मुकेश कुमार

rss feed

ॠतु एक बार फ़िर चुदी

On 2012-04-02 Category: चुदाई की कहानी Tags:

लेखक : मुकेश कुमार मेरे सभी पाठकों को नमस्कार। अन्तर्वासना के माध्यम से में अपनी आपबीती घटनाए लाता रहा हूँ। बहुत से ईमेल आये इसलिए अगली घटना बताने से पहले एक बात बताना चाहता हूँ प्लीज सूसन, मारिया, शर्मीला या ऋतु या किसी के नंबर मत मांगिए, वे मेरी दोस्त हैं। कुछ लोग तो गाली […]

शर्मीला की ननद-3

सवेरे आँख खुली तो देखा ऋतु अभी भी बेसुध सो रही है। रात को ऋतु ने दारु भी बहुत पी और मैंने चोदा भी जोर से। मेरा लंड ऐसे गांड भी मार सकता है पता नहीं था। बालकनी में शर्मीला नंग धडंग सुबह की ठंडी हवा का मजा लेते हुए सिगरेट पी रही थी।

शर्मीला की ननद-2

मैंने ऋतु को कहा कि वो कुतिया बन जाये, मुझे गांड मारनी है। शर्मीला के चाटने से ऋतु गांड थोड़ी गीली थी। कुतिया बनने पर ऋतु का सर बिस्तर पर लगा दिया तो अब उसकी गांड के अच्छे दर्शन हो रहे थे।

शर्मीला की ननद-1

मैंने उसके छोटे गाउन के अन्दर हाथ डाला और पीठ पर फेरते हुए पेंटी में घुसा दिया। गांड और चूतड़ों का नाप लेने लगा। तभी शर्मीला का ख्याल आया तो एक हाथ निकाल शर्मीला के मम्मे को दबाया और अपनी और खींच लिया।

शेर का पुनः शिकार-3

On 2012-01-29 Category: पड़ोसी Tags:

लेखक : मुकेश कुमार दो दिन मैंने शर्मीला ले साथ खूब रंगरेलियाँ मनाई। फिर उसके पति आ गए थे। शर्मीला के पति पूरे सप्ताह कहीं बाहर नहीं गए इसलिए मुझे और शर्मीला को सम्भोग करने का मौका ही नहीं मिल रहा था। मेरे से ज्यादा वो दुखी थी। दिन में फ़ोन करती मेसेज करती कि […]

शेर का पुनः शिकार-2

On 2012-01-28 Category: पड़ोसी Tags:

लेखक : मुकेश कुमार मेरा लौड़ा पकड़ते हुए बोली- जो काम इसका है उंगली नहीं कर सकती। तभी दरवाजे पर घंटी बजी, हम दोनों सकपका गए। तभी बाहर से बाई की आवाज़ आई- भाभी…! तो शर्मीला बोली- मेरे बेडरूम में चले जाओ, उसे बर्तन करने बोलती हूँ तो पीछे से निकल जाना। औरतों की यह […]

शेर का पुनः शिकार-1

On 2012-01-27 Category: पड़ोसी Tags:

लेखक : मुकेश कुमार आपने अन्तर्वासना पर मेरी कहानी ‘लिव इन कैरोल’ पढ़ी और सराही उसके लिए आभार। मेरे और मेरे लिव-इन पार्टनर कैरोल के साथ सम्बन्ध विच्छेद के बाद कुछ समय मैं अपने माँ बाप के पास रहा, पर नौकरी मुंबई में थी तो आना ही पड़ा। कैरोल के गम में दारु और सिगरेट […]

लिव इन कैरोल-4

On 2011-11-26 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : मुकेश कुमार कैरोल को चोदते हुए पता लगा रांड और प्रेमिका को चोदने का फर्क। प्रेमिका उचक उचक कर प्रेम क्रीडा का मज़ा लेती है और देती है। थोड़ी देर के बाद कैरोल को सीधा लिटाया उसके पैर हवा में अपने कंधे पर रख फिर जोश के साथ चोदने लगा। हर धक्के से […]

लिव इन कैरोल-3

On 2011-11-24 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : मुकेश कुमार दिन की घटना को सोच कर फिर उत्तेजित हो ही रहा था कि मोबाइल बज गया। लाइन पर कैरोल थी, बहुत घबराई हुई रोते हुए बोली- मुकेश, क्या तुम यहाँ आ सकते हो अभी, प्लीज? “रो नही, में आ रहा हूँ” कह कर मैंने जल्दी जल्दी मुँह धोया और कपडे पहने […]

लिव इन कैरोल-2

On 2011-11-23 Category: कोई मिल गया Tags:

प्रेषक : मुकेश कुमार दोस्तों, अब तक जितनी रंडियों से चुसवाया, वो मारिया के सामने बच्ची थी। मारिया टट्टे चूसती, जबान लौड़े के नीचे से शुरु करते हुए शिखर तक ले गई, फिर क्राउन को मुँह में लेकर चूसा। मारिया पूरी मस्ती से मेरे लौड़े को चूस रही थी और अपने पैर चौड़े कर एक […]

लिव इन कैरोल-1

मारिया टट्टे चूसती, जबान लौड़े के नीचे से शुरु करते हुए शिखर तक ले गई, फिर क्राउन को मुँह में लेकर चूसा। मारिया मस्ती से लौड़े को चूस रही थी और अपने पैर चौड़े कर एक हाथ से पेंटी में हाथ डाल कर अपनी चूत सहला रही थी।

हैप्पी चोदिंग !

On 2011-10-22 Category: पहली बार चुदाई Tags:

प्रेषक : मुकेश कुमार मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ और कई बार रस भरी कहानियाँ पढ़ कर मुट्ठ मारी है, पर कहानी नहीं आपबीती आज पहली बार लिख रहा हूँ। आशा करता हूँ पाठकों को पसंद आएगी। मैं 30 वर्ष का अविवाहित जवान हूँ और मेरा लौड़ा मस्त मोटा 8″ का है। ऐसा मैं […]

Scroll To Top