10-13 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के सभी पाठको को नमस्कार ! तीन-चार महीने कैसे निकले … जैसे रोकेट से चाँद पर पहुच गए, चार दिन में ही चार महीने पूरे हो गए… फिर अभी लगभग १५ दिन पहले ही एक दिन अचानक उसने चैट करते हुए मुझको अपने घर का पता दिया… मैं दंग रह गया, मैंने पूछा- मिनी […]

प्यारी मिनी और उसका सरप्राइज-1

On 2005-10-12 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के सभी पाठको को नमस्कार ! एक बार फिर मैं आपके सामने अपनी एक बहुत ही हसीन आपबीती लेकर उपस्थित हूँ, आशा करता हूँ कि आप लोगों को पसंद आएगी। लगभग चार महीने पहले मेरे पास एक मेल आई – मैं गवर्नमेंट कोलेज में प्रोफ़ेसर हूँ, मेरी उम्र ५२ साल है, मेरे साथ हुए […]

वरदान

On 2005-09-14 Category: पड़ोसी Tags:

प्रेषक : मुन्नेराजा दुनिया की लगभग सभी जातियों में, सभी समाज में जब लड़के, लड़की सेक्स करने लायक हो जाते हैं तो उनकी शादी कर दी जाती है और ये शादी बहुत ही खुशी, गाजे बाजे और उत्साह से एवं धूमधाम से की जाती है। यह तो निर्विवाद रूप से मान लेना चाहिए कि सेक्स […]

Scroll To Top