जयेश जाजू

rss feed

शर्म, हया, लज्जा और चुदाई का मजा-4

Sharm Haya Lajja aur Chudai ka Maja-4 यहाँ मैं भी अब सोफ़े पर लेट गई थी, फ़िर रोहन मेरे पैरों के पास आया और निशा मेरे मुँह के पास आ कर खड़ी हो गई। मैंने निशा का हाथ पकड़ कर उसे नीचे खींचा और उसके मुख पर चूमने लगी। हम दोनों एक-दूसरे को चूम रहे […]

शर्म, हया, लज्जा और चुदाई का मजा-3

Sharm Haya Lajja aur Chudai ka Maja-3 मैं धीरे-धीरे उसकी चूत का स्वाद लिए जा रही थी और निशा भी अपने हाथ मेरे सिर पर दबा कर मजे ले रही थी। ऐसा करीब 20 मिनट तक चलता रहा, अब हम दोनों बहुत थक चुके थे। फ़िर मैंने निशा से कहा- यार तूने मु्झे आज बहुत […]

शर्म, हया, लज्जा और चुदाई का मजा-2

Sharm Haya Lajja Aur Chudai ka Maja-2 जयेश जाजू मेरे मन में एक अलग ही बेचैनी सी हो रही थी। बिना ब्रा-पैन्टी के कपड़ों में मेरे स्तनों का उभार भी काफी ढीला लग रहा था। टॉप के ऊपर से मेरे स्तनों का आकार काफी आसानी से समझ आ रहा था। मैं बार-बार अपने हाथों से […]

शर्म, हया, लज्जा और चुदाई का मजा-1

नमस्कार मित्रो, मैं आपका दोस्त जयेश फ़िर एक बार आपके लिए एक मजेदार कहानी लेकर आया हूँ। उम्मीद है मेरी यह कहानी भी आपको जरूर पसंद आएगी। मित्रो, यह कहानी मेरी नहीं है इसको मैंने केवल लिखा है, असल में यह कहानी मेरी एक मित्र की है जिसके अनुरोध पर मैं इसे लिख रहा हूँ। […]

तीन पत्ती पर मिली मनीषा को चोदा

जयेश जाजू नमस्कार मित्रो, मैं आपका दोस्त जयेश मेरी आपबीती के साथ आपकी खिदमत में हाजिर हूँ। आशा है आप सभी तंदरुस्त होंगे और साथ ही आप जोरों में चुदाई भी कर रहे होंगे। मित्रो, आज मैं आपके सामने मेरी और एक कहानी लेकर आया हूँ, उम्मीद है यह कहानी भी आपको बाकी सब कहानियों […]

चौकीदार की बहू सुशीला को चोदा

जयेश नमस्कार मित्रो, मैं आपका दोस्त जयेश फ़िर एक बार ले कर आ रहा हूँ एक बहुत ही कामुक कथा, आप सब के लिए। मित्रो, मेरी पहली दोनों ‘दोस्त की चाची को चोदा’ और ‘सपनों की कामक्रीड़ा’ कहानियों के लिये मुझे कई लड़कों एवं लड़कियों के मेल मिले और इनमें से कई लड़कियों को मैंने […]

सपनों की काम-क्रीड़ा

On 2013-07-19 Category: चुदाई की कहानी Tags:

प्रेषक : जयेश नमस्कार मित्रों ! मैं आपका जयेश फ़िर से आपकी खिदमत में हाजिर हूँ। मेरी पहली कहानी ‘दोस्त की चाची को चोदा’ को लेकर मुझे आपके कई मेल आये और ज्यादातर मेल के मैंने जवाब भी दिये हैं। लेकिन अगर किसी को उनके मेल का जवाब ना मिला हो तो मैं उनसे क्षमा […]

दोस्त की चाची को चोदा

उसकी चूत बहुत कसी लग रही थी, उस पर थोड़े सुनहरे रँग के मुलायम बाल भी थे। मैंने अपनी हथेली उसकी चूत पर प्यार से फेरी और उसके दाने को अपनी चुटकी से ज्यों ही मसला, चाची गनगना गई।

Scroll To Top