जवाहर जैन

rss feed

साक्षी संग रंगरेलियाँ-6

अभी तक : साक्षी बोली- मंजू तेरा सब काम ठीक हुआ ना? मजा आया ना? मंजू बोली- मजा आया, इतना मजा आया कि यह अंदर था तब तक ठीक लगा, अब चूत दुख रही है। साक्षी बोली- जवाहरजी मुझे आपने नंगी कराया था ना, अब चलिए मुझे चोदिए। मैं बोला- क्या यार, मुझे लग रहा […]

साक्षी संग रंगरेलियाँ-5

On 2012-09-22 Category: जवान लड़की Tags:

अभी तक : वेटर काफी लेकर आया। इसे पीते तक हम लोग यूँ ही सामान्य बातें करते रहे। काफी खत्म करके कप भिजवाने के बाद साक्षी खड़े होकर बोली- चल मंजू, नंगी हो जल्दी से। मंजू अपने कपड़े उतारने लगी। मैं यूरिनल गया। वहीं अपना पैन्ट व अंड़रवियर उतारकर रखा। फिर लौड़े को धोकर आया। […]

साक्षी संग रंगरेलियाँ-4

On 2012-09-21 Category: जवान लड़की Tags:

साक्षी के साथ रंगरेलियों का आज दूसरा दिन ! अब तक आपने पढ़ा कि कल विदा होते समय साक्षी कह कर गई थी कि वह सुबह 11 बजे आएगी और अपनी एक और सहेली को चुदाने के लिए लाएगी। मैं सुबह उठकर जल्दी से तैयार हुआ तथा साक्षी व उसकी सहेली के साथ आने का […]

साक्षी संग रंगरेलियाँ-3

On 2012-09-20 Category: जवान लड़की Tags:

जैसा साक्षी ने कहा था कि लौड़े को पूरा घुसेड़ना था। जबकि मैं उसे तकलीफ ना हो, इसलिए उसकी पहली चुदाई ज्यादा वहशी तरीके से नहीं की। पर अब जब उसने जमकर चुदने के लिए सहमति दे दी है तो फिर यदि अब उसे जमकर नहीं चोदा तो मैं ही उससे चूतिया कहा जाऊँगा। अभी […]

साक्षी संग रंगरेलियाँ-2

On 2012-09-19 Category: जवान लड़की Tags:

कहानी के पहले भाग में आपने जाना कि साक्षी से मिलने मैं देहरादून गया। वहाँ हम एक होटल में ठहरे। अब आगे की बात: होटल में टायलेट व वाशिंगरूम एक साथ ही थे। अपना तौलिया व शेविंग किट लेकर वहाँ गया और जल्दी से फ्रेश होकर बाहर निकला। मैं तौलिया लपेटे ही था, अंडरवियर सहित […]

साक्षी संग रंगरेलियाँ-1

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार! आप सबका प्यार ही मुझे बार-बार आपकी ओर खींच लाता है। अन्तर्वासना के पाठकों को बताना चाहूँगा कि मैं इतनी कहानियाँ लिखने का समय नहीं निकाल पाता हूँ, पर अन्तर्वासना के कारण ही मुझे जब किसी को चोदने का मौका मिले और मैं वो बात अन्तर्वासना में ही नहीं […]

पायल की चुदाई-6

On 2012-06-26 Category: कोई मिल गया Tags:

पायल के साथ अपनी जिंदगी का हसीन पल गुजारने, उसके साथ हनीमून मनाने के बाद रात को मुझे बढ़िया नींद आई। अब तक आपने पायल की चुदाई शीर्षक से मेरी कहानी पढ़ी। अब उससे आगे की बात इस भाग में। सुबह 9 बजे थे, जब पायल ने आकर मुझे जगाया। वह नहा कर तैयार हो […]

पायल की चुदाई-5

On 2012-04-15 Category: कोई मिल गया Tags:

थोड़ी देर में ही पायल आई। वह जरी वाली कॉफी रंग की साड़ी के अलावा गहनों से लदी हुई थी। अभी वह बेमिसाल लग रही थी। दुल्हन की तरह से वह धीरे-धीरे कदम रखती हुई, मुझ तक पहुँची। मैं स्टूल से खड़ा होकर उसे देखने लगा। मेरे मुँह से निकला- अप्रतिम ! पायल बोली- आपकी […]

पायल की चुदाई-4

On 2012-04-14 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। मैं अभी आपको गुजरात के सूरत में अपनी एक दोस्त पायल की चुदाई की कहानी बता रहा हूँ। अभी मैं उसकी चुदाई से निपटा हूं और अब कल के बारे में सोच रहा हूं जब उसका पति अपना काम करके वापस लौटेगा। पायल के कहने से मैं उसके […]

पायल की चुदाई-3

On 2012-04-13 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार। मैं आपको पायल की चुदाई के बारे में बता रहा था कि मेरी उससे दोस्ती कैसे हुई और कैसे उसे चोदने के लिए मुझे गुजरात जाना पड़ा। वहाँ सूरत के स्टेशन पर मुझे पायल ने ही रिसीव किया। उसके घर में हमारे बीच सैक्स की बात चल ही रही […]

