महेश कुमार चूत फाड़

खामोशी: द साईलेन्ट लव-8

उस रात जब उसने मुझे कॉन्डोम पहनने से मना किया तो मैं हैरान ही रह गया था. कहाँ वो मेरे लंड को अंदर लिये बिना ही गर्भ निरोधक गोली खा रही थी और कहाँ आज वो …

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-7

पिछली रात तक वो मेरे कॉन्डोम लगे लंड को लेने में भी संकोच कर रही थी. पर दूसरी रात वो खुद मेरे पास आकर बिस्तर पर लेट गयी और उसने कुछ ऐसा कहा जिसे सुनकर मैं हैरान रह गया.

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-6

रात को उसकी चुदाई मैंने कॉन्डोम लगाकर कर दी. जब सुबह उठा तो लगा कि वो अपनी खामोशी को तोड़कर कुछ कहेगी मगर उसने कुछ भी नहीं कहा. फिर जब अगली रात आई तो …

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-5

मेरी पड़ोसन की लड़की के ससुराल जाने का मौक़ा मिला तो मैं तुरंत राजी हो गया. मैं उसको चोदने की मंशा से ही गया था. रात हुई तो मैंने वही खेल शुरू कर दिया. फिर …

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-4

पड़ोसन की विवाहिता बेटी मोनी के प्रति मेरी वासना के चलते शराब के नशे में मैंने रात में उसकी चूत को अपने लंड से छू लिया था मगर अगले दिन उसका पति आ गया.

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-3

अपनी बहन जैसी लड़की के नितम्बों को अपने लंड से छूने के बाद मेरी वासना बढ़ी और मैंने एक रात उसके नितम्बों पर अपना वीर्य छोड़ दिया. उसके बाद मैंने क्या किया?

पूरी कहानी पढ़ें »

खामोशी: द साईलेन्ट लव-1

पड़ोसन की बेटी के साथ मुझे उसके ससुराल जाना पड़ा. वहाँ मैं रुकना नहीं चाहता था पर उसकी खस्ता हालत देख मन पसीज गया और वहीं हमारे बीच कुछ नया शुरू हो गया. यह क्या था? कहानी में पढ़ें.

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-12

मैं अपनी भाभी को चोद रहा था तब मेरी दोनों भतीजी घर में ही थी. मैं उन दोनों को पहले ही चोद चुका था. भाभी और मेरी चुदाई का पता उन दोनों को लग गया था या नहीं?

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-11

भाभी को मैंने बांहों में जकड़ लिया, उनका चेहरा ही शर्म से लाल हो गया. मैं उन्हें बिस्तर पर गिराकर चूमने लगा. भाभी को मैंने कैसे चोदा और मजा दिया. पढ़ें इस कहानी में!

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-7

मेरी भतीजी ने अब शर्म छोड़ दी थी, वो खुल कर अपनी चूत चटवा कर सिसकारियां भर कर मजा ले रही थी. मेरा लंड उसके चहरे के पास था लेकिन… उसने मेरा लंड चूसा या नहीं?

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-6

मेरी बड़ी भतीजी बिस्तर पर थी और मैं उसके कपड़ों को उतार कर उसके बेदाग दूधिया बदन को देखता रह गया. यह सेक्स स्टोरी पढ़ कर देखें कि कैसे मैंने उसके सेक्सी जिस्म का भोग लगाया.

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-5

मैं अपनी छोटी भतीजी को चोद रहा था. उसकी कुंवारी चूत की सील टूट चुकी थी. अब चूत रस निकलने के कारण लंड सुगमता से अंदर बाहर हो रहा था. लेकिन उसकी बड़ी बहन…

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-4

मैंने अपने चचेरे भाई की बेटी की चूत को चूस कर उसे झड़वा दिया था. अब वो खुश दिख रही थी लेकिन साथ ही हल्की सी शर्म भी उसकी आंखों में दिखाई‌ दे रही थी. आगे क्या हुआ?

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-3

मैंने मेरी जवान भतीजी की चूचियाँ मसल कर उसकी वासना जगा दी थी. तभी तो वो खुद चलकर मेरे पास आयी थी. मुझे लगने लगा कि ये मुझसे चुदने के लिये ही आई है. क्या मैं सही सोच रहा था?

पूरी कहानी पढ़ें »

वासना का मस्त खेल-1

एक‌ शादी में रात के अँधेरे में मैंने किसी‌ लड़की से सेक्स किया था. मगर मैं नहीं जान सका कि वो कौन‌ थी. उसके गले के लोकेट से मैंने कैसे उसे पहचाना? क्या सच में वो वही लड़की थी?

पूरी कहानी पढ़ें »

अन्तर्वासना इमेल क्लब के सदस्य बनें

हर सप्ताह अपने मेल बॉक्स में मुफ्त में कहानी प्राप्त करें! निम्न बॉक्स में अपना इमेल आईडी लिखें, सहमति बॉक्स को टिक करें, फिर ‘सदस्य बनें’ बटन पर क्लिक करें !

* आपके द्वारा दी गयी जानकारी गोपनीय रहेगी, किसी से कभी साझा नहीं की जायेगी।

Scroll To Top