पायल की चुदाई-2

On 2012-03-24 Category: कोई मिल गया Tags:

मैंने पायल को फोन करके मैसेंजर पर आने कहा। वो आई, उसे बताया कि मैंने आपके पास आने का इंतजाम कर लिया हैं। परसों दोपहर को अहमदाबाद एक्सप्रेस यहाँ से निकलेगी यह अगले दिन शाम तक पहुँच जाएगी। यानि फिर मैं तुम्हारे पास होऊँगा। पायल खुश हुई, और उसने कहा- आप सूरत के स्टेशन ही […]

पायल की चुदाई-1

On 2012-03-23 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तरवासना के सभी पाठकों को नमस्कार ! मेरी सभी कहानियों पर आप लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया देकर मेरा उत्साह बढ़ाया है। मेरी अभी हाल में लिखी कहानी फेसबुक सखी पर मिले ढेर सारे मेल ने अन्तरवासना के प्रति आपके लगाव और कहानी के प्रति आपकी संवेदनशीलता को उजागर किया है। अपने नए दोस्तों को मैं […]

फेसबुक सखी-3

On 2012-03-04 Category: कोई मिल गया Tags:

स्नेहा रीमा से बात करने लगी। स्नेहा अपने बिस्तर पर लेटी हुई थी, मैं गया वैसे ही बोली- क्या हुआ, अभी दिन में ही शुरू कर दिया क्या? मैं बोला- अरे वो अभी कहाँ। अभी तो रश्मि अपने मंगेतर के बारे में बता रही थी। स्नेहा बोली- देखिए, रश्मि तो आपको चोदने नहीं देगी, और […]

फेसबुक सखी-2

On 2012-03-03 Category: कोई मिल गया Tags:

स्नेहा रीमा से बात करने लगी। रीमा उसे कुछ बोली, बदले में स्नेहा बोली- ठीक है, यह अच्छी बात हैं हमें इससे कोई तकलीफ नहीं होगी, कोई बात नहीं आ जाओ। यह बोलकर स्नेहा ने फोन बंद कर दिया। मैंने पूछा- क्या बात है? क्या कहा उसने? स्नेहा बोली- उसकी एक सहेली और आ रही […]

फेसबुक सखी-1

On 2012-03-02 Category: कोई मिल गया Tags:

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार। आपने मेरी लिखी कहानियों को सराहा और अपनी राय से मुझे अवगत कराया, इसके लिए धन्यवाद। मेरी अभी हाल की कहानी ‘उतावली सोनम’ पढ़ने के बाद मुझे जिस तरह के मेल आए, और इतने ज्यादा मेल आए कि उन सबका जवाब देना मुझे मुश्किल हो गया, सो जितने को […]

उतावली सोनम-2

On 2012-01-13 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जवाहर जैन सोनम ने मेरे लंड का सुपारा अच्छे से चाटा, फिर उसके मुंह में जितना अंदर हो सका उतना अंदर कर मेरे लंड को शांत करने के जुगाड़ में लगी। उसकी यह मेहनत कुछ ही देर में रंग लाई, मेरे लंड से भी माल छूट पड़ा। अब मेरा लंड मुंह से निकालकर […]

उतावली सोनम-1

On 2012-01-12 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जवाहर जैन अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। मेरी लिखी हुई कहानियों को आपने पसंद किया, और अपनी अमूल्य राय से मुझे अवगत कराया इसके लिए आभार। आज मैं आपको जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ वह अभी हाल की हैं, और सही कहूं तो इसके लिए अन्तर्वासना ही पूरी तरह से […]

असीमित सीमा-3

On 2011-12-04 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जवाहर जैन अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। ट्रेन में श्रद्धा के सहयोग से मैंने सीमा को चोदा। ट्रेन में हमने चुदाई का लुफ्त कैसे उठाया इसे आपने कहानी के पहले भागों में पढ़ा। अब जानिए आगे का हाल। कुछ ही देर में सीमा टायलेट से आ गई। संचेतीजी, जिन पर हम […]

असीमित सीमा-2

On 2011-11-28 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जवाहर जैन दोनों के पहुँचने पर श्रद्धा ने सीमा से कहा- क्या बात है, मेरी वजह से आपको यहाँ दिक्कत हैं क्या, जो आप दोनों बाहर चले गए थे? सीमा हंसकर बोली- हाँ, आपके सामने हम नंगे कैसे होते, इसलिए ये मुझे टायलेट में ले गए थे। सीमा की इस बेतकल्लुफी से मैं […]

असीमित सीमा-1

On 2011-11-27 Category: कोई मिल गया Tags:

लेखक : जवाहर जैन अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार। इससे पहले लिखी मेरी सारी कहानियों को आपने सराहा और अपनी प्रतिक्रिया देकर मेरा हौसला बढ़ाया, इसके लिए धन्यवाद। आपसे प्रोत्साहन पाकर ही मैंने अपनी कहानियों का सिलसिला आगे बढाने का निर्णय लिया है। मैं अब आपको जो कहानी बताने जा रहा हूं, वह मेरी […]

Scroll To Top